राज्यपाल से लीफ बर्ड फाउंडेशन’ की संस्थापक बी. बेला नेगी ने भेंट की।#मुख्यमंत्री नेडिक्सन टेक्नोलॉजीज लिमिटेड द्वारा दी गयी दो एम्बुलेंसों को हरी झंडी दिखाई# मुन्स्यारी पिथौरागढ में रास्ता भटके दो यात्रियों का रेस्क्यू किया गया#जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति(दिशा) की प्रस्तावित बैठक 23 मई को#मुख्यसचिव ने उन्नति पोर्टल की प्रस्तुतिकरण के दौरान अधिकारियों को निर्देश दिए।www.Janswar.com

नागेन्द्र प्रसाद रतूडी़

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह(से नि) से मंगलवार को राजभवन में ’लीफ बर्ड फाउंडेशन’ की संस्थापक बी. बेला नेगी ने भेंट की। इस दौरान उन्होने अपनी पुस्तक ’बर्ड ऑफ उत्तराखंड’/‘उत्तराखंड के पक्षी’ राज्यपाल को भेंट की। यह पुस्तक उनके द्वारा हिंदी व अंग्रेजी दोनों भाषाओं में लिखी गई है। इस पुस्तक में जैव विविधता से समृद्ध उत्तराखंड के पक्षियों के बारे में उनके द्वारा लिखी गई यह पुस्तक बहुत सारी जानकारी देने वाली है।

इस अवसर पर  राज्यपाल ने कहा की उत्तराखंड में पक्षियों की एक सुनहरी दुनिया बसती है, इस प्रकृति और पर्यावरण के लिए उनके द्वारा किया गया यह एक सराहनीय कार्य है। पक्षियों के एक सुंदर संसार से परिचय कराती उनकी पुस्तक सभी के लिए यहां संदेश देने के लिए महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के जंगल, पर्वत, पशु, पक्षी यहां की धरोहर हैं जो उत्तराखंड की प्राकृतिक सुंदरता को दर्शाते हैं। यहां की प्राकृतिक सुंदरता के विषय पर लिखना सराहनीय पहल है। उन्होंने कहा कि बच्चों को प्रकृति के बारे में जरूर पढ़ना चाहिए जिससे वे प्रकृति से भिज्ञ हो सकें। उन्होंने कहा कि यह किताब उत्तराखंड की जैव विविधता व पक्षी संसार के बारे में अच्छी जानकारी प्रदान करेगी। इस अवसर पर अदिति कौर भी उपस्थित रहीं।

******

मुख्यमंत्री आवास में स्धित कैंप कार्यालय में आज सुबह सीएसआर के तहत डिक्सन टेक्नोलॉजीज लिमिटेड द्वारा उत्तराखंड सरकार को आधुनिक टेक्नोलॉजी से युक्त दो ट्रैवलर एंबुलेंस प्रदान की गईं।
एंबुलेंस की सेवाओं को आम जनता तक पहुंचाने के लिए मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। कार्यक्रम के दौरान कैबिनेट मंत्री श्री धन सिंह रावत और डिक्सन टेक्नोलॉजीज के सीईओ राजीव लोनियाल भी मौजूद थे।

******

तहसील मुनस्यारी के खलियाटॉप  में लापता दो पर्यटकों को जिला प्रशासन द्वारा रेस्क्यू कर लिया गया है। लापता पर्यटकों की खोजबीन के लिय मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा भी जिलाधिकारी पिथौरागढ़ को निर्देश दिये गये थे।
जनपद पिथौरागढ़ के तहसील मुनस्यारी में 16 मई को पीलीभीत उत्तर प्रदेश निवासी दो पर्यटक, जिनके नाम सन्तोष कुमार, उम्र लगभग 27 वर्ष और विशाल गंगवार उम्र लगभग 25 वर्ष बताई जा रही है, मुनस्यारी से पर्यटक स्थल खलियाटॉप भ्रमण पर गए थे, लेकिन मार्ग भटकने से बीच में लापता हो गये। इन दोनों लापता पर्यटकों की खोजबीन की गई। दोनों पर्यटकों  आज 17 मई को गंभीर घायल अवस्था में मिले। जिन्हें प्रशासन की टीम ने रेस्क्यू किया गया है।
मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा भी जिलाधिकारी पिथौरागढ़ को पर्यटकों के रेस्क्यू के निर्देश दिये गये थे। मुख्यमंत्री ने घायल पर्यटकों को आवश्यक चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराये जाने के भी निर्देश दिये है।
इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी डा.आशीष चौहान ने बताया कि दोनों पर्यटकों को उपचार के लिए हायर सेंटर भेजने हेतु हैलीकाप्टर की व्यवस्था भी कर दी गई थी, लेकिन खराब मौसम की वजह से हैली रेस्क्यू करना संभव नहीं हो सका। दोनों पर्यटकों को रेस्क्यू करते हुए एम्बुलेंस से हायर सेंटर भेजा गया।

******

गढ़वाल सांसद(लोक सभा) तीरथ सिंह रावत की अध्यक्षता में जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति(दिशा) की प्रस्तावित बैठक 23 मई, 2022 को विकास भवन सभागार में आयोजित की जाएगी। जिलाधिकारी डॉ0 विजय कुमार जोगदण्डे ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि माह अप्रैल, 2022 तक की प्रगति रिपोर्ट के साथ बैठक में उपस्थित होना सुनिश्चित करें।
****

मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. संधु ने मंगलवार को सचिवालय में उन्नति पोर्टल के प्रस्तुतीकरण के दौरान अधिकारियों को निर्देश दिये कि उन्नति पोर्टल के सही क्रियान्वयन के लिए सभी सचिव एवं विभागाध्यक्ष अपने विभागों की परियोजनाओं की नियमित समीक्षा करें। सभी महत्वपूर्ण प्रोजक्ट उन्नति पोर्टल में शामिल किये जाएं। परियोजनाओं को समय पर पूर्ण करने के लिए विभागीय सचिव पोर्टल की नियमित समीक्षा करेंगे।

मुख्य सचिव ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि सभी अंतर विभागीय परियोजनाओं को उन्नति पोर्टल में शामिल किया जाए। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि सभी महत्वपूर्ण प्रकृति के प्रोजक्ट जल्द उन्नति पोर्टल पर आ जाएं। इसके लिए इनबिल्ट मैकेनिज्म बनाएं। उन्होंने कहा कि परियोजनाओं के क्रियान्वयन में तेजी लाने लिए सभी सचिव अपने विभागों की योजनाओं की निरंतर समीक्षा के साथ ही अंतरविभागीय समन्वय पर विशेष ध्यान दें।

निदेशक आईटीडीए श्री अमित सिन्हा ने उन्नति पोर्टल के बारे में विस्तार से प्रस्तुतीकरण दिया। उन्होंने कहा कि उन्नति पोर्टल में मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव, विभागीय सचिव,  आर.सी ऑफिस, जिलाधिकारीयों एवं विभागाध्यक्षों के डेशबोर्ड बनाये गये हैं। अभी तक पोर्टल में 34 विभागों के 120 प्रोजक्ट शामिल किये गये हैं। उन्नति पोर्टल को और प्रभावी बनाने के लिए जो सुझाव प्राप्त होंगे, उनको शामिल कर इसे और बेहतर बनाने के प्रयास किये जायेंगे।

इस अवसर पर प्रमुख सचिव श्री आर. के सुधांशु, श्री एल. फैनई, सचिव श्री नितेश झा, श्री आर मीनाक्षी सुदंरम, श्री शैलेश बगोली, श्रीमती सौजन्या, डॉ. पंकज पाण्डेय, श्री एच. सी सेमवाल, श्री दीपेन्द्र चौधरी, श्री विनोद कुमार सुमन उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.