जल संरक्षण व स्वच्छता पर सेमिनार## जनपद नैनीताल में नशामुक्ति अभियान##मतगणना का प्रशिक्षण दिया।पढें Janswar.com में।

जल संरक्षण व स्वच्छता पर सेमिनार

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने रविवार को एटलांटिस क्लब पंडितवाडी, देहरादून मे इंडियन वाटर वर्क्स एसोसिएशन, देहरादून सेंटर द्वारा आयोजित एक दिवसीय सेमिनार का दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारम्भ किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने सेमिनार से सम्बन्धित विभिन्न तकनीकि पहलुओं पर आधारित पुस्तिका का विमोचन भी किया। सेमिनार में देश के 12 राज्यों एवं विशेषज्ञों द्वारा प्रतिभाग किया गया। जल संरक्षण एवं स्वच्छता के विभिन्न पहलुओं पर इस सेमिनार में मंथन किया जा रहा है।
श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने पांच सालों में हर घर में जल पहुंचाने का लक्ष्य रखा है। हर घर तक शुद्ध जल पहुॅचें इसके लिए इंजीनियरों को मंथन करने की जरूरत है कि कैसे पानी की बचत हो और कैसे बेहतर इस्तेमाल किया जा सके। आज सेमिनार में विषय विशेषज्ञ एक दूसरे के साथ अपने अनुभवों को सांझा करेंगे। जिसके भविष्य में अच्छे परिणाम मिलेंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जल का कैसे बैहतर तरीके से संरक्षण और पूर्ति हो, इसके लिए लोगों में भी जागरूकता लाने की जरूरत है। जल संचय का सबसे अच्छा तरीका वर्षा जल का एकत्रीकरण है। रेन वाटर हार्वेस्टिंग पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि राज्य सरकार का प्रयास है कि उत्तराखण्ड के अधिकांश हिस्सों में पूर्ण ग्रेविटी का जल मिल सके, इसके लिए सौंग, सूर्यधार व मलुढूंग बांध पर कार्य किया जा रहा है। सौंग बांध का कार्य शुरू होने से 350 दिनों में पूर्ण करने का लक्ष्य रखा गया है। सूर्यधार डेम पर कार्य प्रारम्भ हो गया है। इससे 29 गांवों को ग्रेविटी वाटर उपलब्ध होगा। पंचेश्वर बांध बनने से ऊधमसिंह नगर एवं चम्पावत के तराई क्षेत्र में ग्रेविटी का पेयजल उपलब्ध होगा।
इस अवसर पर अपर सचिव श्री उदयराज सिंह, इंडियन वाटर वर्क्स एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री के.के.सौंगरिया, गोवा के लोक निर्माण विभाग के प्रमुख अभियंता श्री उत्तम पार्सेकर, इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियर के अध्यक्ष श्री नरेन्द्र सिंह, प्रबन्ध निदेशक पेयजल श्री भजन सिंह आदि उपस्थित थे।
__________________________
जनपद नैनीताल में नशामुक्ति अभियान

हल्द्वानी- 13 अक्टूबर 2019 (सूचना)- जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव इमरान मो0 खान के दिशा निर्देशन मे संकल्प नशा मुक्ति अभियान का संचालन किया जा रहा है। जानकारी देते हुये प्राधिकरण सचिव इमरान मो0 खान ने बताया कि विगत रोज चैकी हाजा पर सूचना मिली थी कि एक नाबालिक लडका चांदनीचैक पर स्मैक के नशे मे है जो अपने परिवार वालो के साथ मारमीट कर रहा है। इसकी सूचना चैकी हाजा को दी गई, सूचना पर चैकी के कर्मचारी तुरन्त मौके पर पहुचे तथा नाबालिक बच्चे को परिजनों के संरक्षण मे टीपीनगर चैकी पर लाया गया। प्राधिकरण के सचिव के आदेशो के क्रम में नाबालिक बच्चे को नशामुक्ति केन्द्र हीरानगर मे इलाज के लिए दाखिल किया गया। इस कार्यवाही में विधिक सेवा कार्यकर्ता दिनेश चन्द जोशी, कांस्टेबल गणेश जोशी, पुष्पा यादव तथा ललित काण्डपाल मौजूद थे।
————————–
हल्द्वानी: त्रिस्तरीय सामान्य निर्वाचन प्रक्रिया के तहत तीसरे चरण का मतदान आगामी 16 अक्टूबर को सम्पन्न होगा इसके उपरान्त आयोग द्वारा निर्धारित कार्यक्रम के तहत 21 अक्टूबर को विकास खण्डों मे निर्धारित मतगणना स्थलो ंपर मतगणना का कार्य होगा। जानकारी देते हुये उपजिला निर्वाचन अधिकारी/मुख्य विकास अधिकारी श्री विनीत कुमार ने बताया कि मतगणना कार्य को त्रुटिहीन एवं पारदर्शी तरीके से सम्पन्न कराने के लिए 1510 मतगणना पर्यवेक्षकों एवं मतगणना सहायको को ड्यूटी पर लगाया गया है। इन सभी मतगणना कर्मियों को रविवार की सुबह 8 बजे से 5 बजे के बीच मतपत्रों की गणना किये जाने का सैद्वान्तिक एवं व्यवहारिक प्रशिक्षण रजिस्टार कुमाऊं विश्वविद्यालय एवं प्रभारी प्रशिक्षण डा0 महेश कुमार द्वारा दिया गया। उनके द्वारा कर्मिकों की अनेको शंकाओ का समाधान किया गया।
कार्मिकों को सम्बोधित करते हुये उपजिला निर्वाचन अधिकारी श्री विनीत कुमार ने कहा कि किसी भी निर्वाचन मे मतगणना सबसे महत्पूर्ण कार्य है जिसके आधार पर प्रत्याशी की जीत या हार तय होती है लिहाजा मतगणना कार्य मे लगे सभी कर्मचारी पूरी योग्यता, तत्परता, एकाग्रता एवं पारदर्शीता के साथ मतगणना कार्य को इस प्रकार से करें कि चुनाव लड रहे प्रत्याशी या उनके द्वारा नामित मतगणना अभिकर्ता उनके मतगणना कार्य एवं परिणाम से संतुष्ट हों। उन्होने कहा कि मतगणना कार्य रिटर्निग आफिसरों की रेखदेख होगा किसी भी मतपत्र को निरस्त करने से पहले रिटर्निग आफिसर से पहले सलाह एवं मशविरा करने के बाद ही निरस्तीकरण की कार्यवाही की जाए। उन्होने कहा कि मतगणना क्षेत्र मे मोबाइल फोन का प्रयोग तथा धूम्रपान पूर्णतयाः प्रतिबंधित रहेगा। इसके साथ ही मतगणना केन्द्र मे केवल अधिकृत व्यक्ति ही प्रवेश कर सकेंगे। मतगणना कार्य चुनाव प्रक्रिया का सबसे संवेदनशील एवं महत्वपूर्ण चरण है। मतगणना कार्य को अत्यन्त व्यवस्थित, विधिवत्, निष्पक्ष, पारदर्शिता, सतर्कता एव अनुशासन के साथ पूरी शुद्वता के साथ करना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि मतगणना कार्य राज्य निर्वाचन आयोग के जारी नियमों के अनुसार ही सम्पन्न होगा। इसलिए सभी कार्मिक आयोग के दिशा निर्देशों का भलीभांति अध्ययन कर लें।
जानकारी देते हुये अपर जिलाधिकारी प्रशासन कैलाश सिह टोलिया ने बताया कि आयोग द्वारा निर्धारित स्थलो पर ही मतगणना होगी। उन्होने बताया कि विकास खण्ड ओखलकांडा, धारी, रामगढ तथा भीमताल का मतगणना का कार्य विकास खण्ड सभागार मे सम्पन्न होगा जबकि विकास खण्ड बेतालघाट का मतगणना कार्य आदर्श इन्टरक कालेज बेतालघाट, हल्द्वानी विकास खण्ड की मतगणना का कार्य एचएन इन्टर कालेज हल्द्वानी मे, विकास खण्ड कोटाबाग की मतगणना का कार्य राजकीय बालिका इन्टर कालेज कोटाबाग तथा विकास खण्ड रामनगर की मतगणना का कार्य तहसील रामनगर मे सम्पन्न होगा तथा जिला पंचायत सदस्यों की मतगणना का कार्य सम्बधित विकास खण्ड के मतगणना स्थल पर सम्पन्न होगा। उन्होने बताया कि विकास खण्ड ओखलकांडा, बेतालघाट, धारी, भीमताल तथा कोटाबाग मे मतगणना के लिए 14-14 टेबल, रामगढ में 11, हल्द्वानी में 28 तथा रामनगर में 24 टेबले लगायी जायेंगी, पूरे जनपद में 133 टेबलों पर 762 मतदान स्थलों की गणना की जायेगी।
प्रशिक्षण देते हुये रजिस्टार डा0 महेश कुमार ने कहा कि मतगणना प्रबन्धन मतगणना कार्य का अतिआवश्यक अंग है। मतगणना हाॅल के अन्दर पूर्ण सतर्कता एवं अनुशासन के साथ मतगणना का कार्य सम्पन्न किया जाना है। उन्होने कहा कि किसी भी गलत अनियमित या असावधानी पूर्वक की गई गणना से पूरा चुनाव परिणाम शून्य अथवा निरस्त हो सकता है। उन्होने कहा त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन मतपत्रो पर आधारित है लिहाजा मतगणना का कार्य पूरी तत्परता के साथ किया जाना है। उन्होने बताया कि किसी एक उम्मीदवार के खाने मे एक से अधिक चिन्ह लगाये गये हैं, एक उम्मीदवार के खाने मे स्पष्ट चिन्ह के अतिरिक्त उसके पृष्ठ भाग मे या गहरे रंग वाले छायाकृत स्थान मे भी चिन्ह लगा हो,चिन्ह किसी उम्मीदवार के खाने मे आंशिक रूप मे लगा है तथा शेषभाग खाली स्थान मे लगा है, मूल चिन्ह किसी एक उम्मीदवार के खाने मे स्पष्ट रूप से बना है किन्तु मतपत्र को गलत ढंग से मोडने के कारण उसकी छाप अन्य उम्मीदवार के खाने मे बन गयी है अथवा मतदाता द्वारा मतपत्र को हाथ मे लेते समय असावधानी के कारण उस पर उसके अंगूठे के निशान का धब्बा पड गया तो इस आधार पर मतपत्र रद्द नही किया जायेगा। मतपत्र को रद्द करने का पूर्ण अधिकार आरओ के पास होगा।
प्रशिक्षण कार्यकम में उपनिदेशक एटीआई रेखा कोहली, सामान्य प्रबन्धक कुमायू मण्डल विकास निगम अशोक जोशी, उपजिलाधिकारी विवेक राय, बीएन शुक्ला, हर गिरी, मुख्य शिक्षा अधिकारी केके गुप्ता, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक हीरा लाल गौतम, जिला पूर्ति अधिकारी मनोज बर्मन, सहायक निदेशक बचत अखिलेश शुक्ला के अलावा सभी आरओ, एआरओ आदि मौजूद

Leave a Reply

Your email address will not be published.