मुख्यमंत्री ने किया ई-जीवन प्रमाण पत्र का लोकार्पण##ऋषिकेश एम्स प्रशासन ने टीडीएस संबन्धी आयकर विभाग की टिप्पणी पर अपनी स्थिति स्पष्ट की है।## एम्स अस्पताल में आज कोरोना वायरस आशंकित कोई मरीज नहीं पहुँचा।##जिलाधिकारी ने कैम्प कार्यालय में जनता की समस्याएं सुन मौके पर निस्तारित कीं।##महिला स्वयं सहायता समूह हाटबाजार लगाएगा। पढिएJanswar.com में

समाचार प्रस्तुति-नागेन्द्र प्रसाद रतूड़ी

मुख्यमंत्री ने किया ई – जीवन प्रमाण पत्र का लोकार्पण
दूरस्थ क्षेत्रों के लोगों एवं दिव्यांगों के लिए बहुत ही लाभप्रदः मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा शुक्रवार को मुख्यमंत्री आवास में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के डिजिटल भारत के सपने को साकार करने की दिशा में एक ओर कदम बढ़ाते हुए डिजिटल माध्यम से ई – जीवन प्रमाण पत्र प्रदान करने हेतु आईएफएमएस सॉफ्टवेयर का शुभारम्भ किया गया। इस सॉफ्टवेयर की सहायता से राज्य के पेंशनर देश या विदेश, कहीं से भी अपना ई – जीवन प्रमाण पत्र ऑनलाइन माध्यम से जमा करा सकेंगे। ई – जीवन प्रमाण पत्र को सीएससी केन्द्र से भरा जा सकेगा।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि ई – जीवन प्रमाण पत्र के माध्यम से राज्य के पेंशनरों को बहुत राहत मिलेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रत्येक वर्ष ई – जीवन प्रमाण पत्र के लिए लाखों लोगों को परेशान होना पड़ता है। इस सेवा के शुरू होने से प्रदेश के दूरस्थ क्षेत्रों के लोगों को ट्रेज़री के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। वे पास के सीएससी केन्द्र से अपना ई – जीवन प्रमाण पत्र ऑनलाइन जमा करा सकेंगे। उन्होंने कहा कि दूरस्थ क्षेत्रों के वृद्ध एवं अक्षम लोगों को सीएससी तक ना आना पड़े इसके लिए ई – जीवन प्रमाण पत्र जमा करवाने की व्यवस्था भी की जा सकती है। ई – जीवन प्रमाण पत्र अन्य राज्यों एवं विदेशों में रह रहे हमारे पेंशनर्स के लिए भी बहुत ही लाभदायक होगा। वे कहीं से भी अपना जीवन प्रमाण पत्र ऑनलाइन जमा करा सकेंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में ई – ऑफिस लागू किया गया है। ई- जीवन प्रमाण पत्र, ई – ऑफिस की दिशा में एक ओर कदम है। उन्होंने कहा कि प्रदेश लगातार पेपरलेस व्यवस्था की  दिशा में आगे बढ़ रहा है।
सचिव श्री अमित नेगी ने बताया कि सीएससी के लोगों के साथ इस संबंध में बैठक एवं ट्रेनिंग प्रोग्राम आयोजित किए जा रहे हैं। ई – जीवन प्रमाण पत्र को कोषागार, उप कोषागार, सीएससी केन्द्र, पर्सनल कंप्यूटर, टैब और मोबाईल ऐप से भी भरा जा सकेगा, स्वीकृत होने पर इसकी सूचना मोबाईल नंबर और ई मेल आईडी पर भी उपलब्ध होगी। उन्होंने कहा कि कोषागार, पेंशन एवं हकदारी विभाग लगातार डिजिटल की दिशा में अग्रसर हो रहा है। लगभग 1,56,000 कर्मचारियों की पे रोल ई सिस्टम से जेनरेट की का रही है। लगभग 1,52,000 पेंशनर्स और न्यू पेंशन स्कीम को भी ई गवर्नेंस से जोड़ दिया गया है।
इस अवसर पर विधायक श्री गणेश जोशी, मुख्यमंत्री के आईटी सलाहकार श्री रवीन्द्र दत्त, सचिव श्री अमित नेगी एवं निदेशक कोषागार, पेंशन एवं हकदारी श्री पंकज तिवारी भी उपस्थित थे।
———————————————————–
ऋषिकेश एम्स प्रशासन ने टीडीएस संबन्धी आयकर विभाग की टिप्पणी पर अपनी स्थिति स्पष्ट की है।

एम्स ऋषिकेश प्रशासन ने आयकर विभाग द्वारा संस्थान में टीडीएस संबंधी गड़बड़ी को लेकर की गई टिप्पणियों पर अपनी स्थिति स्पष्ट की है। बताया गया है कि आयकर विभाग की ओर से बीते बृहस्पतिवार को एम्स के लेखानुभाग में स्रोत पर आयकर की कटौती टीडीएस के संबंध में कतिपय अभिलेख उपलब्ध कराए जाने की अपेक्षा की गई थी। जो कि संस्थान के लेखानुभाग द्वारा आयकर विभाग को उपलब्ध करा दिए गए हैं।
बताया गया कि इस दौरान आयकर के संबंधित अधिकारी द्वारा एम्स ऋषिकेश के लेखानुभाग द्वारा टीडीएस के संबंधी में की जा रही कार्यवाही की प्रशंसा भी की गई थी। संस्थान के वित्तीय सलाहकार कमांडेंट पीके मिश्रा व आहरण वितरण अधिकारी जितेंद्र एन. शर्मा ने बताया कि आयकर विभाग के अधिकारी के समक्ष संबंधित अभिलेख प्रस्तुत कर दिए गए थे। साथ ही स्पष्ट कर दिया गया था कि संस्थान की ओर से नियमानुसार टीडीएस की कटौती कर आयकर विभाग के संगत खाते में जमा किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि विभाग के खाते में संबंधित धनराशि जमा किए जाने के बावजूद आयकर की वेबसाइट पर कदाचित तकनीकि त्रुटिवश दर्शित नहीं हो रहा है। एम्स के अधिकारियों ने स्पष्ट किया है कि संस्थान के स्तर पर इस मामले में न तो कोई लापरवाही बरती गई है और न ही मामला अनियमितता का बनता है। उन्होंने बताया कि यह प्रकरण दो विभागों एम्स व आयकर विभाग के मध्य समायोजन-समाधान का है, लिहाजा आयकर विभाग द्वारा निर्धारित की गई तिथि 25 फरवरी को वांछित प्रपत्र संस्थान के आहरण वितरण अधिकारी द्वारा आयकर अधिकारियों के समक्ष प्रस्तुत कर दिए जाएंगे। अधिकारियों ने स्पष्ट किया है कि संस्थान के स्तर पर इस प्रकरण में टीडीएस संंबंधी कोई वित्तीय अनियमितता नहीं हुई है।

———————————————————–

एम्स अस्पताल में शुक्रवार को कोरोना वायरस ग्रसित अथवा आशंकित कोई मरीज नहीं पहुंचा, मालवीयनगर वीरभद्र ऋषिकेश निवासी कोरोना वायरस आशंकित महिला की पूणे स्थित प्रयोगशाला से रिपोर्ट नेगेटिव, दिल्ली निवासी किशोर की रिपोर्ट रविवार तक आने की संभावना।

———————————————————–

जिलाधिकारी सविन बंसल ने कैम्प कार्यालय में जनता की समस्याएं सुन मौके पर निस्तारित कीं।
हल्द्वानी 07 फरवरी – जिलाधिकारी सविन बंसल ने शुक्रवार को कैम्प कार्यालय में फरियादियों की समस्याएं सुनी तथा अधिकांश समस्याओं का मौके पर ही निस्तारण किया। फरियादियों ने बिजली, पानी, ईलाज एवं आर्थिक सहायता, भूमि की चक बन्दी, सड़क, शिक्षकों की तैनाती आदि से सम्बन्धित 39 से अधिक समस्याएं एवं शिकायतें दर्ज करायी।
 शिविर कार्यालय में ग्राम प्रधान मनीष आर्या बजूनिया हल्दू ने प्रार्थना पत्र मे कहा कि बजूनिया हल्दू प्राथमिक विद्यालय के समीप मीट, गुटखा, सिगरेट आदि बिक्री किया जाता है जिस पर रोक लगाने का आग्रह किया, जिस पर जिलाधिकारी श्री बंसल ने खाद्य सुरक्षा अधिकारी को शीघ्र कार्यवाही करने के निर्देश दिये। लालचन्द्र ग्राम कनकपुर निवासी ने अपनी 1 ख की भूमि को विनियमितीकरण करने का आग्रह किया जिस पर जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी (राजस्व)को त्वरित विनियमितीकरण करने के निर्देश दिये। तनुजा धारियाल निवासी इन्द्रा नगर बिन्दुखत्ता ने गौला गेट मे लगे टैक्टर रजिस्टेशन ट्रांस्फर करने हेतु प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किया  जिस पर जिलाधिकारी ने क्षेत्रीय खनन समिति को परीक्षण करते हुये अग्रिम कार्यवाही करने के निर्देश दिये। वार्ड न. 43 छडैल के निवासियों ने प्रार्थना पत्र के द्वारा कहा कि वार्ड न. 43 छडैल स्थित शक्ति विहार कालोनी मेें लोनिवि द्वारा जो पंेचवर्क किया जा रहा है उसमे केवल खानापूर्ति की जा रही हैै। जिस पर जिलाधिकारी श्री बंसल ने अधिशासी अभियन्ता लोनिवि को जांच कर रिपोर्ट देने के निर्देश दिये ।
शिविर में सिटी मजिस्टेट प्रत्यूष सिह, उपजिलाधिकारी विवेक राय, जिला विकास अधिकारी रमा गोस्वामी, अधिशासी अभियंता जल संस्थान विशाल सक्सेना, विद्युत डीके जोशी,मुख्य शिक्षा अधिकारी केके गुप्ता,जिला प्रोवेजन अधिकारी व्योमा जैन, जिला कार्यक्रम अधिकारी अनुलेखा बिष्ट, जिला समाज कल्याण अधिकारी अमन अनिरूद्ध के अलावा अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।
——————————————-
महिला स्वयं सहायता समूह हाटबाजार लगाएगा।

नारी शक्ति ग्राम पनियाली द्वारा 8 फरवरी को विकास खण्ड परिसर मे हाटबाजार लगाया जा रहा है। जानकारी देते हुये सहायक परियोजना निदेशक संगीता आर्या ने बताया कि महिला स्वयं सहायता समूह द्वारा इस हाट में लगभग 100 दुकानें लगाई जा रही है, हाट बाजार मे स्थानीय फल,सब्जी, अचार, दालेें, चाय,स्नैक्स आदि की बिक्री रियायती दरों पर की जायेगी। उन्होने कहा कि स्वयं सहायता समूहों की महिलाओें को सशक्त बनाने हेतु एक प्रयास है अतः हाट बाजार पहुचकर खरीददारी करें।
————————————————-

Leave a Reply

Your email address will not be published.