राज्यपाल ने किया रामनगर का भ्रमण#मुख्यमंत्री ने भाजपा संयुक्त मोर्चा प्रदेश कार्यसमिति“ की बैठक को सम्बोधित किया#सूचना विभाग और एमडीडीए के संयुक्त कार्यक्रम में कलाकारों व लोक गायकों ने दी मनमोहक प्रस्तुति# तम्बाकू निषेध दिवस पर सीएमओ कार्यालय मे़ं हुई गोष्ठी#उत्तराखण्ड राज्य उच्च शिक्षा प्रवेश पोर्टल का हुआ शुभारंभ। #तहसील मुख्यालय में स्वतंत्रता संग्राम सैनानी स्मारक का किया उद्घाटन#घर से गायब  बालक को पुलिस ने अथक प्रयास से सकुशल किया बरामदwww.janswar.com

-अरुणाभ रतूडी़

 दिनांक 31 मई, 2023

राज्यपाल ने किया रामनगर का भ्रमण

रामनगर:राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) बुधवार को रामनगर के भ्रमण पर रहे। यहां पहुंचने पर होटल एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने उनका स्वागत किया। एक स्थानीय होटल में राज्यपाल ने होटल एसोसिएशन रामनगर के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर पर्यटन व होटल व्यवसाय के क्षेत्र में आ रही चुनौतियों व समस्याओं के संबंध में चर्चा की।     राज्यपाल ने हाल ही में सम्पन्न जी-20 कार्यक्रम में सहयोग के लिए होटल एसोसिएशन के सभी पदाधिकारियों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि इस आयोजन में होटल एसोसिएशन का महत्वपूर्ण योगदान रहा। उन्होंने कहा कि जी-20 के सफल आयोजन ने रामनगर को विश्व पर्यटन मानचित्र में स्थापित किया है। राज्यपाल ने कहा कि पर्यटन व्यवसाय उत्तराखण्ड की आर्थिकी की रीढ़ है। उन्होंने कहा कि होटल उद्योग का प्रदेश के विकास में बड़ा योगदान है। इससे कई लोगों को रोजगार मिल रहा है। इसको आगे बढ़ाने के हर संभव प्रयास किए जाएंगे और इसमें सभी के सहयोग की जरूरत है।

*********

मुख्यमंत्री ने भाजपा संयुक्त मोर्चा प्रदेश कार्यसमिति“ की बैठक को सम्बोधित किया

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को जी एम एस रोड स्थित फार्म हाउस में “भाजपा संयुक्त मोर्चा प्रदेश कार्यसमिति“ की बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि कार्यसमिति की इस बैठक में महाजनसंपर्क अभियान, संगठनात्मक विषयों, मन की बात, बूथ सशक्तिकरण अभियान सहित अन्य विषयों पर किये गये गहन मंथन से जो ’प्रेरणा रूपी अमृत’ निकलेगा वह निश्चित रूप से प्रदेश भाजपा के लिए अत्यंत लाभकारी होगा।
उन्होंने कहा कि हमें इन विशेष अभियानों के माध्यम से समाज के हर वर्ग और हर व्यक्ति तक पहुंचना है। महाजनसंपर्क अभियान द्वारा विभिन्न समुदायों के साथ ही समाज के प्रबुद्ध वर्ग, युवा वर्ग तथा महिलाओं के बीच जाना होगा और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में बदलते हुए भारत की उभरती तस्वीर को आमजन के समक्ष रखते हुए उन्हें केंद्र और राज्य सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यों की जानकारी देनी होेगी।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी के कुशल नेतृत्व में पिछले नौ सालों में देश के हर वर्ग का कल्याण हुआ है। आजादी के बाद के वर्षों की तुलना में पिछले नौ वर्षों के दौरान विकास के सभी मापदंडों के आधार पर हम कह सकते हैं, हमारे देश ने हर क्षेत्र में जबरदस्त प्रगति की है,जिसका लोहा आज संपूर्ण विश्व मान रहा है। वर्ष 2014 में देश की जनता ने प्रधानमंत्री श्री मोदी पर अपना भरोसा जताया था, और आज जनता के इसी भरोसे ने 2014 से 2023 के नौ वर्षों की अवधि में देश की “समृद्धि रूपी“ रेल गाड़ी को “विकास रूपी पटरियों“ पर तेजी से दौडाने का कार्य किया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि इन नौ सालों में प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने स्वास्थ्य से लेकर शिक्षा तक, निःशुल्क खाद्यान्न से लेकर निशुल्क इलाज तक, किसानों के विकास से लेकर गरीबों के आवास तक, सेना के आधुनिकीकरण से लेकर सीमाओं की सुरक्षा तक, प्रत्येक नागरिक को वैक्सीन पहुंचाने से लेकर हथियार और मोबाइल उत्पादन तक हर क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य किये गए हैं। पहले भारत दवाओं और टीकों के लिए विदेशी कृपा पर निर्भर रहता था, जबकि केन्द्र की मोदी सरकार के नेतृत्व में भारत ने कोविड के दो स्वदेशी टीके न केवल विकसित किए बल्कि कई देशों को इन जीवनरक्षक दवाओं की आपूर्ति भी की।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में केन्द्र सरकार की ओर से शिक्षा का बजट तीन गुना बढ़ाना और एक सुविचारित राष्ट्रीय शिक्षा नीति का पाठ्यक्रम लाना उनकी “शिक्षित समाज- मजबूत भारत“ की प्रतिबद्धता को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि स्वतंत्र भारत के इतिहास में गरीबों के लिए आवास निर्माण की ऐसी क्रांति पहले कभी नहीं दिखी।इन नौ वर्षाे में लगभग साढ़े तीन करोड़ से अधिक के आवास गरीबों के लिए बनाए गए। इसी के साथ-साथ कोविड काल में प्रधानमंत्री जी ने 80 करोड़ लोगों को खाद्य सुरक्षा प्रदान की, जो अभी भी उपलब्ध करायी जा रही है। देश में करीब 50 करोड़ जनधन खाते गरीबों के लिए खोले गए, जिनका प्रयोग उनके खाते में सीधे डी.बी.टी. करने के लिए हो रहा है।
उन्होंने कहा कि महिला सशक्तिकरण का बीड़ा भी प्रधानमंत्री जी ने ही उठाया इसके अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्र में करीब 12 करोड़ शौचालय बनाए गए। इसी के साथ-साथ इन नौ वर्षों में  नौ करोड़ से अधिक  उज्ज्वला गैस कनेक्शन गरीबों को दिए गए। सरकार ने विभिन्न रोजगार मेलों का आयोजन कर दस लाख लोगों के रोजगार देने का कार्य भी प्रारंभ किया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि तीन तलाक, धारा 370 का खात्मा, अयोध्या में भगवान राम का भव्य मंदिर, काशी विश्वनाथ का भव्य कॉरिडोर, बद्रीनाथ और केदारनाथ धामों का पुनर्निर्माण ये कुछ ऐसे महत्वपूर्ण कार्य हैं जिनको आने वाली पीढ़ियां भी हमेशा याद रखेंगी। पिछले 9 वर्षों में प्रधानमंत्री जी की मजबूत इच्छाशक्ति के बल पर देश में आतंकवादी, नक्सलवादी और उग्रवादी गतिविधियों में भी उल्लेखनीय कमी आई है। आज भारत दुनिया की पांचवी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है और हमारे द्वारा प्रारंभ की गई यू.पी.आई. जैसी कई योजनाओं को पश्चिमी देश हाथों हाथ ले रहे हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी के कुशल नेतृत्व में 2014 से पहले के भारत और आज के भारत के विकास का अन्तर स्पष्ट दिखाई देता है। 2014 से पूर्व देश में स्वास्थ्य सेवाएं स्वयं बीमार थी, लेकिन प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में आज स्वास्थ्य सेवाओं का जिस तरह विस्तार हुआ है, वह विपक्ष के राज में संभव नहीं था। 2014 से पूर्व की सड़कों की खस्ता हालत किसी से छिपी नहीं हैं, लेकिन प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में आज देश में प्रतिदिन 38 किलोमीटर सड़क का निर्माण हो रहा है। 2014 से पूर्व बच्चों को वैक्सीन लगवाने के लिए दर-दर भटकना पड़ता था, लेकिन आज मिशन इन्द्रधनुष योजना के तहत बच्चों को जानलेवा बीमारियों से बचाने के लिए वैक्सीन लगाई जा रही है। आज मोदी जी के नेतृत्व में देश का सांस्कृतिक वैभव पुनः वापस लौट रहा है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि 2014 से पहले भारत एक पिछलग्गू राष्ट्र की श्रेणी में पहुंच गया था, लेकिन आज प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में भारत विश्व का एक अग्रणी राष्ट्र बन चुका है। 2014 के बाद से देश में हर साल एक नए आईआईटी का निर्माण हुआ है। 2014 के बाद से हर साल देश में एक नया आईआईएम बनाया गया है। 2014 के बाद हर सप्ताह देश में एक यूनिवर्सिटी खोली गई है। 2014 के बाद आज हर दिन देश में दो कॉलेज खोले जा रहे हैं। 2014 के बाद हर दिन एक नए आईटीआई का निर्माण किया जा रहा है। यह सब बीते नौ वर्षों में प्रधनमंत्री जी के नेतृत्व में ही संभव हो पाया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व की सरकारों में दिल्ली से भेजा एक रुपया गरीबों तक पहुंचते-पहुंचते 15 पैसे ही रह जाता था, लेकिन आज दिल्ली से चला 100 रुपए पूरा का पूरा गरीबों तक पहुंच रहा है। आने वाले सैकड़ों वर्षों तक प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा किए गए कार्य भारत की विजय गाथा का यशगान करते रहेंगे। उन्होंने सभी से इन योजनाओं को जन जन तक पहुंचाने तथा हर वर्ग को इन योजनाओं का लाभ सुनिश्चित करने में भी मददगार बनने की अपेक्षा की।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें देश के विभिन्न राज्यों में होने वाले चुनाव में ’’टीम उत्तराखंड’’ के रूप में अपना हर सहयोग देने के लिए तत्पर रहना है। हमें केंद्र सरकार के कार्यों के साथ प्रदेश सरकार द्वारा विकास,सुशाशन, रोजगार तथा उत्तराखंड की विशिष्ट संस्कृति को बचाने के लिए किये जा रहे कार्यों के बारे में भी लोगों को जागरूक करना होगा। वर्तमान में उत्तराखंड की पाँचों लोकसभा सीटों पर हमारे सांसद हैं, 2024 के चुनावों में हमारा संकल्प इन पाँचों सीटों पर विजय प्राप्त करना ही नहीं है बल्कि पिछले सारे रिकार्ड तोड़ते हुए एक नए इतिहास की रचना करना भी है। हम सबके प्रिय नेता श्री नरेंद्र मोदी जी तीसरी बार देश के प्रधानमंत्री बनें इसके लिये हमें 2024 के इस पुण्य अभियान में अभी से पूर्ण मनोयोग के साथ जुट जाना है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि 22 वर्ष का युवा उत्तराखंड अब एक नए जोश और एक नई उमंग के साथ निरंतर आगे बढ़ रहा है। हम सभी को गांव, गरीब, किसान, दलित, पीड़ित, वंचित, शोषित, आदिवासी, युवाओं एवं महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए निरंतर कार्य करने का “विकल्प रहित संकल्प“ लेना है। हमें बाबा केदार की धरती से प्रधानमंत्री जी द्वारा कहे गए कथन ’’21वीं सदी का तीसरा दशक, उत्तराखंड का दशक होगा’’ को चरितार्थ करने के लिए भी निरंतर प्रयासरत रहना है तथा जब तक केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ समाज के अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति तक नही पहुंच जाता तब तक हम चौन से नहीं बैठेंगे, आराम से नहीं बैठेंगे।

*******

सूचना विभाग और एमडीडीए के संयुक्त कार्यक्रम में कलाकारों व लोक गायकों ने दी मनमोहक प्रस्तुति

सनातन धर्म इण्टर कालेज, बन्नू रेसकोर्स देहरादून में ‘9 वर्ष उत्कर्ष के’ विकास और संस्कृति का महोत्सव तथा देश के असीम विकास यात्रा कार्यक्रम में आज दिनांक 31 मई 2023 को दूसरे दिन विभिन्न लोक कलाकारों तथा गायकों द्वारा मनमोहक प्रस्तुतियां दी गई। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप स्थानीय विधायक उमेश शर्मा काऊ जी ने कहा कि सरकार की योजनाओं को आम नागरिकों तक पहुंचाने के लिए स्थानीय कलाकारों द्वारा प्रस्तुत कार्यक्रम एक अदभुत प्रयोग है।
महानिदेशक सूचना बंशीधर तिवारी ने कहा कि सरकार स्थानीय कला एवम संस्कृति के संरक्षण के निरंतर प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि वास्तव में स्थानीय बोली – भाषा  ही सरकार की नीति ,योजनाओं एवम कार्यक्रमों को आम नागरिकों तक पहुंचाने का बेहतर माध्यम होता है।
उत्तराखंड के प्रसिद्ध लोक गायक  नरेंद्र सिंह नेगी ने केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा चलाई रही योजनाओं की भूरि – भूरि प्रसंशा करते हुए कहा कि सरकार के प्रयासों से उत्तराखंड वासियों का आत्म गौरव पुनः वापस आया है।
उन्होंने कहा आज स्थानीय बोली भाषा के संरक्षण की जरूरत है। नई शिक्षा नीति में सरकार ने स्थानीय बोली भाषा के विकास हेतु जो प्रयास किए है वह उल्लेखनीय है।
आज सूचना विभाग और एमडीडीए के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित कार्यक्रम में उत्तराखण्ड के प्रसिद्ध लोकगायक गढ़ रत्न नरेन्द्र सिंह नेगी तथा प्रसिद्ध गायक दिग्विजय परियार द्वारा दी गई, प्रस्तुतियों ने दर्शकों का दिल जीत लिया ।
कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण केंद्र स्थानीय उत्पाद पर आधारित स्टाल थे। इसके अतिरिक्त सरकारी योजनाओं को डिजिटल  प्रदर्शनी के माध्यम से प्रस्तुत करना भी बहुत सराहा गया।
कार्यक्रम के अन्तर्गत सरकारी योजनाओं (राज्य एवं केन्द्रीय) एवं जनोपयोगी सेवाओं की प्रदर्शनी के माध्यम से राज्य एवं केन्द्र सरकार द्वारा संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी प्रदान की गई।

 

**********

तम्बाकू निषेध दिवस पर सीएमओ कार्यालय मे़ं हुई गोष्ठी

पौड़ी: तम्बाकू निषेध दिवस पर आज मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय पौड़ी में सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अकरम अली की अध्यक्षता में गोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्र्रम के सम्बन्ध में राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम से जिला सलाहकार स्वेता गुंसाई द्वारा इस वर्ष की थीम ‘‘हमें भोजन की आवश्यकता, तम्बाकू की नहीं‘‘ के सम्बन्ध में जानकारी दी गयी।
कार्यकम की अध्यक्षता कर रहे सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अकरम अली द्वारा कहा गया कि व्यक्ति को ऐसा कोई काम नही करना चाहिए जिससे उसके आस पास रह रहे लोगों को किसी भी तरह की कोई परेशानी हो धुम्रपान उपयोग भी इसमें एक है धुम्रपान से व्यक्ति स्वंय तो रोग का शिकार होता है उसके साथ ही उसके आस पास के लोग भी इससे प्रभावित होते हैं। उन्होने कहा कि तम्बाकू उत्पादों से दूर रहने और और इसे छोडने की पहल प्रत्येक व्यक्ति को स्वंय से करनी चाहिए उनके द्वारा बताया गया कि जिला विधिक सेवा से प्राधिकरण की ओर से इस सम्बन्ध में समय समय पर विभिन्न स्थानो में जागरुकता कार्यक्रम संचालित किये जाते रहते हैं। उनके द्वारा विभाग को तम्बाकू नियंत्रण से सम्बन्धित कार्यक्रमों के संचालन के लिए प्रोत्साहित भी किया गया।
ब्रह्मकुमारी संस्थान पौड़ी से आयी बहन बीना द्वारा कहा गया कि, नशा और तम्बाकू निषेध पर चलाये जा रहे जागरुकता कार्यक्रमों के दौरान विद्यालयों में भ्रमण से यह बात सामने आ रही है कि आज देश में युवा वर्ग सबसे अधिक तम्बाकू सेवन और नशे की ओर बढ़ रहा है इसलिए आवश्यक है कि युवा पीढ़ी योग और आध्यात्म की ओर चल कर इन चीजों के सेवन से दूर रहे।
डॉ0 शशांक उनियाल द्वारा तम्बाकू उपयोग से होने वाले ओरल कैंसर के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी दी, उनके द्वारा कहा गया कि तम्बाकू सेवन हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, जिससे हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार की घातक बीमारियां हो सकती हैं, इसे छोड़ने के लिए बस एक मजबूत फैसले की जरूरत है। उन्होने बताया कि यदि कोई व्यक्ति तम्बाकू की लत से ग्रसित है और इसे छोडना चाहता है तो विभाग द्वारा संचालित जिला प्रकोष्ठ में काउंसलर की सहायता से सम्बन्धित व्यक्ति की काउंसलिंग की जाती है, साथ ही निकोटेक्स की दवाई सम्बन्धित व्यक्ति को मुफ्त उपलब्ध करायी जाती है।
कार्यक्रम में एएनएमटीसी खिर्सू तथा शतचंडी नेत्र प्रशिक्षण संस्थान के छात्र छात्राओं द्वारा तम्बाकू नियंत्रण के सम्बन्ध में भाषण तथा कविता प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने के साथ ही बी.आर.न्यू मॉडर्न पब्लिक स्कुल के बच्चों द्वारा नशे को लेकर नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत किया गया। कार्यक्रम में विभिन्न संस्थानों से आये प्रतिभागियों को पुरस्कृत भी किया गया जिसमें सौम्या, दामिनी, पीयूष, सुधांशु को नाटक, कु0 सना को भाषण और मोनिका को चित्रकला के लिए पुरस्कृत किया गया।
तम्बाकू निषेध दिवस पर आज जनपद के समस्त हैल्थ वैलनेश सेटरों में सामुदायिक गतिविधियां आयोजित की गयी इसके साथ ही एनसीडी क्लीनिक जिला चिकित्सालय पौड़ी में तम्बाकू निंयत्रण प्रकोष्ठ के कर्मियों द्वारा चिकित्सालय में आये लोगों के लिए जागरुकता गोष्ठी का आयोजन किया गया, कार्यक्रम में डा0 स्वेता नवानी, जिला आशा समन्वयक दिनेश शाह, आशा कार्यकत्रियों के साथ ही अन्य विभागीय कर्मचारी मौजूद रहे।

**********

  • उत्तराखण्ड राज्य उच्च शिक्षा प्रवेश पोर्टल का हुआ शुभारंभ।
  • उत्तराखंड राज्य के विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय में प्रवेश हेतु एक पोर्टल।

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने बुधवार को मीडिया सेंटर, सचिवालय देहरादून में उत्तराखंड राज्य के विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालयों में प्रवेश के लिए एकीकृत समर्थ पोर्टल के अंतर्गत उत्तराखंड राज्य उच्च शिक्षा प्रवेश पोर्टल का शुभारंभ किया।
उल्लेखनीय है कि नई शिक्षा नीति 2020 के तहत उत्तराखंड राज्य उच्च शिक्षा प्रवेश पोर्टल के शुभारंभ से एक प्रदेश- एक प्रवेश की संकल्पना के साथ संपूर्ण राज्य में उच्च शिक्षण संस्थानों में प्रवेश हेतु एक मंच प्रदान किया गया है। जिसके अंतर्गत विद्यार्थी उत्तराखंड राज्य के विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय में प्रवेश हेतु समर्थ पोर्टल में आवेदन कर सकते है। राज्य में अवस्थित उच्च शिक्षण संस्थानों में प्रवेश एवं अन्य व्यवस्थाओं में एकरूपता लाए जाने तथा राज्य विश्वविद्यालय एवं सम्बद्ध शासकीय अनुदानित एवं निजी महाविद्यालयों में त्वरित एवं पारदर्शी प्रवेश प्रक्रिया को सुलभ कराए जाने के उद्देश्य से इस वर्ष (सत्र 2023-24 ) से समर्थ पोर्टल, भारत सरकार के माध्यम से प्रवेश प्रक्रिया संपादित की जानी है।
समर्थ पोर्टल के अंतर्गत उत्तराखंड राज्य उच्च शिक्षा प्रवेश पोर्टल में सरल और त्वरित पंजीकरण प्रक्रिया सुनिश्चित की गई है। एकीकृत समर्थ पोर्टल पर विद्यार्थियो के लिए सभी आवश्यक सूचना उपलब्ध होंगी। मोबाइल के माध्यम से भी पोर्टल पर सरलता से आवेदन किया जा सकता है। राज्य के दूरस्थ पर्वतीय क्षेत्रों के विद्यार्थियो के लिए सुगम एवं सरल आवेदन प्रक्रिया की गई है। अभ्यर्थी पंजीकरण के समय अपनी पसंद के अधिकतम 10 महाविद्यालयो में प्रवेश हेतु आवेदन कर सकते है। ऑनलाइन माध्यम में कहीं से भी आवेदन करने की सुविधा भी पोर्टल में मौजूद है। उत्तराखंड राज्य उच्च शिक्षा प्रवेश पोर्टल में ऑनलाइन एवं ऑफलाइन दोनों माध्यमों से आवेदन किया जा सकता है।
उच्च शिक्षा मंत्री डॉ धन सिंह रावत ने कहा कि उत्तराखंड राज्य उच्च शिक्षा प्रवेश पोर्टल के शुभारंभ से विद्यार्थियों को महाविद्यालय/ विश्वविद्यालय में प्रवेश हेतु अब जगह जगह नहीं भटकना पड़ेगा। कोई भी अभ्यर्थी पंजीकरण के समय अपनी पसंद के अधिकतम 10 महाविद्यालयो में प्रवेश हेतु आवेदन कर सकते है। मेरिट के आधार पर अभ्यार्थी को महाविद्यालय में प्रवेश मिल पाएगा। पोर्टल के शुभारंभ से विद्यार्थियों के समय एवं फॉर्म में लगने वाली राशि की बचत होगी। उन्होंने कहा राज्य सरकार एक प्रदेश एक प्रवेश एक परीक्षा और एक परिणाम के संकल्प को पूरा कर रही हैं.
उच्च शिक्षा मंत्री डॉ धन सिंह रावत ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी के दिशा-निर्देशों में राज्य के प्रत्येक ब्लॉक में डिग्री कॉलेज बनाए जाने पर कार्य किया जा रहा है। राज्य में विद्यार्थियों हेतु डिजिटल लाइब्रेरी पर भी कार्य किया जा रहा है। राज्य में प्रोफेशनल एवं मॉडल कॉलेजों की स्थापना तेजी से हो रही है। नई शिक्षा नीति के तहत पाठ्यक्रम हो इसके लिए उत्तराखंड सरकार निरंतर कार्यरत है।
इस दौरान सचिव उच्च शिक्षा शैलेश बगौली, अपर सचिव उच्च शिक्षा प्रशांत आर्य एवं अन्य लोग मौजूद रहे।

***********

तहसील मुख्यालय में स्वतंत्रता संग्राम सैनानी स्मारक का किया उद्घाटन

बिथ्याणी: तहसील मुख्यालय बिथ्याणी में स्वतंत्रता संग्राम सैनानी स्मारक का उद्घाटन जिला पंचायत सदस्य गुमाल गांव व जिलाध्यक्ष कांग्रेस कमेटी कोटद्वार, विनोद डबराल, ग्राम प्रधान बिथ्याणी सतेन्द्र सिंह नेगी, भूतपूर्व सैनिकों, क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों की  उपस्थिति में किया गया। इस अवसर पर सभी लोगों ने भूतपूर्व सैनिकों, उनके बताए मार्ग पर चलने का संकल्प लिया।

 जिला पंचायत सदस्य गुमालगांव विनोद डबराल के अनुसार  इस स्मारक  बनाने के लिए जिला योजना से स्वीकृति दिलाने में जिला पंचायत सदस्य और कांग्रेस कमेटी के जिलाध्यक्ष विनोद डबराल का सराहनीय योगदान रहा। उनके अथक प्रयास से ही यह  कार्य सफल हुआ है। यह स्मारक पर्टयन विभाग द्वारा चार लाख रुपये खर्च कर बनाया गया है। किये गये। यमकेश्वर तहसील के भूतपूर्व सैनिकों  को याद करने का यह बेहतर उपाय है।

इस अवसर पर गणमान्य भूतपूर्व सैनिकों के अलावा ग्राम प्रधान कांडी अनुज नेगी, ग्राम प्रधान कोलसी मनीषा नेगी, भूतपूर्व सैनिक सुबोध नेगी, महेंद्र नेगी, महेंद्र देव बडोला, जयबल्लभ उनियाल, सोहन सिंह, हरि प्रसाद केष्टवाल, गोविंद सिंह, कृपाल सिंह, सम्पूर्ण सिंह, नत्थी सिंह, गुलाब सिंह, दीपक जोशी, राजेंद्र सिंह नेगी, सूर्य मोहन, हरेंद्र सिंह, उदय सिंह, विजय रावत, गणेश, विक्रम, चंद्रमोहन, रामचन्द्र नेगी, चतर सिंह, शैलेंद्र आदि गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

इस स्मारकमें निम्न स्वतंत्रता सेनानियों के नाम अंकित हैं
1. बद्री सिंह पुत्र लाल सिंह, चोपड़ा, 2. खुशाल सिंह पुत्र भरत सिंह, कस्याली, 3. डबल सिंह पुत्र धन सिंह, कांडी, 4. जगमोहन सिंह नेगी पुत्र उत्तम सिंह नेगी कांडी, 5. रणजीत सिंह पुत्र घमंड सिंह, कालसी, 6. आनंद सिंह पुत्र पदम सिंह, कालसी, 7. छवाण सिंह पुत्र देव सिंह, कालसी, 8. लाल सिंह पुत्र केदार सिंह, वोरगांव, 9. वृजमोहन रतूड़ी पुत्र दुर्गा दत्त, ठांगर, 10. शत्रुघन प्रसाद, पुत्र सीताराम ठांगर, 11. कांती चंद्र पुत्र रामेश्वर उनियाल, चाईदमराड़ा, 12. रूप चंद्र पुत्र रामकृष्ण, चाईदमराड़ा, 13. राय सिंह पुत्र मंगल सिंह, गुंडी मल्ली, 14. जितार सिंह पुत्र बालकसिंह चौहान, जामल, 15. रघुवीर सिंह पुत्र माल सिंह, वणास मल्ला, 16. माधो सिंह पुत्र जगत सिंह, रामजनोरेकर, 17. गंगा सिंह पुत्र छवाण सिंह, रामजनोरेकर, 18. प्रताप सिंह पुत्र लक्ष्मण सिंह, मराल,19. अमर सिंह पुत्र शेर सिंह, फल्दाकोट, 20. महिताब सिंह पुत्र शिव सिंह, माला, 21. रणजीत सिंह पुत्र गोपाल सिंह, गैंड, 22. बाग सिंह पुत्र कुंदन सिंह, ढौंर, 23. नरोत्तम सिंह पुत्र गणेशू सिंह, खेड़ा, 24. खुशाल सिंह पुत्र रियाल सिंह, ढांसी, 25. कुंदन सिंह पुत्र चैत सिंह, ढांसी, 26. जीत सिंह पुत्र रामधन सिंह, दधला, 27.छवाण सिंह पुत्र जुरल सिंह, तिमली, 28. जीत सिंह पुत्र हरि सिंह, पोखरी और 29. चंदन सिंह पुत्र मुणुंद सिंह, कुमर्था।

********

घर से गायब  बालक को पुलिस ने अथक प्रयास से सकुशल किया बरामद

 

अल्मोड़ा(अशे) 30.05.2023 की रात्रि* में अल्मोड़ा निवासी एक व्यक्ति द्वारा कोतवाली अल्मोड़ा में सूचना दी कि उनका 14 वर्षीय भतीजा जो कुछ चंचल प्रवृति का है। किसी बात पर *डांटने पर नाराज होकर घर से 1500 रुपये लेकर कही चला गया*। जिसकी हमने काफी ढूढ़ खोज कर ली है लेकिन उसका कही कुछ पता नही चल पा रहा है, रात्रि का समय होने के कारण बालक के साथ किसी अनहोनी की आशंका को लेकर घर पर सभी परिजन काफी व्यथित है।

मामला नाबालिग बालक के गुमशुदगी का होने पर कोतवाली अल्मोड़ा में तत्काल एफआईआर पंजीकृत* की गई तथा परिजनों की परेशानी/मनोस्थिति व मामले की गंभीरता एवं संवेदनशीलता को देखते हुए प्रभारी निरीक्षक कोतवाली अल्मोड़ा संजय पाठक द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए समस्त चौकी प्रभारियों को अपने-अपने क्षेत्र में बालक की तलाश हेतु निर्देशित करते हुए स्वयं भी थाने के पुलिस बल को साथ लेकर बालक की तलाश हेतु नगर क्षेत्र में रवाना हुए।

*प्रभारी निरीक्षक कोतवाली अल्मोड़ा संजय पाठक* के नेतृत्व में पुलिस टीम द्वारा बालक की सभी संभावित स्थानों, टैक्सी/बस स्टेंड, रैन बसेरा/धर्मशालाओं व पार्क आदि में तलाश करते हुए, वाहनों की सघन चेकिंग कर वाहन चालकों व लोगों से पूछताछ की गयी तथा नगर के सभी सीसीटीवी कैमरों का गहनता से अवलोकन किया गया। पुलिस टीम द्वारा खोजबीन जारी रखते हुए कड़ी मेहनत व अथक प्रयासों से गुमशुदा बालक को आज  31 मई 2023 की प्रातः धारानौला क्षेत्र से सकुशल बरामद कर उसके परिजनों के सुपुर्द किया गया।

अपने बालक को सकुशल पाकर परिजनों ने पुलिस द्वारा की गई त्वरित कार्यवाही की प्रशंसा करते हुए आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *