राज्यपाल से मिले भारत के स्लोवेनिया व ताजिकिस्तान में भारत के राजदूत।# गढवाल सांसद तीरथ सिंह रावत की अध्यक्षता में जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति  दिशा की बैठक सम्पन्न हुई। #वित्तमंत्री ने ऋषिकेश विधान सभा क्षेत्र की सड़कों के संबंध में लोनिवि केअधिकारियों की बैठक ली।www.janswar.com 

-नागेन्द्र प्रसाद रतूड़ी

 

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (सेवानिवृत्त) से सोमवार को राजभवन में स्लोवेनिया और ताजिकिस्तान में भारत के राजदूतों श्रीमती नम्रता कुमार तथा श्री विराज सिंह ने मुलाकात की। इस अवसर पर उत्तराखंड राज्य तथा स्लोवेनिया और ताजिकिस्तान के मध्य विभिन्न प्रकार के तकनीकी कौशल ज्ञान विज्ञान के आदान-प्रदान पर विशेष बातचीत हुई। राज्यपाल ने स्लोवेनिया में राजदूत नम्रता कुमार और ताजिकिस्तान में राजदूत श्री विराज सिंह से अनुरोध किया कि उत्तराखंड के महिलाओं के साथ स्लोवेनिया और ताजिकिस्तान की महिलाओं के मध्य ज्ञान विज्ञान एवं अनुभव के आदान-प्रदान हेतु कार्यक्रम प्रारंभ किया जाए।
राज्यपाल ने सुझाव दिया कि उत्तराखंड से कुल 15 महिलाएं जिनमें 5 स्कूली छात्राएं, 5 विश्व विद्यालय की छात्राएं तथा स्वयं सहायता समूह की पांच महिलाएं शामिल हों, उन्हें स्लोवेनिया और ताजिकिस्तान में अनुभव के आदान-प्रदान हेतु भेजा जा सकता है तथा उनके सापेक्ष इन देशों की 15 महिलाओं को उत्तराखंड भ्रमण पर आमंत्रित किया जा सकता है। राज्यपाल ने दोनों ही राजदूतों से इस दिशा में योजना बनाने का अनुरोध किया। इसके साथ ही उन्होंने पंतनगर विश्वविद्यालय और उत्तराखंड टेक्निकल यूनिवर्सिटी के साथ भी दोनों देशों को तकनीकी एवं शैक्षणिक आदान-प्रदान शुरू करने का सुझाव दिया।
राज्यपाल ने कहा कि स्लोवेनिया और ताजिकिस्तान से आने वाले पर्यटकों को उत्तराखंड के होमस्टे के बारे में भी बताया जाए। इस अवसर पर राज्यपाल ने दोनों ही अतिथियों से विभिन्न वैश्विक विषयों, प्राकृतिक जैविक खेती, जड़ी बूटी और औषधीय पादपों तथा स्वयं सहायता समूह से जुड़े विभिन्न विषयों पर विस्तार से चर्चा की।

*****

गढवाल सांसद तीरथ सिंह रावत की अध्यक्षता में      जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति  दिशा की बैठक सम्पन्न हुई।

पूर्व मुख्यमंत्री,सांसद (लोक सभा) गढ़वाल एवं अध्यक्ष जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति दिशा  तीरथ सिंह रावत की अध्यक्षता में आज विकास भवन सभागार में ‘‘दिशा‘‘ की  बैठक आयोजित की गई, जिसमें गत बैठक में लिये गये निर्णय एवं निर्देशों के परिपालन में विभागों द्वारा की गई कार्यवाही पर चर्चा की गई। मा. सांसद  ने जिन विभागों के कार्य शेष रह गये हैं, उन्हें निर्देशित किया कि गुणवत्ता के साथ जल्द कार्य पूर्ण करना सुनिश्चित करें।  साथ ही उन्होंने कहा कि अधिकारी अपने दायित्वों का पूर्ण निर्वाह्न करते हुए प्राथमिकता, समयबद्धता एवं गुणवत्ता के साथ कार्यों को पूर्ण करना सुनिश्चित करें। इस दौरान पीएमजीएसवाई की बुवाखाल-निसणी क्षतिग्रस्त मोटर मार्ग के डामरीकरण  शिकायत पर संबंधित  अधिकारी को निर्देशित किया कि एक सप्ताह के भीतर कार्य प्रारंभ करना सुनिश्चित करें। साथ ही उन्होंने संबंधित अधिकारी को निर्देशित किया कि जल जीवन मिशन के अंतर्गत हो रहे कार्यों को गंभीरता के साथ करें तथा पाइप लाइनों को अंडर ग्राउंड  करना सुनिश्चित करें। उन्होंने जिलाधिकारी को निर्देशित किया कि आगामी बैठक में उन्हीं प्रतिनिधियों को बैठक में बुलाएं जिन्हें मनोनीत किया गया है।
सांसद श्री रावत ने आयोजित बैठक में संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि जनपद में हो विकास कार्यो को बेहतर गुणवत्ता के साथ पूर्ण करें। साथ ही उन्होंने निर्देशित किया कि समस्त अधिकारी तहसील दिवस, बीडीसी बैठक सहित अन्य बैठकों में प्रतिभाग करना सुनिश्चित करें। उन्होंने जिलाधिकारी को निर्देशित किया कि किसी भी अधिकारी द्वारा उक्तों बैठकों में प्रतिभाग नहीं किया जाता तो उनका एक दिन का वेतन रोकना सुनिश्चित करें। इसके अलावा उन्होंने लोक निर्माण विभाग, पीएमजीएसवाई के साथ ही वन विभाग व राजस्व विभाग को भी निर्देशित किया कि संयुक्त रूप से मोटर मार्गो का निरीक्षण करें। जिससे राजस्व भूमि, वन भूमि जैसी समस्या आने पर उसका समाधान हो सकेगा। उन्होंने संबंधित अधिकारी को निर्देशित किया कि बरसात से पूर्व मार्गो का कार्य पूर्ण करें। जिससे लोगों को समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा। उन्होंने बैंक तथा जिन विभागों ऋण संबंधित योजनाएं हैं उन्हें कहा कि इन बातो का ध्यान रखें कि जो व्यक्ति सम्पन्न हैं उन्हें बार-बार लाभ न दें तथा गरीब व वांछितों को ऋण आधारित योजनाओं का लाभ देना सुनिश्चित करें। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि केंद्रीय योेजनाओं के अंतर्गत विकास कार्यो के लिए धनराशि की किसी भी तरह से कमी नहीं है। इसलिए विभागीय अधिकारी समय से बेहतर डीपीआर/प्रस्ताव बनाकर प्रस्तुत करें। इस दौरान उन्होंने निर्देश दिये कि नोडल अधिकारी तथा कार्यालाध्यक्ष 15 दिन की अवधि में अनिवार्य रूप फील्ड निरीक्षण करें। कहा कि केवल कागजी रिपोर्ट पर निर्भर न रहे बल्कि वस्तु स्थिति के अनुसार कार्य करें। इस दौरान पीडी संजीव कुमार रॉय ने अवगत कराया कि एनआरएलएम के तहत बड़े पैमाने पर महिला समूहों में लाभाविंत किया गया। कहा कि कार्यालय में स्टॉफ की कमी नहीं होती तो ओर बढ़ावा दिया जाता। बेहतर कार्य करने पर मा0 सांसद द्वारा प्रशन्सा की गयी, कहा कि ऐसे कार्यो को अत्यधिक बढ़ावा दें। कार्यक्रम से पूर्व मा0 सांसद द्वारा स्वयं सहायता समूहों द्वारा बनाये गये पहाड़ी उत्पादों का निरीक्षण भी किया।
जिलाधिकारी डॉ0 विजय कुमार जोगदण्डे ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि  सांसद गढवाल द्वारा दिये गये निर्देशों का अनुपालन करें। साथ ही उन्होंने निर्देशित किया कि समय पर जनपद में हो रहे कार्यो का निरीक्षण भी करें।
इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष शांति देवी, पौड़ी विधायक राजकुमार पोरी, मुख्य विकास अधिकारी प्रशांत कुमार आर्य, डीडीओ पुष्पेंद्र सिंह चौहान, ब्लाक प्रमुख द्वारीखाल महेंद्र राणा, एकेश्वर नीरज पांथरी, पौड़ी दीपक खुगशाल, कल्जीखाल बीणा राणा, पोखड़ा प्रीति देवी, कोट पूर्णिमा देवी, पीडी संजीव कुमार रॉय, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 प्रवीण कुमार सहित अन्य अधिकारी व जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

*****

प्रदेश के वित्त/शहरी विकास/संसदीय कार्य मंत्री व क्षेत्रीय विधायक प्रेम चन्द अग्रवाल ने विधानसभा स्थित सभा कक्ष में ऋषिकेश विधान सभा क्षेत्र के अन्तर्गत सड़क निर्माण कार्यो की प्रगति से सम्बन्धित समीक्षा बैठक लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के साथ की।

बैठक में वित्त मंत्री ने ऋषिकेश विधान सभा क्षेत्र के अन्तर्गत चल रहे सड़क निर्माण कार्यो के प्रगति की जानकारी अधिकारियों से ली। अधिकारियों द्वारा ऋषिकेश विधान सभा क्षेत्र के अन्तर्गत गतिमान निर्माण कार्यो के प्रगति की जानकारी मंत्री जी को दी गई।

वित्त मंत्री ने कहा कि ऋषिकेश विधान सभा क्षेत्र के अन्तर्गत सडकों के निर्माण हेतु पूर्व में स्वीकृत सड़कों की जानकारी ली और उनकी स्वीकृति तत्काल प्राप्त कराये जाने हेतु प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग को दूरभाष पर निर्देश दिये।

उन्होंने  कहा कि रायवाला प्रतीतनगर, खांड गांव की घनी आबादी है और रायवाला में मिलिट्री कैंप भी है। रेलवे फाटक के कारण सभी को भारी परेशानी होती है। ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेलवे शुरू होने पर और भी ज्यादा समस्या बढ़ेगी। जिस कारण रेलवे क्रॉसिंग पर आरओबी बनना जरूरी है। जिस पर लोक निर्माण, आर्मी, रेलवे, वन विभाग और नेशनल हाईवे विभागों द्वारा इसका 04 बार भौतिक निरीक्षण किया गया है। जिसे सेंट्रल रोड़ फंड से किया जाना है, बताया कि इसकी प्रक्रिया गतिमान है।

श्री अग्रवाल  ने कहा कि श्यामपुर फाटक बन्द होने के कारण वहॉ पर बहुत बडी समस्या है। यह मुख्यमंत्री जी की धोषणा में भी सम्मिलित है। राज्य सरकार की ओर से औपचारिकताएं की जा रही है। इसका निर्माण भारत सरकार की ओर से किया जाना है। इस सम्बन्ध में केन्द्र सरकार से पत्राचार विभाग द्वारा किया जा रहा है।

वित्त मंत्री ने कहा कि निर्माण कार्यो की गुणवत्ता में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। साथ ही कार्य समय पर करने हेतु अधिकारियों को निर्देश दिये।
बैठक में लोनिवि अधीक्षण अभियन्ता श्री एएस भण्डारी, अधिशासी अभियन्ता श्री धीरेन्द्र कुमार उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.