महाकुम्भ मेले में किये जा रहे कार्यों को मुख्यमंत्री ने सराहा# पौड़ी गढवाल के जिलाधिकारी ने कोविड 19 टीकाकरण टास्क फोर्स की बैठक में अधिकारियों को दिए निर्देश।पढिएJanswar.com में।

-अरुणाभ रतूड़ी

महाकुम्भ मेले में किये जा रहे कार्यों को मुख्यमंत्री ने सराहा

  • कुम्भ के लिये जारी एसओपी का अनुपालन करने की सभी से की अपील
  • कुम्भ मेले के लिये की जा रही हैं बेहतर व्यवस्थाएं
  • कुम्भ मेले में सभी को दिया जा रहा है सहयोग

     

बुधवार को हरिद्वार में कुम्भ मेला कार्यों का निरीक्षण करने के पश्चात मीडिया से वार्ता करते हुए मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कुम्भ मेले की व्यवस्थाओं के लिये किये जा रहे कार्यों के प्रति संतोष व्यक्त किया। उन्होंने कुम्भ मेले के लिये जारी एसओपी का सभी से अनुपालन करने की अपेक्षा की।
      मुख्यमंत्री ने कहा कि हरिद्वार कुम्भ क्षेत्र की वाह्य सज्जा बेहतर हुई है। एनएच से सम्बंधित सभी आवश्यक कार्य लगभग पूर्ण हो चुके है। इससे यातायात का संचालन बेहतर तरीके से हो सकेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 के कारण हर क्षेत्र प्रभावित हुआ है। हम भी अभी इससे पूरी तरह ऊबर नही पाये हैं। उन्होंने कुम्भ में आने वाले श्रद्धालुओं का स्वागत करते हुए सभी से कुम्भ से सम्बंधित एसओपी का अनुपालन करने की अपेक्षा की। हम स्वयं सुरक्षित रहकर ही दूसरों को भी सुरक्षित रख सकेंगे।
      मुख्यमंत्री ने कहा कि कुम्भ में आने वाले श्रद्धालुओं को स्नान करने में कोई कठिनाई न हो, इसके लिये प्रभावी प्रयास किये जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कुम्भ मेले के लिये निर्मित किये जा रहे सभी आवश्यक सुविधाओं से युक्त बेस अस्पताल का निर्माण अंतिम चरण में है। इसमें श्रद्धालुओं को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। इसके साथ ही मीडिया कर्मियों को कुम्भ मेले की कवरेज हेतु सभी आवश्यक अत्याधुनिक संचार उपकरणों से युक्त मीडिया सेंटर की स्थापना का कार्य भी प्रगति पर है।
       मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड काल में जनजीवन को सुरक्षित रखने का हमारा प्रयास रहा है। इसके दृष्टिगत सभी को परेशानी हुई है। इसमें हरिद्वार के लोग भी शामिल हैं। उन्होंने कहा कि हम अब इस बुरे दौर से ऊबरने लगे हैं। राज्य सरकार सभी की मदद के लिये तत्पर है।
       मुख्यमंत्री ने कहा कि अपने भ्रमण के दौरान उन्होंने सभी अखाड़ों के संत-महात्माओं का आशीर्वाद लिया है। सभी ने दिव्य और भव्य कुम्भ की व्यवस्थाओं के प्रति संतोष जताया है। उन्होंने कहा कि कुम्भ की व्यवस्थाओं के प्रति संतों में कोई नाराजगी नहीं है। मुख्यमंत्री ने विश्वास व्यक्त किया कि हम सभी के सहयोग से दिव्य एवं भव्य कुम्भ के सफल आयोजन में सफल होंगे।

——————————————————————–

जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे ने आज विकास भवन सभागार, पौड़ी में कोविड-19 वेक्सिन/टीकाकरण एवं जिला टास्क फोर्स समिति की समीक्षा बैठक लेते हुए संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। उन्होंने कोविड-19 वैक्सिन लगाये जाने की अद्यतन जानकारी लेते हुए कल दिनांक 04.03.2021 को सैशन साइट पर जाकर छुटे हुए फ्रंट लाइन वर्कर, हेल्थ केयर वर्कर, साठ साल से अधिक उम्र के नागरिकों एवं 45 से 59 साल के ऐसे नागरिकों, जिनको गंभीर बीमारी है, को भी प्राथमिकता के आधार पर वैक्सिन लगाने को कहा। जिलाधिकारी ने जिला युवा कल्याण एवं प्रान्तीय रक्षक दल द्वारा कोविड-19 वैक्सिन के संबंध में अद्यतन जानकारी उपलब्ध न कराने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उनका स्पष्टीकरण करने के निर्देश दिये। उन्होंने बताया कि उनके द्वारा कोविड-19 वैक्सिन की पहली डोज फरवरी, 2021 ले ली गई, और दूसरी डोज 08 मार्च, 2021 को लंेगे। कहा कि वैक्सिन लेने से कोई परेशानी नहीं होती है, हल्का सा किसी को बुखार आ सकता है, लेकिन इससे कोई दिक्कत नहीं होती है।
जिलाधिकारी डाॅ. जोगदण्डे ने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को अपने-अपने कार्यालय के सभी अधीनस्थ कार्मिकों को सेशन साइट पर जाकर कोविड-19 वैक्सिन/टीकाकरण करवाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि फ्रंट लाइन वर्कर और हेल्थ केयर वर्कर जो वैक्सिन लगाने से छुट गये वह कल सेशन साइट पर जाकर वैक्सिन लगा लें और जिनका वैक्सिन लगाने के लिए पंजीकरण नहीं हुआ है, वह भी सेशन साइट पर अपना आधार कार्ड, विभाग की आईडी व मोबाइल नम्बर उपलब्ध कराकर वैक्सिन लगवा सकता है। उन्होंने कहा कि सिनीयर सिटीजन जो 01 जनवरी, 2021 को साठ साल के हो गये हों वह भी सेशन साइट पर जाकर टीकाकरण कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि इसके अलावा 45 से 59 वर्ष के ऐसे नागरिक जिनको गंभीर बीमारियां जैसे कि हृदय रोगी, बाईपास सर्जरी, आॅपन सर्जरी, डायबिटिज, ब्रेन थक्का, किडनी, लीवर ट्रांस प्लांट, किडनी डिजीज, अस्थमा, ल्यूकिमिया कैंसर, साॅलिड कैंसर, एचआईवी इंफेक्शन, रक्त संबंधी बीमारी, मानसिक बीमारी हो, उन्हें डाॅक्टर की सलाह पर प्राथमिकता के आधार पर वैक्सिन लगवाना चाहिए, क्योंकि उनको इंफेक्शन का खतरा अधिक रहता है। उन्होंने कहा कि जिस कार्यालय के कार्मिकों को शतप्रतिशत वैक्सिन लग चुका है, उन्हें पुरस्कार देकर सम्मानित किया जायेगा। उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि अगली बैठक में जनपद की 02 ऐसी टीमों सम्मानित किया जायेगा, जिनके द्वारा कोविड-19 वैक्सिन में शतप्रतिशत उपलब्धि प्राप्त की हो। कहा कि सभी कार्मिक वैक्सिन लगाने संबंधी एक छोटा वीडियो संदेश क्लिप बनाकर उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।
जिला टास्क फोर्स समिति की समीक्षा के दौरान उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया कि वीलेज हेल्थ एण्ड न्यूट्रीशन डे (वीएचएनडी) के अन्तर्गत दिनांक 05 मार्च, 2021 को प्रत्येक विकासखण्ड, ग्राम पंचायत, न्याय पंचायत स्तर पर प्रचार-प्रसार करने हेतु चार्ट बना लें। उन्होंने सभी खण्ड विकास अधिकारियों एवं प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी(एमओआईसी) को निर्देशित किया कि वीएचएनडी के तहत दिनांक 05 मार्च, 2021 को प्रत्येक विकासखण्ड, ग्राम पंचायत, न्याय पंचायत स्तर पर प्रचार-प्रसार करने हेतु प्रचार वाहन को हरी झण्डी दिखाकर रवाना करेंगे, जिसके फोटोग्राफ्स् भी उपलब्ध करायेंगे। कहा कि प्रचार वाहन के बाहर वीएचएनडी एवं कोविड-19 वैक्सिन जागरूकता संबंधी पोस्टर/बैनर लगाना सुनिश्चित करें। वीलेज हेल्थ एण्ड न्यूट्रीशन डे (वीएचएनडी) के तहत 05 तारीख को महिलाओं एवं बच्चो को स्वास्थ्य एवं पोषण आहार दिया जाता है, उस तारीख को छूटे हुए महिलाओं एवं बच्चो को स्वास्थ्य एवं पोषण आहार दिये जाने हेतु उन्होंने दिनांक 12 तारीख को विशेष वीलेज हेल्थ डे बनाये जाने के निर्देश दिये।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. मनोज शर्मा ने बताया कि कल दिनांक 04.03.2021 को कोविड-19 वैक्सिन/टीकाकरण का कार्य जिला चिकित्सालय पौड़ी, प्रा.चि. पाठीसैंण प्रा.चि. पोखड़ा, प्रा.चि. जयहरीखाल, प्रा.चि. रिखणीखाल, बेस चिकित्सालय कोटद्वार, एस.ए.डी. सिम्बलचैड़, एस.ए.डी. लालपानी, प्रा.स्वा.केन्द्र डाडामण्डी, एपीएचसी सतपुली, सा.स्वा.केन्द्र पाबौं, सा.स्वा.केन्द्र थलीसैंण, सा.स्वा.केन्द्र बीरोंखाल, सा.स्वा.केन्द्र नैनीडांडा, सा.स्वा.केन्द्र घण्डियाल, बेस चिकित्सालय श्रीनगर श्रीकोट, प्रा.स्वा.केन्द्र खिर्सू, प्रा.स्वा.केन्द्र कोट, प्रा.स्वा.केन्द्र यमकेश्वर में किया जायेगा।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आशीष भटगांई, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. मनोज शर्मा, एसीएमओ डाॅ. रमेश कुंवार, सीएमएस एस.एस.राणा, सीओ प्रेमलाल टम्टा, जिला युवा कल्याण एवं प्रान्तीय रक्षक दल गणेश थपलियाल, खण्ड विकास अधिकारी प्रवीण भट्ट, सत्यप्रकाश भारद्वाज, एडीआईओ स्वास्थ्य प्रीति गौड़ सहित संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.