मुख्यमंत्री ने पूर्णागिरीधाम मे 4जी सेवाओं का वर्चुअल शुभारम्भ किया।#सहकारिता राज्यमंत्री ने सहकारिता विभाग की समीक्षा की।#जनपद में 18अप्रैल को ओलावृष्टि,तेज हवा चलने व आकाशीय बिजली चमकने की चेतावनी।पढिए janswar.com द्वारा-अरुणाभ रतूड़ी।

मुख्यमंत्री ने पूर्णागिरीधाम मे 4जी सेवाओं का वर्चुअल शुभारम्भ किया।

मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने पूर्णागिरी धाम में जियो द्वारा संचालित की जा रही 4जी सेवाओं का वर्चुअल शुभारम्भ किया। उन्होंने पूर्णागिरी धाम में 4जी सेवाओं का शुभारम्भ के लिए श्री मुकेश भाई अम्बानी और जियो परिवार का धन्यवाद किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस कोरोना महामारी के वक्त मोबाइल और डेटा कनेक्टिविटी अति महत्वपूर्ण है। छात्रों की पढ़ाई, मध्यम व लघु उद्योग, उत्तराखण्ड में आने वाले पर्यटकों व स्थानीय नागरिकों के लिए डेटा कनेक्टिविटी बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में डिजिटल इंडिया की परिकल्पना साकार हो रही है। पंचायतों को ऑप्टिकल फाईबर के माध्यम से नेटवर्किंग से जोड़ा गया है। उत्तराखण्ड सरकार भी भारत सरकार के साथ डिजिटल क्रांति के क्षेत्र में आगे बढ़ रही है। हमारी सरकार और जियो कम्पनी ने मिलकर उत्तराखण्ड के दूरस्थ क्षेत्रों तक 4जी मोबाइल कन्क्टिविटी पहुचाने का कार्य किया है।
     मुख्यमंत्री श्री तीरथ ने कहा कि उत्तराखण्ड देवभूमि है, यहाँ अनेक धार्मिक स्थल हैं। जियो अधिकतर स्थानों में अपनी 4जी सेवाएं दे रहा है।  महत्वपूर्ण मंदिरों और तीर्थक्षेत्रों को अपने 4जी नेटवर्क से जोड़ चुका है। जियो ने उत्तराखण्ड बॉर्डर एरिया में भी 14 साईटस् प्रारंभ कर दी है जिससे उत्तराखण्ड के बार्डर एरिया में रहने वाले लोग भी अब 4जी डिजिटल कनेक्टिविटी से जुड़ चुके हैं। इसी कड़ी के अंतर्गत अब जियो, मॉ पूर्णागिरी धाम को भी अपने 4जी नेटवर्क से जोड़ने जा रहा है। माँ पूर्णागिरी धाम 108 सिद्धपीठों में से एक है और बङी संख्या में श्रद्धालु यहाँ हर वर्ष दर्शनार्थ आते है।
     इस अवसर पर वर्चुअल माध्यम से जियो के उत्तराखण्ड स्टेट हेड श्री विशाल अग्रवाल, पूर्णागिरी मंदिर के चैयरमेन श्री भुवन चन्द्र पाण्डे, श्री गिरीश चन्द्र पाण्डे आदि उपस्थित थे।


प्रदेश के उच्च शिक्षा, सहकारिता, आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास, प्रोटोकॉल (स्वतन्त्र प्रभार) मंत्री डा0 धन सिंह रावत ने आज सर्किट हाउस पौड़ी में सहकारिता विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक ली। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि महिला समूहों व समितियों को आवश्यकता के अनुसार ऋण वितरण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने सहकारिता विभाग के अंतर्गत पंजीकृत समितियों हेतु लाभकारी की जानकारी ली। संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि प्रत्येक गांव कम से कम एक महिला समूहों आवश्यक रूप बनाने सुनिश्चित करेंगे।
मंत्री डॉ. रावत ने आयोजित बैठक में सहकारिता समितियों के माध्यम से किसानों को कम ऋण वितरण होने पर अधिकारियों से नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि किसानों के ऋण वितरण में तेजी लाना सुनिश्चित करें। जिससे वह समय पर योजना का लाभ ले सकेंगे। साथ ही उन्होंने राजस्व से हुई वसूली की जानकारी भी ली। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि क्षेत्र में बंजर खेतों के मालिकों से वार्ता कर वहां साइलेज (घास) लगाने की कार्य योजना तैयार करें। इस दौरान उन्होंने कहा कि राठ विकास अभिकरण के अंतर्गत महिलाओं को जल्द ही घस्यारी किट तथा हल लगाने वाले किसानों को हल वितरित किया जाएगा। कहा कि स्वरोजगार को बढ़ावा देने हेतु बकरियां वितरण सहित अन्य कार्य सरकार द्वारा किया जा रहा है। जिससे किसान स्वरोजगार अपना कर अपनी आर्थिकी मजबूत बना सकेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि सहकारिता विभाग के अंतर्गत संचालित योजनाओं हेतु 01 हजार महिलाओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा।
इस अवसर पर बहुद्देशीय सहकारी संघ अध्यक्ष/भाजपा जिलाध्यक्ष संपत सिह रावत, डीबीसी अध्यक्ष नरेंद्र रावत, उप निबंधक सहकारिता मान सिंह सैनी, एआर सुमन कुमार, जीएम मनोज कुमार, समिति सचिव देवलगढ़ सूरज बिष्ट, श्रीकोट गंगानाली सचिव शशांक बहुगुणा सहित अन्य उपस्थित थे।


प्रदेश के उच्च शिक्षा, सहकारिता, आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास, प्रोटोकॉल राज्य मंत्री (स्वतन्त्र प्रभार) डा0 धन सिंह रावत ने आज सर्किट हाउस पौड़ी में सहकारिता विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक ली। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि महिला समूहों व समितियों को आवश्यकता के अनुसार ऋण वितरण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने सहकारिता विभाग के अंतर्गत पंजीकृत समितियों हेतु लाभकारी की जानकारी ली। संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि प्रत्येक गांव कम से कम एक महिला समूहों आवश्यक रूप बनाने सुनिश्चित करेंगे।
राज्यमंत्री डॉ. रावत ने आयोजित बैठक में सहकारिता समितियों के माध्यम से किसानों को कम ऋण वितरण होने पर अधिकारियों से नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि किसानों के ऋण वितरण में तेजी लाना सुनिश्चित करें। जिससे वह समय पर योजना का लाभ ले सकेंगे। साथ ही उन्होंने राजस्व से हुई वसूली की जानकारी भी ली। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि क्षेत्र में बंजर खेतों के मालिकों से वार्ता कर वहां साइलेज (घास) लगाने की कार्य योजना तैयार करें। इस दौरान उन्होंने कहा कि राठ विकास अभिकरण के अंतर्गत महिलाओं को जल्द ही घस्यारी किट तथा हल लगाने वाले किसानों को हल वितरित किया जाएगा। कहा कि स्वरोजगार को बढ़ावा देने हेतु बकरियां वितरण सहित अन्य कार्य सरकार द्वारा किया जा रहा है। जिससे किसान स्वरोजगार अपना कर अपनी आर्थिकी मजबूत बना सकेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि सहकारिता विभाग के अंतर्गत संचालित योजनाओं हेतु 01 हजार महिलाओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा।
इस अवसर पर बहुद्देशीय सहकारी संघ अध्यक्ष/भाजपा जिलाध्यक्ष संपत सिह रावत, डीबीसी अध्यक्ष नरेंद्र रावत, उप निबंधक सहकारिता मान सिंह सैनी, एआर सुमन कुमार, जीएम मनोज कुमार, समिति सचिव देवलगढ़ सूरज बिष्ट, श्रीकोट गंगानाली सचिव शशांक बहुगुणा सहित अन्य उपस्थित थे।


जनपद में 18अप्रैल को ओलावृष्टि,तेज हवा चलने व आकाशीय बिजली चमकने की चेतावनी।

भारत मौसम विज्ञान केंद्र देहरादून द्वारा जारी मौसम पूर्वानुमान व चेतावनी के अनुसार दिनांक 17 व 18 अप्रैल 2021 को जनपद गढ़वाल के क्षेत्र अंतर्गत कहीं कहीं ओलावृष्टि व आकाशीय बिजली चमकने की संभावना व झौंकदार हवाएं चलने की संभावना व्यक्त की गई है। मौसम विभाग की चेतावनी के दृष्टिगत जिलाधिकारी डा0 विजय कुमार जोगदण्डे ने आपदा कंट्रोल रूम को एहतियात बरतने के निर्देश जारी किए हैं। मौसम विभाग द्वारा जारी उक्त चेतावनी के दृष्टिगत जिलाधिकारी ने जनपद के अंतर्गत संबंधित अधिकारियों को किसी भी आपदा व दुर्घटना की स्थिति में त्वरित स्थलीय कार्रवाई करते हुए सूचनाओं का तत्काल आदान प्रदान सुनिश्चित करने के निर्देश जारी किए हैं। प्रत्येक स्तर पर तत्परता बनाए रखते हुए सावधानी और सुरक्षा के साथ ही आवागमन में नियंत्रण बढ़ते जाने को कहा गया है इसके अलावा जनपद व तहसील स्तर पर गठित आईआरएस प्रणाली में नामित समस्त अधिकारियों को विभागीय नोडल अधिकारी अलर्ट अवस्था में रहेंगे साथ ही लोक निर्माण विभाग व राष्ट्रीय राजमार्ग के साथ ही पीएमजीएसवाई व एडीबी आदि किसी भी मोटर मार्ग के बाधित होने की स्थिति में अवरुद्ध व खोले गए मोटर मार्गो के संबंध में समय-समय पर नियमित रूप से सूचना जिला आपातकालीन परिचालन केंद्र को अनिवार्य रूप से जानकारी उपलब्ध कराएंगे। समस्त राजस्व उपनिरीक्षक, ग्राम विकास अधिकारी के साथ ही ग्राम पंचायत विकास अधिकारी अपने अपने क्षेत्र में बने रहेंगे समस्त चैकी व थाने भी आपदा संबंधी उपकरणों एवं वायरलेस अवस्था में क्रियाशील रहेंगे।  समस्त अधिकारी किसी भी प्रकार की आपदा व सूचना जिला आपातकालीन परिचालन केंद्र के दूरभाष संख्या 01368 221 840 मोबाइल नंबर 94120 82535 पर तत्काल सूचना उपलब्ध कराएंगे। उक्त अवधि में किसी भी अधिकारी व कर्मचारी का मोबाइल स्विच ऑफ नहीं रहेगा।
——-
जनपद पौड़ी में सुरक्षा जवानों की भर्ती।

नगर सेवायोजन विभाग पौड़ी एवं एसएससीआई सिक्योरिटी देहरादून के संयुक्त तत्वाधान में जिले के विभिन्न विकास खंडों में सुरक्षा जवानों की भर्ती हेतु शिविर का आयोजन किया जा रहा है। शिविर पौड़ी खिर्सू  कोर्ट कल्जीखाल पाबौ व थलीसैण  विकासखंड में आयोजित किया जाएगा।  जानकारी देते हुए प्रमुख नगर सेवायोजन अधिकारी मुकेश प्रसाद रयाल ने बताया कि एस एस एस सी आई सिक्युरिटी, एस आई एस इंडिया लिमिटेड देहरादून  की ओर से जनपद पौड़ी के विभिन्न विकास खंडों में सुरक्षा जवानों की भर्ती हेतु शिविर का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें 20 अप्रैल को नगर सेवायोजन कार्यालय पौड़ी, 21 अप्रैल को खंड विकास कार्यालय खिर्सू, 22 अप्रैल को खंड विकास कार्यालय कोट, 23 अप्रैल को खंड विकास कार्यालय कल्जीखाल, 24 अप्रैल को खंड विकास कार्यालय पाबौ तथा 26 अप्रैल को खंड विकास कार्यालय थलीसैंण में शिविर का आयोजन किया जाएगा। शिविर प्रातः 10ः30 से लेकर 3ः00 तक आयोजित होगा। उन्होंने बताया कि इच्छुक युवक जिन की शैक्षिक योग्यता दसवीं पास तथा 21 से लेकर 37 वर्ष की आयु के साथ ही ऊंचाई न्यूनतम 168 सेंटीमीटर तथा न्यूनतम वजन 56 किलोग्राम होना आवश्यक है। यही नहीं चयनित अभ्यर्थियों को रुपया 350 पंजीकरण शुल्क भी जमा करना होगा।
चयन के उपरांत संक्षिप्त प्रशिक्षण के बाद नियुक्त आवेदक को रुपया दस हजार से 13 हजार प्रतिमाह का वेतन दिया जाएगा।  भर्ती शिविर में इच्छुक अभ्यर्थियों को कोविड-19 की गाइड लाइन का अनुपालन भी करना आवश्यक होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.