राज्यपाल ने उत्तराखण्ड फर्स्ट इंडस्ट्री एकेडमिया कनेक्ट कॉन्क्लेव एंड एक्सपो’ का शुभारम्भ किया#एम्स में मेडिसियन व नर्सिंग विभाग के संयुक्त सहयोग से वर्ल्ड एंटीबायोटिक जन जागरुकता सप्ताह ‘वॉव 2022’ प्रारम्भ#भाजपा अल्मोड़ा ने मुख्यमंत्री की 19व 20 नवम्बर को अल्मोड़ा यात्रा पर उनके स्वागत की तैयारी की बैठक समीक्षा बैठक की।-www.janswar.com

-अरुणाभ रतूड़ी

 

राज्यपाल ने उत्तराखण्ड फर्स्ट इंडस्ट्री एकेडमिया कनेक्ट कॉन्क्लेव एंड एक्सपो’ का शुभारम्भ किया

वीर माधो सिंह भण्डारी उत्तराखण्ड प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (यू0टी0यू) परिसर में दो दिवसीय ‘उत्तराखण्ड फर्स्ट इंडस्ट्री एकेडमिया कनेक्ट कॉन्क्लेव एंड एक्सपो’ (Uttarakhand’s 1st Industry Academia Connect Conclave & Expo) का शुक्रवार को राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) ने शुभारम्भ किया। उन्होंने देश की रक्षा हेतु अपने प्राणों का बलिदान देने वाले अमर शहीदों, सैनिकों की याद में विश्वविद्यालय परिसर में स्थापित शौर्यवाल पर जाकर शहीद सैनिकों को नमन करते हुए पुष्पांजलि अर्पित की। इसके बाद विश्वविद्यालय परिसर में निर्मित जनरल बिपिन रावत डिफेन्स टेक्नोलॉजी लैब एण्ड यू0टी0यू0 आई0 हब का निरीक्षण करते हुए देश के प्रथम सी0डी0सी0 स्व0 जनरल बिपिन रावत के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।
राज्यपाल ने इस अवसर पर आयोजित प्रदर्शनी में रक्षा सामग्री से संबंधित निर्मित उत्पादों और विभिन्न इंजीनियरिंग कॉलेजों के छात्रों द्वारा तैयार इक्विपमेंट्स, प्रोडक्ट्स और उन्नत भारत अभियान के अन्तर्गत स्वयं सहायता समूहों द्वारा तैयार उत्पादों से संबंधित स्टॉलों का निरीक्षण भी किया। उन्होंने निरीक्षण के दौरान प्रदर्शित उत्पादों एवं मॉडलों की वर्तमान परिप्रेक्ष्य में आवश्यकता के दृष्टिगत इसके वैश्विक स्तर पर लाने एवं इस हेतु कार्य करने पर बल दिया।

राज्यपाल ने अपने संबोधन में राज्यपाल ने
रक्षा विनिर्माण और आत्मनिर्भर भारत योजना को क्रियान्वित करने के लिए शिक्षा, उद्योगों एवं रक्षा विशेषज्ञों को एक मंच पर लाने के लिए विश्वविद्यालय की सराहना की। उन्होंने छात्रों को अपनी क्षमता को पहचानते हुए स्टार्टअप पर काम करने हेतु आह्वान करते हुए रक्षा क्षेत्र में शत-प्रतिशत स्वदेशी तकनीकी के विकास तथा अनुसंधान पर जोर दिया। राज्यपाल ने कहा कि जब रक्षा निर्माण में भाग लेने की बात आती है, तो ऑर्डिनेंस फैक्ट्री, ऑप्टो इलेक्ट्रॉनिक्स, आईआरडी, डील, बीईएल के योगदान को हम नहीं भुला सकते हैं। आज इस अवसर पर इन सभी रक्षा विनिर्माण से जुड़ी औद्योगिक ईकाइयों के साथ-साथ प्रतिष्ठित भारतीय सैन्य अकादमी, रक्षा संबंधी गतिविधियों मे लगे प्रतिष्ठित संगठनों की उपस्थित देवभूमि में रक्षा निर्माण के लिए एक सकारात्मक तंत्र की पेशकश कर रही है।

उन्होंने भारत के प्रथम सी0डी0एस0 स्व0 जनरल बिपिन रावत को नमन कर उनके साथ किये गये कार्यों को रेखांकित करते हुए विश्वविद्यालय द्वारा जनरल रावत के नाम से स्थापित डिफेंस टेक्नोलॉजी लैब के माध्यम से आर्मी डिजाइन ब्यूरो एवं आर्टपार्क के साथ काम करने के लिए विश्वविद्यालय परिवार एवं कुलपति के योगदान की सराहना करते हुए आशा व्यक्त की कि भारत के इतिहास में यह प्रथम बार हो रहा है। प्रतिष्ठित आई0एम0ए के सदस्य इस कार्यक्रम में न केवल भाग ले रहें हैं अपितु अपनी महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन कर रहे हैं। राज्यपाल ने उत्तराखण्ड में माइक्रो डिफैंस कॉरिडोर की स्थापना एवं नवाचार को बढ़ावा देने के लिए विश्वविद्यालय को अग्रणी भूमिका निभाने हेतु प्रेरित किया। कार्यक्रम में आयोजित हैकेथॉन प्रतियोगिता के विजेताओं को राज्यपाल द्वारा भी पुरस्कृत किया गया।

सचिव तकनीकी शिक्षा रविनाथ रामन द्वारा अपने संबोधन में रक्षा क्षेत्र में तकनीकी शिक्षा द्वारा किये जा रहे प्रयास व भावी योजनाओं पर प्रकाश डालते हुए नवान्मेशन, अनुसंधान आदि पर कार्य करने के लिए प्रेरित किया एवं आशा व्यक्त की कि दो दिवसीय इस सेमिनार में नये सुझाव सामने आयेंगे और तकनीकी शिक्षा विभाग उनके क्रियान्वयन के लिये नियमानुसार सहयोग प्रदान करेगा।

कार्यक्रम के उद्घाटन समारोह में विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 ओंकार सिंह ने एकैडमिया एवं इण्डस एक साथ जोड़ने एवं रक्षा क्षेत्र में दोनों की महत्वपूर्ण भूमिका पर प्रकाश डालते हुए इंजीनियरिंग के छात्रों एवं इंडस्ट्री को मिल कर कार्य करने हेतु प्रोत्साहित किया, जिससे कि देश के रक्षा उपकरणों के आयातित में निर्भरता कम करते हुए हम रक्षा क्षेत्र में स्वदेशी तकनीकी का उपयोग कर आगे बढ़ सकें। कार्यक्रम में सहयोगी स्टार्टअप इण्डिया के प्रतिनिधि सैमसन प्रकाश ने कार्यक्रम के कन्सेप्ट नोट एवं दो दिवसीय कार्यशाला पर विस्तृत विवरण प्रस्तुत करते हुए अवगत कराया गया कि कार्यक्रम के इन दो दिनों में रक्षा क्षेत्र से संबंधित विभिन्न विषयों पर मंथन किया जायेगा।

कुलसचिव आर0पी0गुप्ता द्वारा कार्यक्रम में उपस्थिति सभी अतिथियों का आभार व्यक्त करते हुए अवगत कराया गया कि दो दिवसीय कार्यशाला अपने लक्ष्य को शत-प्रतिशत पूर्ण करते हए उत्तराखण्ड राज्य की रक्षा उपकरणों के क्षेत्रों में कार्य करने की महत्वपूर्ण कड़ी सिद्ध होगी। कार्यक्रम में विभिन्न संस्थानों के निदेशक, प्राचार्य, शिक्षक एवं छात्र-छात्राओं के अतिरिक्त औद्योगिक एवं रक्षा क्षेत्र से जुड़े विशेषज्ञों ने भी प्रतिभाग किया।

********

मेडिसियन व नर्सिंग विभाग के संयुक्त सहयोग से वर्ल्ड एंटीबायोटिक जन जागरुकता सप्ताह ‘वॉव 2022’ प्रारम्भ
आम लोगों को एंटीबायोटिक दवाओं के प्रति जागरुक करने तथा रोगाणुरोधी प्रतिरोध को रोकने के उद्देश्य से एम्स ऋषिकेश के डिपार्टमेंट ऑफ मेडिसिन व नर्सिंग विभाग के संयुक्त तत्वावधान में वर्ल्ड एंटीबायोटिक जनजागरुकता सप्ताह ‘वॉव 2022’ विधिवत शुरू हो गया है।
इस अवसर पर एम्स की कार्यकारी निदेशक प्रोफेसर डा. मीनू सिंह ने कहा कि इन दवाओं के उपयोग और इनसे होने वाले प्रभावों की जानकारी हेतू राष्ट्रीय स्तर पर नीति बनाए जाने की आवश्यकता है। प्रो. मीनू सिंह ने कहा कि एंटीबायोटिक दवाओं का ज्यादा उपयोग करने से मनुष्य के शरीर में इसका प्रभाव कम हो रहा है। इसलिए इन दवाओं के उपयोग और उससे पड़ने वाले प्रतिकूल प्रभावों के बारे में हेल्थ केयर वर्करों से मरीजों, तीमारदारों व अन्य लोगों को इसकी विस्तृत जानकारी होनी चाहिए। उन्होंने इसके लिए राष्ट्रीय स्तर पर एक नीति तैयार करने की जरुरत बताई। कार्यवाहक संकायाध्यक्ष अकादमिक प्रो. एसके हांडू ने इस तरह के जनजागरुकता कार्यक्रमों को सीमित समय के बजाए वर्षभर संचालित किए जाने की आवश्यकता है। तभी ऐसे कार्यक्रमों के माध्मय से लोग भली प्रकार से जागरुक हो सकेंगे। उन्होंने कार्यशाला में मौजूद हेल्थ केयर वर्करों से कहा कि एंटीबायोटिक दवाओं के इस्तेमाल के दौरान अति सावधानी बरती जानी चाहिए। उन्होंने इन दवाओं के सही इस्तेमाल के बारे में विस्तृत जानकारियां उपलब्ध कराई। जनरल मेडिसिन विभागाध्यक्ष प्रो. मीनाक्षी धर ने कहा कि अत्यधिक दवाओं का उपयोग हमेशा हानिकारक होता है, खासतौर से एंटीबायोटिक दवाओं का रोगों के निदान के लिए विशेष सावधानियों के साथ उपयोग किया जाना चाहिए। मेडिसिन विभाग के वरिष्ठ चिकित्सक व कार्यक्रम के आयोजन सचिव डा. पीके पंडा ने वर्ल्ड एंटीबायो​टिक जनजागरुकता सप्ताह के बाबत विस्तारपूर्वक बताया। उन्होंने कहा कि हेल्थ केयर वर्कर एंटीबायो​टिक दवाओं के प्रतिरोध को कम करने में विशेष भूमिका निभा सकते हैं। आम जनमानस की रक्षा के लिए उन्होंने एंटीबायोटिक के दुरुपयोग को कम करने हेतू जागरुकता लाने की बात कही। कार्यशाला को डा. अंबर प्रसाद, डा. विश्वजीत, फार्माकोलॉजी विभाग के डा. पुनीत धमीजा ने भी संबोधित किया। सप्ताहभर होने वाले कार्यक्रम

शनिवार को एंटीबायोटिक के दुरुपयोग को लेकर आस्थापथ पर जनजागरुकता के लिए वॉकथॉन का आयोजन। रविवार को एम्स के अंतर्गत संचालित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर जनजागरुकता कार्यक्रम 21 नवंबर-मेडिकल व नर्सिंग छात्रों द्वारा नुक्कड़ नाटक का आयोजन। 22 नवंबर-फैकल्टी, रेजिडेंट्स, नर्सिंग स्टाफ के लिए एंटी माइक्रोबायल प्रैक्टिस का आयोजन 23 नवंबर- अस्पताल के विभिन्न वार्डों में एंटीबायोटिक जनजागरुकता कार्यक्रम। 24 नवंबर – फार्मासिस्ट व हेल्थ केयर आफिसर्स की राउंड टेबल मीटिंग। एंटीबायोटिक जनजारुकता सप्ताह के तहत आयोजित होने वाले कार्यक्रमों को इस लिंक पर क्लिक कर भी देखा जा सकता है।https://nrcmedia.nmcn.in/userportal/#/home/main

*********
भाजपा अल्मोड़ा ने मुख्यमंत्री की 19व 20 नवम्बर को अल्मोड़ा यात्रा पर उनके स्वागत की तैयारी की बैठक समीक्षा बैठक की।

अल्मोड़ा 18 नवंबर(अशोक कुमार पांडेय) प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के अल्मोड़ा दौरे को लेकर भारतीय जनता पार्टी अल्मोड़ा की एक तैयारी बैठक आज सांसद कार्यालय शैलेश होटल में आयोजित की गई इस बैठक में 19 नवंबर व 20 नवंबर को मुख्यमंत्री के अल्मोड़ा आगमन पर मुख्यमंत्री के स्वागत व कार्यकर्ता बैठक व विभिन्न संगठनों से मुख्यमंत्री की भेंट वार्ता को लेकर तैयारियां की गई इस अवसर पर उपस्थित जिलाध्यक्ष रमेश बहुगुणा ने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री का यह दूसरे कार्यकाल का पहला दौरा है इसमें वह हवालबाग में आजीविका महोत्सव का शुभारंभ करेंगे तथा उसके पश्चात सर्किट हाउस में कार्यकर्ताओं से व विभिन्न संगठनों से वार्ता करेंगे उसके पश्चात मल्ला महल में सांस्कृतिक कार्यक्रमों में प्रतिभाग करेंगे 20 नवंबर को नगर के स्थानीय कार्यक्रमों में प्रतिभाग करेंगे इसके पश्चात लमगड़ा मंडल के डोल आश्रम में एक कार्यक्रम में प्रतिभाग करेंगे उन्होंने कार्यकर्ताओं से अपील की अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित होकर माननीय मुख्यमंत्री के स्वागत कार्यक्रम में प्रतिभाग करें इस अवसर पर जिलाध्यक्ष रमेश बहुगुणा निवर्तमान जिलाध्यक्ष रवि रौतेला रघुनाथ सिंह चौहान ललित लटवाल गोविंद सिंह पिलख्वाल आदि दर्जनों कार्यकर्ता उपस्थित थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.