विधान सभा में धर्मान्तरण पर रोक संबंधी व महिलाओं को सरकारी नौकरी में आरक्षण विधेयक पारित #मुख्यसचिव ने केदारनाथ पुनर्निर्माण व मास्टरप्लान कार्यों की समीक्षा की।# महानिदेशक सूचना ने सहायक निदेशक शंकरदत्त लोहानी की सेवानिवृति उन्हें स्मृति चिन्ह व पुष्पगुच्छ भेंट किए #उड़ान 50 के टेंडर में शामिल की जाएगी गौचर व चिन्यालीसौड़ की हवाई सेवा -www.janswar.com

-अरुणाभ रतूड़ी

 

विधान सभा में धर्मान्तरण पर रोक संबंधी व महिलाओं को सरकारी नौकरी में आरक्षण विधेयक पारित

  • उत्तराखण्ड में दो ऐतिहासिक विधेयक विधानसभा में पास
  • सीएम पुष्कर सिंह धामी ने वायदा किया पूरा, धामी सरकार की महत्वपूर्ण उपलब्धि
  • महिलाओं को सरकारी नौकरियों के क्षैतिज आरक्षण का बना कानून
  • प्रदेश में धर्मान्तरण पर रोक सम्बंधित कानून बना

 

उत्तराखंड में विधानसभा अनुपूरक बजट सत्र के दूसरे दिन दो महत्वपूर्ण विधेयक विधानसभा में ध्वनिमत से पास हो गए हैं। उत्तराखण्ड धर्म स्वतंत्रता (संशोधन) विधेयक 2022 के पास होने के बाद प्रदेश में धर्मान्तरण को लेकर कठोर कानून का प्राविधान हो गया है। इसके अलावा उत्तराखण्ड लोकसेवा (महिलाओं के क्षैतिज आरक्षण) विधेयक 2022 से प्रदेश में महिलाओं को 30 प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण की व्यवस्था एक बार फिर से लागू हो जाएगी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सरकार की यह अपने आप में बड़ी उपलब्धि है। कुछ दिन पूर्व राज्य सरकार ने इन दोनों विधेयकों को कैबिनेट से मंजूरी दी थी। बुधवार को विधानसभा में इन विधेयकों के पास होने से प्रदेश में इसे लागू करने की जल्द अधिसूचना जारी हो जाएगी।
       मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उत्तराखण्ड देवभमि है यहां पर धर्मान्तरण जैसी चीजें हमारे लिए बहुत घातक है इसलिए सरकार ने यह निर्णय लिया था कि प्रदेश में धर्मान्तरण पर रोक के लिए कठोर से कठोर कानून बने। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का प्रयास है कि इस कानून को पूरी दृढ़ता से प्रदेश में लागू किया जाएगा। वहीं उत्तराखण्ड में महिलाओं के क्षैतिज आरक्षण विधेयक को लेकर मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि उत्तराखण्ड निर्माण में मातृशक्ति का बहुत बड़ा योगदान है और सरकार ने यह पहले ही तय किया था कि विषम भौगोलिक परिस्थितियों वाले इस प्रदेश में मातृशक्ति का सम्मान करते हुए उन्हें इस क्षैतिज आरक्षण का लाभ मिले। महिलाओं के लिए राज्याधीन सेवाओं में क्षैतिज आरक्षण की व्यवस्था देने करने यह अधिनियम मातृ शक्ति को समर्पित है।

*********

मुख्यसचिव ने केदारनाथ पुनर्निर्माण व मास्टरप्लान कार्यों की समीक्षा की।

मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने बुधवार को सचिवालय में केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्य एवं बद्रीनाथ मास्टर प्लान कार्यों की समीक्षा की।
मुख्य सचिव ने कहा कि बद्रीनाथ धाम एवं केदारनाथ धाम दोनों में बर्फ पड़ने से पहले पूर्ण किए जाने वाले कार्यों को निर्धारित समयसीमा तक पूर्ण कर लिए जाएं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कांट्रेक्टर का पैसा किसी भी हाल में रुकना नहीं चाहिए, कांट्रेक्टर का भुगतान समय पर किया जाए। जो कार्य देर से शुरू हुए हैं या अभी तक शुरू ही नहीं हो पाए हैं, उनकी प्रतिदिन मॉनिटरिंग की जाए।
मुख्य सचिव ने निर्देश दिए कि बद्रीनाथ में रिवरफ्रंट डेवलपमेंट वर्क्स को अगले सीजन में नदी का जल स्तर बढ़ने से पहले पानी के स्तर से ऊपर तक पूर्ण कर लिया जाए, जिससे बाद में कार्य बाधित न हो। उन्होंने कार्यों में आ रही समस्याओं से उन्हें अवगत कराए जाने के भी निर्देश दिए ताकि समस्याओं का शीघ्र से शीघ्र निस्तारण किया जा सके। उन्होंने कहा कि बर्फबारी के कारण लेबर कम होने से जो समस्याएं आ रही हैं, इसके लिए अन्य राज्यों से भी लेबर की व्यवस्था की जाए, साथ ही पीडब्ल्यूडी अपनी विभागीय लेबर और टेक्निकल लेबर की भी व्यवस्था करे। उन्होंने कहा कि अगली यात्रा शुरू होने से पहले जो कार्य अनिवार्य रूप से पूर्ण होने हैं उन कार्यों पर उपलब्ध लेबर को शिफ्ट कर प्राथमिकता के आधार पर कार्यों को पूर्ण किया जाए।
इस अवसर पर सचिव श्री सचिन कुर्वे सहित वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सम्बन्धित जनपदों के जिलाधिकारी एवं विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

*********

महानिदेशक सूचना ने सहायक निदेशक शंकरदत्त लोहानी की सेवानिवृति उन्हें स्मृति चिन्ह व पुष्पगुच्छ भेंट किए

देहरादून। सूचना एवं लोक संपर्क विभाग में आयोजित विदाई कार्यक्रम में श्री शंकर दत्त लोहानी, सहायक निदेशक की अधिवर्षता आयु पूर्ण करने पर सेवानिवृत्ति दी गईं। इस अवसर पर महानिदेशक सूचना श्री बंशीधर तिवारी ने पुष्प गुच्छ व स्मृति चिन्ह श्री लोहानी को भेंट किया।
महानिदेशक श्री तिवारी ने कहा कि किसी भी कार्मिक द्वारा 40 वर्ष की सेवा पूर्ण कर सेवानिवृत्त होना गौरव की बात है। उन्होंने कहा कि विभाग का दायित्व होना चाहिए कि सेवानिवृत्त होने वाले कार्मिक को उसके भी देयक सेवानिवृत्ति के समय पर ही मिल जाय। इस अवसर पर श्री आशिष कुमार त्रिपाठी ने कहा कि श्री शंकर दत्त लोहानी, सहायक निदेशक सरल स्वभाव के व्यक्ति रहे है। उनकी कार्यशैली अन्य कार्मिकों के लिए प्रेरणादायक रही है। डॉ. नितिन उपाध्याय, उप निदेशक ने भी अपने विचार व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि सभी कार्मिकों को श्री लोहानी की कार्यशैली से प्रेरित होना चाहिए। कार्यक्रम का संचालन श्री रामपाल सिंह रावत व्यवस्थाधिकारी द्वारा किया गया।
कार्यक्रम में अध्यक्ष उत्तराखंड कर्मचारी संघ भुवन चन्द्र जोशी, महामंत्री सुरेश चंद्र भट्ट, पूर्व महामंत्री के.एस. पंवार, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी गोपाल सिंह राणा, चन्द्र सिंह तोमर, सुरेंद्र बिष्ट सहित अन्य अधिकारी एव कर्मचारीगण उपस्थित थे।

 

********

  • उड़ान 50 के टेंडर में शामिल की जाएगी गौचर व चिन्यालीसौड़ की हवाई सेवा
  • पिथौरागढ़ से फिक्सड विंग एयरक्राफ्ट सेवाएं अगले साल 31 जनवरी से शुरू होगी
  • सीएम पुष्कर सिंह धामी को पत्र लिखकर केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दी जानकारी
  • सीएम पुष्कर सिंह धामी ने 27 नवम्बर को नई दिल्ली में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से भेंट कर किया था अनुरोध

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी को पत्र लिखकर जानकारी दी है कि उङान 5.0 के टेंडर में चिन्यालीसौङ व गौचर से छोटे एयरक्राफ्ट की सेवाओं को शामिल किया जाएगा। केंद्रीय मंत्री ने अपने पत्र में यह भी बताया कि पिथौरागढ़ से फिक्सड विंग एयरक्राफ्ट सेवाएं शुरू करने के लिए फ्लाई बिग एयरलाइन को निर्देशित कर दिया गया है।
फ्लाई बिग द्वारा 31 जनवरी 2023 से इसका संचालन शुरू किया जाएगा।  इसके तहत पिथौरागढ़-पंततनगर, पंततनगर-पिथौरागढ़, पिथौरागढ़-हिंडन, हिंडन-पिथौरागढ़, पिथौरागढ़-देहरादून, देहरादून-पिथौरागढ़ रूट पर फिक्सड विंग सेवाएं फ्लाई बिग द्वारा संचालित की जाएगी।
केंद्रीय मंत्री ने अपने पत्र में अवगत कराया है कि पंततनगर एयरपोर्ट को अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट के रूप में
विकसित करने के लिए एयरपोर्ट ऑथोरिटी ऑफ इंडिया द्वारा 9 नवम्बर 2022 को ओएलएस सर्वे किया गया। इसका चार्ट बनाया जा रहा है। प्रि-फीजिबिलिटी रिपोर्ट तैयार की जा चुकी है। जौलीग्रांट एयरपोर्ट को अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट के रूप में विस्तारीकरण के लिए राज्य सरकार से मानकों के अनुरूप भूमि उपलब्ध कराये जाने का अनुरोध किया गया है।
गौरतलब है कि 27 नवम्बर को मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से दिल्ली में भेंट कर उत्तराखण्ड में नागरिक उड्डयन इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने और एयर कनेक्टीवीटी को बढाने के संबंध में विभिन्न बिंदुओं पर अनुरोध किया था। उन्हीं बिंदुओं पर की गई कार्यवाही और अद्यतन स्थिति की जानकारी जानकारी केंद्रीय मंत्री ने 30 नवम्बर के अपने पत्र में मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी को दी है।

*********

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *