राज्यपाल ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर राजभवन में किया ध्वजारोहण।#विधानसभाध्यक्ष ने विधान सभा तथा मुख्य सचिव ने सचिवालय में किया झंडारोहण।www.janswar.com

  • राज्यपाल ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर राजभवन में किया ध्वजारोहण।

समस्त देश एवं प्रदेशवासियों को राज्यपाल ने दी शुभकामनाएं।

राजभवन देहरादून 15 अगस्त, 2022

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर राजभवन में  ध्वजारोहण किया। इस दौरान उन्होंने देश व प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दी एवं राजभवन कर्मचारियों से भेंट कर मिष्ठान वितरित किया।

राज्यपाल ने देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों एवं शहीद जवानों को नमन करते हुए कहा कि देश उनके योगदान को कभी भुला नहीं सकता। राज्यपाल ने प्रत्येक देशवासी से अपील करते हुए कहा कि इस अवसर पर प्रत्येक नागरिक को संकल्प लेना चाहिए कि देश की समृद्धि, सुरक्षा के लिए अपना योगदान देंगे। राज्यपाल ने कहा कि हम आज़ादी के 75 वर्ष पूरे कर चुके हैं, लेकिन आने वाले 25 वर्ष प्रत्येक देशवासी के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं। राज्यपाल ने कहा कि आने वाले 25 वर्षो में प्रत्येक हिंदुस्तानी को पूरी निष्ठा से देश को विश्व गुरु बनाने की दिशा में प्रयास करना होगा।

राज्यपाल ने कहा कि उत्तराखण्ड वीर भूमि है और राष्ट्रनिर्माण में हमारे प्रदेश की अहम भूमिका है। उन्होंने कहा कि आने वाला दशक उत्तराखण्ड का होगा इसलिए आज के दिन प्रत्येक नागरिक को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की कही हुई बात से प्रेरणा लेनी चाहिए। राज्यपाल ने कहा की प्रत्येक प्रदेशवासी को उत्तराखण्ड ने नवनिर्माण में सहयोग देना होगा।

राज्यपाल ने कहा कि उत्तराखंड आध्यात्मिक और सांस्कृतिक रूप से बेहद संपन्न राज्य है, हमें इसके नव निर्माण में योगदान देना होगा तब जाकर उत्तराखण्ड आने वाले दशक में देश का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनेगा।

इस अवसर पर प्रथम महिला श्रीमती गुरमीत कौर, सचिव राज्यपाल डॉ. रंजीत सिन्हा, विधि परामर्शी श्री अमित कुमार सिरोही, वित्त नियंत्रक डॉ. तृप्ति श्रीवास्तव, ADC रचिता जुयाल, मेजर तरुण आदि अधिकारी उपस्थित रहे।

********

विधानसभाध्यक्ष ने विधानसभा देहरादून में किया झंडारोहण किया।

देहरादून 15 अगस्त| आजादी के अमृत महोत्सव एवं 76 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूडी भूषण ने विधानसभा भवन देहरादून में ध्वजारोहण कर परेड को सलामी दी|इस अवसर पर रायपुर विधायक उमेश शर्मा काऊ मोजूद रहे|
इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने स्वतंत्रता संग्राम में बलिदान देने वाले वीरों, शहीदों और राज्य आंदोलनकारियों की शहादत को याद किया| उन्होंने ध्वजारोहण के बाद प्रदेशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दी| ऋतु खंडूड़ी ने सभी को राष्ट्र की एकता और अखंडता के लिए संकल्प लेने को कहा|
विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में पूरा देश आज हर्ष और उल्लास के साथ ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ मना रहा है। हर घर तिरंगा अभियान के तहत आज देश के प्रत्येक घर एवं संस्थान में तिरंगा शान से लहरा रहा है, हमारी आन-बान-शान का प्रतीक भारत का राष्ट्रध्वज देश के शौर्य, शांति और बलिदान का प्रतीक होने के साथ देशवासियों की एकजुटता का परिचय दे रहा है| राष्ट्र हमें एक सूत्र में बांधता है। इसलिए राष्ट्रध्वज सिर्फ कपड़े का टुकड़ा नहीं हमारा स्वाभिमान है। राष्ट्रगान सिर्फ शब्द नहीं, हमारा आत्म सम्मान है। उन्होंने कहा की पूरी दुनिया आज हमें आशा भरी दृष्टि से देख रही है। भारत अपार संभावनाओं का देश है। हमें अपनी सभी संभावनाओं को तलाशना होगा, उन्हें सच करना होगा। एक ऐसे भारत का निर्माण करना होगा, जिसमें भूख, गरीबी, बेरोज़गारी न हो, जो सशक्त हो, समृद्ध हो और जो विश्व को राह दिखाये। सदियों से भारत ने अपने ज्ञान और अध्यात्म से विश्व का मार्गदर्शन किया है। और अब अपने विज्ञान, अर्थ और कौशल से भी करेगा। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के सपने को साकार करने की बात कही|
विधानसभा अध्यक्ष ने विधानसभा के कार्मिकों को संबोधित करते हुए कहा कि उत्तराखंड विधानसभा में इससे पहले कई अभूतपूर्व कार्य हुए हैं जिनको आगे बढ़ाते हुए सभी के सहयोग से उत्तराखंड की विधानसभा को देश में आदर्श विधानसभा के रूप में स्थापित करना है| इसके लिए कई योजनाओं पर कार्य चल रहा है जिसमें विधान सभा में लाइब्रेरी हाईटेक बनाए जाने, विधानसभा को ई- विधान सभा के रूप में स्थापित किए जाने संबंधित कार्यवाही प्रारंभ है| उत्तराखंड विधानसभा की वेबसाइट को इंप्रूव किया जा रहा है, जिसमें विधानसभा की गतिविधियों के साथ-साथ प्रदेश से संबंधित सभी प्रकार की जानकारियों का संकलन किया जायेगा, विधानसभा में ऑफिस की कार्यप्रणाली में सुधार लाने के अलावा ई-ऑफिस की ओर अग्रसर है| शोध को बढ़ावा दिए जाने के साथ साथ ग्रामीण क्षेत्रों में कार्यक्रम आयोजित कर विधानसभा से संबंधित कार्यवाही एवं गतिविधियों से लोगों को अवगत किए जाने पर भी विचार किया जा रहा है|विधानसभा अध्यक्ष ने आजादी के अमृत महोत्सव पर कार्मिकों से अपील करती कि सभी ईमानदारी एवं कर्तव्य निष्ठा से अपने दायित्व एवं कार्यों का निर्वहन करें एवं प्रदेश के विकास में अपना महत्वपूर्ण योगदान दें|
इससे पूर्व विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी ने यमुना कॉलोनी स्थित अपने शासकीय आवास पर भी ध्वजारोहण किया|
इस अवसर पर विधानसभा के सचिव मुकेश सिंघल, संयुक्त सचिव चंद्र मोहन गोस्वामी, उप सचिव नरेंद्र रावत, उप सचिव हेम पन्त, विशेष कार्य अधिकारी अशोक साह, वरिष्ठ निजी सचिव अजय अग्रवाल, वरिष्ठ व्यवस्था अधिकारी दीपचंद, सुरक्षा अधिकारी प्रदीप गुणवंत सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे|

*********

मुख्यसचिव ने सचिवालय में किया झंडारोहण

मुख्य सचिव डॉ. एस.एस.संधु ने सचिवालय में अधिकारियों – कर्मचारियों की उपस्थिति में ध्वजारोहण करते हुए सभी को 76वें स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी।

इस अवसर पर मुख्य सचिव ने कहा कि प्रत्येक वर्ष स्वतंत्रता दिवस एवं गणतंत्र दिवस पर हम कुछ न कुछ प्रण जरूर करते हैं, शहीदों को याद करते हैं साथ ही उन महापुरूषों को भी याद करते हैं जिन्होंने काफी संघर्ष करते हुए हमें आजादी दिलाई, उनसे हमें प्रेरणा भी मिलती है कि उन लोगों ने हमारे लिए इतना कुछ सहन किया एवं बलिदान दिया। हमारा भी कर्तव्य बनता है कि हम भी देश के लिए कुछ करें। उन्होंने कहा कि इस वर्ष ’हर घर तिरंगा’ अभियान के तहत पूरे देश में ऐसा माहौल बन गया है कि तिरंगा सिर्फ हर घर में ही नहीं बल्कि हर हाथ  में है और मैं यह मानता हूँ कि हर दिल में भी तिरंगा है। 75 वर्ष किसी भी देश की आजादी के इतिहास में बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने अगले 25 सालों को अमृतकाल का समय बताया है, वर्तमान से लेकर 2047 तक इस देश को हमें कहां ले जाना है, उसकी योजना बनानी है एवं उस योजना को हमें धरातल पर उतारना है। केवल योजना बनाने से काम नहीं होता, जब तक हम उसे धरातल पर नही उतारते। इसके लिए सचिवालय परिवार के हर एक सदस्य का योगदान अपेक्षित है।

मुख्य सचिव ने सचिवालय परिवार की कार्यक्षमता पर विश्वास प्रकट करते हुए कहा कि हम सभी एक टीम के रूप में उसे पूर्ण अवश्य करेंगे। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ दिनों से पूरे देश में हर तरफ तिरंगा ही तिरंगा नजर आ रहा है, चाहे सड़के हो, टीवी हो या फिर आपका मोबाईल हो चारो ओर तिरंगा है, पूरा देश इस तिरंगे के जश्न में तथा इस आजादी के जश्न में डूब गया है। क्या हर वर्ष की तरह हम केवल विशेष अवसर पर ही तिरंगा फहरायेंगे और फिर उसे भूल जायेंगे। इस जश्न में हम कुछ न कुछ प्रण लें कि अपने देश को और अच्छा बनाने के लिए कुछ विशेष कार्य करेंगे।

मुख्य सचिव ने कहा कि हम सभी ने बचपन से तिरंगे के विषय में पढ़ा है जाना है, परन्तु आज जब सुनामी की तरह पूरे देश में हर घर तिरंगा अभियान चल रहा है, तो फिर से तिरंगे के विषय में जानने की आवश्यकता है। तिरंगे का केसरिया रंग हिम्मत का, बलिदान का एवं जोश का प्रतीक है। आजादी से पहले इसका काफी महत्व था, क्योकि अंग्रेजी हुकूमत का अत्याचार चारो तरफ था और हर तरफ आजादी के लिए आंदोलन हो रहे थे। परन्तु आजादी के बाद आज भी केसरिया का महत्व कम नहीं हुआ है। आज भी देश को बलिदान की जरूरत है पर बलिदान की परिभाषा बदल गई है। आज भी हमें उतनी ही हिम्मत चाहिए। सचिवालय के संदर्भ पर बात की जाए तो आज भी कई निर्णयों पर बहुत हिम्मत की आवश्यकता है, क्योंकि कुछ स्वार्थी लोग अपने पक्ष में निर्णय करने हेतु काफी दबाव डलवाते हैं। हर निर्णय में हमें भारत प्रथम, उत्तराखण्ड प्रथम का मंत्र याद रखना चाहिए। दूसरा रंग सफेद शांति एवं सत्य का प्रतीक है। आज के दौर में सचिवालय के संदर्भ में शांति से अभिप्राय यह है कि जो समाज का निचला तबका है उन सब के मन की शांति एवं उनके उज्जवल भविष्य के लिए हम क्या अच्छा से अच्छा कार्य कर सकते हैं। शासन में उचित निर्णय लेने में देरी, गरीब वंचितों के लिए प्रताड़ित करने जैसा ही है। हमें हमेंशा सतर्क होने की आवश्यकता है। हम सभी शासन के उच्च स्तर में है हम सभी का कर्तव्य है कि पूरी संवेदनशीलता के साथ कार्य करें, जिससे पिछड़ा समाज परेशान न हो। तिरंगे का हरा रंग खुशहाली का प्रतीक है। वर्तमान में भी हमें शासन के तौर पर यह देखना चाहिए कि हमारा निर्णय ऐसा होना चाहिए कि गरीबों की मदद हो सके और उनके जीवन में खुशहाली आ सके। हमारे तिरंगे का अशोक चक्र जिसे धर्म चक्र भी कहते हैं। इससे तात्पर्य है कि हमें हर कार्य में धर्म को अवश्य याद रखना चाहिए। धर्म क्या है यह आप सभी जानते हैं, क्या सही है क्या गलत यह जानना ही सही मायने में धर्म है।

मुख्य सचिव ने कहा कि हमें समय एवं परिवर्तन के साथ खुद को भी बदलना है। अगले 25 सालों के लिए देश के लिए योजना बन रही है। प्रदेश के लिए भी हमें योजना बनानी है। केवल विजन ही नही चाहिए, मिशन भी चाहिए। विजन में हमने यह देखना है कि अगले 25 सालों में प्रदेश को कहां ले जाना है मिशन में हमें दिल दिमाग और आत्मा के साथ काम करना है, तभी यह तिरंगे का सच्चा सम्मान होगा। केवल यह लम्बा इवेंट बनकर न रह जाए। हम सभी मिलकर कार्य करेंगे अपने तन मन धन से इस देश को आगे बढ़ाने का कार्य करेंगे।

इस दौरान मुख्य सचिव द्वारा सचिवालय एथलीट व फिटनेस क्लब के 42 सदस्यों को जिन्होंने 15 कि0मी0 दौड़ पूरी की थी उनका आभार व्यक्त करते हुए उन्हें बधाई दी। इसके साथ ही 28 से 30 मार्च 2022 को गुड़गांव हरियाणा में आयोजित अखिल भारतीय सिविल सर्विसेज एथलेक्टिस प्रतियोगिता में 800 मी0 रेस में कांस्य पदक जीत कर सचिवालय के लिए पहला पदक लाने वाले अनुभाग अधिकारी एवं अध्यक्ष सचिवालय एथलीट व फिटनेस क्लब श्री ललित चन्द्र जोशी को भी बधाई दी।

इस दौरान ध्वजारोहण के अवसर पर अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी, श्री आनन्द बर्धन, प्रमुख सचिव श्री आर.के.सुधांशु व एल.फेनई, सहित सभी सचिव, प्रभारी सचिव सहित सचिवालय के अधिकारी – कर्मचारी एवं अन्य नागरिक उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.