मुख्यमंत्री श्री रावत ने देहरादून स्मार्ट सिटी के तहत चल रहे कार्यों का स्थलीय निरीक्षण किया।# कृषि मंत्री श्री उनियाल ने उत्तराखण्ड सीड्स एण्ड तराई डेवलपमेन्ट काॅरपोरेशन लि0 के निदेशक मण्डल की समीक्षा बैठक की।#डीएम पौड़ीगढवाल ने कोविड-19 से लड़ने को ठोस रणनीति के तहत कार्य करने के निर्देश दिए।# प्रदेश में आज कोविड -19 की स्थिति। पढिए Janswar.Com में।

समाचार प्रस्तुति- अरुणाभ रतूड़ी

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने देहरादून स्मार्ट सिटी के तहत चल रहे कार्यों का स्थलीय निरीक्षण किया । इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने परेड ग्राउण्ड एवं राजकीय बालिका इण्टर कॉलेज राजपुर रोड का निरीक्षण किया। उन्होंने परेड ग्राउण्ड, देहरादून के पुनर्निर्माण स्मार्ट रोड एवं देहरादून में बनाये जा रहे 03 स्मार्ट स्कूलों के कार्य प्रगति की जानकरी ली।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि कोविड काल को छोड़कर देहरादून स्मार्ट सिटी का कार्य तेजी से हुआ है। आगे भी स्मार्ट सिटी के तहत तेजी से कार्य होंगे। जब स्मार्ट सिटी के लिए देहरादून का चयन हुआ था, तब देहरादून 100वें नम्बर पर था, कार्यों की प्रगति में तेजी से देहरादून 13वें नबंर पर आया। देहरादून हमेशा से ही देश-विदेश से आने वालों और पर्यटकों के लिए आकर्षण का केन्द्र रहा है। स्मार्ट सिटी का कार्य पूर्ण होने से देहरादून की खूबसूरती एवं अन्य सुविधाएं भी बढ़ेगी। स्मार्ट स्कूल की उत्तराखण्ड में नई पहल शुरू हुई है। देहरादून में बनने वाले तीन स्मार्ट स्कूलों से बच्चों की मानसिकता में सकारात्मक परिवर्तन आयेगा। इन स्कूलों में उच्च गुणवतायुक्त व्यवस्थाएं की गई है। ये तीनों स्कूल एक-दूसरे से इन्टरकनेक्ट भी रहेंगे। मुख्यमंत्री ने स्मार्ट स्कूलों में दिव्यांग बच्चों के लिए रैंप बनाने के निर्देश भी दिए। इस अवसर पर उन्होंने राजकीय बालिका इंटर कॉलेज राजपुर में दिव्यांग छात्राओं की जानकारी ली। प्रधानाचार्य ने अवगत कराया कि स्कूल में अभी एक दिव्यांग छात्रा है।
स्मार्ट सिटी के सी.ई.ओ. / जिलाधिकारी देहरादून डॉ. आशीष श्रीवास्तव ने कार्यों की प्रगति की जानकारी देते हुए कहा कि परेड ग्राउण्ड पुनर्निर्माण के तहत सड़क, ड्रेनेज, वर्षा जल संग्रहण टैंक, लैंडस्केपिंग एवं जलापूर्ति के कार्य किये जा रहे हैं। कान्वेन्ट रोड चौड़ीकरण हेतु स्थल विकास करने के बाद 95 मीटर सब बेस तैयार किया जा रहा है। 473 मीटर लम्बाई की आरसीसी की नाली बन चुकी है, शेष कार्य प्रगति पर है। आरसीसी टैंक निर्माण का 75 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है। परेड ग्राउण्ड के चारों ओर 150 मिमी से 250 मिमी व्यास की मुख्य पेयजल वितरण लाईन बिछायी जायेगी। 30 अक्टूबर 2021 तक परेड ग्राउण्ड का पुनर्निर्माण कार्य पूर्ण करने का लक्ष्य रखा गया है। स्मार्ट रोड के कार्यों के मल्टी युटीलिटी डक्ट बिछाने का कार्य, सीवर, नाली निर्माण, जलापूर्ति एवं सड़क निर्माण के कार्य किये जायेंगे। डक्ट बिछाने एवं सीवर के कार्य प्रारम्भ हो चुके हैं।
सी.ई.ओ. स्मार्ट सिटी डॉ. आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि देहरादून के तीन स्कूलों स्मार्ट स्कूल बनाया जा रहा है। जिसमें जीजीआईसी राजपुर एवं खुड़बुड़ा में दो स्कूलों शामिल हैं। इन स्मार्ट स्कूलों का कार्य 31 अक्टूबर तक पूर्ण हो जायेगा। इन स्मार्ट स्कूलों में निर्माण एवं आईटी से संबधित कार्य किये गये हैं। इनमें कम्प्यूटर लेब, प्रोजेक्टर, आई.आर. बोर्ड, ग्रीन बोर्ड, सी.सी.टीवी. कैमरे, अग्निशमन यंत्र एवं बायेमैट्रिक पंचिंग उपकरण की व्यवस्था की गई है।
इस अवसर पर मेयर श्री सुनील उनियाल गामा, विधायक श्री खजान दास एवं कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारी उपस्थित थे।


कृषि मंत्री श्री सुबोध उनियाल ने विधान सभा स्थित सभा कक्ष में उत्तराखण्ड सीड्स एण्ड तराई डेवलपमेन्ट काॅरपोरेशन लि0 की निदेशक मण्डल की समीक्षा बैठक की।
कृषि मंत्री श्री सुबोध उनियाल ने कहा कि बोर्ड ने रवि फसल के बीजो के दाम तय कर दिये गये है, जिसमें गेंहू, लाई, सरसो, चना, मटर आदि बीजों के दाम तय किये गये। कोराना की परिस्थिति को देखते हुए खरीफ की फसल की तरह रवि के फसलो के बीजों के दाम में किसी भी प्रकार की कोई बढोत्तरी नही की गई है।
30 हजार कुन्तल बीज कृषि विभाग को दिया जायेगा, जो किसानांे को उपलब्ध कराने का कार्य करता है। इसके साथ ही बैठक में कार्मिको को एसीपी एरियर के भुगतान की मांग को लेकर बोर्ड द्वारा निर्णय लिया गया कि धन की उपलब्धता के हिसाब से, अनुपातिक आधार पर कार्मिको के एरियर का भुगतान किया जायेगा। जिस कार्मिक की धनराशि जितनी होगी, उसको उस अनुपात के आधार पर, धन की उपलब्धता के अनुसार भुगतान किया जायेगा।
मंत्री ने कहा कि 03 वर्ष पूर्व जाॅंच के आधार पर 10 लोगों के उपर एफ आई आर दर्ज कराई गई थी तथा एस आई टी जाॅच बैठाई गई थी, उसमें 03 कार्मिको को अभियोग की अनुमति नही दी थी। इसको लेकर बोर्ड बैठक में चर्चा की गई, जिसमें विभागीय जाॅच बैठा दी गई।
इस अवसर पर, सचिव कृषि हरबंस सिंह चुघ, निदेशक कृषि, गौरी शंकर, तथा निदेशक, उत्तराखण्ड सीड्स एण्ड टीडीसी. अंकुर पपनेजा, आदि अधिकारी मौजूद थे।

—————————————————————–

जिलाधिकारी श्री धीराज सिंह गर्ब्याल ने जनपद स्तर पर लाॅकडाउन समाप्त होने, पर्यटकों व आम जनमानस के आवागमन के परिणामस्वरूप कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने हेतु एक ठोस रणनीति के तहत कार्य शुरू करने हेतु जनपद के समस्त उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत कोविड-19 की सैंपलिंग अनिवार्य रूप से करना सुनिश्चित करें।
जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद के अन्दर आने वाले प्रत्येक व्यक्ति, विदेशी पर्यटकों, होटलियर्स, टैक्सी ड्राइवरों, पर्यटक क्षेत्रों के दुकानदारों की नियमित सैंपलिंग की जाय। कोरोना की पुष्टि होने पर उन्हें तत्काल स्वास्थ्य उपचार हेतु संबंधित कोविड केयर सेंटरों में उपचार दिया जाय। कहा कि उक्त कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नहीं होगी तथा किसी भी प्रकार की शिकायत मिलने या लापरवाही बरती जाने पर संबंधित के विरूद्ध कार्यवाही अमल में लाई जायेगी। उन्होंने कहा कि सभी उपजिलाधिकारी कोविड-19 के रोकथाम हेतु अपने स्तर से पूर्ण तैयारी करते हुए जिलाधिकारी कार्यालय को तथा अद्यतन सूचना से प्रत्येक दिन अपराह्न 04ः00 बजे तक मुख्य चिकित्साधिकारी एवं जिलाधिकारी कार्यालय पौड़ी को अवगत करायेंगे।

जिलाधिकारी ने कहा कि साथ ही साथ अन्य व्यक्तियों की रैंडम सैंपलिंग की व्यवस्था अनिवार्य रूप से की जाय। उन्होंने निर्देशित किया कि कोविड-19 की रोकथाम, बचाव एवं जागरूकता हेतु अभियान संबंधित सम्भागीय परिवहन अधिकारी/जिला पर्यटन अधिकारी के साथ समय-समय पर लगातार संयुक्त रूप से कराना सुनिश्चित करें।

———————————————————– ——– उत्तराखण्ड में कोविड-19 की स्थिति

उत्तराखंड में कुल कोरोना पोजेटिव-55641
कोरोना से स्वास्थ्यलाभ करने वाले कुल संख्या-47971
राज्य से बाहर जाने वाले-312
कुल कोविड-19 पोजेटिव-6576
कोविड-19संक्रमित कुल मृतक-782
आज चिन्हित कुल कोविड-19 संक्रमित-294
आज कुल उपचारित-665
आज जिनके सैंपिल नेगेटिव आये-10453
आज जिनका सैंपिल लिया गया-11866
कुल नेगेटिव सैंपल संख्या -759156
कुलसंख्या जिनका सैंपल के परिणाम की प्रतीक्षा है-13991
उत्तराखण्ड में संक्रमितों की संख्या के दुगना होने का समय-(बीते 7 दिनों में)84.18 दिन
राज्य में कोविड-19 के मरीजों के ठीक होने(रिकवरी दर) का प्रतिशत-86.22%
उत्तराखण्ड में कुल टेस्ट नमूनों का पॉजिटिव प्रतिशत 6.63%

Leave a Reply

Your email address will not be published.