मुख्यमंत्री ने कोविड19नियंत्रण व वैक्सीनेशन की प्रगति हेतु जिलाधिकारियो को टेस्टिंग, माइक्रो कंटेनमेंट जोन, कोविड अप्रोप्रियेट बिहेवियर और इंफोर्समेंट पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिये।#मुख्यमंत्री दिल्ली प्रवास में राष्ट्रपति,उपराष्ट्रपतिएवं लोकसभा अध्यक्ष से औपचारिक भेंट करेंगे।# स्वामित्व कार्ड समय पर व त्रुटि# स्वामित्व कार्ड वितरण कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु जिलाधिकारी पौड़ी गढवाल ने संबंधित अधिकारियों को समय से पूर्व कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिये।

मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने सचिवालय से कोविड -19 के नियंत्रण एवं कोविड वैक्सीनेशन की प्रगति के संबंध में जिलाधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक कर निर्देश दिए कि टेस्टिंग, माइक्रो कंटेनमेंट जोन, कोविड अप्रोप्रियेट बिहेवियर और इंफोर्समेंट पर विशेष ध्यान दिया जाए। कोविड की संभावित तीसरी लहर के दृष्टिगत सभी व्यवस्थाएं पूर्ण रखी जाए। उन्होंने कहा कि सभी जिलों में तैयारियां अच्छी हैं, लेकिन इन व्यवस्थाओं को कैसे और आगे बढ़ाया जा सकता है, इस पर ध्यान दिया जाए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ प्राइवेट अस्पतालों में मरीजों से निर्धारित शुल्क से अधिक धनराशि लेने और अटल आयुष्मान कार्ड का लाभ न दिए जाने की शिकायतें आ रही हैं। ऐसा करने वाले अस्पतालों पर सख्त कार्रवाई की जाय। समय समय पर अस्पतालों का निरीक्षण भी किया जाय। मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में टेस्टिंग और वैक्सीनेशन को और बढ़ाया जाए। इसके लिए नियमित शिविर लगाए जाएं। मानसून सीजन को ध्यान में रखते हुए पर्वतीय क्षेत्रों में ऑक्सीजन सिलेंडर, आवश्यक दवाओं एवं सभी प्रकार की आवश्यक सामग्री की पूर्ण व्यवस्था रखी जाय।
मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि कोविड पर प्रभावी नियंत्रण के लिए राज्य सरकार द्वारा हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। ऑक्सीजन, आईसीयू बेड, वेंटिलटर की पर्याप्त व्यवस्था है। जिलों के अलावा सीएचसी स्तर तक भी ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कोविड से लड़ाई के लिए किसी भी प्रकार की चुनौती के लिए तैयार रहें। डीआरडीओ के सहयोग से ऋषिकेश एवं हल्द्वानी में स्थापित कोविड केयर सेंटर से भी राज्य को काफी मदद मिलेगी।
मुख्य सचिव श्री ओमप्रकाश ने कहा कि कोविड की संभावित तीसरी लहर को दृष्टिगत रखते हुए अगले दो माह विशेष सतर्कता बरतने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि प्रतिदिन 40 हजार टेस्टिंग का लक्ष्य जरूर पूरा किया जाय। कोविड पर प्रभावी नियंत्रण के लिए लिए जागरूकता अभियान निरंतर चलता रहे। प्रचार के लिए नये माध्यमों पर ध्यान दिया जाय। इसके लिए रंगमंच कर्मियों का सहयोग लिया जाय, इससे जागरूकता भी अच्छी होगी। मुख्य सचिव ने कहा कि इन्फोर्समेंट पर विशेष ध्यान दिया जाय। इसके लिए डिप्टी एसपी स्तर के अधिकारियों की ड्यूटी लगाई जाय।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार श्री शत्रुघ्न सिंह, अपर मुख्य सचिव श्रीमती मनीषा पंवार, डीजीपी श्री अशोक कुमार, सचिव श्री अमित नेगी, श्री आर. मीनाक्षी सुंदरम, डॉ. पंकज पाण्डेय, डीजी स्वास्थ्य डॉ. तृप्ति बहुगुणा, वर्चुअल माध्यम से सभी कमिश्नर, जिलाधिकारी, एसएसपी, सीएमओ आदि उपस्थित थे।

                   ###

 

मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत रविवार सांय नई दिल्ली के लिए रवाना होंगे। अपने दो दिवसीय दौरे पर मुख्यमंत्री, राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, लोकसभाध्यक्ष से शिष्टाचार भेंट करेंगे। इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री 14 व 15 जून को विभिन्न केन्द्रीय मंत्रियों से भेंट कर राज्य से संबंधित महत्वपूर्ण बिंदुओं पर विचार विमर्श करेंगे।
मुख्यमंत्री जिन केन्द्रीय मंत्रियों से मुलाकात करेंगे उनमें श्रीमती स्मृति जुबिन ईरानी, मंत्री कपड़ा, महिला बाल विकास, श्री किरण रिजिजू, राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), खेल एवं युवा मामले, श्रीमती निर्मला सीतारमण, वित्त मंत्री, श्री धर्मेन्द्र प्रधान, मंत्री पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस, श्री प्रकाश जावडेकर मंत्री सूचना एवं प्रसारण, पर्यावरण वन और जलवायु परिवर्तन, भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम, श्री नरेन्द्र सिंह तोमर, मंत्री पंचायतीराज, कृषि एवं किसान कल्याण ग्रामीण विकास, श्री पीयूष गोयल, मंत्री वाणिज्य एवं उद्योग, रेल, उपभोक्ता मामले खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण, श्री हरदीप पुरी, राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), नागरिक उड्डयन, आवास और शहरी मामले, श्री प्रहलाद सिंह पटेल, राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), पर्यटन शामिल हैं।


जिलाधिकारी गढ़वाल कैंप कार्यालय के वीसी कक्ष से जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे ने आज वर्चुअल के माध्यम से जनपद के समस्त उपजिलाधिकारी, खण्ड विकास अधिकारी एवं तहसीलदार व संबंधित अधिकारी के साथ स्वामित्व योजना के क्रियान्वयन हेतु समीक्षा बैठक ली। 15 अगस्त 2021 को मा0 प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में आयोजित स्वामित्व कार्ड वितरण कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को समय से पूर्व कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिये।  कहा कि किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नही होगा। उन्होने प्राथमिक नक्शा तथा अन्तिम नक्शा इंट्रीब्यूटी कार्य सही तरह से शीघ्र करने के निर्देश दिऐ। कहा कि सभी राजस्व गांव का सर्वे किया जाना है, इसमें किसी प्रकार की दुविधा न रखें। कहा कि जिन-जिन क्षेत्रों में ड्रोन सर्वे नहीं हुआ है वहा तत्काल ड्रोन सर्वे की कार्य करना सुनिश्चित करें तथा नक्शा 30 जून 2021 से पूर्व सर्वे ऑफ इंडिया को भेजना सुनिश्चित करेंगे। अंतिम नक्शा के बाद शीघ्र 10 दिन की नोटिस जारी करेंगे। जो कि 10 दिन के भीतर आपत्ति आने पर निस्तारण की कार्यवाही करेंगे। उन्होने कहा कि तैयार नक्शा को प्रत्येक सप्ताह जिला कार्यालय पौड़ी में एएलआरओ के पास समीट करेंगे, जिन्हे समय पर समन्यवय स्थापित करते हुए सर्वे आफ इण्डिया भारत सरकार को भेज दी जायेगी। कहा कि कार्य में तेजी लाने हेतु साप्ताहिक बैठक आहूत की जायेगी। सभी संबंधित अधिकारी दी गई जिम्मेदारी को गंभीरता से लेना सुनिश्चित करेंगे।
समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी डॉ. जोगदण्डे ने जनपद के सभी तहसीलों की क्रमवार अद्यतन जानकारी संबंधित उपजिलाधिकारी, तहसीलदार से लेते हुए कार्य में तेजी लाने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिये। कहा कि कार्य में तेजी लाने हेतु आपसी समन्वय बनाये, तहसील स्तर से पूर्ण नक्शा यथाशीघ्र मुख्यालय भेजना सुनिश्ति करेंगे। जिस हेतु उन्होंने स्वामित्व योजना नोडल अधिकारी डा0 एस के बरनवाल से कार्यो को लेकर समन्वय बनाये रखने को कहा। कहा कि किसी भी प्रकार की कार्य को लेकर समस्या आने पर एएलआरओ एवं नोडल अधिकारी से संपर्क स्थापित कर निस्तारण करेगें। उन्होंने तहसीलों को आवंटित राजस्व गांव की जानकारी ली, कहा कि जल जीवन मिशन के रिपोर्ट के अनुसार संख्या में एकरूपता नहीं है। अपने आवंटित गांव का भली भांति जांच करने को कहा, साथ ही उन्होने प्राथमिक नक्शा, ड्रोन सर्वे एवं अंतिम नक्शा के कार्य प्रगति की जानकारी लेते हुए कम प्रगति वाले तहसीलदार एवं उपजिलाधिकारी के प्रति नाराजगी जाहिर करते हुए कार्य में तेजी लाने हेतु कडी निर्देश दिये। अपर जिलाधिकारी डा0 बरनवाल ने कहा कि लक्षित संख्या करीब 985 नक्शा है, जिन पर तेजी से कार्य करते हुए पूर्ण नक्शा को सर्वे आफ इण्डिया भारत सरकार को भेजा जाना है। शीघ्र तैयार नक्शा को तहसील से आने वाले कार्मिक आदि के माध्यम से भी जिला मुख्यालय में एएलआरओ को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे।
इस अवसर पर उप जिलाधिकारी पौड़ी श्याम सिंह राणा, डीपीआरओ एम एम खान, सहायक भूलेख अधिकारी नरेश नौड़ियाल, तहसीलदार एच एम खंडूरी, तहसीलों से उपजिलाधिकारी कोटद्वार, योगेश मेहरा, श्रीनगर रविन्द्र बिष्ट, सतपुली संदीप कुमार, लैसडोन अपर्णा ढौडियाल सहित खण्ड विकास अधिकारी, तहसीलदार आदि ने वीसी के माध्यम से प्रतिभाग किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.