राज्यपाल ने शहीद मेजर दुर्गामल्ल पर जारी डाक टिकट का विमोचन किया।#सीएम धामी को मैडम रजनी रावत ने मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए 11 लाख का चेक सौंपा।# सीएम ने भर्ती परीक्षाओं में तेजी लाने के निर्देश दिए # जोशीमठ उद्यान विभाग की भूमि पर सीबीआरआई द्वारा मॉडल प्री फैब शेल्टर का निर्माण कार्य आरम्भ हुआ #विभिन्न परीक्षाओं के संबंध में उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग(उलोसेआ) की बैठक हुई-www.janswar.com

-अरुणाभ रतूड़ी

 

राज्यपाल ने शहीद मेजर दुर्गामल्ल पर जारी डाक टिकट का विमोचन किया।

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) ने सोमवार को गढ़ी कैंट में उत्तराखण्ड राज्य नेपाली भाषा समिति, देहरादून द्वारा आयोजित कार्यक्रम में शहीद मेजर दुर्गामल्ल के नाम पर जारी डाक टिकट का विमोचन किया। इस कार्यक्रम में शहीद मेजर दुर्गामल्ल के जीवन पर आधारित, देश प्रेम से ओतप्रोत नाटक का मंचन किया गया। साथ ही उनकी जीवनी पर आधारित एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म भी प्रदर्शित की गई। राज्यपाल ने पार्क में स्थित शहीद दुर्गामल्ल की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। कार्यक्रम में उन्होंने वीर नारियों को भी सम्मानित किया।

अपने संबोधन में राज्यपाल ने कहा कि अमर शहीद मेजर दुर्गामल्ल की स्मृति में डाक टिकट विमोचन करना अपने आप में गौरव के क्षण हैं। यह भारत की गौरव की रक्षा के लिए नेपाली समुदाय के महान योगदान को प्रकट करता है। देश की एकता, अखंडता और रक्षा के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर करने वाले शहीदों के प्रति आभार और सम्मान प्रकट करने का यह उत्कृष्ट उदाहरण है। उन्होंने कहा कि अल्प आयु में मेजर दुर्गामल्ल ने देश की रक्षा के लिए अपने सभी सुख, सुविधाओं को त्याग कर अग्रेंजों के विरूद्ध लड़ने का दृढ़ साहस दिखाया उसे हमेशा याद किया जायेगा। राष्ट्र प्रथम की भावना से प्रेरित उनका जीवन शौर्य, वीरता, साहस का प्रतीक है।

राज्यपाल ने कहा कि हमारे स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों व अमर शहीदों के सर्वोच्च बलिदान के कारण हम आज खुली हवा में सांस ले रहे हैं। हमें उन महान सेनानियों को सदैव याद करना चाहिए, जिन्होंने विपरित परिस्थितियों में भी राष्ट्र प्रथम की भावना से अपने जीवन को जिया। मेजर दुर्गा मल्ल उन्हीं शहीदों में से एक रहे, जिन्होंने भारतीय राष्ट्रीय सेना का गौरव बढ़ाने के साथ-साथ भारत की महान गोरखा सैन्य परम्परा का भी मान बढ़ाया। उन्होंने डाक टिकट विमोचन के अवसर पर नेपाली भाषा, गौर्खाली समुदाय के सभी लोगों को बधाई दी। इस अवसर पर सांसद माला राज्यलक्ष्मी शाह, विधायक विनोद चमोली, उत्तराखण्ड राज्य नेपाली भाषा समिति के अध्यक्ष मधुसूदन शर्मा, अध्यक्ष गौर्खाली सुधार सभा पी एस थापा, ले.ज (रि.) शक्ति गुरुंग, जीओसी सबएरिया मेजर जनरल संजीव खत्री सहित समिति के अन्य पदाधिकारी और कई गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

*********

सीएम धामी को मैडम रजनी रावत ने मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए 11 लाख का चेक सौंपा।

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी से मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में मैडम रजनी रावत ने भेंट की। इस अवसर पर उन्होंने जोशीमठ भूधंसाव से प्रभावितों की सहायता के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए मुख्यमंत्री को 11 लाख रूपये का चेक सौंपा।

********

  • सीएम ने भर्ती परीक्षाओं में तेजी लाने के निर्देश दिए
  • शासन स्तर पर हर 15 दिन में समीक्षा की जाएः सीएम पुष्कर सिंह धामी

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी को निर्देश दिए हैं कि भर्ती परीक्षाओं में तेजी लाने के लिए शासन स्तर पर प्रत्येक 15 दिन में समीक्षा बैठक की जाय। सभी विभागों से रिक्त पदों का पूरा ब्यौरा लेकर जल्द से जल्द अधियाचन भेजे जाएं। जहां पर तदर्थ और आउटसोर्सिंग आदि के माध्यम से नियुक्तियां होनी हैं उसमें भर्ती प्रक्रिया में भी तेजी लायी जाये। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा राज्य के युवाओं को रोजगार के पर्याप्त अवसर दिए जायेंगे। उन्होंने कहा कि सभी भर्ती प्रक्रियाएं पूर्ण पारदर्शिता के साथ सुनिश्चित की जाएं। भर्ती प्रक्रियाओं में अगर कोई भी गड़बड़ी के प्रयास करे तो उन्हें सख्त से सख्त सजा दिलाई जाए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि 2025 तक उत्तराखंड को ड्रग्स फ्री राज्य बनाने का लक्ष्य रखा गया। इसके लिए विभिन्न विभागों द्वारा किए जा रहे प्रयासों की भी लगातार समीक्षा की जाय। अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी को ड्रग्स फ्री उत्तराखंड बनाने के लिए 15 दिनों में संबंधित विभागों के साथ बैठक करने के निर्देश मुख्यमंत्री ने दिए हैं।

*********

सीबीआरआई द्वारा जोशीमठ में उद्यान विभाग की भूमि पर मॉडल प्री फैब शेल्टर का निर्माण कार्य आरम्भ हुआ

ढाक गांव, चमोली में मॉडल प्री फैब शेल्टर निर्माण हेतु भूमि का चयन होने के बाद भूमि समतलीकरण बिजली, पानी, सीवर आदि की व्यवस्था हेतु कार्यवाही प्रारम्भ हुई

आवश्यकता पड़ने पर भराणीसैंण विधानसभा के हॉस्टलों में विस्थापितों के रहने की व्यवस्था का विकल्प खुला रखा गया है

जोशीमठ में अग्रिम राहत के तौर पर 3.45 करोड़ रूपये की धनराशि 261 प्रभावित परिवारों को वितरित की गई

सचिव आपदा प्रबन्धन डा0 रंजीत कुमार सिन्हा ने सोमवार को मीडिया सेन्टर, सचिवालय में जोशीमठ नगर क्षेत्र में हो रहे भू-धंसाव एवं भूस्खलन के उपरान्त राज्य सरकार द्वारा किये जा रहे राहत व बचाव तथा स्थायी/अस्थायी पुनर्वास आदि से सम्बन्धित किये जा रहे कार्यो की मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि जोशीमठ में अग्रिम राहत के तौर पर 3.45 करोड़ रूपये की धनराशि 261 प्रभावित परिवारों को वितरित की गई है। उद्यान विभाग, एचडीआरआई, जोशीमठ के पास स्थित भूमि पर केन्द्रीय भवन अनुसंधान संस्थान रूड़की के सहयोग से वन बीएचके, टू बीएचके व थ्री बीएचके के मॉडल प्रोटोटाइप प्रीफ्रेब्रिकेटेड शेल्टर का निर्माण कार्य आरम्भ हो चुका है। ढाक गांव, चमोली में वन बीएचके, टू बीएचके व थ्री बीएचके के मॉडल प्रोटोटाइप प्रीफ्रेब्रिकेटेड शेल्टर निर्माण हेतु भूमि चयन होने के बाद भूमि समतलीकरण, बिजली, पानी, सीवर आदि की व्यवस्था हेतु कार्यवाही प्रारम्भ हो चुकी है। आवश्यकता पड़ने पर भराणीसैंण विधानसभा के हॉस्टलों में विस्थापितों के रहने की व्यवस्था का विकल्प खुला रखा गया है।
सचिव आपदा प्रबन्धन ने जानकारी दी है कि जोशीमठ में प्रारम्भ में निकलने वाले पानी का डिस्चार्ज जो कि 06 जनवरी 2023 को 540 एल.पी.एम. था, वर्तमान में घटकर 180 एलपीएम हो गया है।  अस्थायी रूप से चिन्हित राहत शिविरों में जोशीमठ में कुल 656 कक्ष हैं जिनकी क्षमता 2940 लोगों की है तथा पीपलकोटी में 491 कक्ष हैं जिनकी क्षमता 2205 लोगों की है। अभी तक 863 भवनों में दरारें दृष्टिगत हुई है। उन्होंने जानकारी दी कि गांधीनगर में 01,  सिंहधार में 02,  मनोहरबाग में 05,  सुनील में 07 क्षेत्र / वार्ड असुरक्षित घोषित किए गए हैं। 181 भवन असुरक्षित क्षेत्र में स्थित है। 278 परिवार सुरक्षा के दृष्टिगत अस्थायी रूप से विस्थापित किये गये हैं। विस्थापित परिवार के सदस्यों की संख्या 933 है।

**********

विभिन्न परीक्षाओं के संबंध मे उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग(उलोसेआ) की बैठक हुई

विभिन्न परीक्षाओं के सम्बन्ध में गहन विचार-विमर्श करने हेतु उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग की विशेष बैठक आहूत की गई, जिसमें लिये गये महत्वपूर्ण निर्णयों से अवगत कराते हुए आयोग के सचिव द्वारा अवगत कराया गया कि

गत दिनों कतिपय समाचार पत्रों में छपी खबरों में ए०ई०/जे०ई० परीक्षाओं के सम्बन्ध में सवाल उठाये गये थे। हाल ही में बेरोजगार संघ के पदाधिकारी के साथ आए अभ्यर्थियों के प्रतिनिधि मण्डल द्वारा भी, एसएसपी, हरिद्वार की मौजूदगी में हुई वार्ता के दौरान, प्रश्नगत परीक्षाओं के प्रति ऐसी ही आशंकाएं व्यक्त की गयी। उक्त के आलोक में आयोग द्वारा बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया है कि एसएसपी, हरिद्वार से इस सम्बन्ध में सम्पूर्ण मामले की गहन जाँच करने हेतु अनुरोध किया जाए तथा उनकी रिपोर्ट के आधार पर उक्त परीक्षाओं के सम्बन्ध में अग्रेतर कार्यवाही सुनिश्चित की जाए।

आयोग में समस्त गोपनीय / अतिगोपनीय अनुभागों की सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता किये जाने को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया गया है कि अनुभागों की सिक्योरिटी ऑडिट किये जाने हेतु एक टीम उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग में भेजने हेतु एडीजी इंटेलीजेंस से अनुरोध कर लिया जाए तथा तद्नुसार समस्त कार्यवाही सम्पन्न कराई जाएं।

वन आरक्षी परीक्षा-2022 एवं पी०सी०एस० मुख्य परीक्षा-2021 की शुचिता एवं गोपनीयता सुनिश्चित करने के दृष्टिगत इन परीक्षाओं को चूँकि अब नये प्रश्न पत्रों का निर्माण कराते हुए आयोजित कराये जाने का निर्णय लिया जा चुका है। अतः उक्त के दृष्टिगत इन परीक्षाओं हेतु पूर्व में छपे प्रश्न-पत्रों एवं प्रश्न बैंक को विनष्ट कराये जाने का बैठक में निर्णय लिया गया है। उक्त विनष्टीकरण कार्य आयोग के एक मा० सदस्य की अध्यक्षता में गठित उच्च स्तरीय समिति की देखरेख में नियमानुसार किया जाना सुनिश्चित किया जाएगा।

बैठक में यह भी निर्णय लिया गया है कि पटवारी परीक्षा पेपर लीक प्रकरण में संलिप्त अभ्यर्थियों की सूची उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग को उपलब्ध कराने हेतु एसएसपी, हरिद्वार से तत्काल अनुरोध कर लिया जाए ताकि ऐसे अभ्यर्थियों को उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग की आगामी परीक्षाओं से प्रतिवारित करते हुए सूची को विभिन्न आयोगों में प्रेषित किया जा सके। इसी क्रम में यूकेएसएसएससी से भी उनके पास उपलब्ध संलिप्त अभ्यर्थियों की सूची उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग को भेजने हेतु अनुरोध किये जाने का निर्णय भी लिया गया।

समस्त अभ्यर्थियों को आश्वस्त किया गया है कि आयोग के लिए अभ्यर्थियों का हित सर्वोपरि रहा है। जिसके दृष्टिगत परीक्षाओं को निष्पक्षता एवं उत्कृष्टता के साथ सम्पन्न कराने हेतु सभी आवश्यक सुरक्षा इंतजाम सुनिश्चित किये जाने हेतु सभी आवश्यक कार्यवाहियां की जा रही हैं। विगत दिनों पीसीएस परीक्षार्थी प्रतिनिधि मण्डल एवं बेरोजगार संघ के पदाधिकारियों के साथ हुई वार्ता के दौरान भी उन्हें इससे अवगत कराया गया है।

*********

अल्मोड़ा, 23 जनवरी 2023 (अशोक कुमार पाण्डेय) – जिलाधिकारी वंदना के नेतृत्व में आज जिला प्रशासन की टीम द्वारा तहसील चौखुटिया तथा द्वाराहाट के अंतर्गत विभिन्न योजनाओं का स्थलीय निरीक्षण एवं भ्रमण किया तथा जनता की समस्याओं को सुना गया।
जिलाधिकारी ने विकासखंड चौखुटिया के माध्यम से ग्राम भनौटीया में बनाए गए सोलर पंपिंग योजना का निरीक्षण किया। तथा योजना के अनुरक्षण को लेकर भी आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

ग्रामीणों की मांग पर जिलाधिकारी ने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि भेईगंज बांध से पाइप लाइन के माध्यम से सिंचाई की व्यवस्था को जाए। राजकीय बालिका इंटर कॉलेज चौखुटिया का निरीक्षण कर जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को कार्यों की गुणवत्ता एवं समय सीमा के तहत कार्य करने के निर्देश दिए।
जिलाधिकारी ने अध्ययनरत छात्राओं से वार्तालाप किया । साथ ही मुख्य शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि विद्यालय में कोई भी विषय बिना शिक्षक के न रहे।
प्रशासनिक टीम ने विश्व बैंक के माध्यम से बन रहे भटकोट – झाला पुल का निरीक्षण किया। यहां जिलाधिकारी ने अधिकारियों को कार्यों को जल्द पूरा करने के निर्देश दिए।
इसके बाद जिलाधिकारी ने मासी पहुंचकर मंदिर परिसर में ग्राम चौपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनी तथा व्यापार मंडल के पदाधिकारियों के साथ कूड़ा प्रबंधन के संबंध में बैठक की। यहां पर ग्रामीणों ने जिलाधिकारी के सम्मुख बिजली, सिंचाई, भू कटाव जैसी विभिन्न समस्याएं रखी। जिलाधिकारी ने एक एक कर सभी समस्याओं को सुना तथा मौके पर उपस्थित संबंधित अधिकारियों को जल्द से जल्द समस्याओं के निदान हेतु निर्देशित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *