राज्यपाल से बागेश्वर के उद्यमी शंकरसिंह ने भेंट की#मुख्यमंत्री ने दी मसूरी के शहीदों को श्रद्धांजलि#पौड़ी में आरटीओ व पुलिस की संयुक्त चेकिंग18 चालान किये।www.janswar.com

-अरुणाभ रतूड़ी

देहरादून: राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) से राजभवन में श्री शंकर सिंह बिष्ट ने मुलाकात की। श्री बिष्ट जनपद बागेश्वर के उद्यमी हैं और उनके द्वारा स्वरोजगार के माध्यम से अपने घर पर ही विभिन्न प्रकार के खाद्य उत्पाद तैयार किये जा रहे हैं। श्री बिष्ट द्वारा 08 से 10 लोगों को रोजगार देने के साथ ही कई गांवों में मास्टर ट्रेनर के रूप में लोगों को प्रशिक्षित कर रहे हैं। अपने स्वरोजगार के जरिये श्री बिष्ट प्रतिमाह 70-80 हजार रुपये की आमदनी कर रहे हैं।
राज्यपाल ने कहा कि श्री बिष्ट की मेहनत और लगन से अन्य उद्यमियों के लिए प्रेरणास्रोत हैं। उन्होंने कहा कि स्वरोजगार को अपनाकर जहां आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना साकार होगी वहीं यह पलायन की रोकने में भी सहायक होगा। उत्तराखण्ड के पर्वतीय जिलों में पलायन एक चुनौती के रूप में है इससे पार पाने के लिए स्वरोजगार गेम चेंजर साबित हो सकता है। उन्होंने कहा कि श्री बिष्ट स्वरोजगार के क्षेत्र में सराहनीय कार्य कर रहे हैं जो पर्वतीय क्षेत्रों में अन्य लोगों के लिए प्रेरणास्रोत और मॉडल हैं।
राज्यपाल ने कहा कि बागेश्वर जनपद भ्रमण के दौरान श्री बिष्ट से मुलाकात और उनके कार्यों के बारे में जानकारी ली तभी से उनके कार्यों से बेहद प्रभावित हुए। इस दौरान श्री शंकर बिष्ट ने अपने उत्पादों को भी राज्यपाल के समक्ष प्रस्तुत किया। राज्यपाल ने कहा कि उत्पादों की पैकेजिंग व ब्रांडिंग पर थोड़ा ध्यान दिये जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा की स्वरोजगार को आगे बढ़ाने की दिशा में श्री बिष्ट की हर संभव मदद की जाएगी।

********

मसूरी(देहरादून)मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने मसूरी में शहीद स्मारक पर पुष्पचक्र अर्पित कर शहीद राज्य आन्दोलनकारियों को श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने मसूरी में शहीद हुए राज्य आन्दोलनकारियों के परिवारजनों को सम्मानित भी किया। उन्होंने कहा कि राज्य आन्दोलनकारियों के बलिदान के कारण ही हमें उत्तराखण्ड राज्य मिला। उत्तराखण्ड राज्य आन्दोनकारियों ने जिस उद्देश्य से अलग राज्य की मांग की थी, उसके अनुरूप ही राज्य को आगे बढ़ाने के लिए सरकार प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड को देश के अग्रणी राज्य बनाने के लिए 10 साल का रोडमैप तैयार किया जा रहा है। 2025 में उत्तराखण्ड राज्य स्थापना की रजत जयंती मनायेगा, तब तक सभी विभागों को लक्ष्य दिया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मसूरी में गढ़वाल सभा के भवन निर्माण के लिए 1.50 करोड़ रूपये की स्वीकृति दी जा चुकी है, इसके लिए और धनराशि की आवश्यकता होगी, तो वह दी जायेगी। उन्होंने कहा कि फिल्म के माध्यम से राज्य आन्दोलनकारियों का चित्रण हो इसकी व्यवस्था की जायेगी। जिससे राज्य के युवाओं को राज्य आन्दोलनकारियों की वीरगाथाओं को दिखाया जा सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड राज्य आन्दोलन में हमारी माताओं और बहनों का महत्वपूर्ण योगदान रहा। उन्होंने कहा कि राज्य की महिलाओं के लिए 30 प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण के लिए पुरजोर पैरवी की जायेगी। इसके लिए सरकार उच्चतम न्यायालय जाने की तैयारी कर रही है। राज्य आन्दोलनकारियों के क्षैतिज आरक्षण का परीक्षण कर उचित समाधान निकाला जायेगा।  सिपनकोट के लोगों की पुनर्वास की उचित व्यवस्था की जायेगी।

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उत्तराखण्ड देवभूमि के साथ वीरभूमि भी है। उत्तराखण्ड के चारधाम देश-दुनिया के लोगों के लिए आस्था के प्रमुख केन्द्र हैं। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने श्री केदारनाथ की पवित्र भूमि से कहा कि यह दशक उत्तराखण्ड का दशक होगा। इस दिशा में राज्य सरकार द्वारा लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। इस बार चारधाम यात्रा में अभी तक 30 लाख से अधिक श्रद्धालु आ चुके हैं। कांवड़ यात्रा में भी चार करोड़ से अधिक शिवभक्त देवभूमि उत्तराखण्ड आये। पहली बार कांवड़ यात्रा के लिए राज्य सरकार द्वारा अलग से बजट की व्यवस्था की गई।
कैबिनेट मंत्री श्री गणेश जोशी ने कहा कि उत्तराखण्ड राज्य आन्दोलन में मसूरी गोलीकांड एक महत्वपूर्ण घटना है। खटीमा एवं मसूरी से अलग राज्य निर्माण आन्दोलन को गति मिली। राज्य सरकार राज्य आन्दोलनकारियों के प्रति संवेदनशील है।

इस अवसर पर पूर्व विधायक श्री जोत सिंह गुनसोला, श्री काशी सिंह ऐरी, मसूरी नगर पालिका परिषद् के अध्यक्ष श्री अनुज गुप्ता, मसूरी नगर पालिका परिषद् के पूर्व अध्यक्ष श्री मन्नू मल, मंडल अध्यक्ष श्री मोहन पेटवाल, राज्य आन्दोलनकारी श्री रवीन्द्र जुगरान, श्री बलजीत सिंह सोनी मौजूद थे।

********

पौड़ी गढवाल:सड़क सुरक्षा अभियान के अंतर्गत परिवहन विभाग व पुलिस विभाग ने संयुक्त चेकिंग अभियान चलाया। संयुक्त चेकिंग अभियान श्रीनगर रोड़ पौड़ी व अन्य स्थलों पर चलाया गया। जिसमें चौकिंग के दौरान कुल 18 चालान किये गए।
आरटीओ अनिता चंद ने बताया कि पौड़ी-श्रीनगर रोड़ में परिवहन विभाग व पुलिस विभाग द्वारा संयुक्त चेकिंग अभियान चलाया गया। जिसमें हेलमेट, सीट बेल्ट, बिना लाइसेंस, यात्री ओवर वेट सहित अन्य मामलों में 08 चालान किए गये जबकि 10 चालान नो पार्किंग में वाहन खड़ा करने के लिए किए गए। उन्होंने वाहन चालकों को निर्देशित किया यातायात नियमों का पालन करें। उन्होंने कहा कि वाहन क्षमता के अनुसार ही यात्रियों को बिठायें। कहा कि चेकिंग के दौरान यातायात नियमों का पालन नहीं करने वाले वाहन चालकों का लाइसेंस निरस्त किया जा सकता है। उन्होंने वाहनों चालकों को यातायात नियमों का पालन करने के निर्देश दिये। जिससे स्वयं के साथ-साथ यात्री सुरक्षित रह सकेंगे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.