मुख्यमंत्री ने सुशीला तिवारी अस्पताल का निरीक्षण करते हुए मरीजों की समस्याएं भी सुनीं####पौड़ी तहसील में आयोजित तहसील दिवस पर दर्ज अधिकांश शिकायतों का मौके पर ही निस्तारण I WWW.JANSWAR.COM

अरुणाभ रतूड़ी

मुख्यमंत्री ने सुशीला तिवारी अस्पताल का निरीक्षण करते हुए मरीजों की समस्याएं भी सुनीं

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को सुशीला तिवारी चिकित्सालय का निरीक्षण किया। इस अवसर पर उन्होंने पंजीकरण काउंटर, कैंटीन एवं वार्डों का निरीक्षण कर वार्ड में भर्ती मरीजों एवं ओपीडी में आये वाहृय रोगियों से मुलाकात की एवं उनकी समस्याओं से रूबरू हुये। मुख्यमंत्री ने कहा यह कुमाऊं का सबसे बड़ा चिकित्सालय है यहां पर्वतीय क्षेत्र के साथ ही उत्तर प्रदेश के रोगी अपना उपचार हेतु आते है। उन्होंने प्राचार्य डा0 अरुण जोशी को निर्देश दिये कि चिकित्सालय में आने वाले रोगियों को बेहतर उपचार दें। उन्होंने कहा चिकित्सालय हेतु जिन वस्तुओं की आवश्यकता है उनका प्रस्ताव बनाकर शासन को प्रेषित करें ताकि कार्याे हेतु शीघ्र धन आवंटित किया जा सके।

मुख्यमंत्री श्री धामी ने कहा कि अधिकारी ब्लॉक/न्यायपंचायत स्तर पर समाधान चौपाल का आयोजन कर जनता की समस्याओं से रूबरू होकर मौके पर समस्याओं का समाधान करें। उन्होंने कहा अधिकारी अपने मनोयोग के साथ कार्य कर अपनी जिम्मेदारी सुनिश्चित करें।

इस अवसर पर मेयर डा0 जोगेन्दर पाल सिंह रौतेला, विधायक राम सिंह कैडा, जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट, डा अनिल कपूर डब्बू, प्रदेश महामंत्री राजेन्द्र बिष्ट, पूर्व दर्जा मंत्री हेमन्त द्विवेदी, चन्दन बिष्ट, योगेश रजवार, सुरेश तिवारी, संजय दुम्का, विकास भगत,भुवन जोशी, नवीन पंत, चतुर बोरा, प्रताप बिष्ट, दिनेश आर्य, प्रदीप जनौटी के साथ ही आयुक्त दीपक रावत,डीआईजी नीलेश आनन्द भरणे, जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल, एसएसपी पंकज भटट, प्राचार्य डा0 अरुण जोशी, अपर जिलाधिकारी अशोक जोशी, सिटी मजिस्ट्रेट ऋचा सिंह के साथ अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।
****

पौड़ी तहसील में आयोजित तहसील दिवस पर दर्ज अधिकांश शिकायतों का मौके पर ही निस्तारण

 

मुख्य विकास अधिकारी अपूर्वा पांडे की अध्यक्षता में आज पौड़ी तहसील परिसर में तहसील दिवस आयोजित किया गया। तहसील दिवस में 15 शिकायतें दर्ज हुई जिसमें अधिकांश शिकायतों का मौके पर निस्तारण किया गया। मुख्य विकास अधिकारी ने तहसील दिवस में अनुपस्थित रहे अधिकारियों तथा पूर्व में आयोजित हुई तहसील दिवस में समस्याओं का निराकरण न करने पर संबंधित अधिकारियों का स्पष्टीकरण तलब किया। उन्होंने समस्त अधिकारियों को निर्देशित किया कि तहसील दिवस  सहित अन्य बैठकों में प्रतिभाग करना सुनिश्चित करें, जिससे आम जनमानस की समस्याओं का समाधान मौके पर हो सकेगा।


तहसील दिवस में अधिकतर शिकायतें  स्वास्थ्य, पेयजल, सड़क सहित अन्य विभागों की रही। मुख्य विकास अधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि तहसील दिवस में जो शिकायतें दर्ज हुई हैं उनका निस्तारण 15 दिवस के भीतर पूर्ण करना सुनिश्चित करें। कहा की पूर्व तहसील दिवस में जिन समस्याओं का निराकरण अभी तक नहीं हो पाया है उनका भी तत्काल निस्तारण करें। उन्होंने समस्त अधिकारियों को बैठकों में पूर्ण तैयारी के साथ प्रतिभाग करने के निर्देश भी दिए। कहा कि क्षेत्र में हो रहे विभिन्न कार्यों का समय-समय पर निरीक्षण करते हुए उसकी आख्या रिपोर्ट प्रस्तुत करें। कहा कि विकास कार्यों को गंभीरता से लेते हुए गुणवत्ता के साथ कार्य करना सुनिश्चित करें। जिससे आम जनमानस को परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा। साथ ही उन्होंने कहा कि तहसील दिवस में जो निर्देश दिए गए हैं उनका अनुपालन करना सुनिश्चित करें। कहा कि विकासखंड स्तर की समस्याओं का निस्तारण ब्लॉक स्तर पर ही करें। जिससे आम जनमानस को मुख्यालयों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। उन्होंने सम्बंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि आयोजित होने वाले तहसील दिवस तथा बीडीसी बैठकों का प्रचार-प्रसार बैठक से पूर्व करना सुनिश्चित करें। जिससे आम जनमानस बैठक में प्रतिभाग कर अपनी समस्याएं दर्ज करा सकें।
इस अवसर पर प्रशासनिक,पुलिस व अन्य विभागों के एधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.