लैंसीडौन पौड़ी गढ़वाल के समखाल में मलबे में दब कर तीन मजदूर मरे दो घायल#प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने पूर्ण रूप से कोविड 19 की पहली डोज लगाये जाने पर प्रदेशवासियों को दी बधाई। #मुख्यमंत्री ने किया मुख्यमंत्री कार्यालय तथा घोषणा अनुभाग का आकस्मिक निरीक्षण।#ग्राम्य विकास मंत्री ने मनरेगा कार्यों की समीक्षा की। Janswar.com

-एन.पी.रतूड़ी

जनपद में भारी वर्षा के चलते हैं तहसील लैंसडौन के अंतर्गत समखाल, में प्रात करीब 10ः30 बजे मलबा आने से 5 लोगों के दबने की सूचना पर जिलाधिकारी डॉ विजय कुमार जोगदंडे के निर्देशन पर तत्काल कार्रवाई करते हुए, उक्त स्थल पर राहत एवं बचाव कार्य जारी किया गया, मलबे में दबे लोगों को निकाला गया, जिनमें से दो मामूली घायल को उपचार हेतु बेस अस्पताल कोटद्वार में रेफर किया गया, जबकि तीन लोग की मृत्यु हो गई है। जिलाधिकारी डॉ जोगदंडे मौसम विभाग के अलर्ट के बाद व जनपद में लगातार हो रही बारिश को देखते हुये लगातार मानिटिरिंग कर रहे हैं।  

 तहसील लैंसडाउन के अंतर्गत समखाल क्षेत्र में निर्माण कार्य को लेकर वहां पर मौजूद मजदूर टेंट में रुके हुए थे भारी बारिश के कारण खेत से मलवा टेंट के ऊपर आने से 5 लोग मलवे में दब गए, जिन्हें तत्काल रेस्क्यू कार्य कर निकाला गया है, जिनमें से दो मामूली घायल को कोटद्वार बेस अस्पताल के लिए रेफर किया गया, मौके पर उप राजस्व निरीक्षक सहित अधिकारी, कार्मिक एवं ग्रामीण मौजूद है। जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारी को मृतकों की पंचनामा कर, पोस्टमार्टम कराने के निर्देश भी दिए। जिलाधिकारी डॉ. जोगदण्डे ने कहा कि आज सुबह से लगातार हो रही बारिश से 01ः00 बजे तक प्राप्त जानकारी के अनुसार लैंसडाउन क्षेत्र में 40-45 मिली मीटर वर्षा हुई है तथा जनपद में 29 मिली मीटर वर्षा हुई है।   लैंसडाउन के अंतर्गत समखाल के समीप निमार्ण कार्य कर रहे 05 मजदूर टेंट लगाकर रह रहे थे, भारी वर्षा के चलते भूस्खलन होने से मजदूर दब गए, जिसमे से 03 महिला मजदूरों ( समुनाद उम्र 56 वर्ष, अलिसा उम्र 04 वर्ष, निमरी उर्फ सपना उम्र 30 वर्ष ) की मृत्यु तथा 02 लोग( राबिया उम्र 17 वर्ष व नियाज उम्र 56 वर्ष ) मामूली रूप से घायल हो गए। घायलो को तत्काल अस्पताल उपचार के लिए भेज दिए गए हैं।

जिलाधिकारी ने कहा कि भारी वर्षा के चलते जनपद में 01ः00 बजे तक 05 मोटर मार्ग बाधित हो गए थे, जिसमे मुख्य रूप से नेशनल हाईवे श्रीनगर चमधार में बाधित हो गया है, जिसे जेसीबी के माध्यम से खोलने का कार्य प्रगति पर है। इसके अलावा सतपुली के अंतर्गत सराइखेत मोटर मार्ग खोलने हेतु सम्बंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। साथ ही फतेपुर-लैंसडाउन तथा घटूघाट-चेलूसैण बाधित मार्गों को खोल दिया गया है।

  • प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने पूर्ण रूप से कोविड 19 की पहली डोज लगाये जाने पर प्रदेशवासियों को दी बधाई।
  • इस अभियान को सफल बनाने में जन भागीदारी को बताया है अहम।
  • मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रधानमंत्री श्री मोदी का जताया आभार।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने राज्य के सभी पूर्ण रूप से पात्र लाभार्थियों को कोविड-19 की प्रथम डोज लगाये जाने पर प्रदेशवासियों को बधाई दी है।
प्रधानमंत्री श्री मोदी ने ट्वीट के माध्यम से प्रदेशवासियों को बधाई देते हुए कहा कि कोविड के खिलाफ देश की लड़ाई में उत्तराखण्ड की यह उपलब्धि अत्यन्त महत्वपूर्ण है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया है कि वैश्विक महामारी से लड़ने मे हमारा वेक्सिनेशन अभियान सबसे अधिक प्रभावी साबित होने वाला है, इसमें जन जन की भागीदारी अहम है।
मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रधानमंत्री श्री मोदी का आभार व्यक्त करते हुए कहा है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में उत्तराखण्ड पूर्ण रूप से पात्र लाभार्थियों को कोविड-19 की वेक्सीन की प्रथम डोज लगाने वाला राज्य बन गया है, इसके लिये मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों को भी बधाई दी है।

  • मुख्यमंत्री ने किया मुख्यमंत्री कार्यालय तथा घोषणा अनुभाग का आकस्मिक निरीक्षण।
  • समयबद्धता के साथ निर्गत हो घोषणाओं के क्रियान्वयन से सम्बन्धित शासनादेश।
  • जन समस्याओं एवं शिकायतों का भी त्वरित गति से किया जाय निस्तारण।
  • आवेदनकर्ता को भी, दी जाय की गई कार्यवाही की सूचना।

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को सचिवालय में मुख्यमंत्री कार्यालय एवं घोषणा अनुभाग का आकस्मिक निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने घोषणा अनुभाग के स्तर पर की जाने वाली कार्यवाही का निरीक्षण करने के साथ ही इस सम्बन्ध में आवश्यक जानकारी भी प्राप्त की। उन्होंने निर्देश दिये कि घोषणा अनुभाग में प्राप्त होने वाली सूचनाओं पर समयबद्धता के साथ त्वरित कार्यवाही सुनिश्चित की जाए ताकि जनहित को ध्यान में रखते हुए की गई घोषणायें धरातल पर दिखाई दें तथा आम जनता को उसका लाभ मिल सके।
मुख्यमंत्री ने कहा कि घोषणाओं का क्रियान्वयन समयबद्धता के साथ हो यह हमारा प्रयास होना चाहिए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कार्यालय से आम जनता की बड़ी अपेक्षायें रहती हैं। अतः जन अपेक्षाओं के समाधान के प्रति संवेदनशीलता के साथ कार्य किया जाए। उन्होंने कहा कि कार्य प्रणाली के सरलीकरण एवं समस्याओं के समाधान की भावना के साथ यदि हम अपने दायित्वों का निर्वहन करेंगे तो जनता में सरकार के प्रति विश्वास का भाव जागृत होगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री कार्यालय को प्राप्त होने वाली जन शिकायतों एवं समस्याओं से सम्बन्धित आवेदनों का निस्तारण भी त्वरित गति से किया जाए, साथ ही आवेदकों को भी उनके निवेदनों पर की गई कार्यवाही की सूचना उपलब्ध कराये जाने की व्यवस्था की जाए।
इस अवसर पर अपर प्रमुख सचिव श्री अभिनव कुमार, संयुक्त सचिव श्री संजय टोलिया सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

————————————————प्रदेश के ग्राम्य विकास मंत्री यतीश्वरानन्द की अध्यक्षता में ग्राम्य विकास विभाग की बैठक यमुना कालोनी स्थित कार्यालय कक्ष में आयोजित की गयी। जिसमें  मंत्री  द्वारा प्रदेश में मनरेगा के अन्तर्गत किये जा रहे कार्याे की समीक्षा की गयी।

बैठक में ग्राम्यविकास मंत्री द्वारा मनरेगा के अन्तर्गत किये जा रहे कार्याे की धीमी गति पर नाराजगी व्यक्त की गयी। विभागीय सचिव को तत्काल मनरेगा के कार्यों में गति लाने के निर्देश दिये गये।

उन्होंने प्रथम चरण में जनपद हरिद्वार में दस ग्रामों को आदर्श ग्राम बनाये जाने के निर्देश दिये गये, प्रत्येक गॉवों का तत्काल सर्वे कराकर एक अभियान के तहत प्रत्येक गॉवों को शत-प्रतिशत शौचालय युक्त बनाए जाने के निर्देश दिये गये। मंत्री द्वारा प्रत्येक सी0डी0ओ0  तथा  बी0डी0ओ0  को मनरेगा के कार्याे में रूचि लेकर कार्य कराए जाने हेतु और सचिव ग्राम्य विकास को अपने स्तर से कैम्पों का आयोजन कर मनरेगा के कार्याे में तेजी लाने के लिए निर्देश दिये गये।

उनके द्वारा मनरेगा कार्मिकों को देय मानदेय में रूपये 2000 से 3000 तक वृद्धि करने हेतु पत्रावली प्रस्तुत करने के निर्देश दिये गये तथा हड़ताल अवधि का मानदेय मनरेगा कार्मिकों को दिये जाने हेतु पत्रावली प्रस्तुत करने के निर्देश दिये गये।

Leave a Reply

Your email address will not be published.