मुख्यमंत्री ने खटीमा मंडी में धान क्रय केन्द्रों का किया निरीक्षण, किसानों की सुनी समस्यायें। #पेयजल मंत्री ने पेयजल विभाग की समीक्षा की#अपर मुख्य सचिव ने की लोनिवि व संस्कृति विभाग की घोषणाओं की समीक्षा।#श्रीनगर में रोजगार मेले का आयोजन किया गया।-janswar.com

-अरुणाभ रतूड़ी

 

  • मुख्यमंत्री ने खटीमा मंडी में धान क्रय केन्द्रों का किया निरीक्षण, किसानों की सुनी समस्यायें।

  • राजकीय आश्रम पद्धति जनजाति स्कूल के निर्माणाधीन भवन तथा खटीमा में निर्माणाधीन शहीद स्मारक स्थल का भी किया निरीक्षण।
  • नागरिक चिकित्सालय खटीमा में मरीजों का जाना हाल-चाल, अस्पताल की व्यवस्थाओं का लिया जायजा।
  • ग्राम पहेनिया खटीमा में नये बस अड्डे के निर्माण स्थल का भी किया निरीक्षण।

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी मंगलवार को अपराह्न में खटीमा पहुंचे। उन्होंने निर्माणाधीन आश्रम पद्धति जनजाति विद्यालय खटीमा के निर्माणाधीन भवन का निरीक्षण किया तथा संबंधित कार्यदायी संस्था एवं अधिकारियों को निर्माण कार्यों में तेजी लाई जाने के निर्देश दिये।

       मुख्यमंत्री ने खटीमा कृषि उत्पादन मंडी में धान क्रय केंद्रों का निरीक्षण किया और वहां रखे नमी यंत्र की गुणवत्ता को भी देखा। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि क्रय केंद्रों पर किसानों के लिए समुचित व्यवस्था  सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कांटे में रखकर धान तोल यंत्र का भी निरीक्षण किया व मंडी में किसानों से वार्ता कर उनकी समस्यायें भी सुनी तथा उसके निराकरण के निर्देश दिये।
मुख्यमंत्री ने खटीमा में नवनिर्मित एकलव्य स्कूल भवन का अवलोकन किया नागरिक चिकित्सालय खटीमा में पहुंच कर उन्होंने आयुष विभाग की आकस्मिक सेवाओं  का औचक निरीक्षण किया। वहां भर्ती मरीजों से उनके स्वास्थ्य के बारे हालचाल पूछा उन्होंने नागरिक चिकित्सालय में स्थापित हो एक हजार क्षमता वाले गैस प्लांट का भी निरीक्षण किया।
       मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने निर्माणाधीन शहीद स्मारक के निर्माण कार्यों का अवलोकन भी किया तथा संबंधित अधिकारियों को कार्यों में गति लाने के निर्देश देते हुए कार्यों में गुणवत्ता, पारदर्शिता एवं समयबद्धता का विशेष ध्यान रखे जाने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने पुराना अस्पताल खटीमा में अस्थाई सैनिक कैंटीन के निर्माण कार्यों का भी अवलोकन किया तथा कर्नल चंद्रा से फोन पर वार्ता कर 9 नवंबर से पहले कार्यों को पूरा करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री द्वारा भ्रमण के दौरान स्थानीय लोगों से भी बातचीत की तथा लोगों का हालचाल जाना।
मुख्यमंत्री ने स्थानीय मार्केट खटीमा में ठेले पर मूंगफली का भी स्वाद लिया तथा मूंगफली विक्रेता श्री चिरौंजी से उनका हाल-चाल भी पूछा उन्होंने कहा कि इस दुकान पर आने से पुरानी यादें ताजी हो गई। मुख्यमंत्री ने हनुमान मंदिर में पूजा अर्चना कर प्रदेश की खुशहाली की भी कामना की।

प्रदेश के पेयजल मंत्री बिशन सिंह चुफाल ने विधानसभा कार्यालय कक्ष में पेयजल विभाग से सम्बन्धित समस्याओं के समाधान हेतु विभागीय समीक्षा बैठक की।

बैठक में लिये गये महत्वपूर्ण निर्णय के अन्तर्गत पेयजल विभाग के कार्मिकों के वेतन का बैकलॉक समाप्त कर दिया जायेगा। इस प्रकार पिछले 15 वर्षो में पहली बार पेयजल विभाग के कार्मिकों का बैकलॉक समाप्त कर दिया जायेगा। इसके अतिरिक्त पेयजल विभाग के कार्मिकों का वेतन राजकीय कोषागार के माध्यम से भी देने का निर्णय लिया गया है।

बैठक में पेयजल विभाग के श्रमिकों के कल्याण हेतु लेबर वैलफेयर सैल का भी गठन करने का निर्णय लिया गया है। इसके माध्यम से श्रमिकों का श्रम विभाग में पंजीकरण के बाद बजट का निर्धारित अंश प्राप्त करके श्रमिकों के पारिवारिक सदस्यों के शादी, पढ़ाई, चिकित्सा इत्यादि के लिए सहायता दी जायेगी।

हरिद्वार नगर से सम्बन्धित सीवर लाईन की समस्या के समाधान हेतु निर्देश दिये गये यहॉ 06 किलोमीटर की सीवरेज लाईन बिछाने हेतु योजना स्वीकृत कर और बजट आबंटित कर कार्य तत्काल प्रारम्भ करने के निर्देश दिये गये।

इस दौरान बैठक में सचिव नितेश झा, अपर सचिव नितिन भदौरिया, प्रबन्ध निदेशक पेयजल उदयराज सिंह, मुख्य अभियन्ता एस. सी. पन्त, मुख्य महाप्रबन्धक पेयजल निगम सुरेश कुमार सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थे।             ————————————————

  • अपर मुख्य सचिव ने की लोनिवि व संस्कृति विभाग की घोषणाओं की समीक्षा।
  • योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन के दिये निर्देश।
  • घोषणा की योजनाओं पर 15 दिसम्बर तक हो निर्माण प्रारम्भ।

अपर मुख्य सचिव श्री आनन्द बर्द्धन ने मंगलवार को सचिवालय में मा0 मुख्यमंत्री द्वारा की गई लोक निर्माण विभाग तथा संस्कृति एवं धर्मस्व विभाग से सम्बन्धित घोषणाओं की समीक्षा की।
अपर मुख्य सचिव ने मा0 मुख्यमंत्री द्वारा की गयी घोषणाओं को शीघ्रता से पूरा करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने घोषणाओं से सम्बन्धित प्रस्तावों पर जो भी औपचारिकताएं होनी है, उन्हें शीघ्रता से पूरा किया जाय। उन्होंने योजनाओं के क्रियान्वयन में गुणवत्ता तथा पारदर्शिता का विशेष ध्यान देने के भी निर्देश दिये। समीक्षा के दौरान बताया गया कि लोक निर्माण विभाग से सम्बन्धित माह जुलाई, 2021 से अब तक मा0 मुख्यमंत्री द्वारा कुल 181 घोषणायें की गई है जिसमें 1 घोषणा राज्यस्तरीय तथा 180 घोषणाएं जनपद स्तरीय है। 3 योजनाओं के शासनादेश निर्गत किये जा चुके हैं, शेष पर कार्यवाही गतिमान है। 55 घोषणाओं का आगणन प्राप्त हो गया है, जबकि शेष की डीपीआर तैयार की जा रही है।
अपर मुख्य सचिव श्री आनन्द बर्द्धन ने निर्देश दिये कि जिन 55 घोषणाओं के आगणन शासन को प्राप्त हो चुके है। उनके शासनादेश एक हफ्ते के अन्दर निर्गत कर दिये जाय, तथा शेष के आगणन 10 नवम्बर तक तैयार हो जाय इसकी व्यवस्था की जाय। उन्होंने कहा कि 10 नवम्बर तक प्राप्त होने वाले आगणनों के शासनादेश 17 नवम्बर तक जारी हो जाय यह भी सुनिश्चित किया जाय। उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिये कि 15 दिसम्बर तक की गई घोषणाओं की योजनाओं पर निर्माण कार्य प्रारम्भ कर दिये जाएं।
संस्कृति एवं धर्मस्व विभाग के अन्तर्गत मा0 मुख्यमंत्री घोषणाओं की समीक्षा में बताया गया कि संस्कृति विभाग की कुल 16 घोषणाएं जिसमें 1 घोषणा मंत्रिमंडल द्वारा लिये गये निर्णय, 3 घोषणा राज्य स्तरीय तथा 12 घोषणा जनपद स्तरीय है। धर्मस्व में कुल 24 घोषणाओं में से 1 राज्य स्तरीय घोषणा तथा 23 जनपद स्तरीय घोषणाएं सम्मिलित हैं। जिन पर कार्यवाही गतिमान है।
संस्कृति एवं धर्मस्व विभाग के अन्तर्गत की गई घोषणाओं के सम्बन्ध में बताया गया कि जागेश्वर धाम श्रावणी मेले को राज्य मेला घोषित किये जाने एवं सोबन सिंह जीना के जन्मदिवस पर उनके पैतृक ग्राम सुनोली में प्रतिवर्ष आयोजित होने वाले उत्सव को राजकीय मेला घोषित किये जाने, विधानसभा क्षेत्र सोमेश्वर के चनौदा शहीद दिवस को राजकीय मेला घोषित किये जाने के साथ ही विधानसभा क्षेत्र लोहाघाट के अन्तर्गत बग्वाल मेले को भी राजकीय मेला घोषित करने के साथ ही विभागीय मेला सूची में सम्मिलित किये जाने की कार्यवाही कर दी गई है। इसके साथ ही स्वतंत्रता संग्राम सेनानी शहीद चन्द्र शेखर आजाद के बलिदान दिवस पर दुगडडा में आयोजित होने वाले शहीद मेले को विभागीय मेला सूची में शामिल कर दिया गया है।
लखुडियार चित्रित शैलाश्रय, ग्राम दिंगोली, अल्मोड़ा के सौन्दर्यीकरण, बग्वालीपोखर मे रामलीला मैदान का विस्तारीकरण चाहरदीवारी व मंच निर्माण, विधानसभा क्षेत्र खटीमा के नेपाल बार्डर पर आकर्षक भव्य गेट निर्माण, नौगवानाथ के गुरू गोरखनाथ के स्थान पर गुरू गोरखनाथ भव्य द्वार बनाये जाने के सम्बन्ध में कार्यवाही की जा रही है।
इस दौरान बैठक में सचिव श्री अमित नेगी, प्रभारी सचिव एस.एन.पाण्डेय, अपर सचिव श्रीमती सोनिका तथा श्री अतर सिंह, उप सचिव श्री हीरा सिंह बसेड़ा, निदेशक संस्कृति श्रीमती बीना भट्ट सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


आई.टी.आई. परिसर श्रीनगर गढ़वाल में आज रोजगार मेले का आयोजन किया गया। सेवायोजन अधिकारी पौड़ी मुकेश रयाल ने जानकारी देते हुए बताया कि रोजगार मेले में नोएडा स्थित मैन्यूफैक्चिरिंग प्लांट में सैमसंग इण्डिया इलैक्ट्रिोनिक्स प्रा.लि. द्वारा राज्य के रोजगारोन्मुख हाई स्कूल पास 18-23 वर्ष के अभ्यर्थियों जिनके द्वारा वर्ष 2018/19/20 में आई०टी०आई० मैकेनिक इलेक्ट्रॉनिक्स, मेकैनिक कंजूमर इलेक्ट्रॉनिक्स, इलेक्ट्रीशियन, फिटर, आईसीटीएसएम, आरएसी, वायरमैन व्यवसायों में प्रशिक्षण प्राप्त अभ्यर्थियों हेतु ट्रेनिज प्रशिक्षु के लिए साक्षात्कार चयन परीक्षा का आयोजन किया गया। साक्षात्कार चयन परीक्षा ट्रेनिज में कुल 36 प्रतिभागियों का पंजीकरण किया, जिसमें से 11 अभ्यर्थी साक्षात्कार के पश्चात् चयनित हुए जिन्हें मेला स्थल पर ही नियुक्ति पत्र प्रदान किए गये।
आयोजित रोजगार चयन प्रक्रिया मेले में अमित त्रिपाठी (डीआरसी) कनिष्ठ सहायक अनिल सिंह  तथा सैमसंग इण्डिया इलैक्ट्रिोनिक्स प्रा०लि० से एच आर पावित्री धामी, महेश शर्मा व मानवेन्द्र सिंह सहित अन्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.