राज्यपाल ने कार्बेट राष्ट्रीय अभयारण्य का भ्रमण किया,नैनीताल में गोल्फ क्लब की कार्य परिषद की बैठक की अध्यक्षता करते हुए सदस्यता व अन्य शुल्कों में की भारी कटौती#मुख्यमंत्री ने हल्द्वानी में केन्द्र सरकार के आठ वर्ष पूरे होने पर मीडिया से वार्ता की,देहरादून में हिमालयी शोध एवं अध्ययन केन्द्र का लोकार्पण किया तथा कालाढुँगी में किया नहर कवरिंग कार्य का निरीक्षण    

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह(से नि)ने बुधवार को कार्बेट टाइगर रिजर्व का भ्रमण किया। ढिकाला रेंज पंहुचकर उन्होंने कहा की कार्बेट टाइगर रिजर्व विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है, जो देश-विदेश के पर्यटकों को आकर्षित करता है। यहां पर पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं। उन्होंने कहा कि पर्यटन को आधुनीकीकरण से जोड़ते हुए पर्यटकों हर संभव सुविधा मुहैया कराने का प्रयास किया जाए इस बात का भी विशेष ध्यान रखा जाए की वन्यजीवों को किसी प्रकार की परेशानी न हो।
राज्यपाल ने कहा की वन एवं वन्यजीव उत्तराखण्ड की समृद्ध सम्पदा हैं, इन्हें बचाये रखना हम सभी की जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि इस समृद्ध सम्पदा को सदैव जीवन्त रखने के हर संभव प्रयास किये जाएं। वन सम्पदा को बचाए रखने से प्राकृतिक एवं पर्यावरणीय संतुलन बना रहता है जो उत्तराखण्ड के परिपेक्ष्य में बहुत आवश्यक है।
राज्यपाल ने अधिकारियों से कहा कि पर्यटकों के लिए अवस्थापना सुविधाओं को बढ़ाने पर भी विचार किया जाय। उन्होंने कहा की पर्यटकों को आधुनिक सुविधाएं मुहैया कराने के साथ-साथ कार्बेट क्षेत्र में ड्रोन, रिमोटली कंट्रोल्ड कैमरा, सर्विलांस उपकरण, ऑल टैरेन व्हीकल(एटीवी) आदि की संख्या बढ़ाई जाए।
भ्रमण के दौरान कार्बेट टाइगर रिजर्व के निदेशक नरेश कुमार से टाइगर रिजर्व की जानकारी प्राप्त की। निदेशक ने जानकारी दी की एशिया का इस पहले टाइगर रिजर्व में 231 बाघ सहित 1226 हाथी हैं व यहां 600 से अधिक पक्षियों की प्रजातियां हैं। उन्होंने टाइगर रिजर्व के संचालन व रखरखाव के दौरान आ रही चुनौतियों, मानव संसाधन की कमी आदि की जानकारी दी। इस दौरान राज्यपाल ने कार्बेट टाइगर रिजर्व में कार्यरत कर्मचारियों से मुलाकात की और उनका हौसला बढाया। उन्होने कार्यरत कर्मचारियों की समस्याएं भी सुनी।
राज्यपाल ने कर्मचारियों के लिए दुर्घटना बीमा, पेंशन, बच्चों की शिक्षा, उनके परिवारों की रहने की उचित व्यवस्था आदि बनाए जाने हेतु वन मंत्री से मुलाकात कर इन समस्याओं के समाधान का आश्वासन दिया। भ्रमण के दौरान प्रथम महिला श्रीमती गुरमीत कौर, उपनिदेशक कॉर्बेट टाइगर रिजर्व नीरज शर्मा, रेंज ऑफिसर इको टूरिज्म संजय पांडे आदि उपस्थित रहे।

*******

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह(से नि) की अध्यक्षता में राजभवन गोल्फ क्लब, नैनीताल की एक्जीक्यूटिव काउन्सिल(कार्य परिषद) की बैठक संपन्न हुई। बैठक में उन्होंने कई महत्वपूर्ण फैसले लिए। बैठक में 18वें गवर्नर्स कप गोल्फ प्रतियोगिता-2022 की तिथियां भी निर्धारित की गई। गवर्नर्स कप गोल्फ प्रतियोगिता 16 से 18 सितम्बर, 2022 तक आयोजित की जाएंगी। उन्होंने गोल्फ खिलाड़ियों में लोकप्रिय हो चुके इस टूर्नामेंट को आकर्षक और सुव्यवस्थित तरीके से आयोजित कराये जाने के लिए संबंधितों को अभी से आवश्यक तैयारी शुरू करने के निर्देश दिए।

बैठक में राज्यपाल ने गोल्फ क्लब की मैम्बरशिप बढ़ाने के लिए मैम्बरशिप शुल्क में कटौती की है। उत्तराखण्ड राज्य के निवासियों के लिए पूर्व में निर्धारित मैम्बरशिप शुल्क 01 लाख से घटाकर 51 हजार रूपये, जूनियर खिलाड़ियों के लिए 25 हजार से घटाकर 12 हजार रूपये, संस्थागत मैम्बरशिप को 05 लाख से घटाकर 1.25 लाख रूपये और कॉरपोरेट मैम्बरशिप को 06 लाख से घटाकर 2.5 लाख रूपये किया गया। इसके अलावा गोल्फ कोर्स में लगने वाली ग्रीन फीस (डे एण्ड प्ले फीस) को महिलाओं के लिए रू 200 से घटाकर 150 व स्टूडेंट्स के लिए रू0 200 से घटाकर 100 किया गया। उन्होंने कहा कि मैम्बरशिप फीस को घटाने का मुख्य उद्देश्य अधिक से अधिक लोगों को गोल्फ से जोड़ना है।

राज्यपाल ने विशेषकर महिलाओं एवं बच्चों को गोल्फ के प्रति आकर्षित करने के लिए आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि भारत की बेटी अदिती अशोक ने ओलम्पिक में भारत का प्रतिनिधित्व किया उनसे प्रेरणा कई उत्तराखण्ड की बच्चियां गोल्फ में देश एवं प्रदेश का नाम ऊंचा कर सकती हैं इसके लिए बच्चियों को आगे लाने की जरूरत है।

******

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को हल्द्वानी में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार के सफलतम 8 वर्ष पूर्ण होने पर मीडिया से वार्ता की। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के 8 वर्ष के कार्यकाल को ऐतिहासिक बताया। उन्होंने कहा बीते आठ वर्षों में देश का मान-सम्मान पूरी दुनिया में बढ़ा है। देश एक सशक्त भारत के रूप में आगे बढ़ा है। उन्होंने कहा इन आठ सालों में देश के विभिन्न क्षेत्रों की कार्यशैली में बदलाव आया है। उन्होंने कहा आज प्रत्येक योजनाएं जमीनी स्तर पर लागू हो रही हैं एवं प्रत्येक वर्ग को ध्यान में रखकर योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति तक सरकारी योजनाएं पहुंचे इसके लिए बीते 8 वर्षों से कई कार्य किए जा रहे हैं।
मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा की प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश के अंदर नई ऊर्जा का संचार हुआ है। उन्होंने कहा जनधन योजना के अंतर्गत आज प्रत्येक व्यक्ति के बैंक में खाते हैं। उज्जवला योजना के अंतर्गत आज शत् प्रतिशत लोगों के पास रसोई गैस है। उन्होंने कहा कोविड काल के बाद दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन अभियान भारत में चलाया गया। भारत ने इस दौरान पड़ोसी देशों को भी वैक्सीन देने का काम किया है। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में ये आठ साल देश के लिए स्वर्णिम रहे हैं। देश प्रगति के नए कीर्तिमान रच रहा है। आज सबका साथ, सबका विकास के ध्येय वाक्य के सरकार जनता के साथ समन्वय बनाकर चल रही है।
मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा की मोदी जी के नेतृत्व में हम सभी एक भारत, श्रेष्ठ भारत के निर्माण के लिए प्रतिबद्ध है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने कश्मीर को दो विधान, दो निधान और दो संविधान से छुटकारा दिलाने का काम कर इतिहास रचा है। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में भव्य राम मंदिर का निर्माण कार्य तेज गति से चल रहा है, साथ ही मंदिर के गर्भगृह का निर्माण कार्य भी शुरू हो गया है।
मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा की  प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में हमने प्रदेश में समान नागरिक संहिता को लागू लाने का संकल्प लिया था, जिस पर काम शुरू कर दिया गया है। जिसके अंतर्गत कमेटी का गठन कर दिया गया है। उन्होंने कहा माननीय प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में प्रदेश में बहुआयामी योजनाएं संचालित हैं। उन्होंने कहा लखवाड़ व्यासी परियोजना का रुका हुआ काम शुरू हो गया है। जमरानी बांध परियोजना का काम भी शीघ्र शुरू हो जाएगा। पिछले पांच साल में 1 लाख करोड़ रुपये से अधिक के प्रोजेक्ट उत्तराखण्ड के लिए स्वीकृत हुए हैं। जिससे भव्य उत्तराखण्ड का निर्माण हो रहा है। प्रदेश के सर्वांगीण विकास के पथ पर चल रहा है।
मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा की प्रदेश में  पर्यटन विकास पर विशेष रूप से फोकस है। कृषि एवं महिला सशक्तिकरण की दिशा में भी केंद्र सरकार के सहयोग से विशेष योजनाएं चल रही हैं। राज्य में उज्जवला योजना का दायरा लगातार बढ़ाया जा रहा है। उन्होंने कहा चुनाव से पूर्व हमने अंत्योदय कॉर्ड धारकों को साल में तीन मुफ्त सिंलेडर देने का वादा किया था, जिसका शासनादेश जारी कर दिया गया है।
मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा की प्रदेश सरकार माननीय मोदी जी की कार्यसंस्कृति का अनुसरण करते हुए सरलीकरण, समाधान, निस्तारण के लक्ष्य के साथ काम कर रही है। उन्होंने कहा आज मोदी जी के नेतृत्व में भारत वैश्विक नायक के रूप में काम कर रहा है। हमारी संस्कृति का सभी देश सम्मान कर रहे हैं।  इस दौरान मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने बाबा केदार और भगवान श्री बद्री विशाल से प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की दीर्घायु की कामना की।

*****

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को दून विश्वविद्यालय में डॉ. नित्यानन्द हिमालयी शोध एवं अध्ययन केन्द्र का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने दून विश्वविद्यालय में शोध एवं विज्ञान पर चल रही दो दिवसीय कार्यशाला का शुभारम्भ भी किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने विभिन्न विषयों पर आधारित पुस्तकों का विमोचन भी किया।
मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि डॉ. नित्यानन्द जी ने अपना सम्पूर्ण जीवन समाज सेवा के लिए समर्पित किया। उनका प्रयास रहता था, कि जनता के बीच जाकर जन समस्याएं सुनी जाएं और उसके बाद नीतियां बनाई जाएं। उनका मानना था कि विभिन्न क्षेत्रों में अधिक से अधिक शोध कार्य हों। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने अनेक महत्वपूर्ण निर्णय लिये हैं। राज्य में समान नागरिक संहिता का ड्राफ्ट तैयार करने के लिए 05 सदस्यीय समिति का गठन किया गया है। राज्य का संतुलित बजट बने इसके लिए हर क्षेत्र के विशेषज्ञों से संवाद स्थापित किया गया। जन सुझावों को ध्यान में रखते हुए राज्य का बजट बनाया जायेगा।

*****

मुख्यमंत्री ने किया नहर कवरिंग कार्य का निरीक्षण    
कालाढूंगी विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत गुरूवार को प्रदेश के युवा और कर्मठ मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने चौपुला से ऊंचापुल,हिम्मतपुर तल्ला और पनचक्की, चौपुला,कठघरिया से कमलवागांजा तक नहर कवरिंग कार्य का निरीक्षण किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री धामी ने कहा कि नहर कवरिंग कार्य के पूर्ण होने से यह मार्ग बाईपास का काम करेंगे जिससे हल्द्वानी शहर की ट्रैफिक की समस्या का समाधान होगा।
इस अवसर पर उपस्थित जनप्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी से अवशेष धनराशि जारी करने का अनुरोध किया। मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया कि शीघ्र अवशेष धनराशि जारी कर दी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.