मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने की कई जिलों की सीएम घोषणाओं की समीक्षा#प्रदेश के कृषि मंत्री ने कृषि उपज,पशुधन विपणन अधिनियम 2020 संशोधन समीक्षा बैठक की।#वरिष्ठ पत्रकार प्रभात डबराल की पत्नी के निधन पर मुख्यमंत्री ने शोक व्यक्त किया।पढिए Janswar.Comमें

द्वारा-अरुणाभ रतूड़ी

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने की पौड़ी, उत्तरकाशी एवं रूद्रप्रयाग जिलों की सीएम घोषणाओं की समीक्षा
     

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सचिवालय में पौड़ी, उत्तरकाशी एवं रूद्रप्रयाग जनपदों की सीएम घोषणाओं की समीक्षा की। बैठक में वन एवं पर्यावरण मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत, उच्च शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, विधायक श्रीमती ऋतु खण्डूड़ी, श्री मुकेश सिंह कोली, श्री दिलीप सिंह रावत, श्री केदार सिंह रावत, श्री गोपाल सिंह रावत, श्री राजकुमार, वर्चुअल माध्यम से विधायक श्री भरत सिंह चौधरी एवं श्री मनोज रावत उपस्थित थे।
      पौड़ी जनपद में 191 सीएम घोषणाओं में से 116 पूर्ण हो चुकी हैं, जबकि 75 पर कार्य प्रगति पर है। उत्तरकाशी जनपद में 123 सीएम घोषणाओं में से 68 पूर्ण हो चुकी हैं, जबकि 55 पर कार्य गतिमान है। रूद्रप्रयाग जनपद में 36 घोषणाओं में से 22 पूर्ण हो गयी है, जबकि 14 पर कार्यवाही गतिमान है। 
पौड़ीः पौड़ी जनपद की सीएम घोषणाओं की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि अवस्थापना सुविधाओं के विकास पर विशेष ध्यान दिया जाय। धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए देवप्रयाग स्थित रघुनाथ मंदिर, लक्ष्मण मंदिर व फलस्वाडी स्थित सीता माता मंदिर को धार्मिक पर्यटन के सर्किट के रूप में विकसित करने के लिए सुनियोजित कार्ययोजना बनाई जाय व कार्यों में तेजी लाई जाय। नयार घाटी में पैराग्लाइडिंग प्रशिक्षण केन्द्र व पौरामोटर्स स्थाई पट्टी के निर्माण कार्य की कार्यवाही में तेजी लाई जाय। श्रीनगर, खिर्सू, पौड़ी को पर्यटन सर्किल के रूप में विकसित करने के लिए भी कार्य में तेजी लाई जाय। श्रीनगर में पार्किंग की समस्या का जल्द समाधान किया जाय। एनआईटी में बिजली एवं पानी की व्यवस्था जल्द की जाय। कोटद्वार में रोडवेज डिपो के आधुनिकीकरण एवं पार्किंग निर्माण की कार्यवाही में तेजी लाई जाय। चौबट्टाखाल में 40 ग्राम सभाओं को पेयजल की सुविधा उपलब्ध कराने हेतु जल जीवन मिशन के तहत कार्यवाही जल्द की जाय। एकेश्वर में तीलू रौतेली के संग्रहालय निर्माण की कार्यवाही में तेजी लाई जाय। यमकेश्वर विधानसभा में सडको के नव निर्माण, डामरीकरण एवं मरम्मत के कार्यों में तेजी लाई जाय एवं गुणवत्ता का भी विशेष ध्यान रखा जाय। रिखणीखाल में रेवा पम्पिंग योजना व चैबड पम्पिंग योजना की कार्यवाही में तेजी लाई जाय। महावीर चक्र विजेता श्री जसवंत सिंह रावत के पैतृक गांव बांड्यू में शहीद स्मारक बनाने की कार्यवाही जल्द पूर्ण की जाय। 
उत्तरकाशीः उत्तरकाशी जनपद की सीएम घोषणाओं की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि उत्तरकाशी में दो मंजिल पार्किंग के निर्माण कार्य की कार्यवाही में तेजी लाई जाय। पार्किंग की सुविधा जल्द उपलब्ध कराई जाय। बौन एवं बड़ेथी पेयजल योजनाओं के पनर्गठन एवं मातली पेयजल योजना योजना के विस्तारीकरण के कार्यों में तेजी लाई जाय। पुरोला-गन्दियाटगांव मोटर मार्ग के चौड़ीकरण का कार्य जल्द किया जाय। तालुका-हरकीदून मार्ग पर सियागाड में क्षतिग्रस्त आर.सी.सी पुल का निर्माण कार्य शीघ्र किया जाय। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि यमुनोत्री एवं बड़कोट में पार्किंग, यमुनोत्री में रोपवे एवं बड़कोट व चिन्यालीसौड़ पेयजल के नव निर्माण से संबंधित कार्यों में तेजी लाई जाय। 
रूद्रप्रयागः रूद्रप्रयाग जनपद की सीएम घोषणाओं की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि सड़कों के नव निर्माण संबधी कार्यों में तेजी लाई जाय। पर्यटकों की सुविधा के दृष्टिगत साईनेज की उचित व्यवस्था की जाय। गुप्तकाशी एवं ऊखीमठ पेयजल योजना से संबधित कार्यों में तेजी लाई जाय।
      बैठक में मुख्य सचिव श्री ओम प्रकाश, अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी, प्रमुख सचिव श्री आनन्द वर्द्धन, सचिव श्री आर. के. सुधांशु, श्री आर. मीनाक्षी सुन्दरम, श्री शैलेश बगोली, श्री हरबंस सिंह चुघ, डॉ. पंकज पाण्डेय, डॉ. नीरज खैरवाल, प्रमुख वन संरक्षक श्री राजीव भरतरी, शासन के वरिष्ठ अधिकारी, सबंधित विभागों के निदेशक एवं वर्चुअल माध्यम से  जिलाधिकारी पौड़ी श्री विजय जोगदण्डे, जिलाधिकारी उत्तरकाशी श्री मयूर दिक्षित, जिलाधिकारी रूद्रप्रयाग श्री मनुज गोयल उपस्थित थे।


प्रदेश के कृषि मंत्री ने कृषि उपज,पशुधन विपणन अधिनियम 2020 संशोधन समीक्षा बैठक की।

प्रदेश के कृषि, कृषि विपणन, कृषि प्रसंस्करण, कृषि शिक्षा, उद्यान एवं फलोद्योग एवं रेशम विकास मंत्री सुबोध उनियाल ने विधान सभा
स्थित सभागार कक्ष में कृषि उपज और पशुधन विपणन अधिनियम, 2020 में संशोधन तथा Organic Retail Outlets  के Design & Operation प्रक्रिया निर्धारण के सम्बन्ध में विभागीय समीक्षा बैठक की।
बैठक में मंत्री ने निर्देश दिया कि जल्दी से जल्दी कृषि अर्गेनिक उत्पाद के आउटलेट निर्माण का डिजाईन प्रस्तुत करें। इस कार्य की जिम्मेदारी लोक निर्माण विभाग को देते हुए कहा कि जनपद के क्लस्टर वार निर्धारित आउटलेट स्थलों का सर्वे कर लें। इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी द्वारा गठित समिति अपने जनपद में लगाये जाने वाले आउटलेट के स्थल चयन की कार्यवाही करेंगे।
कृषकों के आय दोगुना करने के उददेश्य से, कृषकों को उचित मूल्य दिलाने और कृषि उत्पाद के उपभोक्ताओं को संरक्षण प्रदान करने के लिए यह योजना लायी गई है। इसका उददेश्य कृषको के बीच दलालों, मध्यस्थों की समाप्ति करना है और उत्तराखण्ड राज्य को अर्गेनिक उत्पाद के रूप में पहचान दिलाने के लिए ब्रान्ड स्थापित करना है। विभिन्न उत्पाद के माध्यम से, राज्य के विभिन्न स्थलों के कृषको को आपस में जोडने का भी अवसर मिलेगा।
इस योजना में कुल 1300 आउटलेट लगाये जायेगे। प्रथम चरण में 619 आउटलेट एवं 20 एक्सक्यूसिव आउटलेट एअरपोर्ट, रेलवे स्टेशन बस स्टेशन एवं प्रमुख स्थलों पर लगाये जायेगे।
कृषि मंत्री ने बताया कि जनपदों मेें आउटलेट बनाये जाने से कृषको की उत्पादकता और आय बढाने में यह योजना लाभाकारी होगी। कृषि मंत्री ने बताया कि आउटलेट बनाये जाने हेतु जिलाधिकारियों को जगह चिन्हित करने हेतु विभागीय स्तर पर पत्र प्रेषित किये गये है।
इस अवसर पर सचिव, हरबंस सिंह चुघ, निदेशक उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण, हरविन्दर सिंह बावेजा सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे। 
——————————————————————–
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने वरिष्ठ पत्रकार एवं प्रदेश के पूर्व सूचना आयुक्त श्री प्रभात डबराल की धर्मपत्नी के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति एवं शोक संतप्त परिवारजनों को धैर्य प्रदान करने की प्रार्थना की है।

     

     

Leave a Reply

Your email address will not be published.