लोनिवि,संस्कृति,सिंचाई व पंचायतराज मंत्री सतपाल महाराज ने सतपुली में कारगिस शहीदों को दी श्रद्धांजलि व शहीदों के परिजनों को शाल उढाकर किया सम्मानित।#उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने पौड़ी में शहीद स्मारक परपुष्प चक्र चढाकर श्रद्धाजंलि दी।# रुद्रप्रयाग में कारगिल शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित कर  मनाया गया कारगिल विजय दिवस-www.janswar.com

 

कारगिल विजय दिवस के शुभ अवसर पर राजकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सतपुली में प्रदेश के संस्कृति, लोनिवि, सिंचाई, पंचायत राज मंत्री सतपाल महाराज ने द्वीप प्रज्ज्वलित कर राष्ट्रीय चित्रकला कार्यशाला का शुभारंभ किया। इस अवसर पर माननीय मंत्री ने 1999 के कारगिल युद्ध के शहीदो को श्रद्धांजलि अर्पित कर शहीदों के परिजनों को शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया।
मंगलवार को संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने राजकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सतपुली पहुंचकर कारगिल विजय दिवस पर ललित कला अकादमी भारत सरकार एवं संस्कृति विभाग उत्तराखंड के संयुक्त तत्वाधान में 26 जुलाई से 01 अगस्त 2022 तक सप्ताह भर चलने वाले राष्ट्रीय चित्रकला कार्यशाला का शुभारंभ किया। कारगिल विजय दिवस पर आयोजित इस कार्यशाला में देशभर से 31 कलाकार प्रतिभाग करने जा रहे है जो अपनी चित्रकारी के माध्यम से कारगिल शहीदों की वीर गाथाओं को आम जनमानस तक पहुंचाएंगे। इस अवसर पर मा0 मंत्री ने कारगिल शहीद डब्बल सिंह के भाई मनोज बिष्ट को शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया।
संस्कृति मंत्री ने कार्यक्रम में आये देश के कलाकारों को सम्मानित करते हुए कहा कि जनपद के लिए यह पहला अवसर है जब राष्ट्रीय स्तर की चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन सतपुली में हो रहा है। कहा कि इस कार्यशाला में देश भर के चित्रकार एक सप्ताह तक अपनी कला का जौहर दिखाएंगे। उन्होंने कहा कि इस कार्यशाला के माध्यम से पूरे देश को यह संदेश देना है कि किस प्रकार देश के जांबाज वीरों ने अपने प्राणों की आहुति देकर इस देश की सुरक्षा की है। वही देश की अखंडता व संप्रभुता को अक्षुण्ण बनाए रखने के लिए आमजन को जागृत करना है।
इसके अलावा मंत्री ने आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर आगामी 13 से 15 अगस्त तक हर घर तिरंगा कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए जन-जन के सक्रिय सहयोग की अपेक्षा की है ताकि कार्यक्रम को सफल बनाया जा सके। वहीं द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति बनाए जाने पर मंत्री ने प्रदेश की ओर से बधाइयां प्रेषित करते हुए कहा कि राष्ट्रपति का अधिकारिक फोटो प्राप्त होने के उपरांत प्रदेश की समस्त पंचायत घरों में उनकी फोटो स्थापित की जाएगी। मंत्री जी ने कहा कि देश में अनुसूचित जनजाति की पहली महिला का राष्ट्रपति के पद पर पहुंचना दर्शाता है कि देश अब जाति, दल से ऊपर उठकर विकास को प्राथमिकता दे रहा है। मंत्री ने कहा कि पंचायत राज मंत्रालय भारत सरकार द्वारा प्रदेश को 135 करोड़ रुपए की धनराशि उपलब्ध कराई गई है जिससे प्रदेश में 200 ग्राम पंचायतो के नए भवनों का निर्माण, 100 पंचायत भवनों में अतिरिक्त कक्षों का निर्माण, 500 ग्राम पंचायत को कंप्यूटरीकृत करने, प्रदेश के सभी विकासखंड मुख्यालयों को सेटेलाइट से जोड़ने, विकासखंड स्तर पर कूड़ा निस्तारण हेतु कंपैक्टर स्थापित करने आदि कार्य किये जायेंगे। मंत्री ने कहा कि सरकार ब्लाक प्रमुख व जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव प्रत्यक्ष रूप से कराने जा रही है। जिससे जनता को पारदर्शिता के साथ योग्य प्रतिनिधि मिल सकेगा। वही सरकार गांव की आमदनी बढ़ाने के लिए वन पंचायत स्तर पर चीड़ के पेड़ों का वन निगम के माध्यम से कटान कर वहां पर मोन पालन, मशरूम, दलहन इत्यादि के उत्पादन के माध्यम से ग्रामीण काश्तकारों की आमदनी में बढ़ोतरी का प्रयास करने जा रही है।
इस अवसर पर एसडीएम सतपुली संदीप सिंह, नगर पंचायत अध्यक्षा सतपुली अंजना वर्मा, ललित कला अकादमी नई दिल्ली की सदस्य/कार्यक्रम की समन्वयक रिया काम्बोज, सहायक कार्यक्रम अधिकारी ललित कला अकादमी हिमांशु डबराल, प्रमुख एकेश्वर नीरज पांथरी, बीईओ द्वारीखाल सुरेंद्र सिंह नेगी, व्यापार मंडल अध्यक्ष सतपुली थानेश्वर कुकरेती, महिपाल सिंह, सत्यराज, राकेश नैथानी, शुभम रावत, यशवंत सिंह सहित विद्यालय के छात्र-छात्राएं एवं स्थानीय जनता उपस्थित थी।

***********

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने पौड़ी में शहीद स्मारक परपुष्प चक्र चढाकर श्रद्धाजंलि दी।

जनपद में आज कारगिल विजय दिवस को शौर्य दिवस में रूप मनाया गया। जनपद मुख्यालय में शहीद स्मारक एजेंसी चौक पौड़ी में उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, जिला पंचायत अध्यक्ष शांति देवी, स्थानीय विधायक राजकुमार पोरी, जिलाधिकारी गढ़वाल डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे, मुख्य विकास अधिकारी अपूर्वा पांडे, नगर पालिका अध्यक्ष पौड़ी यशपाल बेनाम, जिला सैनिक कल्याण अधिकारी ओपी फर्सवाण सहित अन्य अधिकारियों व पूर्व सैनिकों ने कारगिल युद्ध के शहीद वीर जवानों को पुष्प चक्र व श्रद्धासुमन अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गयी। कार्यक्रम से पूर्व छात्र-छात्रओं द्वारा एजेंसी चौक से कलेक्ट्रेट तक प्रभातफैरी निकाली गई, जिसे मुख्य अतिथि द्वारा हरी झंड़ी दिखाकर रवाना किया गया।
उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि भारतीय इतिहास में आज का दिन गौरवशाली दिन के रूप में अंकित है। कहा कि यह दिन हमारी विजय गाथा की याद दिलाता है। आज के दिन ही कारगिल के युद्ध में हमारे जांबाज वीर सैनिकों ने वीरता का परिचय देते हुए पाकिस्तान की सेना को हराकर टाईगर हिल को जीत कर तिरंगा फहराया था। कहा कि पूर्व सैनिकों की जो भी समस्याएं है, उनका समाधान किया जा रहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि कारगिल युद भारतीय सेना की वीरता का एक ऐसा उदाहरण है जिस पर प्रत्येक भारतीय को गर्व होना चाहिए। उन्होंने कहा कि कारगिल युद्व में भारतीय सेना ने लगभग 527 से अधिक वीर सैनिकों को खोया था। इस युद्ध में न केवल 527 वीर सैनिक शहीद हुए बल्कि 1300 से अधिक सैनिक घायल हुए थे। कारगिल युद्ध में 2700 पाकिस्तानी सैनिक मारे गए जबकि 250 पाकिस्तानी सैनिक युद्ध छोड़कर भाग निकले थे। कहा कि शहीद सैनिकों व पूर्व सैनिकों को सरकार हर तरह का सहयोग कर रही है।
स्थानीय विधायक राजकुमार पोरी ने कहा कि कारगिल युद्व में शहीद हुए जवानों को आज भी याद किया जाता है। उन्होंने कहा कि आज हम सब लोग अपने घरों में सुरक्षित हैं तो वह सैनिकों की वजह से हैं।
जिलाधिकारी डॉ. जोगदण्डे ने कहा कि वर्ष 1999 में पाकिस्तान ने कारगिल पर हमला कर दिया था, इस दौरान देश के कई सैनिकों ने देश की रक्षा करते हुए अपना सर्वाेच्च बलिदान दिया है, जिसे देश हमेशा याद करता रहेगा। कारगिल युद्ध लगभग 60 दिनों तक चला और इस युद्ध की समाप्ति 26 जुलाई को हुई। इस युद्ध में भारतीय सेना ने जीत हासिल की। तब से हर साल 26 जुलाई को कारगिल विजय दिवस के रूप में मनाया जाता है और युद्ध में शहीद होने वाले भारतीय सेना के जवानो को और देश के प्रति दी गई उनकी कुर्बानी को याद किया जाता है। उसके उपरांत प्रेक्षागृह पौड़ी में शहीदों के चित्रों पर श्रद्धासुमन अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गयी। इस दौरान मा0 मंत्री ने शहीद के परिजनों को सम्मानित भी किया। वहीं स्कूली छात्रों द्वारा देशभक्ति गीत की शानदार प्रस्तुति दी गई। साथ ही अतिथियों द्वारा विभिन्न कार्यक्रमों में बेहतर प्रदर्शन करने वालें छात्र-छात्राओं को भी सम्मानित किया गया।
इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष शांति देवी, डीसीबी अध्यक्ष नरेंद्र रावत, प्रदेश उपाध्यक्ष सहकारिता संघ मातवर सिंह नेगी, नगर पालिका अध्यक्ष पौड़ी यशपाल बेनाम, मुख्य विकास अधिकारी अपूर्वा पांडे, जिला विकास अधिकारी पुष्पेंद्र चौहान, जिला सैनिक कल्याण अधिकारी ओपी फर्सवाण, नगर पालिका ईओ प्रदीप बिष्ट, संस्कृति विभाग से प्रेमचंद ध्यानी, पूर्व सैनिक राजेंद्र राणा, राजेेंद्र रावत, भाजपा अध्यक्ष संपत सिंह रावत सहित अन्य उपस्थित थे।

********

-देवेन्द्र चमोली

 

रुद्रप्रयाग में कारगिल शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित कर  मनाया गया कारगिल विजय दिवस

रुद्रप्रयाग- कारगिल शौर्य दिवस के अवसर पर आज कारगिल युद्ध में शहीद हुये सैनिकों को याद करते हुये उन्हें श्रदांसुमन अर्पित किये गये। जिलाधिकारी मयूर दीक्षित की अध्यक्षता में हुये कार्यक्रम में शहीदों के परिजनों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में अतिथि रुद्रप्रयाग विधायक भरत सिंह चौधरी ने कारगिल युद्ध मे शहीद हुये जनपद के जॉबाजो को नमन् करते हुये कहा कि देश के लिये ऐतिहासिक कारगिल युद्ध के शहीदों का योगदान कभी भुलाया नहीं जा सकता।
स्थानीय राजकीय इंटर कालेज रुद्रप्रयाग में सैनिक कल्याण व पुनर्वास विभाग व शिक्षा विभाग की ओर से आयोजित कार्यक्रम में जनपद के शहीद हुये सैनिकों की वीर नारियों को , जिला पंचायत अध्यक्ष सुमन्त तिवारी, विधायक भरत सिंह चौधरी व जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने सयुंक्त रुप से शाल भेंट कर सम्मानित किया।
कार्यक्रम में देवर गॉव निवासी शहीद गोविन्द सिंहं की पत्नी उमा देवी व क्यूंजा गॉव निवासी शहीद भगवान सिंहं की पत्नी सुंदरी देवी को शॉल भेंटकर सम्मानित किया गया इससे पूर्व राइका रुद्रप्रयाग की वालिकाओं द्वारा सरस्वती बंदना, स्वागत. गीत, से कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया सैनिक कल्याण अधिकारी के एस विष्ट ने सभी आगन्तुकों का स्वागत करते हुये शौर्य दिवस पर प्रकाश डाला।
विधायक भरत सिंहं चौधरी ने कारगिल युद्ध में रुद्रप्रयाग के शहीदों के योगदान को याद करते हुये कहा कि देश के सैनिकों को अटल जी ने जो सम्मान देना का जो सिलसिला शुरु किया था आज भारत के प्रथामंत्री नरेन्द्र मोदी ने उसे आगे बड़ाते हुये सैनिकों के साथ साथ देश का गौरव बड़ाया है।
जिलाधिकारी मयूर दीझित ने उपस्थित जनसमुदाय को सम्बोधित करते हुये कहा कि सैनिकों की तपस्या व निष्ठा से आज हम सुरक्षित है उन्होंने कहा कि शहीदों के सपनो को साकार करने के लिये हम सबको एकजुट होकर अपनी अपनी ड्यूटी निष्ठा पूर्वक निभानी चाहिए यही शहीदों को
कार्यक्रम में परिषदीय परीक्षाओं में जनपद से सर्वोच्च अंक लाने वाले मेधावी छात्रो को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर पूर्व सैनिकों सहित जिला स्तरीय अधिकारी भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.