राष्ट्रीय एकता दिवस पर मुख्यमंत्री ने दिलाई शपथ।##पंचायत चुनाव के अगले चरण की घोषणा।##एम्स ऋषिकेश में रन फॉर यूनिटी का आयोजन किया गया। ## मण्डलायुक्त ने दिलाई तहसील परिसर में शपथ।## पढिए janswar.com में.

मुख्यमंत्री द्वारा एकता की शपथ दिलाते हुए।

राष्ट्रीय एकता दिवस पर मुख्यमंत्री ने दिलाई शपथ।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरूवार को पुलिस लाईन, देहरादून में राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर आयोजित रैतिक परेड में प्रतिभाग किया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने परेड का निरीक्षण किया व राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलाई। इस अवसर पर क्लेमेंटाउन थाना को सर्वश्रेष्ठ थाना चयनित होने पर सम्मानित किया गया। पुलिस के अधिकारियों को उत्कृष्ट कार्यों एवं विवेचना के लिए सम्मानित किया गया।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि देश की आजादी के बाद देशी रियासतों के एकीकरण में लोह पुरूष सरदार बल्लभ भाई पटेल की अहम भूमिका रही। आजादी के बाद अंग्रेज भारत को छोड़कर तो चले गये थे, लेकिन उन्होंने देश को अनेक रियासतों में बांट दिया। देश की एकता और अखण्डता के लिए लिये सरदार पटेल ने रियासतों का एकीकरण कर अंग्रजों के सपने को चकनाचूर किया। सरदार पटेल जी का किसानों के लिए भी अद्धितीय चिंतन रहा। उनका मानना था कि बिना किसानों के भारत की कल्पना नहीं की जा सकती।
 प्रशासनिक क्षेत्र के अलावा उनका अन्नपूर्ण भारत के लिए विशेष चिंतन रहा। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के प्रयासों से सरदार पटेल जी के ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ का सपना साकार हो रहा है। उन्होंने कहा कि यह वर्ष जम्मू-कश्मीर की धारा 370 से आजादी का वर्ष भी है। जम्मू-कश्मीर और लद्दाख का भविष्य उज्ज्वल दिखाई दे रहा है।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि जब सरदार पटेल अहमदाबाद के मेयर थे, तब उन्होंने 222 दिन तक स्वच्छता को लेकर अभियान चलाया। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने देशवासियों से सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त भारत बनाने का आह्वाहन किया है। सरदार पटेल जी का जीवन आदर्श हमें हमेशा प्रेरित करता रहेगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने नैनीताल में ज्योलिकोट के पास पुलिस वाहन दुर्घटना में मृतक पुलिस कर्मियों को श्रद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि इन पुलिस कर्मियों के परिवारजनों को राज्य सरकार द्वारा हर सम्भव मदद दी जायेगी।
पुलिस महानिदेशक श्री अनिल कुमार रतूड़ी ने कहा सरदार पटेल जी ने भारत के प्रथम गृह मंत्री बनने के बाद देशी रियासतों के विलय एवं प्रशासनिक व्यवस्थाओं को सुदृढ़ करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने कहा कि सरदार पटेल जी के जीवन से प्रेरणा लेते हुए हमें देश की अखण्डता व सम्प्रभुता को अक्षुण्ण रखते हुए कार्य करना होगा। उत्तराखण्ड पुलिस राज्य एवं देश को अक्षुण्ण रखने का पूरा प्रयास करेगी।
इस अवसर पर उच्च शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, सांसद श्रीमती माला राज्यलक्ष्मी शाह, विधायक श्री हरवंश कपूर, श्री खजान दास, श्री गणेश जोशी, श्री देशराज कर्णवाल, श्री उमेश शर्मा काऊ, मेयर देहरादून श्री सुनील उनियाल गामा, मेयर ऋषिकेश श्रीमती अनीता मंमगाई, अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी, पुलिस महानिदेशक कानून एवं व्यवस्था श्री अशोक कुमार, पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी एवं गणमान्य उपस्थित थे।  

##########################  

मण्डलायुक्त ने दिलाई हल्द्वानी तहसील परिसर में शपथ.

31 अक्टूबर-मण्डलायुक्त/सचिव माननीय मुख्यमंत्री श्री राजीव रौतेला ने तहसील परिसर हल्द्वानी मे राजस्व अधिकारियों एवं कर्मचारियांे को दिलाई राष्ट्रीय एकता की शपथ।
लौह पुरूष सरदार बल्लभ भाई की जयन्ती जनपद में हर्षोउल्लास से मनाई गई। सभी सरकारी कार्यालयों में एकता की शपथ दिलाई गयी वही जिला मुख्यालय में एकता दौड का आयोजन किया गया।
सरदार बल्लभ भाई पटेल की 144 वीं जयन्ती पर तहसील परिसर हल्द्वानी में अधिकारियों एवं कर्मचारियों को एकता शपथ दिलाने से पूर्व देश के प्रथम गृहमंत्री एवं उप प्रधानमंत्री लौह पुरूष सरदार बल्लभ भाई पटेल को श्रद्वांजलि देते हुयेे श्री रौतेला ने कहा कि सरदार बल्लभ भाई पटेल आधुनिक भारत के निर्माता हैं। उन्होने राष्ट्र को एक सूत्र मे पिरोने व राष्ट्रीय एकता व अखण्डता बनाने में अहम भूमिका निभाई। उन्होने कहा राष्ट्रीय एकता-अखण्डता अक्षुण बनाये रखने मे हमें अपनी अहम भूमिका निभानी होगी, यही सरदार बल्लभ भाई पटेल को सच्ची श्रद्वांजलि होगी।
श्री रौतेला ने कहा कि किसी भी देश  की अर्थव्यवस्था, न्यायप्रणाली तभी सुचारू होती है जब जनता मे एकता होती है। एकता मे सबसे बडा बाधक स्वहित होता है, आज के समय में स्वहित स्वरोपरी इसलिए हमें स्वहित त्याग कर सबके हितों के बारे मे सोचना होगा। देश में एकता के स्वर को सबसे ज्यादा बुलंद स्वतन्त्रता सेनानी लौह पुरूष बल्लभ भाई पटेल ने किया था, वे उस सदी में आज के युवाओं जैसे सोच के व्यक्ति थे, वे सदैव देश को एकता का संदेश देते थे, उन्ही को श्रद्वांजलि के लिए उनके जन्म दिवस को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप मे मनाया जाता है। सरदार पटेल आज भी करोडों युवाओं के प्रेरणा स्रोत हैं।
श्री रौतेला ने राष्ट्रीय एकता दिवस पर अधिकारियों एवं कर्मचारियों को राष्ट्रीय एकता, अखण्डता और सुरक्षा को बनाये रखने के लिए स्वयं को समर्पित करने की शपथ दिलाते हुये देश वासियों के बीच यह संदेश फैलाने को कहा।
कार्यक्रम में सिटी मजिस्टेट प्रत्यूष सिह, तहसीलदार बीआर आर्या सहित तहसील के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।

##########################

एम्स ऋषिकेश में रन फॉर यूनिटी का आयोजन किया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर बृहस्पतिवार को एम्स ऋषिकेश में श्रेष्ठ भारत-एक भारत ‘रन फॉर यूनिटी’ का आयोजन किया गया। जिसमें संस्थान की पांच सौ से अधिक फैकल्टी, चिकित्सकों, विद्यार्थियों व कर्मचारियों ने बढ़चढ़कर शिरकत की। बृहस्पतिवार को सुबह सरदार बल्लभ भाई पटेल की 146वीं जयंती के उपलक्ष्य में एम्स संस्थान की ओर से आयोजित ‘रन फॉर यूनिटी’ (एकता के लिए दौड़) का एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने हरी झंडी दिखाकर विधिवत शुभारंभ किया। दौड़ संस्थान के गेट नंबर- एक से शुरू हुई और आस्थापथ होते हुए साईं मंदिर घाट पहुंची, जिसका समापन एम्स के गेट नंबर- एक पर किया गया। इस अवसर पर प्रतिभागियों ने सरदार बल्लभ भाई पटेल का भावपूर्ण स्मरण किया और राष्ट्रीय एकता का संकल्प लिया। इस मौके पर ‘रन फॉर यूनिटी’ में हिस्सा लेने वाले सभी प्रतिभागियों को संस्थान के निदेशक पद्मश्री प्रो. रवि कांत व डीन स्टूडेंट्स वैलफेयर प्रो. साैरभ वार्ष्णेय ने प्रशस्तिपत्र भेंटकर सम्मानित किया। इस अवसर पर निदेशक एम्स प्रो. रवि कांत ने ‘रन फॉर यूनिटी ‘ में शिरकत करने वाले सभी प्रतिभागियों का आभार जताया व डीन स्टूडेंट्स वैलफेयर प्रो. सौरभ वार्ष्णेय द्वारा आयो​जित कार्यक्रम की सफलता के लिए उनकी सराहना की। निदेशक एम्स ने सभी का आह्वान किया कि भविष्य में भी संस्थान में आयोजित होने वाली इस तरह की रचनात्मक गतिविधियों में सभी लोग सहभागिता सुनिश्चित करेंगे। डीन स्टूडेंट्स वैलफेयर प्रो. वार्ष्णेय ने बताया कि ‘रन फॉर यूनिटी’ में संस्थान के पांच सौ से अधिक प्रतिभागी शामिल हुए, जिनमें फैकल्टी, डॉक्टर्स, कर्मचारी व विद्यार्थी शामिल हुए। इस अवसर पर मेडिकल सुपरिटेंडेंट डा. ब्रह्मप्रकाश, डीन एलुमिनाई प्रोफेसर बीना रवि, डीन रिसर्च प्रो. प्रतिमा गुप्ता, डा. संजीव मित्तल, डीन नर्सिंग प्रो. सुरेश कुमार शर्मा, वित्तीय सलाहकार पीके मिश्रा आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.