मुख्यमंत्री ने गौचर मेले का उद्घाटन किया।##देहरादून में मुख्यमंत्री ने छात्रों को किया सम्मानित## ग्रोथ सेंटर मुख्यमंत्री की फ्लैगशिप योजना-मुख्यसचिव ## लालकुआँ में बहुउददेशीय विधिक साक्षरता एवं जागरूकता शिविर का आयोजन ##दो अवैधरूप से संचालित टावर सील।पढिए Janswar.com में

69वें राजकीय आद्यौगिक विकास एवं सांस्कृतिक गौचर मेले का मंगलवार को शानदार आगाज हो गया। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गौचर मेले का विधिवत् उद्घाटन किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने 155.44 करोड़ रूपए लागत की विभिन्न विकास योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास कर जिले को बडी सौगात भी दी। मेले के उद्घाटन के अवसर पर छोलिया नृत्य के साथ मुख्यमंत्री का भव्य स्वागत किया गया।
मुख्यमंत्री ने मेले में जनता को संबोधित करते हुए कहा कि गौचर मेला संस्कृति, बाजार तथा उद्योग तीनों के समन्वय के कारण एक प्रसिद्ध राजकीय मेला है और साल दर साल यह मेला अपनी ऊँचाइयों को छू रहा है। उन्होंने मेले को भव्य एवं आकर्षक स्वरूप देने के लिए जिला प्रशासन की सराहना भी की। मुख्यमंत्री ने जिले की संस्कृति, खानपान, धार्मिक एवं पर्यटक स्थलों के लिए प्रकाशित कॉफी टेबल बुक का विमोचन भी किया।  इस दौरान मुख्यमंत्री ने स्वतंत्रता संग्रामी सेनानी श्री बख्तावर सिंह को सम्मानित  किया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषि और उद्यान के विकास में गौचर मेले की बड़ी भूमिका रही है। किसानों की आय को बढाने के लिए सरकार आर्गेनिक खेती को बढावा देने के लिए कार्य कर रही है ताकि किसान को अधिक से अधिक फायदा मिल सके। किसानों की आय बढाने के लिए ग्रोथ सेंटर स्थापित किए जा रहे हैं ताकि किसान अपनी आवश्यकता से अधिक अनाज को ग्रोथ सेंटर में मूल्यवर्धित करा सकते हैं। कंडाली और हैम्प के रेशे के महत्व को समझाते हुए उन्होंने कहा कि आज खेती के तरीके को बदलने की जरूरत है। बताया कि पूरी दुनिया में हैम्प के रेशे की बहुत डिमांड है आज नशा रहित हैम्प के रेशे से 527 किस्म के प्रोडक्ट तैयार किए जा रहे हैं। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में चुने हुए नए प्रतिनिधियों को बधाई देते हुए मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि दो बच्चे और शिक्षा की अनिवार्यता रखने के कारण इस बार के त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों में अधिकांश युवाओं को प्रतिनिधित्व का मौका मिला है। उन्होंने कहा कि राजनीतिक इच्छा शक्ति से ही यह बदलाव संभव हुआ है। कहा कि राज्य के विकास के लिए दृष्टि ही नही दृष्टिकोण होना भी जरूरी है।
साहसिक खेलों के लिए गौचर मेले में पहली बार अलकनंदा नदी में रिवर राफ्टिंग प्रतियोगिता भी आयोजित की गई। मुख्यमंत्री ने रिवर राफ्टिंग करते हुए प्रतियोगिता का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि यहॉ पर राफ्टिंग की भरपूर सम्भावनाएं है और जिला प्रशासन ने इसको आगे बढाने के लिए एक अच्छी पहल की है। उन्होंने स्थानीय लोगों को भी इस योजना में आगे बढाने पर जोर दिया।
इससे पूर्व मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने विभिन्न विकास योजनाओं के तहत 6402.35 लाख की योजनाओं का लोकार्पण तथा 16113.46 की योजनाओं का शिलान्यास कर जिले को विकास योजनाओं की एक बडी सौगात भी दी। जिन बडी योजनाओं को लोकर्पण किया गया उनमें 1187 लाख की सरमोला रानौ मोटर मार्ग, 895 लाख की सुगरबैंड से सिलपाटा मोटर मार्ग, 989 लाख की गोल से मथकोट मोटर मार्ग, 385 लाख़ की चटवापीपल से ग्राम सिरण मोटर मार्ग, 343 लाख की उज्ज्वलपुर-बैनोली मोटर मार्ग शामिल है। वही जिन बडी योजनाओं का आज शिलान्यास हुआ उनमें 1786 लाख की रैस-भटियांणा मोटर मार्ग, 840 लाख की लागत से तपोवन-रिंगी मोटर मार्ग, 599 लाख की हाटकल्याणी -बेराधार मोटर मार्ग, 527 लाख लागत की करछी-रेगडी मोटर मार्ग, 400 लाख लागत से माणा में निर्मित होने वाले बहुउद्देशीय व सार्वजनिक भवन निर्माण, 382 लाख़ लागत से तपोवन-करछोई मोटर मार्ग आदि शामिल है।
इस दौरान मुख्यमंत्री ने अलकनंदा नदी पर बाढ सुरक्षा, गौचर बाईपास मोटर मार्ग निर्माण, चटवापीपल में घाट सौन्दर्यीकरण एवं पहुॅच मार्ग निर्माण, गौचर नगर पालिका में बहुमंजिला पार्किंग निर्माण, कर्णप्रयाग-नैनीसैंण-बडसोली मोटर मार्ग निर्माण तथा उमासैंण तक मोटर मार्ग का विस्तारीकरण, राइका मालसी में अतिरिक्त कक्षा कक्ष निर्माण, गौचर पेयजल योजना निर्माण आदि घोषणाएं भी की।
मेले के उद्घाटन के अवसर पर क्षेत्रीय विधायक सुरेन्द्र सिंह, थराली विधायक मुन्नी देवी शाह, नवनिर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्षा रजनी भण्डारी, नगर पंचायत अध्यक्षा अंजू बिष्ट आदि उपस्थित थे।
—————————————————-
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरूवार को रिंग रोड स्थित किसान भवन में पं.दीनदयाल उपाध्याय राज्य शैक्षिक उत्कृष्टता पुरस्कार वितरण समारोह में प्रतिभाग किया। उन्होंने मेधावी छात्रों एवं  उत्कृष्ट विद्यालयों को पुरस्कार प्रदान करने के साथ ही आनन्दम पाठ्यचर्या से सम्बन्धित पुस्तकों का भी विमोचन किया।

मुख्यमंत्री ने बोर्ड परीक्षा में शीर्ष स्थान प्राप्त करने वाले मेधावी छात्र-छात्राओं को किया सम्मानित

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने उत्तराखण्ड बोर्ड परीक्षा 2018 में हाईस्कूल एवं इण्टर की बोर्ड परीक्षा में प्रथम 10 स्थान प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया। हाईस्कूल की परीक्षा में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को क्रमशः 15 हजार रूपये, 11 हजार रूपये एवं 08 हजार रूपये की धनराशि तथा प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया जबकि चौथे से दसवें स्थान प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को 5100 रूपये एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया। जबकि इण्टरमीडिएट की परीक्षा में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को क्रमशः 21 हजार रूपये, 15 हजार रूपये एवं 11 हजार रूपये की धनराशि एवं प्रशस्ति पत्र एवं मुख्यमंत्री ट्राफी तथा 6-6 पुस्तकों का सेट प्रदान किये गये। जबकि चौथे से दसवें स्थान प्राप्त करने वालों को 5100 रूपये की धनराशि एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान किये गये। दसवीं की कक्षा में राणा प्रताप इण्टर कॉलेज खटीमा की छात्रा काजल प्रजापति को प्रथम स्थान, पी.पी.एस.वी.एम.आई.सी नानकमत्ता के रोहित चन्द्र जोशी को द्वितीय स्थान एवं टी.एस.एस.बी.वी.एम.आई.सी काशीपुर के अमरीन मंसूरी को तृतीय स्थान प्राप्त करने पर मुख्यमंत्री ने उन्हें सम्मानित किया।  जबकि इण्टरमीडिएट की परीक्षा में आर.एल.एस चौहान एस.वी.एम.आई.सी जसपुर की कु0 दिव्यांशी राज को प्रथम, डी.एम.जी.ए.आई.सी. खटीमा के सचिन चन्द को द्वितीय तथा जीआईसी हलसौन कोरार, नैनीताल के गर्वित कुमार को तृतीय स्थान प्राप्त करने पर सम्मानित किया गया।
इसी प्रकार उत्तराखण्ड बोर्ड परीक्षा 2019 में शीर्ष स्थान प्राप्त करने वाले छात्र एवं छात्राओं को भी मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने सम्मानित किया। दसवीं की कक्षा में एम.वी.एम.आई.सी नथुवावाला की अनन्ता सकलानी, एम.वी.एम.आई.सी ऋषिकेश के अर्पित बर्थवाल को द्वितीय तथा एस.वी.एम इण्टर कालेज सितारगंज की सुरभि गहतोड़ी को तृतीय स्थान प्राप्त करने, जबकि इण्टरमीडिएट परिक्षा 2019 में एस.वी.एम.आई.सी.एस चिन्यालीसौड़ की शताक्षी तिवारी को प्रथम, इसी विद्यालय से सक्षम को द्वितीय तथा के.एन.उप्रेती रा0आ0इ0का पिथौरागढ़ के हरीश सिंह बोहरा को तृतीय स्थान प्राप्त होने पर सम्मानित किया गया।

हाईस्कूल एवं इण्टरमीडिएट परीक्षा में अच्छा परीक्षा परिणाम देने वाले स्कूलों को मुख्यमंत्री ने किया सम्मानित

 उत्कृष्ट विद्यालय पुरस्कार के अन्तर्गत इण्टर स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले विद्यालय को रू0 10 लाख, द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले विद्यालय को रू0 05 लाख एवं तृतीय पुरस्कार प्राप्त करने वाले विद्यालय को 03 लाख तथा हाईस्कूल स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले विद्यालय को रू0 08 लाख, द्वितीय स्थान प्राप्त करने करने वाले विद्यालय को 04 लाख रूपए एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले विद्यालय को 02 लाख उक्त विद्यालय को मुख्यमंत्री ट्राफी भी प्रदान की। इस क्रम में वर्ष 2018 में हाईस्कूल स्तर पर प्रथम बार पुरस्कृत होने वाले तथा प्रदेश में द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले डी0एम0जी0ए0आई0सी छिन्की फॉर्म खटीमा को रू0 5 लाख को चेक प्रदान किया गया  तथा इण्टर स्तर पर प्रदेश में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले विद्यालय ग्लोरल एस0एस0डीडीहाट पिथौरागढ़ को रू0 08 लाख एवं द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले विद्यालय जीनियस पब्लिक स्कूल पुरोला को 04 लाख का नगद पुरस्कार प्रदान किया गया। इसी क्रम में वर्ष 2019 में उत्कृष्ट विद्यालय पुरस्कार में प्रथम बार हाईस्कूल स्तर पर तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले विद्यालय एन.एम.वी.आई.सी भागीरथपुरम, टिहरी गढ़वाल को 02 लाख का नगद पुरस्कार एवं मुख्यमंत्री ट्रॉफी से सम्मानित किया जायेगा। परिषदीय परीक्षा में उत्कृष्ट परीक्षाफल देने वाले 50-50 हाईस्कूल एवं इण्टरमीडिएट विद्यालयों को उत्कृष्ट विद्यालय पुरस्कार के रूप में मोमेन्टो एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया।

मुख्यमंत्री ने पर्यावरण के क्षेत्र में सराहनीय योगदान के लिए विद्यालयों को प्रदान किया तरूश्री सम्मान।

मुख्यमंत्री ने पर्यावरण के क्षेत्र में सराहनीय योगदान के लिए रा0इ0का0 वोदनी चमोली, रा.इ.का. कठगरिया हल्द्वानी तथा रा0जुनियर हाईस्कूल मटीना बागेश्वर को एक-एक लाख की धनराशि भी प्रदान की।


शिक्षा का मकसद ही चरित्र निर्माण है- मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि सफलता तथा असफलता में बहुत कम फासला होता है। सफलता के लिए छात्रों को अपना लक्ष्य निर्धारित करना होगा। जिन छात्रों ने मेरिट मे स्थान बनाया है उन्हें आगे भी अपने को मेरिट में रखना होगा। उनकी सफलता अन्य छात्रों को भी प्रेरणा प्रदान करेगी। छात्रों को चरित्रवान बनने के लिये उन्होंने महर्षि अरविन्द घोष का उदाहरण देते हुए कहा कि उन्होंने जीवन में सफलता के लिए व्यक्ति निर्माण तथा चरित्र निर्माण पर ध्यान देने की बात कही है। शिक्षा का मकसद ही चरित्र निर्माण है। उन्होंने कहा कि शिक्षक की समाज के प्रति ज्यादा जिम्मेदारी रहती है इसीलिये उनका समाज में विशिष्ट स्थान है। उन्होंने छात्रों से नशे की आदतो से दूर रहने की अपेक्षा करते हुए कहा कि अपने संस्थान, अध्यापकों व माता-पिता के नाम को आगे बढ़ाने का दायित्व भी उनका है। इस प्रकार बेहतर समाज के निर्माण में भी वे भागीदार बन सकेंगे।  
 शिक्षा मंत्री श्री अरविन्द पाण्डे ने छात्रों से जीवन मे हतास न होने तथा हौसला बनाये रखने को कहा। उन्होंने कहा कि राज्य में शिक्षा की बेहतरी के लिये कारगर प्रयास किये जा रहे हैं। सबके लिये समान पाठ्यक्रम की व्यवस्था के तहत स्कूलों मे एनसीईआरटी की पुस्तके तथा पाठ्यक्रम लागू किया गया है।
सचिव शिक्षा डॉ. आर.मीनाक्षी सुन्दरम ने कहा कि छात्रों के बौद्धित व मानसिक विकास के साथ ही उनके भावात्मक पोषण हेतु राज्य मे आनन्दम पाठ्यचर्या का शुभारम्भ किया गया है। इसके लिये एस0सी0ई0आर0टी0 ने पाठ्यक्रम तैयार कर शिक्षकों तथा छात्रों के लिए उपयोगी पुस्तकों की उपलब्धता भी सुनिश्चित की गई है।
इस अवसर पर विधायक श्री सुरेन्द्र सिंह नेगी, निदेशक विद्यालयी शिक्षा श्री आर0के0कुंवर, निदेशक अकादमिक शिक्षा सीमा जौनसारी सहित बड़ी संख्या में शिक्षक, छात्र एवं अभिभावकगण उपस्थित थे।
—————————————————-
मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार सिंह की अध्यक्षता में गुरूवार को सचिवालय सभागार में विभिन्न विभागों, संस्थाओं से प्राप्त ग्रोथ सेंटर योजना के प्रस्ताव पर विचार हेतु उच्चाधिकार समिति की बैठक हुई। बैठक में विभिन्न विभागों द्वारा कुल 26 प्रस्तावों का प्रस्तुतीकरण किया गया, जिनमें से 15 प्रस्तावों को स्वीकृति दी गयी।
 मुख्य सचिव ने कहा कि ग्रोथ सेंटर योजना मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की फ्लैगशिप योजना है। प्रदेश के भौगोलिक क्षेत्र विशेष में चिन्ह्ति आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देने, स्थानीय उत्पादों एवं सेवाओं  को राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में स्थापित करने तथा युवाओं का पलायन रोकने के उद्देश्य से प्रदेश सरकार द्वारा ग्रोथ सेंटर योजना संचालित की जा रही है।
मुख्य सचिव ने विभागों को निर्देश दिये कि ग्रोथ सेंटर के अन्तर्गत जो भी योजनाएं लायी जाएं उसमें अधिक से अधिक स्थानीय जनता को जोड़ा जाए। उन्होंने कहा कि पूर्व से संचालित योजनाओं में स्थापित केन्द्रों को ग्रोथ सेंटर योजना में प्रस्तावित न किया जाए। ऐसे ग्रोथ सेंटर प्रस्तावित किये जाएं जिनसे आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा मिल सके एवं युवाओं को अपने ही क्षेत्र में रोजगार प्राप्त हो सके। उन्होंने कहा कि योजना का उद्देश्य नई तकनीकि का समावेश का समावेश करते हुए डिजाइन, पैकेजिंग व विपणन संबंधी आधारभूत संरचनाओं की उपलब्धता हेतु आवश्यक लिंकेज स्थापित करना है। जिसको ध्यान में रखकर विभाग प्रोजेक्ट प्रस्तुत करें। उन्होंने कहा कि स्थानीय उत्पादों हेतु ब्राण्ड का विकास, पैकेजिंग, सामान्य सुविधा केन्द्र आदि के विकास तथा विपणन सुविधाओं हेतु ई-मार्केटिंग तथा विभिन्न राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय मेलों में उत्पादकों को उनके उत्पादों का उचित लाभ दिलाना है।
बैठक का संचालन प्रमुख सचिव श्रीमती मनीषा पंवार द्वारा किया गया। बैठक में सचिव श्री अमित नेगी, श्री एल. फैनई, श्री अरविन्द सिंह ह्यांकी सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
—————————————————-
लालकुआं/हल्द्वानी -राजकीय इन्टर कालेज लालकुआं में 25 नवम्बर प्रात 11ः30 (सोमवार) से राजकीय इण्टर काॅलेज लालकुआॅ में बहुउददेशीय विधिक साक्षरता एवं जागरूकता शिविर का आयोजन किया जा रहा है। जानकारी देते हुये सिविल जज सी.डि/सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण इमरान मौ0 खान ने बताया कि इस बहुउददेशीय शिविर में कानूनी जानकारी के साथ ही चिकित्सा विभाग द्वारा जनमानस हेतु निःशुल्क चिकित्सकीय परीक्षण किया जाएगा तथा दिव्यांगता प्रमाण पत्र भी जारी किए जायेंगे। जिला प्रशासन द्वारा विद्यार्थियों एवं आम जनता के लिए आयुष्मान कार्ड, स्थायी निवास प्रमाण पत्र, जाति व आय प्रमाण पत्र आदि बनाये जायेंगे, श्रम विभाग द्वारा श्रमिकों का पंजीकरण किया जाएगा, समाज कल्याण विभाग द्वारा विभिन्न पेंशन योजनाओं के फार्म भरवाये जायेंगे। पुलिस, शिक्षा, राजस्व, कृषि एवं वन आदि विभागों द्वारा अपने विभाग से सम्बन्धित जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी जाएगी तथा पात्र व्यक्तियों को लाभांवित भी कराया जाएगा।
—————————————————-
ट्रांसपोर्ट नगर में अवैध रूप से संचालित 2 मोबाईल टावरों को जिलाधिकारी श्री सविन के आदेशों के क्रम में जिला विकास प्राधिकरण हल्द्वानी की टीम ने सील कर दिया। श्री प्रत्यूष सिंह संयुक्त सचिव जिला विकास प्राधिकारण ने गुरूवार की दोपहर ट्रांसपोर्ट नगर पहुॅचकर दोनों अवैध टावरों को सील करने की कार्यवाही की। इसको लेकर काफी हड़कम्प मचा रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.