मुख्यमंत्री श्री रावत  एवं  केंद्रीय खेल राज्य मंत्री श्री किरेन रिजिजु ने टिहरी में वॉटर स्पोर्ट्स एंड एडवेंचर इंस्टीट्यूट का उद्घाटन किया#कोविड प्रोटेकॉल का पालन सख्ती से कराया जाय-मुख्यमंत्री।#खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री ने  प्रति राशनकार्ड राश20किले व चीनी 02 किलो  करने का निर्देश दिये# प्रदेश के पर्यटन व सिंचाई मंत्री करेंके जनपद पौड़ी गढवाल  का भ्रमण करेंगे# अधीनस्थ सेवा चयन आयोग उत्तराखण्ड द्वारा आयोजित 25अप्रैल को होने वाली सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा कोविड महामारी के कारण स्थगित-संतोष बडोनी।।पढिए Janswar.com में।द्वारा-अरुणाभ रतूड़ी।

मुख्यमंत्री श्री रावत  एवं  केंद्रीय खेल राज्य मंत्री श्री किरेन रिजिजु ने टिहरी में वॉटर स्पोर्ट्स एंड एडवेंचर इंस्टीट्यूट का उद्घाटन किया।

राज्य सरकार और उत्तराखंड पर्यटन विकास बोर्ड उत्तराखंड में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए निरंतर कार्यरत – मुख्यमंत्रीखेलों के विकास के लिए  उत्तराखण्ड को हरसंभव मदद दी जाएगी – किरेन रिजिजू

मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत तथा केंद्रीय खेल एवं युवा मामलों के राज्यमंत्री श्री किरेन रिजिजू ने कोटी कालोनी, टिहरी में वॉटर स्पोर्ट्स एंड एडवेंचर इंस्टीट्यूट का उद्घाटन किया।

मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि पिछले छह दशकों से आईटीबीपी के जवान देश की सीमाओं की सुरक्षा में जुटे हैं। चाहे कैसी भी विपरीत परिस्थितियां हो, आईटीबीपी के जवानों ने हमेशा अपनी जान की परवाह न करते हुए उच्च स्तर पर बचाव और राहत कार्यों को अंजाम दिया है। इसका सबसे बड़ा उदाहरण आपदाओं के समय देखने को मिलता है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार और उत्तराखंड पर्यटन विकास बोर्ड उत्तराखंड में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए निरंतर कार्य कर रहा है। इसके मद्देनजर ही टिहरी झील क्षेत्र में वॉटर स्पोर्ट्स एंड एडवेंचर इंस्टीट्यूट बनाने का फैसला किया है।
उन्होंने कहा कि साहसिक खेलों के लंबे गौरवशाली इतिहास और अनुभव को देखते हुए इस संस्थान के संचालन और प्रबंधन का कार्य आईटीबीपी को सौंपने का निर्णय लिया गया है। यहां पैरा ग्लाइडिंग, पैरा मोटर, पैरासेलिंग बोट, स्कूबा ड्राइविंग, हॉट एयर बैलून, क्याकिंग, केनोइंग, हाईरोप कोर्स, रॉक क्लाइंबिंग, जुमारिंग, रैपलिंग और ऑल टेरेन बाइक सहित कई साहसिक खेलों का प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस दौरान उन्होंने आईटीबीपी को इस संस्थान के संचालन के लिए राज्य सरकार से जो भी सहयोग चाहिए होगा, वह प्राथमिकता से उपलब्ध करवाने की बात कही।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यटन के विकास के लिए समय-समय पर सरकार द्वारा भीमताल, अल्मोड़ा, सतपुली, टिहरी आदि स्थानों पर समय-समय पर विभिन्न साहसिक गतिविधियों का आयोजन किया जाता रहा है। उन्होंने कहा कि टिहरी में  पलायन को रोकने के लिए पर्यटन एवं साहसिक गतिविधियों पर अधिक ध्यान दिया जा रहा है।  टिहरी झील इंटरनेशनल डेस्टिनेशन के रूप में विकसित की जा रही है। उन्होंने जनता से फिटनेस को अपना मूलमंत्र बनाने और सभी को इसके लिए जागरूक करने का अपील की।
केंद्रीय खेल एवं युवा मामलों के राज्यमंत्री श्री किरेन रिजिजू ने कहा कि वॉटर स्पोर्ट्स एंड एडवेंचर इंस्टीट्यूट के रूप में आज देश में खेल के क्षेत्र में नया अध्याय जुड़ा है। वॉटर स्पोर्ट्स के क्षेत्र में हमारा देश ओलिंपिक, एशियन गेम्स, कॉमनवेल्थ आदि में विशेष उपलब्धि हासिल नहीं कर पाया है। इस दिशा में केंद्र सरकार द्वारा विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमारे देश में प्रतिभावान खिलाड़ियों की कोई कमी नहीं है। । अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बेहतर प्रदर्शन करने के लिए उन्हें उचित प्रशिक्षण और सुविधाएं  देने के लिए अनेक प्रयास किए जा रहे हैं।
श्री किरेन रिजिजू ने कहा कि हमारे देश में वॉटर स्पोर्ट्स की अपार संभावनाएं हैं और उत्तराखंड वॉटर स्पोर्ट्स और एडवेंचर एक्टिविटीज़ के लिए सबसे उपयुक्त स्थान है। यहां ट्रेकिंग, रॉक क्लाइंबिंग, पैराग्लाइडिंग, स्कूबा डाइविंग, पैरा मोटर, ऑल टेरेन बाइक, कयाकिंग, केनोइंग, स्कीइंग आदि का प्रशिक्षण पाकर खिलाड़ी देश का नाम रोशन करेंगे। आईटीबीपी को 20 साल के लिए यह संस्थान संचालित करने के लिए प्रदान करने के निर्णय से इस संस्थान से देश का प्रतिनिधित्व करते हुए अनेक खिलाड़ी निकलेंगे।

केंद्रीय मंत्री श्री रिजिजू ने कहा कि औली में स्नो स्पोर्टस के विकास के लिए भी केंद्र सरकार ने धनराशि दी है ताकि वहां अंतरराष्ट्रीय स्तर का प्रशिक्षण सेंटर विकसित हो सके। देश में खेलों के विकास के लिए जो भी सहायता चाहिए होगी, वह प्रदान करेंगे।
उन्होंने कहा कि मुझे पूर्ण विश्वास है कि उत्तराखंड सरकार, उत्तराखंड पर्यटन विकास बोर्ड और आईटीबीपी के सहयोग से यह संस्थान अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उभर कर सबके सामने आएगा।

इस अवसर पर टिहरी से लोकसभा सांसद माला राज्यलक्ष्मी शाह, विधायक श्री धन सिंह नेगी, टिहरी की जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती सोना सजवान,आईटीबीपी के महानिदेशक श्री एसएस देसवाल, आईटीबीपी के एडीजी मनोज सिंह रावत, महानिदेशक उत्तरी फ्रंटियर निलाभ किशोर, टिहरी की डीएम ईवा आशीष श्रीवास्तव आदि उपस्थित थे।
—————————————————

कोविड प्रोटेकॉल का पालन सख्ती से कराया जाय-मुख्यमंत्री।

ख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने निर्देश दिये हैं कि  कोविड प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित कराया जाए। जो लोग मास्क सही तरीके से नहीं पहन रहे हैं और सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन कर रहे हैं, उन पर सख्त कार्रवाई की जाए। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में कोरोना की स्थिति की समीक्षा करते हुए कहा कि परीक्षाओं को स्थगित किया जाए और कॉलेजों में केवल ऑनलाइन क्लासेज की अनुमति दी जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जागरूकता पर सबसे अधिक जोर दिया जाए। टेस्टिंग की संख्या बढाई जाए और वैक्सीनैशन अभियान में भी तेजी लाई जाए। कङाई भी और दवाई भी, पर काम करना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि होम आइसोलेशन की प्रभावी रणनीति बनाई जाए। होम आईसोलेशन वालों को जरूरी किट दी जाए और उनसे लगातार सम्पर्क रखा जाए। कोविड केयर सेंटरों को मजबूत किया जाए।  कंट्रोल रूम का प्रभावी संचालन हो। वहां प्रशिक्षित अधिकारी और कार्मिक तैनात किये जाएं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मृत्यु दर को कम करने के लिये यह सुनिश्चित किया जाए कि संक्रमित व्यक्ति को समय पर ईलाज मिले। कान्टेक्ट ट्रेसिंग बहुत जरूरी है। कंटेन्मेंट जोन में पूरी सख्ती रखी जाए।
मुख्य सचिव श्री ओमप्रकाश ने कहा कि पिछली बार  फ्रंटलाइन वर्कर्स ने बहुत अच्छा काम किया था। इस बार भी उसी जज्बे के साथ हमें संक्रमण को रोकना है। बोर्डर्स पर चैकिंग की जाए। आरटीपीसीआर टेस्ट का अनुपात बढाया जाए।

  1.       सचिव श्री अमित नेगी ने कहा कि वर्तमान में हमारे पास आईसीयू बेड, वैंटीलेटर, आक्सीजन सपोर्ट बेड पर्याप्त हैं। हमें इन सुविधाओं को और बढाना है।पैनिक होने की आवश्यकता नहीं है परंतु पूरी गम्भीरता से काम करना है। किसी भी तरह की शिथिलता न रहे।
    प्रभारी सचिव डॉ पंकज पाण्डेय ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से जिलावार सारी स्थिति की जानकारी दी।
    बैठक में डीजीपी श्री अशोक कुमार, सचिव श्री नितेश झा, डीजी हेल्थ तृप्ति बहुगुणा, सहित शासन के वरिष्ठ अधिकारी और वीडियो कांफ्रेंसिग द्वारा सभी जिलाधिकारी उपस्थित थे
    ——————————————
    खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री ने  प्रति राशनकार्ड राश20किले व चीनी 02किलो  करने का निर्देश दिये।

प्रदेश के विधायी एवं संसदीय कार्य, शहरी विकास, आवास खाद्य नागरिक आपूर्ति व उपभोक्ता मामले एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री बंशीधर भगत की अध्यक्षता में विधानसभा स्थित सभाकक्ष में खाद्यान्न वितरण तथा सस्ता गल्ला बिक्रेताओं की समस्याओं के सम्बन्ध में बैठक आयोजित की गई।

बैठक में मा. मंत्री जी की अध्यक्षता में प्रदेश के राशन उपभोक्ताओं के हित में तथा राशन बिक्रेताओं (डीलर)  के सम्बन्ध में महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये। मा0 मंत्री ने राज्य खाद्य् योजना में प्रति राशन कार्ड साढे सात किलों के स्थान से बढाकर 20 किलो करने का निर्णय लेते हुए 10 किलो चावल तथा 10 किलो गेहूॅ प्रति राशन कार्ड करने का प्रस्ताव बनाने के लिए विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये। इसके अतिरिक्त उपभोक्ताओं के हित में अन्य महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए मा0 मंत्री ने प्रति राशन कार्ड चीनी को 02 किलो करने को कहा जो वर्तमान समय में प्रति राशन कार्ड 800 ग्राम है। उन्होने विभागीय अधिकारियों को राशन तथा चीनी में की गई बढोत्तरी के सम्बन्ध में प्रस्ताव बनाने के निर्देश देते हुए उसको कैबिनेट में प्रस्तुत करने को कहा जिससे प्रदेश के सस्ता गल्ला की दुकानों से राशन क्रय करने वाले उपभोक्तओं को सीधा-सीधा लाभ प्राप्त हो सके।

विभिन्न जनपदों के सस्ता गल्ला राशन बिक्रेताओं की समस्याओं के सम्बन्ध में बैठक के दौरान मा0 मंत्री ने राज्य खाद्यान्न योजना में डीलरों के लाभांश को 10 रू. प्रति कुन्तल से बढाकर 143 रू. प्रति कुन्तल करने तथा दालों का बोनस अथवा लाभांश जो अभी तक 18 रू. मिलता था उसको 100 रू. प्रति कुन्तल करने का प्रस्ताव पारित किया गया। इसके अतिरिक्त प्रदेश भर के सस्ता गल्ला की दुकानों में अनिवार्य रूप बायोमेट्रिक प्रक्रिया से राशन को वितरित करवाने तथा निर्बाध आॅन लाईन राशन वितरण हेतु बेहतर इन्टरनेट कनेक्टिविटी प्रदान करने के अधिकारियों को निर्देश दिये। इसी के साथ मा0 मंत्री ने कोविड-19 की गाईड लाईन का कडाई से अनुपालन कराने के लिए अनिवार्य रूप से राशन वितरित करवाने व क्रय करते समय मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करने और सैनिटाईजर का समय समय पर उपयोग करने के भी निर्देश दिये।

गत बैठक में गेहूॅ खरीद के सम्बन्ध में विभागीय अधिकारियों तथा क्रय केन्द्रो को दिये गये निर्देशों के सम्बन्ध में मा0 मंत्री ने कहा कि इसके सार्थक परिणाम सामने आ रहे है तथा गेहूॅ की तेजी से खरीद हो रही है। उन्होने कहा कि अभी तक 2 लाख 19 हजार 789 कुन्तल गेहॅू क्रय किया गया है तथा 43 करोड 52 लाख 68 हजार की धनराशि का कास्तकारों को भुगतान भी कर दिया गया है। 231 खरीद के्रन्द्रों पर गेहूू की तुलाई की गई जिसमें 5037 किसान लाभान्वित हुए। उन्होने विभागीय अधिकारियों को गेहूॅ का समय से उठान व तुलाई करने तथा एक सप्ताह के भीतर कास्तकारों को उसका भुगतान करने के भी निर्देश दिये।

स दौरान बैठक में सचिव, सुशील कुमार, मेयर नगर निगम हल्द्वानी जोगेन्द्र रौतेला, अपर सचिव प्रताप शाह, सयुक्त आयुक्त पी.एस पांगती सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

—————————————————-

प्रदेश के पर्यटन व सिंचाई मंत्री करेंके जनपद पौड़ी गढवाल  का भ्रमण करेंगे।

प्रदेश के पर्यटन, सिंचाई, लघु सिंचाई, संस्कृति, जलागम प्रबंधन, बाढ़ नियंत्रण एवं भारत-नेपाल उत्तराखंड नदी परियोजनाएं मा. मंत्री सतपाल महाराज  21 अप्रैल 2021 को जनपद के एक दिवसीय भ्रमण कार्यक्रम पर रहेंगे। मा. मंत्री  दिनांक 20 अप्रैल 2021 को अपराह्न 2ः00 बजे देहरादून से प्रस्थान कर साय 7ः00 बजे सतपुली पौड़ी गढ़वाल पहुचेगे। अगले दिन 21 अप्रैल 2021 को  प्रातः 9ः30 बजे सतपुली से प्रस्थान कर 10ः30 बजे रिठाखाल पहुंचेंगे। जहां भुनेश्वरी संस्कृत विद्यालय भवन के मरम्मत कार्य का लोकार्पण करेंगे। तत्पश्चात 11ः00 बजे चेधार मंदिर से विजोली संपर्क मोटर मार्ग का लोकार्पण करेंगे। मंत्री  10ः30 बजे चेधार मंदिर से प्रस्थान कर 12ः30 बजे सेडियाखाल पोखड़ा पहुंचेंगे। उसके बाद 14ः00 बजे गवाणी किमगड़ीगाड बिलेश्वर महादेव कौथिग मेले में प्रतिभाग करेंगे तथा 15ः00 बजे बिलेश्वर महादेव से प्रस्थान कर पीएमजीएसवाई द्वारा निर्माणाधीन/निर्मित देवराजखाल खेडगांव- संगलाकोटी मोटर मार्ग का स्थलीय निरीक्षण करेंगे। उसके बाद मंत्री  देहरादून के लिए प्रस्थान करेंगे।

—————————————————-

 


 

Leave a Reply

Your email address will not be published.