हर ब्लॉक में दो दो अटल आदर्श विद्यालय बनेंगे।प्रदेश की नयी खेल नीति जल्द-मुख्यमंत्री।# पेयजल योजनाओं के लिए 91 करोड़, रणज्योति ताल के पुनर्जीवीकरण के लिए 75.50लाख,टीटरी नहर के लिए 150 लाख,स्मार्टसिटि कार्यों हेतु 03करोड़ महिलउद्यमी प्रोत्साहन योजना हेतु3.50लाख रुपये मुख्यमंत्री ने मंजूर किए।#केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय संयुक्त सचिव की प्रदेश के कृषिमंत्री से शिष्टाचार भेंट की।#पौड़ी गढवाल में आज की कोविड19 की रिपोर्ट#रशीद मसूद कीमृत्य राष्ट्रीय क्षति-धीरेन्द्र प्रताप।पढिए Janswar.Com.में।

समाचार प्रस्तुति-अरुणाभ रतूड़ी

हर ब्लॉक में बनेंगे दो-दो अटल आदर्श विद्यालय

  • जल्द लाई जाएगी नई खेल नीति, खेल विशेषज्ञों और खिलाड़ियों से लिए जा रहे सुज्ञाव।
  • खेल विज्ञान केंद्र, खेल विकास निधि और मुख्यमंत्री खिलाड़ी उन्नयन छात्रवृत्ति के मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए।
  • मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सचिवालय में विद्यालयी शिक्षा और खेल विभाग की समीक्षा की।

       मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने निर्देश दिए हैं कि प्रत्येक ब्लॉक में दो-दो अटल आदर्श विद्यालय स्थापित किए जाएं। राज्य की नई खेल नीति के बारे में खेल विशेषज्ञों, खिलाड़ियों, और आम जन से सुझाव प्राप्त किए जाएं और जल्द से जल्द से कैबिनेट में प्रस्तुत किया जाए। खेल में तकनीक के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए खेल विज्ञान केंद्र की स्थापना की जाए। खेल विकास निधि बनाई जाए। बच्चे कम उम्र से ही खेलों में प्रतिभाग के लिए प्रोत्साहित हों, इसके लिए  मुख्यमंत्री खिलाड़ी उन्नयन छात्रवृत्ति दी जाए। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सचिवालय में विद्यालयी शिक्षा और खेल विभाग की समीक्षा की।
अटल आदर्श विद्यालयों में हिंदी व अंग्रेजी दोनो माध्यम का विकल्प हो      मुख्यमंत्री ने कहा कि अटल आदर्श विद्यालयों की स्थापना, उच्च गुणवत्ता की शिक्षा के सभी मानक पूरे करते हुए की जाए। इनसे ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले गरीब बच्चों को गुणवत्तापरक शिक्षा के समान अवसर मिल सकेंगे। इन विद्यालयों में हिंदी व अंग्रेजी दोनों माध्यमों का विकल्प बच्चों को उपलब्ध हो। स्पोकन इंग्लिश पर विशेष ध्यान दिया जाए। विज्ञान की प्रयोगशाला, सभी आवश्यक उपकरणों से सुसज्जित हो।
174 विद्यालय किए गए अटल आदर्श विद्यालय हेतु चिन्हित     बैठक में बताया गया कि 174 विद्यालयों को अटल आदर्श विद्यालय के रूप में विकसित करने के लिए चिन्हित कर लिया गया है। इनमें से 108 विद्यालयों में वर्चुअल क्लास की सुविधा उपलब्ध है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जहां भी अटल आदर्श विद्यालय बनाए जाएं वहां स्थानीय स्थापत्य और सामग्री का प्रयोग किया जाए। बैठक में थानो में प्रस्तावित अटल आदर्श विद्यालय के डिजायन आदि से भी अवगत कराया गया।
ग्रामीण खेल प्रतिभाओं को प्रेरित करे नई खेल नीति       मुख्यमंत्री ने राज्य की नई खेल नीति के बारे में खेल विशेषज्ञों, खिलाड़ियों, और आम जन से सुझाव प्राप्त कर जल्द से जल्द से कैबिनेट में प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। खेल नीति इस प्रकार की हो जिससे ग्रामीण खेल प्रतिभाओं को आगे बढ़ने के अधिक अवसर मिलें।
खेल अवस्थापना के लिए प्राइवेट सेक्टर को प्रोत्साहित किया जाए       मुख्यमंत्री ने कहा कि प्राइवेट सेक्टर को खेल के क्षेत्र में आने के लिए प्रोत्साहित किया जाए। बच्चे टीवी, मोबाईल की दुनिया से बाहर निकलकर खेल के मैदान में आएं। खेलों में तकनीक के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए खेल विज्ञान केंद्र की स्थापना की जाए।
खेल नीति में बालिकाओं के लिए हों विशेष प्रावधान       मुख्यमंत्री ने कहा कि खेल कुम्भ में नए खेल शामिल किए जाएं। बालिकाओं के लिए खेल नीति में विशेष प्रावधान किए जाएं। नेशनल लेवल और इंटरनेशनल लेवल पर प्रतिभाग करने वाले खिलाड़ियों को सुविधाएं दी जाए। खेलों को बढ़ावा देने के लिए खेल विकास निधि का निर्माण किया जाए। दिव्यांग खिलाड़ियों की आर्थिक सहायता के लिए व्यवस्था की जाए।
खिलाड़ियों की समस्याओं के निस्तारण के सिंगल विंडो सिस्टम       मुख्यमंत्री ने आठ वर्ष से 14 वर्ष के बच्चों के लिए मुख्यमंत्री खिलाड़ी उन्नयन छात्रवृत्ति की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। खिलाड़ियों की समस्याओं के समाधान के लिए सिंगल विंडो सिस्टम विकसित किया जाए। व्यावसायिक शिक्षा संस्थानों और राजकीय विभागों में उत्कृष्ट खिलाड़ियों के लिए कोटा इस प्रकार का हो जिससे खिलाड़ियों को प्रोत्साहन मिले।    
      बैठक में विद्यालयी शिक्षा एवं खेल मंत्री श्री अरविंद पाण्डेय, सचिव श्री आर मीनाक्षी सुन्दरम, श्री बृजेश कुमार संत, निदेशक शिक्षा श्री आर के कुंवर सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

विभिन्न पेयजल योजनाओं के लिये मुख्यमंत्री द्वारा स्वीकृत की गई धनराशि
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेश के अर्द्धनगरीय क्षेत्रों में राज्य जल एवं स्वच्छता मिशन द्वारा पेयजल आपूर्ति कार्यक्रम के सफल क्रियान्वयन हेतु 91 करोड़ की धनराशि स्वीकृत की है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने डोईवाला की प्रतीतनगर पेयजल योजना के लिये 25.65 करोड़ की धनराशि स्वीकृत किये जाने की सहमति प्रदान की है। मुख्यमंत्री ने धोरण पेयजल योजना के सुदृढीकरण के लिये 145.91 लाख तथा देहरादून की कृष्णानगर पेयजल योजना हेतु 109.47 लाख की भी स्वीकृति प्रदान की है।

  
#              #          #           

    मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेश की नदियों एवं झीलों के पुनर्जीवीकरण कार्य योजना के तहत जनपद पिथौरागढ़ के सोनगांव स्थित रणज्योति ताल के पुनर्जीवीकरण हेतु 75.50 लाख की धनराशि स्वीकृत की है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री द्वारा जनपद पिथौड़ागढ़ के ही कनालीछीना में टीटरी नहर के पुनरोद्धार हेतु 150 लाख की धनराशि मंजूर की है।



              


#             #                  #

स्मार्ट सिटी के कार्यों हेतु मुख्यमंत्री ने स्वीकृत की 03 करोड़ की धनराशि
मुख्यमंत्री द्वारा देहरादून स्मार्ट सिटी के कार्यों के संचालन हेतु केन्द्रांश की प्रत्याशा में राज्यांश के रूप में 03 करोड़ की धनराशि स्वीकृत की र्है इससे स्मार्ट सिटी के कार्यों को गति मिल सकेगी।
मुख्यमंत्री द्वारा कोट भ्रामरी में सांस्कृतिक मंच के विकास हेतु भी 25 लाख की धनराशि स्वीकृत की है।

मुख्यमंत्री ने महिला उद्यमियों को विशेष प्रोत्साहन योजना के तहत मंजूर की धनराशि
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेश में महिला उद्यमियों के लिये विशेष प्रोत्साहन योजना के तहत 03 करोड़ 50 लाख की स्वीकृति प्रदान की है। इस धनराशि से सूक्ष्म लघु एवं मध्यम विभाग के स्तर पर महिला उद्यमियों को विशेष प्रोत्साहन योजना के तहत उपादान स्वीकृत किये जाने में सुविधा होगी।

# # #

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय संयुक्त सचिवने प्रदेश के कृषिमंत्री से शिष्टाचार भेंट की।

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय संयुक्त सचिवने प्रदेश के कृषिमंत्री से शिष्टाचार भेंट की।

प्रदेश के भ्रमण पर आये केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय संयुक्त सचिव श्री अश्वनी कुमार एवं श्री राजवीर सिंह ने सोमवार को कृषि मंत्री श्री सुबोध उनियाल से उनके आवास पर शिष्टाचार भेंट की। प्रतिनिधिमण्डल द्वारा कृषि मंत्री से मुख्य रूप से राज्य को पीईक्यू सुविधा का ढांचागत अवसंरचना उपलब्ध कराये जाने की सम्भावनाओं पर चर्चा की गयी। उन्होंने बताया कि इस प्रक्रिया में आयातित पौधों को एक निश्चित अवधि तक ग्लास/पॉली हाऊस में परिरोध में विकसित किये जाने का प्राविधान है। पृथकवास में परिरोध से आयातित पौधों में रोगों की जानकारी मिल जाया करती है, जिससे आसन्न फसलों को किसी सम्भावित नुकसान से बचाया जा सकता है। संयुक्त सचिवगण ने इस दौरान राज्य को प्रस्ताव गठित करने का सुझाव देते हुए

# # #

पौड़ी गढवाल में आज की कोविड१९ रिपोर्ट

जनपद में कोरोना वायरस कोविड-19 के सक्रमण से रोकथाम एवं बचाव हेतु जिला प्रशासन हर स्थिति से निपटने के लिए सक्रियता से कार्य में जुटा है। जिला प्रशासन/स्वास्थ्य विभाग के डाक्टरों द्वारा लोगों कोे सामाजिक दूरी का पालन करने, अनिवार्य रूप से मास्क का प्रयोग करने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। साथ ही खाॅसी, जुखाम, बुखार, कफ, साॅस की तकलीफ आदि रोग की लक्षण होने पर करीब के स्वास्थ्य केन्द्र अथवा आपदा कन्ट्रोल रूम दूरभाष नम्बर 01368-221840, तथा वार रूम कोविड 19 दूरभाष नम्बर 01368-222213, पर सूचित करने के निर्देश दिये गये हैं।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय परिसर में स्थापित वार रूम से आज दिनांक 05.10.2020 को समय 02ः00 बजे की रिर्पोट के अनुसार जनपद में आइसोलेशन व रेण्डम रूप से 47448 सैम्पल जांच हेतु भेजे गये, जिनमंे से 41419 नेगेटिव, 4021 लम्बित तथा 2008 कोरोना संक्रमित रोगी पाये गये। कोरोना संक्रमित 2008 में से 1465 स्वास्थ्य हो चुके है, जबकि 19 की मृत्यु हुई तथा 524 एक्टिव केस हैं।
जनपद में वर्तमान समय में 97 रोगी आइसोलेशन में भर्ती है, जिनमंे 19 बेस हाॅस्पिटल श्रीकोट तथा 78 बेस हाॅस्पिटल कोटद्वार में है। कोविड केयर सेंटर के अन्तर्गत 212 लोग हैं, जिनमंे 06 नर्सिंग काॅलेज डोबश्रीकोट, 06 परमार्थ निकेतन स्वार्गाश्रम ट्रस्ट, 20 सीसीसी कोड़िया कैम्प मंे, 06 गीता भवन स्वर्गाश्रम ट्रस्ट में, 03 डीसीसीसी सतपुली में तथा 171 होम आइसोलेशन में है।
आइसोलेशन से भर्ती 390 कोरोना संदिग्ध लोगों का सैम्पल जांच हेतु भेजा गया, जिनमें से 331 के निगेटिव तथा 59 की पाॅजिटिव रिपोर्ट आया। वहीं क्वारंटाइन आदि अन्य स्थलों में बाहर से आये 43133 लोगों का रेण्डम रूप से ली गई सैम्पल जांच हेतु भेजा गया, जिनमें से 37412 के निगेटिव, 4021 के लंबित तथा 1700 पाॅजिटिव रिपोर्ट आया।

# # #

रशीद मसूद का निधन एक राष्ट्रीय क्षति- धीरेंद्र प्रताप
उत्तराखंड कांग्रेस के उपाध्यक्ष और पूर्व मंत्री धीरेंद्र प्रताप ने सहारनपुर के कद्दावर नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री रशीद मसूद के निधन पर गहरा दुख और शोक व्यक्त किया है। रशीद मसूद के निधन को एक राष्ट्रीय क्षति बताते हुए धीरेंद्र प्रताप ने कहा है कि उन्होंने करीब 22 साल तीसरे मोर्चे के नेताओं के साथ लोक दल व जनता दल आदि दलों में उनके साथ बहुत निकट रह कर कार्य किया था। वह सच्चे राष्ट्रवादी नेता थे। उन्हें स्वर्गीय चौधरी चरण सिंह बहुत स्नेह देते थे।वे लोक दल के संसदीय दल के उप नेता रहे। उन्होंने लोकदल को बढ़ाने में रात दिन परिश्रम किया और किसानों और कमजोर लोगों की सदा मजबूत आवाज बने रहे। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री विश्वनाथ प्रताप सिंह ने कहा था कि मुसलमानों में यदि कोई व्यक्ति इस देश के प्रधानमंत्री पद के काबिल है तो वे रशीद मसूद हो सकते हैं ।
धीरेंद्र प्रताप ने उनके निधन पर भारी दुख व्यक्त करते हुए कहा कि उनके निधन से उन्होंने अपना एक बड़ा शुभचिंतक और निकटस्थ वरिष्ठ और विशिष्ट सहयोगी खो दिया है।
धीरेंद्र प्रताप पूर्व मंत्री एवं उपाध्यक्ष उत्तराखंड कांग्रेस कमेटी
पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता लोक दल जनता दल संयुक्त मोर्चा राष्ट्रीय मोर्चा

Leave a Reply

Your email address will not be published.