मुख्यमंत्री ने गांधी पार्क में ओपन जिम का लोकार्पण किया।##राज्यमंत्री धनसिंह रावत ने विद्युत समस्याओं की बैठक ली।##मुख्यसचिव ने सचिवालय में ली बैठक।पढिए Janswar.comमें।

समाचार प्रस्तुति-नागेन्द्र प्रसाद रतूड़ी

 मुख्यमंत्री ने गांधी पार्क में ओपन जिम का लोकार्पण किया

 नगर निगम देहरादून के सभी वार्डो में बनाए जाएंगे ओपन जिम

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गांधी पार्क में नगर निगम देहरादून द्वारा निर्मित ओपन जिम को लोकार्पित किया। उन्होंने कहा कि नगर निगम के सभी वार्डो में इस तरह के ओपन जिम बनाएं जाएं। देहरादून में खुले मैदानों व पार्कों की कमी है। इस तरह के जिम बनने से देशवासियो को काफी सुविधा मिलेगी।
फिट इंडिया फिट दून
मुख्यमंत्री ने कहा कि गांधी पार्क में वॉक के लिए आने वाले युवाओं, बच्चों व बुजुर्गो के स्वास्थ्य के लिये ओपन जिम लाभकारी होगा। यहां ट्रेनर भी रहेंगे। दिव्यांगजनों के अनुकूल उपकरण भी लगाए जाएं।
युवाओं को क्रिएटिवीटी और टेलेंट दिखाने का मौका मिले
मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बात की सम्भावना पर भी विचार किया जाए कि क्या सप्ताह में किसी एक दिन चार घंटे के लिये घंटाघर से गांधी पार्क तक जीरो जोन रहे। इस दौरान देशवासी खासतौर पर बच्चे, युवा यहाँ आएं। सामाजिक व सांस्कृतिक कार्यक्रम हों। लोगों को अपनी कला का प्रदर्शन करने का अवसर मिले। इससे क्रिएटिवीटी और सकारात्मक ऊर्जा का संचार होगा।
गांधी पार्क में हो रेन वाटर हार्वेस्टिंग
मुख्यमंत्री ने नगर निगम के अधिकारियों को गांधी पार्क में रेन वाटर हार्वेस्टिंग की व्यवस्था करने के निर्देश दिये। इससे गांधी पार्क में पानी की आवश्यकता की पूर्ति यहीं से हो सकेगी।
सरकार की हर योजना के केन्द्र में आमजन
विधायक राजपुर श्री खजानदास ने कहा कि पिछले एक वर्ष में नगर निगम देहरादून ने काफी काम शुरू किए हैं। इनमें से अधिकांश उनके विधानसभा क्षेत्र में हैं। राज्य सरकार की हर योजना के केन्द्र में आम जन हैं। अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना, सीएम हेल्पलाईन इसका उदाहरण हैं।
दून की बनेगी देश में पहचान
मेयर श्री सुनील उनियाल गामा ने कहा कि देहरादून शहर को बेहतर बनाने के लिये नगर निगम लगातार प्रयासरत है। शहर को सुंदर बनाने के लिए छोटी छोटी बातों पर ध्यान दिया जा रहा है। जल्द ही दून की देश विदेश में पहचान बनेगी। इस बार बरसात से पहले नालों की सफाई की गई। यही कारण था कि घरों में पानी घुसने की शिकायत कम रही। सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्ति के लिए मानव श्रंखला बनाकर पूरे देश में संदेश दिया गया। देहरादून में शत प्रतिशत लाईट की व्यवस्था प्राथमिकता में है।

गांधी पार्क में सप्ताह में एक दिन बुजुर्गों के शुगरटेस्ट आदि की होगी व्यवस्था
नगर आयुक्त श्री विनय शंकर पाण्डे ने कार्यक्रम का संचालन करते हुए बताया कि गांधी पार्क में सप्ताह में एक दिन बुजुर्गों के शुगर टेस्ट आदि की व्यवस्था की कोशिश की जा रही है।

—————————————————-
प्रदेश के सहकारिता, उच्च शिक्षा, दुग्ध विकास एवं प्रोटोकाॅल राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार)   डाॅ0 धन सिंह रावत ने विधान सभा स्थित कक्ष में पौडी, श्रीनगर क्षेत्र में ऊर्जा विभाग से संबंधित समस्याओं के संबंध में बैठक ली।

बैठक में कहा गया कि सम्पूर्ण प्रदेश के पर्वतीय क्षेत्रों में 500 उपभोक्ता पर एक मीटर रीडर होना चाहिए तथा अनुमान के आधार के स्थान पर वास्तविक विद्युत बिल दो माह में उपलब्ध कराया जाय। विद्युत कैम्प लगाने हेतु न्याय पंचायत अथवा ब्लाक कार्यालय का उपयोग किया जाय तथा कैम्प स्थल पर पेयजल का भी प्रबन्ध किया जाय।

श्रीनगर, खिर्सू, पावौं, थलीसैंण एवं ढूंगीधार, चिपलधार मजरा महादेव, चाकीसैण, बीरोखाल, नैनीडांडा, रिकरीखाल इत्यादि कस्बे में अंडरग्राउण्ड केबिल एवं खुले तारो को कवर्ड तार में बदलने का कार्य प्रारम्भ किया जायेगा। प्रथम चरण में बड़ी लाइनों के लिए कार्य होगा। इसके लिए स्टीमेट तैयार कर टैण्डर करने के निर्देश दिये गये।

32 करोड़ रू0 की लागत से 28 किमी, ढ़िकाल ग्राम पम्पिंग योजना के खिर्सू ब्लाक में पेयजल योजना लगई जा रही है। पेयजल उपलब्ध कराने के उद्देश्य से इससे संबंधित प्रत्येक उपभोक्ता विद्युत कनेक्शन को देने का निर्णय लिया गया। ढ़िकाल ग्राम पम्पिंग योजना का लोकार्पण जनवरी, 2020 में मा0 मुख्यमंत्री करंेगे।

बैठक में निर्णय लिया गया कोटद्वार डिवीजन में लगभग 1 लाख 25 हजार उपभोक्ता का भार होने के कारण अलग सब डिवीजन थलीसैंण के समीप बनाया जायेगा तथा चाकीसैंण में 33 के0वी0 बड़ी विद्युत गृह का निर्माण कार्य एक सप्ताह में शुरू होगा। इस क्षेत्र के लगभग 27 हजार परिवार इससे लाभान्वित होंगे। यह भी कहा गया कि इस क्षेत्र के ट्रान्सफार्मर को बदला जाय एवं आवश्यकता पड़ने पर नये के ट्रान्सफार्मर लगाये जाय।

बैठक में बताया गया कि श्रीनगर क्षेत्र में निम्नलिखित कार्य प्रारम्भ हो चुके हैं:-


क्र. स. कार्य का नाम कार्य की लागत (लाख में) प्रगति आख्या
1 33/11 के0वी0 उपसंस्थान श्रीनगर में पावर परिवर्तकों की क्षमता वृद्धि (2×5 MVA से 2×8 MVA का कार्य रू0 52.38 ट्रान्सफार्मर उपलब्ध 20.12.2019 तक कार्य पूर्ण करने का लक्ष्य
2 33/11 के0वी0 उपसंस्थान श्रीकोट, श्रीनगर में 01 नम्बर 11 के0वी0 OBC को VCB में बदलने का कार्य। 3 एमवीए अतिरिक्त ट्रान्सफार्मर का स्थापन कार्य रू0 48.38
3 विद्युत वितरण उपखण्ड, श्रीनगर का अन्तर्गत नगर पालिका क्षेत्र श्रीनगर में लम्बे स्पानों पर ग्राउण्ड क्लीरेन्स हेतु पोल लगाना एवं लम्बे विद्युत संयोजनों हेतु एल.टी.लाईन का निर्माण कार्य। रू0 20.67
4 विद्युत वितरण उपखण्ड, श्रीनगर के अन्तर्गत नगर पालिका क्षेत्र श्रीनगर एवं श्रीकोट शहर में क्षतिग्रस्त विद्युत खम्बों को बदलने का कार्य। रू0 7.02
5 विद्युत वितरण उपखण्ड, श्रीनगर के अन्तर्गत श्रीकोट, भक्तियाना (श्रीनगर) में एल.टी.ओवरहेड लाइ्रन के स्थान पर एल.टी.XLPE AB Cable डालने का कार्य। रू0 73.31
6 विद्युत वितरण उपखण्ड, श्रीनगर के अन्तर्गत ग्राम-डांग (श्रीनगर) में एल.टी.ओवरल हेड लाईन के स्थान पर एल.टी. XLPE AB Cable डालने का कार्य। रू0 33.43
7 विकासखण्ड खिर्सू के अन्तर्गत ढिकालगांव पम्पिंग योजना हेतु अधिशासी अभियन्ता, जल निगम को 1 एमवीए विद्युत भार देने हेतु 28.5 KM 11 केवी लाईन का निर्माण कार्य। रू0 333.77 31.12.2019 तक कार्य पूर्ण करने का लक्ष्य
8 विद्युत वितरण उपखण्ड, श्रीनगर के अन्तर्गत शहरी क्षेत्र में ओवरहेड एल.टी. लाईन को LT AB Cable में बदलने का कार्य। रू0 117.0
9 विकासखण्ड पावौ के अन्तर्गत विभिन्न ग्रामों, सतपुली नगर प्लाई, मिरचैडा, पोखडा, तकनोली, गडकी तल्ली, मसमोली, एकेश्वर बाजार, पाटीसैण बाजार में एल.टी. वेयर कण्डक्टर के स्थान पर एल.टी.एबी केबिल डालने का कार्य। रू0 235.0
10 33/11 केवी उपसंस्थान बुआखाल एवं 33ध्11 केवी चिपलघाट को Double Supply हेतु 33 केवी लाईन का निर्माण कार्य। रू0 67.0
11 Rusted Pole बदलने का कार्य (150 पोल) रू0 33.43
12 चिपलघाट एवं बुआखाल में GI Wire बदलने का कार्य। रू0 235

बैठक में बताया गया कि श्रीनगर क्षेत्र में निम्नलिखित प्रस्तावित किये गये है, जिन पर  शीघ्र कार्य प्रारम्भ हो जायेगारू-
 विधान सभा क्षेत्र श्रीनगर गढ़वाल के अन्तर्गत खिर्सू ब्लाक में प्रस्तावित कार्यो का विवरण
क्र. स. कार्य का नाम कार्य की लागत
(लाख में)
1 विकास खण्ड खिर्सू के अन्तर्गत विभिन्न ग्रामों में  LT Bare Conductor  के स्थान पर AB Cable  स्थापित करने का कार्य (ग्वाड, बुधाणी, मरखोडा, कटाखोली, भैंसकोट, बुदेशू, पोखरी, जोगडी, नवाखाल, सुरालगाूव, मुण्डोली इत्यादि (30 किमी) रू0 203.00
2 Rusted Pole बदलने का कार्य (150 पोल) रू0  15.00
3 Mid Span पर 11 केवी पोल लगाने का कार्य (200 पोल) रू0  45.00
4 Mid Span पर एल.टी. पोल लगाने का कार्य (150 पोल) रू0  25.00
5 नये परिवर्तक स्थापित करने का कार्य (63 केवी-10, 100 केवी-15, 250 केवी-2) रू0 206.00
6 नये परिवर्तक स्थापित करने हेतु 11 केवी लाईन का निर्माण कार्य (10 किमी) रू0 105.00

विधान सभा क्षेत्र श्रीनगर गढ़वाल के अन्तर्गत पाबौ ब्लाक में प्रस्तावित कार्यो का विवरण

क्र. स. कार्य का नाम कार्य की लागत (लाख में)
1 विकास खण्ड खिर्सू के अन्तर्गत विभिन्न ग्रामों में LT Bare Conductor के स्थान पर AB Cable स्थापित करने का कार्य (30 किमी) रू0 202.00
2 Rusted Pole बदलने का कार्य (150 पोल) रू0 15.00
3 Mid Span पर 11 केवी पोल लगाने का कार्य (80 पोल) रू0 20.00
4 Mid Span पर एल.टी. पोल लगाने का कार्य (100 पोल) रू0 35.00
5 नये परिवर्तक स्थापित करने का कार्य (63 केवी-05, 100 केवी-05) रू0 130.00
6 नये परिवर्तक स्थापित करने हेतु 11 केवी लाईन का निर्माण कार्य (17 किमी) रू0 117.00
7 परिवर्तकों की क्षमता वृद्धि का कार्य (25 केवी से 63 केवीए-06 नम्बर, 63 केवीए से 100 केवीए-06 नम्बर) रू0 156.00

विधान सभा क्षेत्र श्रीनगर गढ़वाल के अन्तर्गत थलीसैण ब्लाक में प्रस्तावित कार्यो का विवरण
क्र. स. कार्य का नाम कार्य की लागत (लाख में)

1 विकास खण्ड खिर्सू के अन्तर्गत विभिन्न ग्रामों में LT Bare Conductor के स्थान पर  AB Cable स्थापित करने का कार्य (30 किमी) रू0 203.00
2  Rusted Pole बदलने का कार्य (150 पोल) रू0 15.00
3 Mid Span पर 11 केवी पोल लगाने का कार्य (200 पोल) रू0 46.00
4 Mid Span पर एल.टी. पोल लगाने का कार्य (150 पोल) रू0 45.00
5 नये परिवर्तक स्थापित करने का कार्य (63 केवी-10, 100 केवी-15, 250 केवी-2) रू0 206.00
6 नये परिवर्तक स्थापित करने हेतु 11 केवी लाईन का निर्माण कार्य (10 किमी) रू0 105.00
7 33/11 केवी 2×3 Mtr उपसंस्थान का निर्माण कार्य। रू0 250.00

बैठक में सचिव ऊर्जा राधिका झा, एम.डी. बी.के.मिश्रा, एस.डी.ओ. पौडी, आर.पी.नौटियाल, अधिशासी अभियन्ता कोटद्वार आर.आर सिंह, अधिशासी अभियन्ता श्रीनगर वाय.एस.तोमर एवं  अधीक्षण अभियन्ता श्रीनगर एम.आर. आर्या आदि मौजूद थे।

—————————————————–
सचिवालय सभागार में आज सोमवार को मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार सिंह के समक्ष प्रदेश के पांच शहरों देहरादून, ऋषिकेश, मसूरी, नैनीताल एवं हल्द्वानी को सन् 2020 तक प्लास्टिक मुक्त करने विषयक कार्य योजना का शहरी विकास विभाग द्वारा प्रस्तुतीकरण किया गया।
प्रस्तुतीकरण के दौरान अवगत कराया गया, कि विभाग द्वारा 50 माईक्रोन से कम मोटाई के प्लास्टिक थैलों को पूर्णतः प्रतिबन्धित करने का शासनादेश के अनुपालन में सख्ती से कार्रवाई की जा रही है तथा सिंगल यूज प्लास्टिक के विषय मेंं व्यापार मण्डल, स्कूली छात्र, समाचार पत्रों आदि के माध्यम से प्रचार-प्रसार लगातार किया जा रहा है। बताया गया, कि उत्तराखण्ड कूड़ा फेंकना एवं थूकना प्रतिषेध अधिनियम 2016 दिनांक 30-11-2016 के अंतर्गत अब तक 1560 चालान कर रू0 7.57 लाख का अर्थ दण्ड दोषियों से वसूला गया है। बैठक में बताया गया, कि उत्तराखण्ड प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा नियमावली व प्रतिबंधित प्लास्टिक के प्रकार की सूची बनाई जा रही है। प्रस्तुतीकरण के दौरान बताया गया कि नगर निकाय क्षेत्र के अंतर्गत किसी भी प्रकार के प्लास्टिक व थर्माकोल से बनी थैलियां, पत्तल, ग्लास, कप, पैकिंग सामग्री इत्यादि का इस्तेमाल तत्काल प्रभाव से पूर्णतः प्रतिबंधित है।
प्रस्तुतीकरण के दौरान बताया गया, कि प्रथम चरण में प्रदेश के पांच शहरों देहरादून, ऋषिकेश, मसूरी, नैनीताल एवं हल्द्वानी में निर्धारित प्राविधान के तहत 4947 लोगों से चालान द्वारा अक्टूबर 2019 तक रू 58.13 लाख की वसूली की गई तथा 11 सितम्बर से 27 अक्टूबर, 2019 तक प्रदेश में चलाये गए ‘‘स्वच्छता ही सेवा‘‘ अभियान के अंतर्गत 35.76 मी0टन प्लास्टिक संग्रहण किया गया तथा 13.88 मी0टन प्लास्टिक रिसाईकिल किया गया। प्रस्तुतीकरण में बताया गया कि देहरादून, ऋषिकेश, हल्द्वानी में प्लास्टिक काम्पेक्टर के लिए धनराशि जारी कर दी गई है तथा मसूरी में प्लास्टिक काम्पेक्टर उपलब्ध है एवं नैनीताल से संग्रहित प्लास्टिक का रिसाईक्लिंग कार्य हल्द्वानी में किया जायेगा। प्रस्तुतीकरण में यह भी बताया गया कि प्लास्टिक से ईंधन बनाने की योजना हरिद्वार में प्रस्तावित है, जिसके लिए शीघ्र ही आर0एफ0पी0 प्रकाशित की जा रही है।  
बैठक में सचिव वित्त श्री अमित नेगी, सचिव वन श्री अरविन्द सिंह ह्यांकी, अपर सचिव श्री चन्द्रेश यादव सहित विभिन्न विभाग के अधिकारी उपस्थित थे

Leave a Reply

Your email address will not be published.