राज्यपाल से हेमकुण्ड साहिब मैनेजमेंट ट्रस्ट के उपाध्यक्ष ने भेंट की#मुख्यमंत्री ने किशाऊ बांध बहुद्देशीय परियोजना पर आयोजित बैठक में प्रतिभाग किया।# मुख्य सचिव ने देहरादून की सड़कों के सुधारीकरण व गड्ढा मुक्त करने हेतु बैठक ली।#राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र की रिपोर्ट#

-अरुणाभ रतूड़ी

 

राज्यपाल से हेमकुण्ड साहिब मैनेजमेंट ट्रस्ट के उपाध्यक्ष ने भेंट की

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से.नि.) से बुधवार को हेमकुण्ड साहिब मैनेजमेंट, ट्रस्ट के उपाध्यक्ष नरेन्द्रजीत सिंह बिंद्रा ने मुलाकात की। राज्यपाल ने उपाध्यक्ष से हेमकुण्ड साहिब यात्रा और यात्रा मार्गों में चल रहे निर्माण कार्यों की जानकारी प्राप्त की। श्री बिंद्रा ने अवगत कराया कि श्रद्धालुओं की सुगम यात्रा हेतु यात्रा मार्गों में कई कार्य किये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि बद्रीनाथ मुख्य हाईवे के लिए केन्द्र सरकार से 48 करोड़ रुपये स्वीकृत हुए हैं जिनका टेण्डर भी हो गया है साथ ही सड़कों में मोड़ों के चौड़ीकरण का कार्य चल रहा है।

उन्होंने अवगत कराया कि हेमकुण्ड साहिब के समीप हैलीपैड का निर्माण किया गया है जो आपात स्थिति में रेस्क्यू के लिए प्रयोग किया जाएगा। हेमकुण्ड साहिब के लिए रोपवे का कार्य अन्तिम चरण में है इसका टेंडर जल्द ही हो जाएगा। इसके अलावा घांघरिया से हेमकुण्ड साहिब पैदल मार्ग में शौचालय, रेन शैल्टर का निर्माण भी किया जा रहा है। साथ ही मोटर पुलों को भी दुरुस्त किया गया है। इसके अलावा अन्य कार्य भी किए जा रहे हैं जिससे श्रद्धालुओं को यात्रा के दौरान कोई समस्या न हो। उपाध्यक्ष ने यात्रा के सफल संचालन व निर्माण कार्यों के लिए ट्रस्ट की ओर से प्रधानमंत्री, राज्यपाल, मुख्यमंत्री और मुख्य सचिव का आभार व्यक्त किया।

*********-

दिल्ली प्रवास पर मौजूद मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को गृह मंत्री श्री अमित शाह से शिष्टाचार भेंट की। लगभग एक घण्टे तक चली इस मुलाकात में मुख्यमंत्री ने श्री शाह को पिछले दिनों राज्य में विभिन्न जगह आई दैवीय आपदा और उन क्षेत्रों में किए गए आपदा प्रबन्धन, राहत व बचाव कार्यों की विस्तार से जानकारी दी। दोनों नेताओं के बीच पुलिस आधुनिकीकरण के मुद्दे पर भी विचार विमर्श हुआ।

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी और गृह मंत्री श्री अमित शाह के बीच बुधवार को अपराह्न लगभग 3 बजे मुलाकात हुई। यह मुलाकात लगभग एक घण्टे तक चली। मुलाकात का ब्यौरा देते हुए मुख्यमंत्री श्री धामी ने बताया कि इस दौरान राज्य के विकास को लेकर बृहद चर्चा हुई। खासतौर पर उन्होंने श्री शाह को दैवीय आपदा से राज्य में हुई क्षति के बारे में जानकारी दी। श्री शाह ने आश्वासन दिया है कि सुख दुख में केन्द्र सरकार मजबूती से उत्तराखण्ड की जनता के साथ खड़ी है और आगे भी रहेगी।

*********

मुख्यमंत्री ने किशाऊ बांध बहुद्देशीय परियोजना पर आयोजित बैठक में प्रतिभाग किया।
मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली में केंद्रीय जलशक्ति मंत्री श्री गजेन्द्र सिंह शेखावत की अध्यक्षता में किशाऊ बांध बहुद्देशीय परियोजना पर आयोजित बैठक में प्रतिभाग किया। बैठक में हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर और हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर ने वर्चुअल प्रतिभाग किया।
बैठक में उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी और हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर ने परियोजना के संबंध में अपने-अपने राज्य का पक्ष रखा।
मुख्यमंत्री श्री धामी ने कहा कि परियोजना डीपीआर की लागत बढ़ने की दशा में विद्युत घटक लागत को स्थिर रखा जाए अथवा बढ़ी हुई विद्युत घटक लागत को अन्य चार लाभार्थी राज्यों उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान व दिल्ली द्वारा वहन किया जाए। ताकि राज्य के उपभोक्ताओं को सस्ती दर पर विद्युत आपूर्ति उपलब्ध हो सके।
मुख्यमंत्री ने कहा कि यह राष्ट्रीय परियोजना, उत्तराखण्ड के विकास हेतु मील का पत्थर साबित होगी क्योंकि परियोजना विकास की अवधि में स्थानीय निवासियों व ग्रामीणों को आय वृद्धि के विभिन्न संसाधन यथा स्थाई व अस्थाई रोजगार प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से उपलब्ध होंगे। क्षेत्र के विकास व जनकल्याण हेतु समय- समय पर स्थानीय जनप्रतिनिधियों के सहयोग से क्षेत्र विशेष हेतु लाभप्रद योजनाएं विकसित की जाएगी, जिससे पलायन की समस्या पर काफी हद तक नियंत्रण किया जा सकेगा।
केंद्रीय मंत्री श्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने कहा कि आज की बैठक में उठाए गए बिंदुओ पर विचार विमर्श कर जल्द ही अगली बैठक आयोजित की जाएगी।
गौरतलब है कि किशाऊ बहुउद्देशीय बाँध परियोजना के क्रियान्वयन का कार्य उत्तराखण्ड एवं हिमाचल प्रदेश सरकार के संयुक्त उपक्रम किशाऊ कॉरपोरेशन लिमिटेड द्वारा किया जा रहा है। इस परियोजना को फरवरी 2008 में राष्ट्रीय परियोजना घोषित किया गया है। किशाऊ बाँध परियोजना एशिया का दूसरी सबसे बड़ी बाँध परियोजना होगी। जिसे इसकी ऊंचाई 236 मीटर एवं लम्बाई 680 मीटर होगी। किशाऊ परियोजना उत्तराखण्ड राज्य के जनपद देहरादून एवं हिमाचल प्रदेश के जनपद सिरमौर में टोंस नदी पर प्रस्तावित है, इसमें 1324 एम0सीए०एम० जीवत भण्डारण द्वारा 97076 हेक्टेयर भूमि की सिंचाई, 617 एम०सी०एम० पेयजल एवं औद्योगिक उपयोग हेतु जल प्राप्त होगा, जिससे तीन राज्यों उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान की सिंचाई आवश्यकता तथा दिल्ली की पेयजल आवश्यकता की पूर्ति की जा सकेगी, साथ ही साथ 660 मेगावाट जल विद्युत उत्पादन होगा, जिससे 1379 एम०यू० हरित विद्युत ऊर्जा प्राप्त होगी जो कि उत्तराखण्ड व हिमाचल प्रदेश को बराबर-बराबर प्राप्त होगी।
केन्द्रीय जल आयोग द्वारा परियोजना की कुल लागत मार्च, 2018 के मूल्य स्तर के अनुसार रू० 11550 करोड़, जिसमें जल घटक की लागत रु. 10013.96 करोड़ एवं विद्युत घटक की लागत रु. 1536.04 करोड़ आंकी गई है। वर्तमान में परियोजना की डीपीआर का कार्य प्रगति पर है, जिसमें परियोजना की लागत बढ़ने का अनुमान है।
राष्ट्रीय परियोजना होने के दृष्टिगत परियोजना के क्रियान्वयन हेतु जल घटक लागत (सिंचाई एवं पीने का पानी) का 90 प्रतिशत वित्तीय पोषण भारत सरकार द्वारा एवं 10 प्रतिशत वित्तीय पोषण लाभार्थी राज्यों द्वारा वहन किया जाएगा तथा विद्युत घटक लागत को उत्तराखण्ड व हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा संयुक्त रूप से बराबर-बराबर वहन किया जाना है।
बैठक में उत्तराखण्ड से सचिव श्री आर मीनाक्षी सुन्दरम, श्री हरि चंद्र सेमवाल व जल शक्ति मंत्रालय भारत सरकार के अधिकारी उपस्थित थे।
**********
मुख्य सचिव ने देहरादून की सड़कों के सुधारीकरण व गड्ढा मुक्त करने हेतु बैठक ली।
मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने बुधवार को सचिवालय स्थित अपने सभागार में मसूरी और देहरादून की सड़कों की स्थिति के सुधारीकरण और गड्ढा मुक्त करने के सम्बन्ध में सभी सम्बन्धित विभागों के साथ बैठक ली।
मुख्य सचिव ने सड़कों की दुर्गति पर नाराजगी जताते हुए सभी विभागों को 2 दिन में (शुक्रवार तक) देहरादून और मसूरी की प्रत्येक सड़क का डेटवाइज कंप्लीशन प्लान तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने अधिकारियों की जिम्मेदारी तय करते हुए एडवर्स एंट्री भी दिए जाने की बात भी कही।
मुख्य सचिव ने मसूरी में सड़कों के साथ बिछाई गई पेयजल पाइपलाइन में भविष्य में दिए जाने कनेक्शनों के लिए ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए जिससे दोबारा सड़कें न खोदनी पड़ें। उन्होंने मसूरी मालरोड के सौंदर्यीकरण के कार्य में भी तेजी लाने के निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने कहा कि सभी सम्बन्धित विभाग समन्वय बनाकर कार्यों में तेजी लाएं।
मुख्य सचिव ने अधिकारियों को कार्यों का निरीक्षण कर कार्यों में आ रही समस्याओं के समाधान निकाल कर कार्य पूर्ण किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि वह स्वयं सभी कार्यों की प्रत्येक सप्ताह मीटिंग लेंगे। लापरवाही बरते जाने वाले अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की जायेगी, साथ ही ऐडवर्स एंट्री दी जाएगी।
इस अवसर पर सचिव श्री अरविंद सिंह ह्यांकी, जिलाधिकारी देहरादून सीईओ स्मार्ट सिटी श्रीमती सोनिका एवं मुख्य नगर अधिकारी श्री मनुज गोयल सहित अन्य सम्बन्धित विभागों के उच्चाधिकारी भी उपस्थित थे।
********
राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र की रिर्पोर्ट

लोक निर्माण विभाग, उत्तराखण्ड के अन्तर्गत आज कुल 36 मार्ग अवरुद्ध हुये तथा 40 मार्ग कल के अवरूद्ध थे अर्थात कुल 76 अवरूद्ध मार्गो में से 29 मार्गो को आज खोल दिया गया है। शेष 47 मार्ग अवरूद्ध है, जिसमें से 0 राष्ट्रीय राजमार्ग, 02 राज्य मार्ग, 04 मुख्य जिला मार्ग, 03 अन्य जिला मार्ग एवं 38 ग्रामीण मार्ग अवरूद्ध है। इसके अतिरिक्त पी0एम0जी0एस0वाई0 के अन्तर्गत आज 06 मार्ग अवरुद्ध हुये तथा 63 मार्ग कल अवरूद्ध थे अर्थात कुल 69 अवरुद्ध मार्गो में से आज 20 मार्गों को खोल दिया गया है, शेष 49 अवरुद्ध मार्गो को खोले जाने की कार्यवाही गतिमान है। वर्तमान में राज्य राजमार्गों पर 02 मशीनें, मुख्य जिला मार्गो पर 04 मशीने, अन्य जिला मार्गो पर 03 मशीने, तथा ग्रामीण मार्गो पर 41 मशीने, कुल 50 मशीने कार्य कर रही है। इसके अतिरिक्त पी0एम0जी0एस0वाई0 के मार्गो पर 60 मशीनें लगायी गयी है।

ऊर्जा विभाग के अन्तर्गत राज्य के अधिकतर जनपदों में विद्युत आपूर्ति सुचारू है। जनपद पिथौरागढ़ के धारचुला क्षेत्र में 02 गांव, जनपद चमोली के गोपेश्वर में 02 ग्राम तथा जनपद चम्पावत के 01 ग्राम में वर्षा के कारण विद्युत व्यवस्था बाधित चल रही है। वर्तमान तक राज्य में कुल 30 ग्रामों में विद्युत बाधित थी। जिसमें से 25 ग्रामों की विद्युत आपूर्ति पूर्णरूप से सुचारू कर दी गई हैं। शेष 05 ग्रामों में विद्युत आपूर्ति हेतु कार्य किया जा रहा है।

विगत 24 घंटो में एस.डी.आर.एफ. द्वारा किये गये रेस्क्यू कार्य का विवरण।

1. जनपद बागेश्वर महोदय कपकोट एस.डी.आर.एफ. टीम को सूचना प्राप्त हुई कि सरयू नदी में एक व्यक्ति बह गया। उक्त सूचना प्राप्त होते ही एस.डी.आर.एफ. टीम द्वारा नदी में सर्चिंग ऑपरेशन चलाया गया व शव को नदी से बाहर निकालकर जिला पुलिस के सुपुर्द किया गया।
2. जनपद उत्तरकाशी पोस्ट भटवाड़ी एस.डी.आर.एफ. टीम को सूचना प्राप्त हुई कि गंगनानी के पास मार्ग बंद हो गया है। उक्त सूचना प्राप्त होते ही एस.डी.आर.एफ. टीम द्वारा मार्ग में फंसे व्यक्तियों को सुरक्षित स्थान पर पहुँचाया गया।
3.जनपद पिथौरागढ़ पोस्ट अस्कोट को सूचना प्राप्त हुई कि आदि कैलाश यात्रा हेतु गए कुछ यात्री खराब मौसम व रास्तों के कारण मार्ग में ही फंस गए। उक्त सूचना प्राप्त होने पर एस.डी.आर.एफ. द्वारा अत्यधिक विषम परिस्थितियों में मौके पर पहुँचकर 03 किमी पैदल मार्ग से होते हुए 42 यात्रियों को सकुशल धारचूला पहुँचाया गया।
4. जनपद पौड़ी पोस्ट ढालवाला को सूचना प्राप्त हुई कि एक महिला बैजरो, पौड़ी की नदी मे बह गयी। उक्त सूचना प्राप्त होते ही एस.डी.आर.एफ. टीम द्वारा तत्काल घटनास्थल पर पहुँचकर सर्चिंग ऑपरेशन चलाया व सर्चिंग रिपोर्ट शून्य रही।
5. जनपद टिहरी पोस्ट कोटि कॉलोनी एस.डी.आर.एफ. टीम पूर्व में लापता चल रहे लड़कों की सर्चिंग टिहरी झील में एस.डी.आर.एफ. टीम द्वारा सर्चिंग ऑपरेशन चलाया गया व सर्चिंग रिपोर्ट शून्य रही।

********

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.