राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने राज्य में प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान की शुरुआत की।#राज्य आपातकालीन परिचालन केन्द्र देहरादून कहां सड़क बंद व खुली हैं की जानकारी-www.janswar.com

 

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) और मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखण्ड में प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान की शुरुआत की।

इस अभियान के शुरूआत होने के अवसर पर राज्यपाल और मुख्यमंत्री सहित अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने टीबी रोगियों की सहायता हेतु निःक्षय मित्र बनते हुए 21 टीबी रोगियों को गोद लिया और उन्हें मासिक पोषण किट वितरित की।

कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि राज्यपाल ने कहा कि टीबी उन्मूलन के लिए जन भागीदारी के इस अभियान में शामिल होकर टीबी रोगियों की सहायता का संकल्प लेना होगा। उन्होंने प्रदेश के आम लोगों के साथ-साथ जनप्रतिनिधियों, गैर सरकारी संगठनों, सामाजिक संस्थानों आदि से आह्वान किया कि वे टीबी रोगियों की सहायता करने के लिए निःक्षय मित्र बनें।

राज्यपाल ने कहा कि हमारे देश में टीबी के मामले एक चुनौती है। इसको देखते हुए राष्ट्रपति जी द्वारा 09 सितम्बर, 2022 को टीबी मुक्त भारत अभियान की शुरूआत की गई। इसके अन्तर्गत 2025 तक भारत को टीबी मुक्त करने का लक्ष्य रखा गया है। प्रदेश सरकार की प्रतिबद्धता से 2024 तक प्रदेश को टीबी मुक्त करने का लक्ष्य लिया गया है जो प्रशंसनीय है। इसके लिए सभी लोगों को सहयोग करने की जरूरत है।

राज्यपाल ने कहा कि हमें इस चुनौती को स्वीकार करते हुए प्रत्येक टीबी रोगी का मित्र बनकर उसके ईलाज, पोषण में सहयोग करना होगा ताकि हमारा प्रदेश टीबी मुक्त हो सके। उन्होंने कहा कि स्वस्थ भारत, समृद्ध भारत के लक्ष्यों को पूरा करने के लिए प्रदेश को टीबी मुक्त बनाने के साथ ही इसे जड़ से समाप्त करने का संकल्प लेना होगा।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उत्तराखंड को 2024 तक टीबी से मुक्त करने का हमारा लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में राज्य सरकार सब के सहयोग से प्रदेश को 2025 तक देश के अग्रणी राज्यों में शामिल करने के लिए संकल्पबद्ध है, इसके लिए सभी विभाग नीति निर्धारण एवं रोड मैप के साथ कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि चाहे किसानों की आय दोगुनी करने का मामला हो या नई शिक्षा नीति लागू करने का, इस दिशा में राज्य स्तर पर प्रभावी पहल की जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के टीबी रोगियों में 80 प्रतिशत द्वारा गोद लिए जाने की सहमति दी है। अब यह हम सबका दायित्व है कि हम उन्हें रोग मुक्त करने के अभियान से जुड़े इसके लिए सामाजिक संगठनों का भी सहयोग लिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले टीबी रोग को खतरनाक माना जाता रहा है किंतु आज जांच एवं अनुसंधान प्रक्रिया की उपलब्धता से इस रोग को दूर करने के साधन उपलब्ध हो गए हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री श्री मोदी के दीर्घ जीवन की कामना करते हुए कहा कि उनके कुशल नेतृत्व में भारत विश्व गुरु बन कर दुनिया को राह दिखाने का कार्य करेगा तथा एक भारत श्रेष्ठ भारत की संकल्पना को साकार करने में उत्तराखंड समर्पण भाव से कार्य करेगा।

इस अवसर पर स्वास्थ्यमंत्री,अन्य कैबिनेट मंत्री,सांसद व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी आदि उपस्थित रहे।

******

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने पुलिस लाईन देहरादून में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के जन्म दिवस के अवसर पर आयोजित रक्तदान अमृत महोत्सव कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। पुलिस लाईन देहरादून में पुलिस के अधिकारियों, जवानों एवं अन्य लोगों द्वारा रक्तदान किया गया।
मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के जन्म दिवस के अवसर पर प्रदेश में सेवा के अनेक कार्यक्रम किए जा रहे हैं। आज से 02 अक्टूबर तक प्रदेश में सेवा पखवाड़ा मनाया जाएगा। जिसके तहत स्वच्छता, रक्तदान एवं सेवा भाव के अनेक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि रक्तदान महादान है। इस पुण्य कार्य से हम अनेक लोगों को जीवनदान दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि ई रक्तकोष पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराकर स्वैच्छिक रक्तदान कर सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत सशक्त एवं समृद्धशाली भारत के रूप में आगे बढ़ रहा है।
स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि 17 सितम्बर से 02 अक्टूबर 2022 तक प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में रक्तदान शिविर लगाये जायेंगे। उन्होंने कहा कि कि प्रदेश में 52 ब्लड बैंक हैं। अधिक से अधिक लोग रक्तदान कर सकें, इसके लिए पोर्टल के माध्यम से रजिस्ट्रेशन की सुविधा की गई है।
इस अवसर पर मेयर श्री सुनील उनियाल गामा, डीजीपी श्री अशोक कुमार, सचिव स्वास्थ्य डॉ. आर. राजेश कुमार, पुलिस एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

*******

राज्य आपातकालीन परिचालन केन्द्र देहरादून

लोक निर्माण विभाग, उत्तराखण्ड के अन्तर्गत आज कुल 65 मार्ग अवरुद्ध हुये तथा 59 मार्ग कल के अवरूद्ध थे अर्थात कुल 124 अवरूद्ध मार्गो में से 40 मार्गो को आज खोल दिया गया है। शेष 84 मार्ग अवरूद्ध है, जिसमें से 02 राष्ट्रीय राजमार्ग, 15 राज्य मार्ग, 05 मुख्य जिला मार्ग, 03 अन्य जिला मार्ग एवं 56 ग्रामीण मार्ग अवरुद्ध है। इसके अतिरिक्त पी0एम0जी0एस0वाई0 के अन्तर्गत आज 17 मार्ग अवरुद्ध हुये तथा 69 मार्ग कल अवरूद्ध थे अर्थात कुल 86 अवरूद्ध मार्गो में से आज 11 मार्गो को खोल दिया गया है, शेष 75 अवरूद्ध मार्गो को खोले जाने की कार्यवाही गतिमान है। वर्तमान में राष्ट्रीय राजमार्गो पर 02 मशीने, राज्य राजमार्गों पर 34 मशीने, मुख्य जिला मार्गो पर 15 मशीने, अन्य जिला मार्गो पर 06 मशीने, तथा ग्रामीण मार्गो पर 66 मशीने, कुल 123 मशीने कार्य कर रही है। इसके अतिरिक्त पी0एम0जी0एस0वाई0 के मार्गो पर 72 मशीने लगायी गयी है।

ऊर्जा विभाग के अन्तर्गत राज्य के अधिकतर जनपदों में विद्युत आपूर्ति सुचारू है। जिला पिथौरागढ़ के धारचुला क्षेत्र में 15 गांव उत्तरकाशी में 02, चम्पावत के 22 ग्रामों में भारी वर्षा के कारण विद्युत व्यवस्था बाधित चल रही है वर्तमान तक राज्य में कुल 300 ग्रामों में विद्युत बाधित थी। जिसमें से 260 ग्रामों की विद्युत आपूर्ति पूर्णरूप से सुचारू कर दी गई हैं। शेष 40 ग्रामों में विद्युत आपूर्ति हेतु कार्य किया जा रहा है।

विगत 24 घंटो में एसडीआरएफ द्वारा किये गए रेस्क्यू कार्य का विवरण।

उत्तराखण्ड राज्य में आई आपदा के उपरान्त आपदा प्रभावित क्षेत्रों में एसडीआरएफ द्वारा युद्धस्तर पर कार्य किया जा रहा है। अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी  USDMA/ पुलिस उप महानिरीक्षक, एसडीआरएफ श्रीमती रिद्धिम अग्रवाल के दिशा निर्देशन व सेनानायक एसडीआरएफ श्री मणिकांत मिश्रा के नेतृत्व में रेस्क्यू टीमों द्वारा रात दिन एक कर सर्च एन्ड रेस्क्यू ऑपरेशन को कुशलता से अंजाम दिया जा रहा है।

1. जनपद पिथौरागढ़ के नाचनी क्षेत्रान्तर्गत ओकरा जगह पर रोड निर्माण कार्य के दौरान एक रोलर वाहन जिसमे एक व्यक्ति सवार था, लगभग 250 मीटर गहरी खाई में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। उक्त सूचना पर एसडीआरएफ टीम तत्काल मोके पर पहुँची। उक्त वाहन चालक की मौके पर ही मृत्यु हो गयी थी, जिसे एसडीआरएफ टीम द्वारा रोप स्ट्रेचर के माध्यम से मुख्य मार्ग तक पहुँचाकर सिविल पुलिस के सुपुर्द किया।

2. श्री केदारनाथ में विवेकानंद अस्पताल में भर्ती एक व्यक्ति का स्वास्थ्य अधिक खराब होने पर हायर सेंटर रेफर किये जाने पर एसडीआरएफ टीम द्वारा उक्त व्यक्ति को स्ट्रेचर द्वारा हेलीपैड पहुँचाकर हायर सेंटर भिजवाया गया।

3. जनपद उत्तरकाशी में गंगोत्री धाम दर्शन के दौरान मध्य प्रदेश निवासी एक व्यक्ति व उत्तर प्रदेश निवासी एक महिला के मंदिर परिसर में बेहोश होने पर एसडीआरएफ टीम द्वारा उक्त दोनों को स्ट्रेचर के माध्यम से उपचार हेतु तत्काल प्राथमिक चिकित्सालय पहुँचाया गया।

4. जनपद चम्पावत के टनकपुर क्षेत्रांतर्गत छेनीकोट रोड पर पेड़ गिरने से मार्ग अवरुद्ध होने की सूचना मिलने पर एसडीआरएफ टीम द्वारा मोके पर पहुँच कर पेड़ काटकर मार्ग को सुचारू किया।

5. जनपद चमोली में शिमली मुख्य मार्ग पर पेड़ गिरने से अवरुद्ध हुए मार्ग पर एसडीआरएफ टीम द्वारा रात्रि में ही पहुँचकर कटिंग उपकरणों की सहायता से पेड़ को काटकर मार्ग को सुव्यवस्थित किया।

6. जनपद उत्तरकाशी में जिला प्रशिक्षण संस्थान, बड़कोट में एसडीआरएफ द्वारा आपदा प्रबंधन सम्बन्धी एक दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.