मुख्यमंत्री ने स्वरोजगार के लिए 1 से 15 सितम्बर तक जनपदों में कैम्प लगाने के दिये निर्देश।# आजादी की 75वीं वर्षगांठ के अवसर ‘‘आजादी का अमृत महोत्सव’’ धूम धाम से मनाने के निर्देश जिलाधिकारी पौडी गढवाल ने दिये,यमकेश्वर का तोली गांव ध्वजवाहक गांव चुना गया।-Janswar.com

-अरुणाभ रतूड़ी
स्वरोजगार से आत्मनिर्भर भारत का मार्ग प्रशस्त होगा : मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी
स्वरोजगार के लिए 1 से 15 सितम्बर तक जनपदों में लगेंगे कैम्प
मुख्यमंत्री ने स्वरोजगार योजनाओं की समीक्षा की, निर्धारित लक्ष्यों को समय से पूरे करने के निर्देश

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि स्वरोजगार से ही आत्मनिर्भर भारत का उद्देश्य पूरा हो सकेगा। मुख्यमंत्री ने सचिवालय में प्रदेश के विभिन्न विभागों में संचालित स्वरोजगार योजनाओं की समीक्षा करते हुए तय लक्ष्यों को निर्धारित समयावधि में पूरा करने के निर्देश दिए।  विभिन्न योजनाओं के तहत लोगों को बैकों से लोन लेने में कोई समस्या न हो, इसके लिए सभी बैंकर्स के साथ समन्वय सुनिश्चित किया जाए।  लोगों को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए और उनकी विभिन्न समस्याओं के समाधान के लिए सभी जनपदों में स्वरोजगार के लिए कैम्प लगाये जाए। इसके लिए प्रत्येक जनपद में मुख्य विकास अधिकारी को नोडल अधिकारी बनाया जाय। रोजगार कैंप में जिला स्तरीय अधिकारी एवं बैंक के अधिकारी केन्द्र एवं राज्य सरकार विभिन्न योजनाओं की जानकारी देंगे और मौके पर ही लोगों की समस्याओं का समाधान करेंगे।
1 से 15 सितम्बर तक लगेंगे जनपदों में कैम्प
मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि 01 से 15 सितम्बर तक जनपदों में जो कैंप लगाये जायेंगे, उनमें जिलास्तरीय अधिकारी और बैंक के अधिकारी सभी आवेदनों का निस्तारण करते हुए लोन स्वीकृति की कार्यवाही सुनिश्चित करेंगे।  लोन के लिए बैंकों में प्राप्त आवेदनों के शीघ्र निस्तारण के लिए बैंक के वरिष्ठ अधिकारी ब्रांच स्तर तक लगातार मॉनिटरिंग करें। उन्होंने कहा कि सभी योजनाएं धरातल पर दिखनी चाहिए। समाज के अन्तिम छोर पर खड़े व्यक्ति तक केन्द्र एवं राज्य सरकार की जन कल्याणकारी योजनाएं पहुंचे, यह हम सबकी जिम्मेदारी है। योजनाओं का विभिन्न माध्यमों से व्यापक प्रचार प्रसार किया जाय। सरकार जनता के द्वार पहुंचकर जन समस्याओं का समाधान करेगी।
प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत और वोकल फॉर लोकल के मंत्र से खुलेंगे समृद्धि के द्वार

     मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के आत्मनिर्भर भारत और वोकल फॉर लोकल के मंत्र को अपना कर राज्य की प्रगति में युवाओं की भागीदारी सुनिश्चित की जा सकती है। हमारे युवाओं में कौशल और प्रतिभा की कमी नहीं है। हमारे स्टार्ट-अप उद्योग की सफलता हमारे युवाओं के उत्साह को दिखाती है। स्वरोजगार से जुड़ने वाले लोगों के लिए मार्केट उपलब्ध करवाने पर भी फोकस करना होगा। उत्पादों की उच्च गुणवत्ता पर भी ध्यान दिये जाने की आवश्यकता है।
स्वरोजगार के लिए विभागों को दिए गए लक्ष्य
मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने विभिन्न योजनाओं के अन्तर्गत स्वरोजगार से संबंधित मुख्य विभागों को लक्ष्य दिये। ग्राम्य विकास विभाग, समाज कल्याण, कृषि, पशुपालन, शहरी विकास, उद्योग एवं पर्यटन विभाग की समीक्षा की। उन्होंने इन सभी विभागों को लोगों को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए इस वर्ष के टारगेट दिये। ग्राम्य विकास विभाग को 10 हजार, समाज कल्याण  विभाग को 1500, पशुपालन विभाग को 04 हजार, शहरी विकास को 26 हजार, उद्योग विभाग को 4500 एवं पर्यटन विभाग को 500 का लक्ष्य दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी विभाग विभिन्न योजनाओं के माध्यम से लोगों को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए कार्यवाही में तेजी लाएं। एक लाख से अधिक लोगों को इस वर्ष  विभिन्न योजनाओं के माध्यम से स्वरोजगार से जोड़ा जायेगा। उन्होंने कहा कि स्वरोजगार के लिए लोगों को प्रेरित करने के लिए विभागों द्वारा सक्सेस स्टोरी बनाई जाय और लोगों को जागरूक किया जाय।
पोर्टल बेस्ड एप्रोच पर काम करें विभाग : मुख्य सचिव
मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. संधु ने कहा कि केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन में और तेजी लाई जाय। योजनाओं का जन-जन तक लाभ पहुंचे यह सभी अधिकारियों की सामुहिक जिम्मेदारी है। लाभार्थियों के आवेदनों की कमियों का त्वरित निस्तारण कर उनको योजनाओं का लाभ दिया जाय। कार्यों में तेजी लाने के लिए सभी विभाग पोर्टल बेस्ड एप्रेच पर काम करें।
बैठक में अपर मुख्य सचिव श्री आनंद बर्द्धन, प्रमुख सचिव श्री एल फैनई, सचिव श्री अमित नेगी, श्री आर मीनाक्षी सुंदरम, शैलैश बगोली, श्रीमती राधिका झा, श्री रंजीत सिन्हा सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
—————————————————-
विकास भवन सभागार पौडी में बुधवार को जिलाधिकारी डॉ0 विजय कुमार जोगदण्डे ने जनपद में आजादी की 75वीं वर्षगांठ के अवसर ‘‘आजादी का अमृत महोत्सव’’ पर आयोजित होने वाली विभिन्न कार्यक्रमों की सफल संचालन को लेकर संबंधित अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक ली। उन्होने रेखीय विभागों के अधिकारियों को निर्देशित किया कि आजादी की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर 75 सप्ताह तक आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जायेगा।
जिलाधिकारी डाॅ0 जोगदण्डे ने जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देशित किया कि अमृत महोत्सव के अंतर्गत हर घर झण्डा कार्यक्रम को सफल बनाया जाय, तथा ध्वज स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से बनवाये। उन्होंने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत जनपद के प्रत्येक गांव में विभिन्न कार्यक्रम का आयोजन किया जाना है, विकासखंड यमकेश्वर के तोली गांव (नीलकंठ) को ध्वज वाहक गांव के रूप में चुना गया है। उन्होने कहा कि आम जनमानस राष्ट्रगान गायन हेतु प्रेरित करें तथा एप्प के माध्यम से प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए जागरूक करें। जिसके लिए सरकार के द्वारा उन्हें प्रमाण पत्र वितरित किया जाएगा और उसमें से सर्वश्रेष्ठ  राष्ट्रीय गान गायन को पुरस्कृत भी किया जायेगा।
जिलाधिकारी डा0 जोगदण्डे ने जनपद के समस्त खंड विकास अधिकारियों को आजादी का अमृत महोत्सव के तहत आगामी 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के अवसर पर जनपद के 15 विकासखंडो में 5-5 हे० भूमि पर वृहद वृक्षा रोपण कराने का लक्ष्य दिया। कहा कि आजादी का अमृत महोत्सव में जनपद में 75 हेक्टेयर भूमि पर वृहद स्तर पर वृक्षारोपण किया जायेगा। उन्होने जिला पर्यटन विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि आजादी के अमृत महोत्सव के तहत 9 अगस्त 2021 को साईकिलिंग प्रतियोगिता कराये जाय तथा विजेताओं को स्वतंत्रता दिवस के दिन माननीय मंत्री जी द्वारा सम्मानित कराया जाएगा। साथ ही उन्होंने खेल विभाग को मेराथन कराने के भी निर्देश दिए। उन्होने पंचायती राज विभाग, पर्यटन, संस्कृति, सूचना व अन्य रेखीय विभागों को निर्देशित किया कि आजादी की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रम आजादी का अमृत महोत्सव पर विभाग अपने कार्यक्रम के रोस्टर के अनुसार मनाएं। उन्होंने कहा कि आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रम कोविड-19 की गाइडलाइन का अनुपालन करते हुए मनाये तथा उसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरतें। उन्होंने कहा कि इस महोत्सव के प्रचार-प्रसार के लिए वाहनों का भी उपयोग किया जाए जिसमें स्वतंत्रता सेनानियों के जीवन-वृतांत पर जिंगल, गीत व चलचित्रों के माध्यम से प्रचार-प्रसार हो तथा आजादी के अमृत महोत्सव के गीत का सजीव प्रसारण किया जाए। महोत्सव में आयोजित होने वाले कार्यक्रमों का प्रचार प्रसार करें।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी डॉ. एस.के. बरनवाल, डीएफओ मुकेश कुमार, डीडीओ वेद प्रकाश, अर्थ एवं संख्याधिकारी संजय शर्मा, डीपीआरओ एम.एम. खान,  जिला पर्यटन विकास अधिकारी के.एस. नेगी, आयुर्वेदिक एवं यूनानी अधिकारी डॉ. सुभाष चंद्रा, एसीएमओ डॉ. अशोक कुमार, लोक निर्माण प्रांतीय खंड से अधिशासी अभियंता अरुण कुमार पाण्डेय, खेल अधिकारी अरुण बंगियाल, डीओ पीआरडी गणेश थपलियाल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.