मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने दी जनरल विपिन रावत को श्रद्धांजलि।मंत्री ने कृषि एवं उद्यान विभाग के कार्मिकों से साथ बैठक# अधिकांश विभागों में पदोन्नति न करने का संज्ञान लेते हुए मुख्य सचिव ने पदोन्नति के दिए आदेश # ग्यारह दिसम्बर से विधानसभा सत्र आरम्भ होने के कारण कल विधानसभा खुली रहेगी#janswar.com

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने शुक्रवार को 3 कामराज रोड नई दिल्ली में सीडीएस जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी श्रीमती मधुलिका रावत को श्रद्धासुमन अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।
मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्माओं को शांति प्रदान करने एवं शोक संतप्त परिजनों को धैर्य प्रदान करने की कामना की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जनरल बिपिन रावत का निधन देश के लिए अपूरणीय क्षति है। उनकी सादगी, सहजता हमेशा हमारे दिलों में रहेंगी। देश की सेना एवं सीमाओं की रक्षा के लिए जनरल बिपिन रावत के योगदान को देश हमेशा याद रखेगा।
कैबिनेट मंत्री डॉ. धन सिंह रावत एवं भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष / विधायक श्री मदन कौशिक ने भी जनरल बिपिन रावत एवं उनकी पत्नी को श्रद्धांजलि दी।

———————————————- मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने शिथिलीकरण नियमावली – 2021 के अन्तर्गत अधिकांश विभागों द्वारा पदोन्नति की कार्रवाई न किए जाने का संज्ञान लेते हुए समस्त अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव, सचिव, विभागाध्यक्ष, आयुक्तों एवं जिलाधिकारियों को अगले 15 दिनों के भीतर राज्याधीन सेवाओं, शिक्षण संस्थाओं, सार्वजनिक उद्यमों, निगमों, स्वायत्तशासी संस्थाओं में नियमानुसार अर्हकारी सेवा में शिथिलीकरण प्रदान करते हुए पदोन्नति की कार्रवाई पूर्ण कर कार्मिक एवं सतर्कता विभाग को कृत कार्रवाई विषयक आख्या उपलब्ध कराए जाने हेतु निर्देश जारी किए हैं।
सभी उच्चाधिकारियों को जारी अपने पत्र के माध्यम से मुख्य सचिव ने निर्देश किए हैं कि सभी विभाग अपने कार्मिकों को नियमानुसार अर्हकारी सेवा में शिथिलीकरण प्रदान करते हुए पदोन्नति की कार्रवाई शीघ्र यथा शीघ्र पूर्ण करना सुनिश्चित करें।


प्रदेश के कृषि, कृषि विपणन, कृषि प्रसंस्करण, कृषि शिक्षा, उद्यान एवं फलोद्योग एवं रेशम विकास मंत्री सुबोध उनियाल की अध्यक्षता में कृषि एवं उद्यान विभाग के एकीकरण के सम्बन्ध में सम्बन्धित कार्मिकों के साथ समीक्षा बैठक आयोजित की।

कृषि एवं उद्यान विभाग के कार्मिकों ने मा0 मंत्री के समक्ष एकीकरण होने की दशा में पदोन्नति पैटर्न, वेतन विसंगति, वेतन बढोत्तरी, वरिष्ठता इत्यादि के सम्बन्ध में आने वाली तकनीकी एवं व्यावहारिक दिक्कतों को साझा करते हुए उन सभी बातों का घ्यान रखने का आग्रह किया, जिससे किसी भी वर्ग और कैडर में कार्मिकों के साथ भविष्य में किसी भी प्रकार का भेदभाव न हो सके।

कृषि मंत्री ने इस दौरान दोनो विभागों के एकीकरण के सम्बन्ध में अपर सचिव राम विलास यादव की अध्यक्षता में गठित सात सदस्य समिति को निर्देशित किया कि एकीकरण की प्रक्रिया में उन सभी बिन्दुओं पर उचित संज्ञान लिया जाय, जिससे एकीकरण के पश्चात विभाग की एक बेहतर व्यवस्था बन सके तथा कृषक और कास्तकारों के कल्याण हेतु विभाग अधिक प्रभावी भूमिका का निर्वहन कर पाये। उन्होने कहा कि हमारी मूल प्रथामिकता किसानों और कास्तकारों के कल्याण के साथ ही प्रदेश की खेती और औद्यानिकी का उत्थान होना चाहिए। इसके लिए विभाग का पैटर्न और ढॉचा इसी अनुरूप प्रभावी बनाया जाय।

मा0 मंत्री ने दोनो विभागों के अलग-अलग पैटर्न के संघ और कार्मिकों के एकीकरण से सम्बन्धित प्रस्ताव भी प्राप्त किये तथा सम्बन्धित अधिकारियों को एकीकरण की प्रक्रिया में इन सभी प्रस्तावों पर व्यापक संज्ञान लेते हुए गहनता से इनका परीक्षण करते हुए तेजी से अग्रिम कार्यवाही के निर्देश दिये।
सभी कर्मिकों ने मा0 मंत्री जी को कर्मिकों की बातों को घ्यान से सुनने और एकीकरण की प्रक्रिया में जरूरी बिन्दुओं पर संज्ञान लेने के चलते धन्यवाद ज्ञापित किया।

इस अवसर पर कृषि सचिव आर मीनाक्षी सुन्दरम, अपर सचिव कृषि राम विलास यादव, निदेशक कृषि गौरीशंकर सहित अन्य अधिकारी, एसोसिएशन के जुडे पदाधिकारी व कार्मिक मौजूद थे।


मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने शिथिलीकरण नियमावली – 2021 के अन्तर्गत अधिकांश विभागों द्वारा पदोन्नति की कार्रवाई न किए जाने का संज्ञान लेते हुए समस्त अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव, सचिव, विभागाध्यक्ष, आयुक्तों एवं जिलाधिकारियों को अगले 15 दिनों के भीतर राज्याधीन सेवाओं, शिक्षण संस्थाओं, सार्वजनिक उद्यमों, निगमों, स्वायत्तशासी संस्थाओं में नियमानुसार अर्हकारी सेवा में शिथिलीकरण प्रदान करते हुए पदोन्नति की कार्रवाई पूर्ण कर कार्मिक एवं सतर्कता विभाग को कृत कार्रवाई विषयक आख्या उपलब्ध कराए जाने हेतु निर्देश जारी किए हैं।
सभी उच्चाधिकारियों को जारी अपने पत्र के माध्यम से मुख्य सचिव ने निर्देश किए हैं कि सभी विभाग अपने कार्मिकों को नियमानुसार अर्हकारी सेवा में शिथिलीकरण प्रदान करते हुए पदोन्नति की कार्रवाई शीघ्र यथा शीघ्र पूर्ण करना सुनिश्चित करें।

मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने उत्तराखंड की चतुर्थ विधानसभा के वर्ष 2021 का सत्र दिनांक 11 दिसम्बर , 2021 (शनिवार) को भी आहूत होने के दृष्टिगत उत्तराखण्ड सचिवालय के समस्त कार्यालय शनिवार, दिनांक 11 दिसम्बर, 2021 को भी खुले रखने के निर्देश जारी किए हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.