मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सचिवालय में एकीकृत भर्ती पोर्टल का शुभारम्भ किया#एम्स ऋषिकेश मे कोविड के टीका लगाने के लिए दस काउण्टर स्थापित।# कुम्भ मेले को कोविड टीका लगवाने के लिए पत्रकार अपना विवरण सूचना निदेशालय में दें#राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) ने क्षेत्रवासियों को दी अनेक सौगात।पढिए Janswar.Com में।

द्वारा-अरुणाभ रतूड़ी

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सचिवालय में एकीकृत भर्ती पोर्टल http://irp.uk.gov.in का शुभारम्भ किया।

इस पोर्टल के माध्यम से राज्य में में रोजगार सृजित होने से लेकर रोजगार प्रकाशन होने की पूरी प्रक्रिया को कम्प्यूटरीकृत किया गया है। इस पोर्टल से विभागीय लाभ के साथ ही बेरोजगार युवाओं को भी रोजगार के उचित अवसर प्राप्त होने में सहायता मिलेगी। अभ्यर्थी को भर्ती पोर्टल पर खुद को पंजीकृत करना होगा और सरकारी क्षेत्र में किसी भी भर्ती की सूचना उनको एसएमएस द्वारा प्राप्त हो जायेगी। इस पोर्टल के माध्यम से समस्त विभागों, लोक सेवा आयोग उत्तराखण्ड, उत्तराखण्ड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग एवं उत्तराखण्ड मेडिकल बोर्ड को जोड़ा गया है। एकीकृत भर्ती पोर्टल में रोस्टर बनाने में समय भी कम लगेगा और त्रुटियों की संभावनाएं भी बहुत कम होगी। अधियाचन का लगभग 90 प्रतिशत भाग पोर्टल द्वारा स्वतः ही भरा हुआ मिलेगा, जिससे विभागों को अधियाचन भरने में कम समय लगेगा।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि विभिन्न विभागों में रिक्त पदों की भर्ती प्रक्रिया में तेजी लाई जाय। विभागों का ढांचा वर्तमान की आवश्यकताओं एवं भविष्य की संभावनाओं को ध्यान में रखकर होना चाहिए। इस दिशा में प्रयास किये जाए। कुछ ऐसी व्यवस्था की जाय कि समान प्रकृति वाले पदों की भर्ती प्रक्रिया एक साथ की जाय। ताकि उन पदों पर विभागों की मांग के अनुसार नियुक्तियां दी जा सके। बहुत कम छात्र संख्या वाले स्कूलों को चिन्हित किया जाय। इसके लिए एक कमेटी बनाई जाय। जिलाधिकारियों से एक सप्ताह में कम छात्र संख्या वाले स्कूलों की सूची ली जाय। कम छात्र संख्या वाले स्कूल क्लब किये जाय। लेकिन क्लब होने वाले विद्यालयों में बच्चों के आने-जाने एवं अन्य सुविधाओं का ध्यान रखा जाय।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि भर्ती प्रक्रियाओं से संबंधित गतिविधियों के लिए एक टास्क फोर्स बनाया जाय व एक माह में इसकी रिपोर्ट दी जाय । मुख्यमंत्री ने बैठक में कुछ अधिकारियों के अनुपस्थित रहने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने अपर मुख्य सचिव को निर्देश दिये कि अनुपस्थित विभागीय अधिकारियों का स्पष्टीकरण लिया जाय। उत्तराखण्ड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के सचिव श्री संतोष बडोनी ने जानकारी दी कि आयोग को वर्ष 2019 से अभी तक 7250 पदों के लिए अधियाचन मिला है। जिसमें से 5163 पद विज्ञापित हो चुके हैं। 942 पदों पर परीक्षा पूर्ण हो चुकी है।

बैठक में अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी, सचिव श्री आर. के सुधांशु, श्री अमित नेगी, श्री नितेश झा, श्रीमती राधिका झा, श्री दिलीप जावलकर, श्री शैलेश बगोली, श्रीमती सौजन्या, श्री सुशील कुमार, श्री दीपेन्द्र चौधरी एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

अनुसूचित जाति बाहुल्य क्षेत्रों के विकास के लिए 3.96 करोड़ की मंजूरी
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेश के अनुसूचित जाति बाहुल्य क्षेत्रों में अवस्थापना सुविधाओं के विकास कार्यों के लिए 22 करोड़ के सापेक्ष इस साल 395.68 लाख की राशि अवमुक्त करने के प्रस्ताव पर सहमति दी है।
पिथौरागढ़ के डा. भीमराव अंबेडकर समाजोत्थान समिति बेरीनाग में संचालित 4 विद्यालयों में कार्यरत अध्यापकों-कर्मचारियों के वेतन आदि के भुगतान के लिए मुख्यमंत्री ने 37.25 लाख के भुगतान पर सहमति दी है।
अनुसूचित जाति-जनजाति के गरीब व असहाय व्यक्तियों के इलाज व उनकी पुत्रियों की शादी के लिए 4.22 करोड़ की धनराशि जारी करने पर सहमति दी गई है। वर्ष 2019-20 में योजना में कुल पात्र 2644 लाभार्थियों में से वंचित रह गए 844 पात्र आवेदकों को लाभान्वित किए जाने के लिए इस वित्तीय वर्ष में प्रस्ताव मुख्यमंत्री के अनुमोदन के लिए भेजा गया था। मुख्यमंत्री ने हिदायत दी है कि योजना से वंचित पात्र आवेदकों को शीघ्र इस राशि का लाभ दिया जाए।
स्वैच्छिक संस्थाओं द्वारा संचालित प्राथमिक पाठशालाओं में कार्यरत अध्यापकों के वेतन भत्तों के भुगतान के लिए मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने 7.23 लाख जारी करने पर वित्त विभाग के प्रस्ताव पर सहमति दी है।
राजकीय आश्रम पद्धति बालिका विद्यालय लालढांग हरिद्वार में सुरक्षा दीवार के निर्माण के लिए 26.60 लाख के सापेक्ष मुख्यमंत्री ने पहली किस्त के रूप में 10.64 लाख की स्वीकृति दी है।
जसूली बूढ़ी दताल के नाम पर होगा राजकीय बालिका इंटर कालेज का नामः मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने धारचूला के राजकीय बालिका इंटर कालेज का नाम परिवर्तन कर दानवीरा जसूली बूढ़ी दताल सौक्यानी के नाम पर रखे जाने का अनुमोदन दे दिया है। मुख्यमंत्री ने इसकी घोषणा की थी।
मुख्यमंत्री ने अल्मोड़ा के दन्या में नया राजकीय महाविद्यालय स्थापित किए जाने के लिए स्नातक स्तर पर कला-विज्ञान संकाय के खोले जाने का अनुमोदन दिया है। आगामी सत्र से इसमें कक्षाएं शुरू करने का प्रस्ताव किया गया है। अल्मोड़ा में राजकीय महाविद्यालय तल्ला सल्ट के भवन निर्माण कार्यों के लिए नाबार्ड को प्रस्ताव भेजने पर मुख्यमंत्री ने सहमति दी है। महाविद्यालय के भवन निर्माण का कार्य 299.75 लाख से प्रस्तावित है।
मुख्यमंत्री ने उधमसिंह नगर के गदरपुर दिनेशपुर में स्व. चितरंजन राहा राजकीय इंटर कालेज में मिनी स्टेडियम बनाने के लिए 86.68 लाख की स्वीकृति दी गई है। राजकीय इंटर कालेज सकैनिया गदरपुर में खेल अवस्थापना सुविधाओं के विकास के लिए 122.97 लाख की सहमति दी है।

तहसील लक्सर में अंबेडकर वृद्ध आश्रम विष्णु विहार कालोनी गोरधनपुर रोड के लिए मुख्यमंत्री ने 10 लाख दिए जाने पर सहमति दी है।

एम्स ऋषिकेश मे कोविड के टीका लगाने के लिए दस काउण्टर स्थापित।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, एम्स ऋषिकेश में कोविड19 वैक्सीनेशन के तहत अब तक कुल 3,554 हैल्थ केयर वर्करों को कोविड वैक्सीन लगाई जा चुकी है। टीकाकरण अभियान में तेजी लाने के उद्देश्य से कोविड वैक्सीनेशन सेंटर में अलग-अलग 10 काउंटर स्थापित किए हैं।

                                                                                                            एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत  ने टीकाकरण अभियान के बाबत बताया कि 16 जनवरी से अब तक संस्थान के 65 प्रतिशत से अधिक स्टाफ को कोविड वैक्सीन लगाई जा चुकी है।                                                                                                                                                                                                                    निदेशक एम्स ने कहा कि भारत सरकार की गाइडलाइन के अनुसार प्रत्येक हैल्थ केयर वर्कर को पहले टीके के ठीक 28 दिन बाद दूसरा टीका लगाया जाना है। 
   सीएफएम विभागाध्यक्ष प्रो. वर्तिका सक्सैना  प्रतिदिन स्वयं इस अभियान की माॅनिटरिंग कर रही हैं। प्रो. वर्तिका सक्सैना ने बताया कि संस्थान में कुल 5,632 लोगों का स्टाफ कार्यरत है। जिनमें से अब तक 3,554 लोगों को कोविड वैक्सीन लगाई जा चुकी है।                             

राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) ने क्षेत्रवासियों को दी अनेक सौगात।

प्रदेश के उच्च शिक्षा, सहकारिता, दुग्ध विकास, प्रोटोकॉल राज्यमंत्री (स्वतन्त्र प्रभार)क्षेत्रीय विधायक डा0 धन सिंह रावत ने सोमवार को अपने श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र के खिर्सू में खेल स्टेडियाम में आयोजित रोजगार मेले में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभाग कर क्षेत्र वासियों को विभिन्न विकास योजना की सौगात दी। उन्होंने कहा कि किसानों की आय दोगुनी करने के लिए विभिन्न विकास परक योजनाओं से जोड़ा जा रहा है। जिससे किसान अपने ही क्षेत्र में स्वरोजगार अपना सकें। कहा की खिर्सू ब्लॉक में कॉपरेटिव राठ विकास अभिकरण का प्रोजेक्ट तैयार किया गया है जिसमें खिर्सू, थलीसैंण, बीरोंखाल तथा पाबौ विकासखंड के काश्तकार शामिल कर लाभान्वित किया जा रहा है। आयोजित स्वरोजगार मेले में करीब 300 से अधिक ग्रामीण किसानों व बेरोजगार युवकों को स्वरोजगार के लिये कृषि उपकरण, पशुधन गाय, बकरी, मुर्गी, कृषि यंत्र, आटा चक्की, पॉली हाउस, उज्जवला गैस कनेक्सन, बालिकाओं को गौरादेवी कन्या धन के चेक वितरण किये। इसके उपरान्त मा0 मंत्री डा0 रावत नेे चोपड़ा गांव में आयोजित शिलान्यास कार्यक्रम में शिरकत कर ग्रामीणों को 24 लाख की लागत से निर्मित होने वाले बहुउद्देशीय पंचायत भवन का शिलान्यास कर विकास की सौगात दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.