मुख्यमंत्री ने कैंचीधाम में बाबा नीम करौली के दर्शन किये।अल्मोड़ा के खैरना व उपराड़ी में मुख्यमंत्री का भव्य स्वागत।# पौडी़ में जनपद स्तरीय कोरोना रोकथाम और निगरानी समिति की बैठक। पढिए Janswar.com में।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शनिवार को कैंची धाम में बाबा नीब करौली के दर्शन किए। इस अवसर पर उन्होंने प्रदेशवासियों की सुख समृद्धि की कामना की। इस अवसर पर सांसद श्री अजय भट्ट भी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत शनिवार को अपने तय कार्यक्रम के अनुसार कार द्वारा नैनीताल से रानीखेत पहुंचे। इस दौरान खेरना एवं उपराड़ी में लोगोंने मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र का भव्य स्वागत किया।
        मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने उपराड़ी में जनता को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार का 18 मार्च को 4 साल का कार्यकाल पूर्ण हो जायेगा। इस दौरान राज्य सरकार ने जन अपेक्षाओं को पूर्ण करने के लिए अनेक प्रयास किये। सड़क कनेक्टिविटी के क्षेत्र में अनेक कार्य किये गये हैं। राज्य बनने के बाद 17 साल में सड़कों का जितना निर्माण हुआ, लगभग उतनी सड़कें पिछले 3 साल एवं 10 माह में बनाई गई। राज्य में इस अवधि में 11 हजार कि.मी. से अधिक सड़कों का निर्माण किया गया है। महिलाओं के सिर से घास के बोझ को हटाने के लिए राज्य में मुख्यमंत्री घसियारी योजना शुरू की जा रही है। लोगों के घरों तक घास की गठरी पहुंचाने के लिए योजना बनाई जा रही है। पौने आठ हजार सेंटरों के माध्यम से कम दाम पर घास की गठरी पहुंचाने की व्यवस्था की जायेगी।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि लोगों की आर्थिकी में सुधार के लिए भी सरकार प्रयासरत है। ग्रामीण आर्थिकी में सुधार के लिए अलग-अलग थीम पर ग्रोथ सेंटर विकसित किये जा रहे हैं, जिसके काफी सकारात्मक परिणाम मिल रहे हैं। कृषकों को 3 लाख तक का एवं स्वयं सहायता समूहों को 5 लाख रू. तक का ब्याज मुक्त ऋण दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र के रानीखेत पहुंचने पर कार्यकर्ताओं द्वारा उनका भव्य स्वागत किया गया। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने पार्टी पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं से भेंटवार्ता की।
          इस अवसर पर सांसद श्री अजय टम्टा, कुमांयू कमिश्नर श्री अरविन्द सिंह ह्यांकी, जिलाधिकारी अल्मोड़ा श्री नितिन भदौरिया, अपर सचिव मुख्यमंत्री डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट, पार्टी पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।


जनपद स्तरीय कोरोना रोकथाम और निगरानी समिति की बैठक आज न्यायालय परिसर के जिला विधिक सेवा प्राधिकरण कक्ष में संपन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता मा. सिविल जज(सी.डि.)/सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पौड़ी गढ़वाल इन्दु शर्मा ने की। उन्होंने कहा कि माननीय उच्च न्यायालय की रिट याचिकाओं के तहत गठित समिति की यह 17वीं बैठक की जा रही है। उन्होंने कोविड-19 रोकथाम के लिए नामित विभागों को जन जागरूकता अभियान चलाने और लोगों को सामाजिक दूरी का पालन कराने को कहा। कहा कि जनपद में कोरोना महामारी को लेकर संबंधित विभाग एक बार फिर से जन जागरूकता अभियान चलाएं। विभाग पहले की भांति लोगों को सामाजिक दूरी और मास्क पहनने के लिए प्रेरित करें। कहा की थोड़ी सी भी लापरवाही भारी पड़ सकती है। उन्होंने दवाई भी और कढ़ाई भी के नियमों के तर्ज पर कार्य करने को कहा। उन्होंने सभी संबंधित विभागों को मास्क पहनने के अलावा सामाजिक दूरी का पूर्ण रुप से पालन करने को कहा है।  
बैठक की अध्यक्षता करते हुए सिविल जज इंदु शर्मा ने पुलिस स्वास्थ्य परिवहन नगर पालिका के साथ ही अन्य संबंधित विभागों के द्वारा की गई जन जागरूकता अभियान और अन्य गतिविधियों की बिंदुवार जानकारी ली। उन्होंने कहा कि जनपद में कोविड के 12 नये मामले पाए गए हैं, जो की चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि रोकथाम और निगरानी समिति के लिए नामित विभाग जिले में कोविड संक्रमण को रोकने के लिए जन जागरूकता अभियान पर अधिक जोर दें। सभी स्कूलों और कॉलेजों में मास्क और सामाजिक दूरी का निर्धारित गाइडलाइन के अनुसार पालन किया जाए। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगाए जाने वाले कोविड वैक्सीन टीकाकरण पूर्ण रूप से सुरक्षित है। इन टीकों को लगाने में किसी भी तरह का कोई जोखिम नहीं है।
बैठक में बताया गया कि जनपद में कुल संस्थागत आइसोलेशन की रोगियों की संख्या 65 है। जबकि जिले में कोविड के एक्टिव केस 12 है। बताया गया कि 25 फरवरी, 2021 तक 500 से अधिक सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। वही जनपद में 7 को होम आइसोलेशन में रखा गया है। इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविड संक्रमण को लेकर स्वास्थ्य विभाग की पूर्व निर्धारित तैयारियों की जानकारियां दी गई। बताया गया कि जनपद में 1198 बेड उपलब्ध है। वही 470 पीपी किट है। जबकि जनपद के विभिन्न अस्पतालों में 191 वेंटिलेटर मौजूद है।
पुलिस विभाग के द्वारा बताया गया कि 36 व्यक्तियों के विरुद्ध क्वारंटाइन उल्लंघन पर चालान किए गए, जबकि 14 लोगों के विरुद्ध प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज की गई है। यही नहीं कोविड-19 के   दृष्टिगत सार्वजनिक स्थानों पर थूकने, शराब पीने, धूम्रपान करने आदि मामलों में 260 लोगों का चालान किया गया है। इसमें 45 हजार से अधिक का शुल्क वसूला गया है। बताया गया कि पुलिस विभाग द्वारा मास्क पहनने और सार्वजनिक स्थानों पर सामाजिक दूरी बनाए जाने को लेकर अभियान चलाए जाते रहे हैं। मास्क उल्लंघन में 96 तथा सामाजिक दूरी अपराध में 45 लोगों के चालान किए गए।
बैठक में अपर जिला अधिकारी डॉ एस के बरनवाल सीओ सदर प्रेम लाल टम्टा जयंत वशिष्ठ प्रदीप रावत सत्येंद्र सिंह भंडारी आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.