राज्यपाल ने फोटो प्रदर्शिनी के उद्घाटन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि प्रतिभाग किया#मुख्यमंत्री ने स्व.इन्द्रमणी बडोनी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की# मुख्यमंत्री ने ’उत्तराखण्ड राज्य सीनियर बैडमिंटन प्रतियोगिता’ का शुभारंभ किया #पूर्व मुख्यमंत्री मे.ज.(रि.) अपने स्वास्थ्य जाँच हेतु एम्स पहुचे।#कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने मुख्य अतिथि के रूप मेंश्रीनगर स्थित प्राविधिक शिक्षा निदेशालय उत्तराखंड के प्रशासनिक भवन शिलान्यास कार्यक्रम में प्रतिभाग किया।www.janswar.com

-अरुणाभ रतूड़ी

 

 

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) वीरवार को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा पवेलियन मैदान देहरादून में आयोजित फोटो प्रदर्शिनी के उद्घाटन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि प्रतिभाग किया। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के प्रादेशिक कार्यालय देहरादून की ओर से स्वतंत्रता सेनानियों पर आधारित इस फोटो प्रदर्शिनी में उनके त्याग, बलिदान और संघर्ष को प्रदर्शित किया जा रहा है।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राज्यपाल ने कहा कि इस फोटो प्रदर्शिनी से नौजवान युवाओं को हमारे स्वंतत्रता सेनानियों और महापुरुषों के जीवनवृत्त से प्रेरणा लेने का अवसर प्राप्त होगा। इस तरह के आयोजन हमारे गौरव बलिदानियों के प्रति श्रद्धासुमन अर्पित करने का अवसर तो है ही साथ ही युवा पीढ़ी के व्यक्तित्व को संवारने के लिए आवश्यक है। उन्होंने आजादी के लिए संघर्ष करने वाले महान सपूतों को याद करना अमृत महोत्सव में अत्यन्त प्रासंगिक और महत्वपूर्ण है।

राज्यपाल ने कहा कि स्वतंत्रता सेनानियों के त्याग, संघर्ष और बलिदान के कारण आज हमारा देश स्वंतत्र है। इस संघर्ष में देवभूमि के महान सपूतों ने भी अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया। उन्होंनेे कहा कि आजादी का यह अमृत महोत्सव हमें अपने अतीत को याद करने के साथ ही स्वर्णीम भविष्य में बड़े लक्ष्य प्राप्त करने का समय भी है। उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में देश को एक विकसित राष्ट्र बनाने का लक्ष्य दिया। इसके लिए यह लक्ष्य जन-जन का होना चाहिए और इसे हासिल करने के लिए हम सबको हर संभव योगदान देना होगा।

उन्होंने कहा कि देश की समृद्धि, विकास के लिए सभी को हरसंभव प्रयत्न करने का संकल्प लेना होगा तभी हम सच्चे अर्थों में स्वतंत्रता सेनानियों के संघर्षों और बलिदान का  मूल्य चुका सकेंगे। विकसित भारत श्रेष्ठ भारत और समृद्ध भारत बनाने के लिए मिलजुल कर कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि हमारे अमर शहीदों के संघर्ष व बलिदान को हमेशा याद रखा जाना चाहिए। हमें यह संकल्प लेना चाहिए कि हम ऐसे अमर शहीदों के आदर्शों पर चलकर राष्ट्रनिर्माण में अपना संपूर्ण योगदान दें। राज्यपाल ने कहा कि हमारी महान प्राचीन संस्कृति और सभ्यता को जीवंत बनाते  हुए उसमें आधुनिक तकनीकों और ज्ञान के बल पर देश को विश्वगुरु की ओर लेकर जाना होगा। उन्होंने अमृत महोत्सव के इस सफल आयोजन के लिए आयोजकों को बधाई दी।

कार्यक्रम में उपस्थित कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि स्वतंत्रता संग्राम के अनगिनत नायकों को फोटो प्रदर्शिनी के माध्यम से याद किया जाना सराहनीय पहल है। उन्होंने कहा कि नई पीढ़ी के लिए इन नायकों की जीवनियों से प्रेरणा लेना बेहद जरूरी है।

इस कार्यक्रम में मेयर सुनील उनियाल गामा, विधायक श्री खजान दास, विधायक श्री उमेश शर्मा काऊ ने भी अपने-अपने विचार रखे।

इस दौरान पद्मश्री श्री प्रेम शर्मा, अपर महानिदेशक सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय विजय कुमार, सहायक निदेशक डॉ. संतोष आशिष सहित अन्य गणमान्य लोग व स्कूली बच्चे उपस्थित रहे हैं।

********

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने  स्व. श्री इंद्रमणि बडोनी जी की पुण्य तिथि पर मुख्यमंत्री आवास में उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वर्गीय  श्री इंद्रमणि बडोनी जी की उत्तराखण्ड राज्य निर्माण आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका रही। पर्वतीय विकास की संकल्पना और उत्तराखण्ड राज्य निर्माण में उनके योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता है।

******

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को बहुउद्देशीय क्रीडा भवन, परेड ग्राउंड, देहरादून में उत्तरांचल राज्य बैडमिंटन एसोसिएशन द्वारा आयोजित ’उत्तराखण्ड राज्य सीनियर बैडमिंटन प्रतियोगिता’ का शुभारंभ किया। यह प्रतियोगिता 21 अगस्त 2022 तक चलेगी। इस अवसर पर  मुख्यमंत्री ने स्वयं बैडमिंटन खेल खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाया।
मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने मौजूद सभी खिलाड़ियों को उनके भविष्य हेतु शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि बच्चे खेल की विभिन्न विधाओं में सराहनीय प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदेश के खिलाड़ी आज विश्व पटल पर राज्य एवं देश का नाम रोशन कर रहे हैं। हमारे खिलाड़ियों ने अपने संकल्प, इच्छा शक्ति और परिश्रम के आधार पर अच्छा मुकाम हांसिल किया है। खिलाड़ी अपने संघर्ष एवं मेहनत के बलबूते पर अपने सपनों को पूरा करते हैं। खिलाड़ी की सफलता से क्षेत्रवासियों, राज्यवासियों एवं देश की भावनाएं जुड़ती हैं, हजारों लोगों का आशीर्वाद उनके साथ होता है, एक खिलाड़ी की सफलता से अन्य खिलाड़ी भी प्रोत्साहित होते हैं।
मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा उत्साह और उमंग से मनुष्य में ऊर्जा का संचार होता है, संकल्प एवं दृढ़ इच्छाशक्ति ही हमें हमारी सफलता की ओर ले जाती हैं। उन्होंने कहा आज हर क्षेत्र में भारत लीडर के रूप में आगे बढ़ रहा है। नए भारत का निर्माण हो रहा है। हम अमृत काल में प्रवेश कर गए हैं। इस अमृत काल में भारत एवं राज्य प्रत्येक क्षेत्र में आगे बढ़े इसके लिए हम सभी ने अपनी जिम्मेदारियों को समझते हुए राष्ट्र के प्रति योगदान देना है। खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए राज्य में नई खेल नीति बनाई गई है। खिलाड़ियों की सुविधा अनुसार एवं उनके हितों को ध्यान में रखते हुए समय-समय पर खेल नीति में और सुधार किये जायेंगे। नई खेल नीति में कई प्रावधान किए गए हैं, जिससे हमारे नौजवान खेल के क्षेत्र में नई बुलंदियां हासिल करें।

*******

पूर्व मुख्यमंत्री मे.ज.(रि.) अपने स्वास्थ्य जाँच हेतु एम्स  पहुचे।

अपडेट सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री जनरल भुवन चंद्र खंडूड़ी बृहस्पतिवार को पूर्वाह्न में अपने पुत्र के साथ रूटीन चैकअप के लिए एम्स ऋषिकेश आए। जहां उन्होंने चिकित्सकों से अपने नियमित स्वास्थ्य की जांच कराई और परामर्श लिया।
खबर लिखने तक उनकी जांचें चल रही थी। संस्थान के जनसंपर्क अधिकारी हरीश थपलियाल ने बताया कि सामन्य जांचों से यह पाया गया कि जनरल साहब का स्वास्थ्य ठीक है, मगर एडवांस्ड जांचों की रिपोर्ट आने तक उन्हें अस्पताल में मेडिकल ऑब्जर्वेशन में रखा गया है।

********

तकनीकी शिक्षा, वन, भाषा एवं निर्वाचन मंत्री सुबोध उनियाल ने श्रीनगर स्थित प्राविधिक शिक्षा निदेशालय उत्तराखंड के प्रशासनिक भवन के शिलान्यास कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभाग किया। इस दौरान उनके साथ उच्च शिक्षा मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत भी उपस्थित रहे। अतिथियों द्वारा भवन का शिलान्यास पूजा अर्चना कर किया गया। प्राविधिक निदेशालय के 03 मंजिला भवन का निर्माण 04 करोड़ 92 लाख 33 हजार की लागत से 18 माह में पूर्ण किया जाएगा। तकनीकी शिक्षा मंत्री सुबोध उनियाल ने कार्यदाई संस्था पेयजल निगम पौड़ी को निर्देशित किया कि निर्धारित समय में भवन का कार्य पूर्ण करना सुनिश्चित करें। साथ ही उन्होंने निर्माणाधीन भवन में शौचालय, विद्युत, पेयजल सहित अन्य व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने के निर्देश भी दिए। इस दौरान उन्होंने कहा कि सरकार निरंतर रूप से शिक्षा सहित विभिन्न क्षेत्रों में बेहतर कार्य कर रही है। इस दौरान उन्होंने निदेशालय परिसर में अशोक, रुद्राक्ष के पौधों का रोपण भी किया।
तकनीकी शिक्षा, वन, भाषा एवं निर्वाचन मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि प्राविधिक शिक्षा निदेशालय में समुचित व्यवस्था की जाएगी, जिससे छात्रों को उसका लाभ मिल सकेगा। कहा की पॉलिटेक्निक में विभिन्न तकनीकी कोर्स रखे गए हैं व अन्य पॉलिटेक्निक में भी बेहतर सुविधा दी जाएगी। कहा की पॉलिटेक्निक पूर्ण करने के बाद नौजवान युवा स्वरोजगार की ओर बढ़े, जिससे वह अपनी आर्थिकी को मजबूत बना सकेंगे। कहा कि लक्ष्य को हासिल करना है तो उसके लिए मेहनत करनी जरूरी है। जिससे लक्ष्य प्राप्त होकर गांव का ही नहीं प्रदेश का नाम भी रोशन कर सकोगे। इस दौरान उन्होंने कहा कि समस्त पॉलिटेक्निकों में संपूर्ण व्यवस्था की जाएगी। कहा कि प्रदेश में 72 पॉलिटेक्निक संस्थानों में 10 हजार से अधिक छात्र-छात्राएं शिक्षणरत है। कहा कि प्रदेश के 06 पॉलिटेक्निक कॉलेजों को मॉडल पॉलिटेक्निक के रूप में विकसित किया जाएगा। जिसमें देहरादून, काशीपुर, खटीमा, नैनीताल, श्रीनगर व नरेंद्र नगर शामिल हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि प्रदेश में एकीकृत तकनीकी कॉलेज खोला जाएगा, जिसमे समस्त व्यवस्था की जाएगी। मंत्री ने पॉलिटेक्निक की चार दिवारी हेतु 20 लाख की घोषणा भी की।
उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश का दूसरे नंबर पर श्रीनगर का पॉलिटेक्निक है, जहां पठन पाठन के क्षेत्र में विभिन्न तरह की सुविधा छात्र छात्राओं को दी गई है। इस दौरान उन्होंने तकनीकी शिक्षा मंत्री से श्रीनगर पॉलिटेक्निक में रिक्त पदों पर भर्ती व राजकीय पॉलिटेक्निक पाबौ में विभिन्न तकनीकी कोर्स शामिल करने की बात कही। इसके अलावा उन्होंने आम जनमानस से अपील करते हुए कहा कि वैक्सीनेशन की तीसरी डोज अवश्य लगाएं। कहा कि 30 सितंबर तक वैक्सीनेशन की तीसरी डोज लगाई जाएगी। साथ ही उन्होंने कहा कि राज्य में अटल आयुष्मान कार्ड बनाने हेतु पॉलिटेक्निक, डिग्री कॉलेज, इंटर कॉलेज सहित अन्य शिक्षण संस्थानों में शिविर लगाकर लोगों के आयुष्मान कार्ड निशुल्क बनाए जाएंगे। कहा कि अटल आयुष्मान कार्ड में 05 लाख तक का फ्री इलाज सरकार द्वारा किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.