वन दरोगा ऑनलाईन भर्ती परीक्षा में नकल मामले में एसटीएफ ने खोला खाता:हरिद्वार से दो गिरफ्तार।# कुमांउ के मणडलायुक्त व डीआईजी ने स्व.जगदीशचन्द्र के घर शोक संवेदना व्यक्त की # जिलाधिकारी गढवाल ने राजस्व वाद, राजस्व वसूली, मजिस्ट्रियल जांच, खाद्यान्न वितरण और संबंधित विभागों की समीक्षा बैठक ली।www.janswar.com

-नागेन्द्र प्रसाद रतूड़ी

वन दरोगा ऑनलाईन भर्ती परीक्षा में नकल मामले में एसटीएफ ने खोला खाता:हरिद्वार से दो गिरफ्तार।

वन दरोगा ऑनलाई नभर्ती परीक्षा में नकल के मामले में एस.टी.एफ. द्वारा कल 04 सितम्बर को साइबर थाना देहरादून पर मुकदमा अपराध संख्या 22/22 धारा 420/120 B भादवी,66 आई.टी. एक्ट और 3/5/6/9/10 उत्तर प्रदेश सार्वजनिक परीक्षा नकल निवारण अधिनियम की धाराओं में पंजीकृत करने के बाद आज एसटीएफ ने इस मामले में दो व्यक्तियों को नकल गिरोह के सक्रिय सदस्य होने के आरोप में हरिद्वार से गिरफ्तार किया है। इस मामले में यह पहली गिरफ्तारी है। गिरफ्तार आरोपियों के नाम        1-प्रशान्त कुमार पुत्र बाबूलाल आयु 18 वर्ष खानपुर हरिद्वार।
2-रविन्द्र सिंह पुत्र योगेन्द्र सिंह आयु 27 वर्ष वार्ड नं.11लक्सरी थाना लक्सर हरिद्वार हैं।

                           (फोटो: साभार)

*********

अल्मोड़ा:(अशोक कुमार पाण्डेय ) विगत दिनों सल्ट विधानसभा अन्तर्गत ग्राम पनुवाद्योखन के जगदीश चन्द्र की हुई हत्या के सम्बन्ध में आज कुमाऊ आयुक्त दीपक रावत, डीआईजी नीलेश आनन्द भरणें द्वारा जगदीश चन्द्र की माता भागुली देवी, भाई दिलीप कुमार, पृथ्वीपाल के घर जाकर शोक संवेदना व्यक्त की। इस दौरान आयुक्त ने पीड़ित परिवार को आश्वासन देते हुए कहा कि पुलिस इस मामले की गहनता से जॉच कर रही है। उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवार के सदस्यों को सुरक्षा प्रदान की गयी है। उन्होंने आश्वस्त करते हुए कहा कि सुरक्षा को लेकर किसी प्रकार की चिन्ता करने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि इस मामले में संलिप्त अन्य लोगों की भी विभागीय जॉच की जा रही है।
आयुक्त कुमाऊ मण्डल ने कहा कि प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी इस घटना के जॉच के सम्बन्ध में की जा रही कार्यवाही की समय-समय पर मानिटरिंग कर रहे है। इस दौरान पीड़ित परिवाजनों द्वारा आयुक्त महोदय को एक ज्ञापन सौंपा। इसी क्रम में जिलाधिकारी वन्दना द्वारा पीड़ित परिवार से मिलकर उन्हें जिला प्रशासन की ओर से आर्थिक चैक भेंट किया। इस दौरान संयुक्त मजिस्ट्रेट रानीखेत जयकिशन, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रदीप कुमार राय आदि अधिकारी उपस्थित थे।

********

जिलाधिकारी डॉ0 विजय कुमार जोगदण्डे की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में राजस्व वाद, राजस्व वसूली, मजिस्ट्रियल जांच, खाद्यान्न वितरण और संबंधित विभागों के अधिकारियों व पटल सहायकों के कार्यों की मासिक समीक्षा बैठक आयोजित की गई। जिलाधिकारी ने बैठक में सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि अपने-अपने कार्य क्षेत्र में फील्ड निरीक्षण बढ़ाएं। उन्होंने उचित औचक निरीक्षण करते हुए कार्य की गुणवत्ता बढ़ाने के निर्देश दिये। उन्होंने सभी उप जिलाधिकारियों को निर्देशित किया कि राजस्व वसूली की प्रगति तेजी से बढ़ाएं, विशेषकर बड़े बकायेदारों से संबंधित वसूली को गंभीरता से पूर्ण करें।
जिलाधिकारी डॉ0 जोगदण्डे की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में उन्होंने विगत वर्षों से लंबित वादों के निस्तारण के लिए विशेष अभियान के तौर पर कार्य करने के साथ ही सभी तरह के वाद के निस्तारण की प्रगति बढ़ाने को निर्देशित किया। उन्होंने सिंगल यूज प्लास्टिक पर नियंत्रण रखने के लिए प्रतिदिन विशेष अभियान चलाने तथा इंफोर्समेंट कार्रवाई की प्रतिदिन की रिपोर्ट प्रस्तुत करने को निर्देशित किया। जिलाधिकारी ने जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देशित किया कि जहां पर नए गोदाम बनाए जाने हैं और उसके लिए यदि भूमि की आवश्यकता है तो उसका प्रस्ताव प्रस्तुत करें, साथ ही उप जिलाधिकारियों के समन्वय से गोदामों का भी समय-समय पर औचक निरीक्षण करें। उन्होंने सभी पटल सहायकों को अपने-अपने दायित्व का गंभीरता से निर्वाहन करने तथा अपने-अपने पटल के कार्यों को समयबद्धता व पारदर्शिता के साथ पूर्ण करने को निर्देशित किया। उन्होंने उप जिलाधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र में खनन क्षेत्रों का भी समय-समय पर औचक निरीक्षण करने तथा किसी भी प्रकार के अवैध खनन की रोकथाम के निर्देश दिए।

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.