हेलो मैं मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत बोल रहा हूं।##आज एम्स ऋषिकेश में एक ही संदिग्ध भर्ती हुआ। पढ़िए janswar.com में

लेख -नागेन्द्र प्रसाद रतूड़ी

हेलो मैं मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत बोल रहा हूं।
आज अचानक मेरे मोबाइल पर एक फोन आया।चूंकि मैं मुख्यमंत्री की आवाज पहचानता हूं इसलिए मै चकित आवाज में बोला – जी सर नमस्कार। उन्होंने कहा कि इस कठिन समय में आपका सहयोग चाहिए। मैंने कहा – आज्ञा कीजिए।वे बोले – आप स्वयं भी घर में रहिए और दूसरों को भी प्रेरित करिए। मैंने कहा – जी सर। उन्होंने फिर कहा सरकारी निर्देशों का पालन करिए।इससे हम कोरोनावायरस को हरा देंगे। धन्यवाद। मैंने कहा – जी सर।और मोबाइल पर आवजा आनी बंद हो गई।

अच्छा लगा यह सुन कर कि मुख्यमंत्री स्वयं इस महामारी को हराने के लिए सजग व कटिबद्ध हैं। उनकी इस सजगता से हम कोरोना वायरस को जरूर हरा देंगे।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने फोन पर राज्य के विधायकों से बात कर कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु सतर्क रहने और संयम बरतने का अनुरोध किया है। लगभग 37 विधायकों से फोन पर सम्पर्क हुआ। मुख्यमंत्री ने कहा कि जनप्रतिनिधि होने के नाते हमारी जिम्मेदारी बहुत अधिक है। हमें लोगों को राहत भी देनी है और समझाना भी है। अपने क्षेत्र में कोई परेशानी में हो तो सहायता करनी है। अगर किसी को खांसी, जुकाम, बुखार आदि इस प्रकार की कोई तकलीफ है तो स्वास्थ्य विभाग को सूचित करे ताकि उचित इलाज हो सके। विधायकगण अपने समर्थकों व कार्यकर्ताओं को भी प्रेरित करें। बाहर से आए लोगों पर नजर रखें, उन्हें आइसोलेशन में रहना है। मुख्यमंत्री कहा कि देश इस वक्त कोरोना महामारी से गुजर रहा है। प्रधानमंत्री जी स्वयं एक सप्ताह में दो बार राष्ट्र को संबोधित कर चुके हैं। हमारे पास केवल और केवल यही एक समाधान है कि हम सामाजिक दूरी बनाकर रखें। हमको दूरी बनाकर रखनी है। मेरा आपसे अनुरोध है कि हम सोशल डिस्टेंस बनाकर रखें। इसका स्वयं भी पालन करें और औरों को भी इसका पालन करने हेतु जागरूक करें। उन्होंने अनुरोध किया कि सोशल डिस्टेंस का पालन करें। यदि कोई बाहर से आया है तो हम उससे सामाजिक दूरी बनाते हुए उसकी सूचना शासन को दें। जो लोग उत्तराखंड से बाहर हैं और आना चाहते हैं उन्हें समझाएं कि जहां हैं वहीँ रहने में उनकी भी भलाई है। रास्ते में संक्रमित होने का खतरा रहता है। अगर दूसरे प्रदेशों में कोई परेशानी आ रही हो तो हम वहां की सरकार से बात करेंगे।

एम्स ऋषिकेश के जनसंपर्क विभाग के माध्यम से प्राप्त अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश (एम्स) के संकायाध्यक्ष अस्पताल प्रशासन प्रो.यू.बी.मिश्रा द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार अभी तक एम्स में एक भी कोरोंना संक्रमित व्यक्ति नहीं मिला।आज की ताजा सूचना के अनुसार आज कुल संदिग्ध मरीज जो भर्ती हुए -1
वर्तमान में संक्रमित भर्ती मरीजों की संख्या – 0
आज कुल नमूनों की जांच की संख्या -0
नेगेटिव रिपोर्ट के बाद छुट्टी किए गए मरीजों की संख्या -18
होम आइसोलेशन के लिए भेजे गए मरीजों की संख्या -15
कोविड-19 की स्क्रीनिंग में जांच किए गए कुल रोगियों की संख्या -63

Leave a Reply

Your email address will not be published.