स्वतंत्रता संग्राम सेनानी देश की धरोहर-अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी।###एक सितंबर से निर्वाचक सत्यापन कार्यक्रम-संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी।पढिए Janswar.com में।

स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की समस्याओं मॉनिटिरिंग की जाय।इसके लिए एक नोडल अधिकारी नियत किया जाय।

समाचार प्रस्तुति-नागेन्द्र प्रसाद रतूड़ी।
अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी की अध्यक्षता में शुक्रवार को सचिवालय में उत्तराखण्ड राज्य के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के उत्तराधिकारियों की विभिन्न मांगों के सम्बन्ध में सभी जिलाधिकारियों के साथ वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक सम्पन्न हुयी।
अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी ने कहा कि स्वतंत्रता संग्राम सेनानी किसी जनपद या राज्य तक सीमित नहीं हैं, बल्कि वह पूरे देश की धरोहर हैं। स्वतंत्रता दिवस के दिन सभी स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को समान रूप से सम्मान किया जाना चाहिए, चाहे वह किसी भी जनपद अथवा अन्य राज्य से सम्बन्धित क्यों न हों। उन्होंने समस्त जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की सभी समस्याओं की माॅनिटरिंग की जाए। उनकी समस्याओं के निराकरण के लिए प्रत्येक जिले में नोडल अधिकारी नामित कर उनका फोन नम्बर भी प्रचारित किया जाए, ताकि स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को अपनी समस्याओं को लेकर इधर-उधर न भटकना पड़े।
अपर मुख्य सचिव ने जिलाधिकारियों को यह भी निर्देश दिये कि जनपदों की सभी तहसीलों में उस क्षेत्र में निवास कर रहे स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की लिस्ट उपलब्ध करा दी जाए, जिससे तहसीलदार एवं अन्य अधिकारियों को अपने क्षेत्र में रह रहे स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की जानकारी रहे, एवं आवश्यकता पड़ने पर उनकी समस्याओं का समयबद्ध रूप से निराकरण किया जा सके। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की व्यवस्था बनायी जाए ताकि स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को अपने छोटे-छोटे कार्यों के लिए देहरादून और जनपद मुख्यालयों के चक्कर न काटने पड़े।

बैठक में बताया गया कि परिवहन निगम की सरकारी बसों की भांति वोल्वो बसों में भी स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, उनकी विधवाओं को एक सहायक के साथ तथा प्रथम पीढ़ी के समस्त उत्तराधिकारियों को निशुल्क यात्रा सुविधा दी जा रही है। स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के प्रथम पीढ़ी के उत्तराधिकारियों को कुटुम्ब पेंशन दिये जाने के सम्बन्ध में उत्तराखण्ड के सभी जिलाधिकारियों द्वारा अवगत कराया गया कि प्राप्त हो रहे आवेदनों का परीक्षण करते हुए पेंशन दिये जाने के सम्बन्ध में कार्यवाही पूर्ण की जा चुकी है। इस पर अपर मुख्य सचिव द्वारा कुटुम्ब पेंशन दिये जाने हेतु निर्देश दिये गए। जिलाधिकारी अल्मोड़ा द्वारा बताया गया कि अल्मोड़ा निवासी वरिष्ठ स्वतंत्रता संग्राम सेनानी श्री आनन्द सिंह बिष्ट जी के पैतृक आवास में हैण्ड पम्प लगाए जाना है, जिसकी शासन स्तर से स्वीकृति मिल गयी है एवं शीघ्र ही हैण्डपम्प लगा दिया जाएगा।
इस अवसर पर अपर सचिव श्री अतर सिंह एवं सम्बन्धित विभागों के अधिकारी सहित स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के उत्तराधिकारी भी उपस्थित थे।
############################

संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी, उत्तराखण्ड श्री प्रताप सिंह शाह ने जानकारी दी कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा विधान सभा निर्वाचक नामावली को शत-प्रतिशत शुद्ध एवं त्रुटिरहित बनाये रखने के लिये 01 सितम्बर, 2019 से निर्वाचक सत्यापन कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। कार्यक्रम के अन्तर्गत सभी अर्ह मतदाता निर्वाचक नामावली में नाम संशोधन, स्थान परिवर्तन व सूची से नाम हटवाने हेतु Voter Helpline-1950, Mobile app, NVSP.in (National Voters Service Portal) का प्रयोग कर सकते हैं अथवा  BLO से सम्पर्क कर सकते हैं। समस्त अर्ह मतदाता (01 जनवरी, 2019 को 18 वर्ष की आयु पूर्ण करने वाले) निर्वाचक नामावली में किसी भी प्रकार के संशोधन हेतु निकटतम  CSCs में भी जा सकते हैं। प्रत्येक मतदाता को सत्यापन हेतु निम्न में से किसी एक दस्तावेज जैसे – पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड, राशन कार्ड, शासकीय/अर्धशासकीय पहचान पत्र, बैंक पास बुक, किसान पहचान पत्र एवं भारत निर्वाचन आयोग द्वारा अनुमोदित अन्य दस्तावेजों की फोटो प्रति लानी आवश्यक होगी।
संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि 01 सितम्बर, 2019 से बी.एल.ओ. घर-घर जाकर प्रत्येक निर्वाचक व उनसे संबंधित जानकारियों का सत्यापन करेंगे। सभी नागरिकों से अपेक्षा है कि वे अपने नाम, पते व स्थान परिवर्तन व अन्य किसी भी प्रकार के संशोधन के लिये सत्यापन हेतु आने वाले बी.एल.ओ. का सहयोग करें अथवा अपरोक्त  Voter Helpline-1950, Mobile app, एवं  nvsp.in का प्रयोग कर स्वयं व अपने परिवार का सत्यापन करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.