मुख्यमंत्री तीरथ ने ली टिहरी में जिलास्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक#प्रदेश के पेयजल मंत्री श्री चुफाल ने पेयजल विभाग के अधिकारियों की बैठक लेते हुए विकास सम्बंधित कार्यों को प्राथमिकता देने के निर्देश दिये।मुख्यसचिव ने प्रोजेक्ट मॉनिटिरिंग ग्रुप से संबंधित योजनाओं से संबन्धित बैठक में दिये उच्चाधिकारियों को निर्देश।पढिए Janswar.com में

  • द्वारा अरुणाभ रतूड़ी

 

  • मुख्यमंत्री तीरथ ने ली टिहरी में जिलास्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक
  • मानसून आगमन से पूर्व सभी तैयारियां पूरी कर लें अधिकारी- मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने टिहरी दौरे के दौरान हाइड्रो इंजीनियरिंग कालेज भागीरथीपुरम में जिला स्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली। बैठक में मुख्यमंत्री ने जनपद में कोविड की तैयारियों और विकास योजनाओं की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को कोविड गाइड लाइन का सख्ती से पालन कराने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने पुलिस को निर्देश दिए कि गांव-गांव जाने वाली स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ पुलिस कर्मियों को भी भेजा जाए। सीएमओ को निर्देश दिए कि जिन चिकित्सकों को अटेच किया गया है उनको तत्काल उनके मूल स्थानों पर तैनाती की जाय।
जनपद में संचालित कोविड केयर सेंटरों में मानव संसाधन की कमी को पूरा करने के लिए मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी को स्थानीय स्तर से 11 माह की अवधि के लिए नियुक्तियां करने के निर्देश दिए हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड पर कड़ी कार्यवाही से अब स्थितियां सामान्य हो रही है। कहा यही समय है जब और अधिक सावधानी बरते जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि मैदानी क्षेत्रों से आने वाले प्रत्येक व्यक्ति की आर०टी०पी०सी०आर० टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट का चेकपोस्ट पर अनिवार्य रूप से अवलोकन किया जाए।
इसके अलावा उन्होंने ग्राम निगरानी समितियों को सक्रिय रखने, नगरपालिका गांव पंचायतों सहित गांव-गांव निरंतर सैनिटाइजेशन कराने, लक्षणयुक्त व्यक्तियों को कोविड से सम्बंधित दवाई की किटों का वितरण, मास प्रोफिलेक्सिस के तहत आइवर मेक्टिन का वितरण, कोविड केयर सेंटर्स की स्थिति व ऑक्सीजन की उपलब्धता की समीक्षा की।
आगमी मानसून की तैयारियों को लेकर मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी को निर्देश दिए कि मानसून आगमन से पूर्व सभी मोटर मार्गो के स्लाइडिंग जोन का चिह्नीकरण कर लिया जाय। उन्होंने कहा कि मोटर मार्गो के अवरुद्ध होने की स्थिति में 30 मिनट में घटना स्थल पर मानव संसाधन सहित मशीनरी पहुच जाए। इसके साथ ही उन्होंने समस्त जेसीबी व उनके ऑपरेटर के संपर्क नंबर कंट्रोल रूम में उपलब्ध रखने को कहा है। जल जीवन मिशन के तहत किये जा रहे कार्यो की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारियों को माह जून तक नलों में पानी की आपूर्ति करने के निर्देश दिए हैं।
इसके अलावा उन्होंने मानसून के दौरान स्वास्थ्य सुविधा, खाद्यान्न आपूर्ति, विद्युत आपूर्ति, पेयजल आपूर्ति को सुचारू रखने को लेकर पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए है।
बैठक में कृषि मंत्री श्री सुबोध उनियाल, प्रभारी मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद, विधायक टिहरी डॉ. धन सिंह नेगी, विधायक घनसाली श्री शक्ति लाल शाह, विधायक देव प्रयाग श्री विनोद कंडारी,  जिलाधिकारी ईवा आशीष श्रीवास्तव, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती सोना सजवाण, एसएसपी तृप्ति भट्ट, सीएमओ सुमन आर्य, व अन्य अधिकारी भी उपस्थित रहे।


प्रदेश के पेयजल मंत्री बिशन सिंह चुफाल ने पेयजल विभाग के अधिकारियों की बैठक लेते हुए निर्देश दिए कि कोरोना के साथ विकास सम्बंधित कार्यों को प्राथमिकता दी जाए। जल-जीवन मिशन के अन्तर्गत विभिन्न पेयजल परियोजना कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिये।
विधानसभा में पेयजल विभाग के अधिकारियों की बैठक में निर्देश दिया कि पम्पिंग योजना को प्राथमिकता दिया जाए और युद्ध स्तर पर पेयजल योजनाओं को लागू किया जाए। जिसमें पेयजल मंत्री बिशन सिंह चुफाल ने निर्देश दिए कि समय पर समस्त डीपीआर तैयार कर लिया जाए। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में आॅनलाइन बैठक को महत्व दिया जाए और आवश्यकता पड़ने पर पेयजल योजना से सम्बन्धित डीपीआर को घर बैठकर भी तैयार कर लिया जाए।
इस अवसर प्रभारी सचिव पेयजल आर0 राजेश कुमार, प्रबन्ध निदेशक उदयराज, महाप्रबन्धक एस.के. शर्मा सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।


मुख्यसचिव ने प्रोजेक्ट मॉनिटिरिंग ग्रुप से संबंधित योजनाओं से संबन्धित बैठक में दिये उच्चाधिकारियों को निर्देश।

मुख्य सचिव श्री ओमप्रकाश की अध्यक्षता में सोमवार को सचिवालय में प्रोजेक्ट मॉनिटरिंग ग्रुप से सम्बन्धित योजनाओं की समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। बैठक के दौरान विभिन्न बिन्दुओं पर उच्चाधिकारियों एवं सम्बन्धित जनपदों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से दिशा निर्देश दिए गए।
मुख्य सचिव श्री ओम प्रकाश ने ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेलवे लाईन परियोजना के अन्तर्गत क्षतिपूर्ति के मामलों की अध्यतन स्थिति की जानकारी ली, जिसमें बताया गया कि क्षतिपूर्ति के सभी मामले निस्तारित कर लिए गए हैं। मुख्य सचिव ने रेल विकास निगम हेतु सम्बन्धित जनपदों को सभी आवश्यक अनुमतियां शीघ्र जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने चारधाम ऑलवेदर रोड के सम्बन्ध में अधिकारियों को निर्देश दिए कि चारधाम ऑलवेदर रोड की लगातार समीक्षा करते हुए लम्बित मामलों के निस्तारण का कार्य तेजी से किया जाए।
इस अवसर पर प्रमुख सचिव श्री आर.के. सुधांशु, सचिव श्री आर. मीनाक्षी सुन्दरम, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जनपद पौड़ी, रूद्रप्रयाग, चमोली के जिलाधिकारी एवं रेल विकास निगम लिमिटेड के अधिकारी सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे

Leave a Reply

Your email address will not be published.