मुख्यमंत्री ने किया त्रिस्तरीय पंचायतों को 90 करोड़ 24 लाख की पहली किश्त का डिजिटल हस्तांतरण#मुख्यमंत्री ने हपिद्वार में140 बेड क्षमता वाले कोविड अस्पताल का किया उद्घाटन#कोविड प्रोक्टोकॉल का पालन न करने पर प्रशासन ने किए  पौड़ी  में कई दुकानदारों का चालान #पत्रकारों के परिजनों की मृत्यु पर मुख्यमंत्री ने शोक प्रकट किया। पढिए Janswar.com में।

समाचार द्वारा-नागेन्द्र प्रसाद रतूड़ी स्वतंत्र पत्रकार (राज्य मान्यताप्राप्त)

  • मुख्यमंत्री ने किया त्रिस्तरीय पंचायतों को 90 करोड़ 24 लाख की पहली किश्त का डिजिटल हस्तांतरण
  • इस अनुदान का 20 फ़ीसदी कोविड संक्रमण से बचाव हेतु प्रचार-प्रसार में खर्च कर सकेंगी पंचायतें

मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत द्वारा कैंप कार्यालय में पीएफएमएस के माध्यम से त्रिस्तरीय पंचायतों को राज्य वित्त आयोग के अंतर्गत वर्ष (2021-22) प्रथम त्रैमासिक किस्त (अप्रैल-मई-जून) का डिजिटल हस्तांतरण किया गया । इसके तहत प्रदेश के ग्राम पंचायतों हेतु 27 करोड़ 20 लाख  प्रदेश के क्षेत्र पंचायतों हेतु 20 करोड़ 40 लाख जबकि  जिला पंचायतों हेतु 42 करोड़ 64 लाख  84 हजार रुपए की धनराशि हस्तांतरित की गई। राज्य वित्त आयोग के अंतर्गत वर्ष 2021-22 की प्रथम त्रैमासिक किश्त के रूप में कुल  90 करोड़ 24 लाख 84 हजार रुपए है।
इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि उक्त अनुदान की धनराशि सभी पंचायतों को  PFMS द्वारा एक साथ डिजिटल हस्तान्तरण के माध्यम से अनुदान की राशि हस्तान्तरित की जा रही है, ताकि यह धनराशि बिना विलम्ब के सम्बन्धित पंचायतों के खाते में हस्तांतरित हो सके तथा उन्हें अपनी विकासपरक योजनाओं के साथ-साथ कोरोना वायरस महामारी संक्रमण से ग्रामवासियों के बचाव हेतु आवश्यक उपायों और बाहर से आये नागरिकों के संस्थागत क्वारेंटीन सम्बन्धी व्यवस्था हेतु सामुदायिक भवनों ( विद्यालय, पंचायत भवन, अन्य सामुदायिक भवन आदि) की साफ-सफाई, विद्युत, पेयजल, शौचालय व्यवस्था, तथा सैनिटाईजेशन आदि कार्यो को पूर्ण करने में सहायता मिल सके। ग्राम पंचायतों को हस्तांतरण की जा रही धनराशि के सापेक्ष 20 प्रतिशत धनराशि कोरोना महामारी के संक्रमण से बचाव हेतु प्रचार-प्रसार, सेनेटाईजेशन व महामारी से सम्बन्धित अन्य कार्यों पर व्यय की जा सकेगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान कोरोनाकाल की परिस्थितियों में सभी सम्मानित पंचायत प्रतिनिधियों के साथ-साथ ग्राम वासियों द्वारा सराहनीय प्रयासों से हम कोरोना संक्रमण को रोकने में अवश्य सफलता प्राप्त करेंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की योजना डिजिटल इंडिया का उद्देश्य सरकारी सेवाओं की जानकारी जन सामान्य को ऑनलाइन पहुँचाने, तथा ग्राम पंचायत स्तर पर ई-गवर्नेंस को बढ़ावा देते हुए समस्त ग्राम पंचायतो को ब्रॉडबेंड इंटरनेट से जोडना है, इसी उद्देश्य की पूर्ति हेतु उत्तराखण्ड सरकार के दिशा-निर्देशानुसार में पंचायतीराज विभाग उत्तराखण्ड द्वारा समस्त ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायतों एवं जिला पंचायतों के बैंक खातों को भारत सरकार द्वारा लागू ई-ग्राम स्वराज पोर्टल के माध्यम से पी.एफ.एम.एस.-प्रिआ सॉफ़्ट इंटरफेस के साथ जोडा गया है।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री के प्रमुख सलाहकार डॉ. आरबीएस रावत, मुख्यमंत्री के विशेष कार्यअधिकारी जे सुंद्रयाल, सचिव एवं निदेशक पंचायतीराज श्री हरिचन्द्र सेमवाल, श्री जफर खान, दीपक पटवाल आदि विभागीय अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।


मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत मंगलवार को हरिद्वार पहुंचकर उत्तराखंड सरकार एवं पतंजलि योगपीठ के संयुक्त प्रयासों से संचालित हो रहे हैं 140 क्षमता के कोविड अस्पताल का विधिवत शुभारंभ किया। इस अस्पताल में 140 ऑक्सीजन बेड,  10 इमरजेंसी बेड, 4 वेंटीलेटर की व्यवस्था है। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने हरिद्वार कोविड पोर्टल और प्री-पेड एंबुलेंस सर्विस को भी हरी झंडी दिखाकर शुभारंभ किया। पतंजलि योगपीठ के सहयोग से संचालित होने वाले अस्पताल में स्टाफ, सफाई, ठहरने भोजन, दवाओं इत्यादि की व्यवस्था भी पतंजलि योगपीठ द्वारा की जाएगी।
      इस दौरान मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि हरिद्वार में संचालित होने वाले इस कोविड अस्पताल का लाभ आस पास के जिलों के लोग भी ले सकेंगे, मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के खिलाफ इस लड़ाई में हम सबको कोविड-19 गाइडलाइन का अक्षरःश पालन करना है।  उन्होंने कहा कि राज्य सरकार कोरोना से लडने के लिए कारगर कदम उठा रही है।  प्रदेश में 18  से 45 वर्ष के लोगों के लिए निशुल्क कोरोना वैक्सीन की व्यवस्था की गई है, उन्होंने कहा कि  इस पूरे अभियान में 400 करोड़ से ज्यादा का खर्च आएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में लगातार वेंटिलेटर की संख्या बढ़ाई जा रही है। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी और रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह जी का आभार व्यक्त किया कि उनके अनुरोध पर  आईडीपीएल ऋषिकेश में एवं सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में 500- 500 बैड के 2 अस्थाई अस्पताल का काम शुरू किया जा चुका है। अगले कुछ दिनों में तैयार हो जाएंगे जिसके लिए हमने डीआरडीओ के लिए 40 करोड़ जारी कर दिए हैं। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री तीरथ ने बङी पहल करते हुए रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह को उत्तराखण्ड में कोविड अस्पताल की आवश्यकता से अवगत कराया था जिस पर रक्षा मंत्री ने आश्वस्त किया था।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हल्द्वानी सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज में अगले कुछ दिनों में 19 मैट्रिक टन क्षमता का ऑक्सीजन टैंक स्थापित किया जा रहा है।हिमालयन इंस्टीट्यूट जॉली ग्रांट में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने हेतु भारत सरकार से आग्रह किया गया है, जिसका सकारात्मक जवाब मिला है उम्मीद है कि जल्द ये स्थापित हो जाएँगे।

इस दौरान पतंजलि योगपीठ के संस्थापक स्वामी रामदेव ने कोरोना महामारी को लेकर सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों की सराहना की। कार्यक्रम में शहरी विकास मंत्री बंशीधर भगत, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, रानीपुर विधायक आदेश चौहान, हरिद्वार मेयर अनीता शर्मा एवं पतंजलि योगपीठ के आचार्य बालकृष्ण मौजूद रहे।


कोविड प्रोक्टोकॉल का पालन न करने पर प्रशासन ने किए  पौड़ी  में कई दुकानदारों का चालान

जिलाधिकारी गढ़वाल डॉ. विजय कुमार जोगदंडे के दिशा-निर्देशन में कोविड-19 के अंतर्गत मूल्य नियंत्रण हेतु उप जिलाधिकारियों की अध्यक्षता में गठित टीमों द्वारा युद्ध स्तर पर निरीक्षण किया जा रहा है। उप जिलाधिकारी सदर पौड़ी की अध्यक्षता में गठित टीम द्वारा आज संयुक्त रुप से स्थानीय बाजार पौड़ी में फल सब्जी विक्रेता, परचून एवं मेडिकल की दुकानों का निरीक्षण किया गया। टीम द्वारा सभी दुकानदारों को निर्देशित किया गया कि दुकानों के बाहर अनिवार्य रूप से रेट लिस्ट चस्पा करना सुनिश्चित करें। कहा कि सभी लोग समय-समय पर केंद्र और राज्य सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का अनिवार्य रूप से अनुपालन करना सुनिश्चित करें।
उप जिलाधिकारी सदर पौड़ी एसएस राणा ने बताया कि अधिक मूल्य पर फल बेचने पर तीन फल विक्रेताओं के विरुद्ध उत्तराखंड प्रवर्तन अधिनियम की धारा 6 के अंतर्गत चालानी कार्रवाई की गई। जिनमें मोहम्मद आसिफ पुत्र अब्दुल हमीद एजेंसी चैक पौड़ी, अशोक कुमार पुत्र रामस्वरूप एवं मोहम्मद नजीबद्दीन पुत्र मोहम्मद अब्दुल मलिक लक्ष्मी नारायण मंदिर मार्ग पौड़ी का उत्तराखंड प्रवर्तन  अधिनियम की धारा 6 के अंतर्गत चालान किया गया। मानक अधिनियम उत्तराखंड धारा 33 के अंतर्गत परीक्षण मुद्राकन न किए जाने के कारण  नौली सिंह पुत्र बहादुर सिंह लक्ष्मी नारायण मंदिर मार्ग पौड़ी का चालान किया गया। जबकि कालू स्वीट शॉप लक्ष्मी नारायण मंदिर पौड़ी के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई । वहीं सामाजिक दूरी का अनुपालन न करने और मास्क न पहनने पर 11 चालान किए गए।
संयुक्त निरीक्षण टीम में खाद्य निरीक्षक शैलेंद्र बडोला, विधिक माप विज्ञान निरीक्षक जगदीश सिंह, तहसीलदार एचएम खंडूरी, सब इंस्पेक्टर विनोद रावत आदि मौजूद थे

 


           शोक संवेदना
           —————–
मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने वरिष्ठ राज्य आन्दोलनकारी श्री अवतार सिंह राणा जी के निधन पर शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करते हुए शोक-संतप्त परिवार के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की है।
 वरिष्ठ पत्रकार श्री सुभाष गुप्ता के भाई श्री राजेश गुप्ता के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की शांति व शोक संतप्त परिवार जनों को धैर्य प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है।
वरिष्ठ पत्रकार श्री संजीव कंडवाल के पिता के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की शांति व शोक संतप्त परिवार जनों को धैर्य प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है।
 वरिष्ठ पत्रकार श्री गोविंद कपटियाल जी की धर्मपत्नी के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की शांति और शोक-संतप्त परिवार को धैर्य प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.