लालकिले में तिरंगे के अपमान करने वालों को दंडित किया जाना चाहिए ।पढिएJanswar.Comमें अशोक क्रेजी के शॉट।

लालकिले में तिरंगे के अपमान करने वालों को दंडित किया जाना चाहिए।

लेख व कविता-अशोक क्रेजी (एम.जे.)

लगभग 2 माह से शांतिपूर्ण तरीके से चल रहे किसान आंदोलन की परिणीति इस कदर होगी इसकी थोड़ी बहुत आशंका उसी दिन हो गई थी जिस दिन किसान संघठनों ने गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर मार्च की घोषणा कर दी थी।
शासन के लाख कहने के बाद भी ये नेता अपनी बात पर अड़े रहे और शांति पूर्ण तरीके से जुलूस निकालने की बात कहते रहे।इन ठग व धूर्तों ने आम किसानों को बरगलाया ओर आंदोलन को दंगो की भेंट चढ़ा दिया।
एक ओर जहां देश का राष्ट्रीय पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा था देश अपने जवानों पर गर्व का फूला नही समा रहा था वहीँ देश के कुछ जवानों पर दंगाई लट्ठ व तलवारें लेकर प्रहार कर रहे थे।
केवल राष्ट्रीय सम्मान की खातिर पुलिस वालों ने पिटना स्वीकार किया वरना दिल्ली पुलिस के आगे ये भेड़िये कुछ नही कर पाते मात्र देश का गौरव के सम्मान के लिए मार खाते रहे हथियार होते हुए भी धैर्य धारण किये रहे।
जिस देश की सुरक्षा में अत्याधुनिक हथियारों का जखीरा हो जिससे उसके विरोधी देश भी ख़ौफ़ खाते हो।उसके सैनिक मात्र तलवारों से भालो से ओर डंडों से पिट जाएं ये कभी हो नही सकता।
समस्त राष्ट्र प्रेमियों की तरह 26 जनवरी की घटना से मेरा मन भी आहत हुआ है।सरकार को घटना के जिम्मेदार नेताओँ को शीघ्र दंडित किया जाना चाहिए।

क्रेजी शॉट

किसान आंदोलन के बीच मे
शामिल थे कई शैतान।
जिनके लिए मायने नही रखता
तिरंगे का सम्मान।।

हर दिन गाल बजाते थे
ये नकली किसान।
किसानों के ही बेटे हैं
पुलिस के जवान।।

लालकिले में घुसे जो
वे उपद्रवी ओर दंगाई थे।
कैसे मान ले उनको
वे अपने किसान भाई थे।।

गणतंत्र दिवस अपमान न हो
ये बात बेहद जरूरी थी।
वर्ना प्रशासन कमजोर नही था
ये दिल्ली की मजबूरी थी।।

किसानों को छोड़ इनके नेताओ पर
रासुका लगाओ।
और इन देशद्रोहियों को
जल्दी तिहाड़ पहुँचाओ।।

“कुछ तो करना ही होगा”

मतदाता गलत,
देश की संसद गलत,
प्रधानमंत्री गलत,.
मंत्रिमंडल गलत,
लोकतांत्रिक प्रक्रिया से चुनी गई पूरी सरकार गलत,
कृषि कानून गलत,
370 का हटना गलत,
जी एस टी गलत,
मेक इन इंडिया गलत,
आत्मनिर्भर भारत गलत,
राम मंदिर गलत,
घुसपैठियों को हटाने के लिये कानून गलत,
राफेल गलत,
सर्जिकल स्ट्राइक गलत,
एयर स्ट्राइक गलत,
सर्वोच्च न्यायालय गलत,
सर्वोच्च न्यायालय द्वारा गठित समिति गलत,
समिति के सदस्य गलत,
जीयो गलत,
जीयो का टॉवर गलत,
पतंजली गलत,
रामदेव गलत,
मीडिया गलत,
वैक्सीन गलत,
भारत देश ही गलत,

बस सही है तो…

सारे रास्तों पर डेरा जमाये आंदोलनकारी,
लोगों का रास्ता रोके आंदोलनकारी,
ऐश करते आंदोलनकारी,
राकेश टिकैत,
वामपंथी,
शाहीन बाग,
परिवारवादी पार्टियाँ,
चीन,
पाकिस्तान,
घुसपैठिये,
खालिस्तानी,
विघटनकारी,
टुकड़े-टुकड़े गैंग,
दंगाई,
लुटियन्स गैंग,
आतंकवादी,
विदेशी फण्डिंग पर पल रहे देशद्रोही,
तुष्टिकरण,
अवार्ड वापसी गैंग,
नशेड़ियों की जमात,

सही और गलत की परिभाषा ही शायद बदलनी पड़ेगी अब।

Leave a Reply

Your email address will not be published.