भारत स्काउट गाईड की स्टेट चीफ ने प्रतिनिधियों के साथ मुख्यमंत्री से मुलाकात की # जिला जज/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पौड़ी गढ़वाल द्वारा कोविड के कारण मां-बाप खो चुके बच्चों के लिए जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया।janswar.com

-अरुणाभ रतूडी

 

 

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी से रविवार को मुख्यमंत्री आवास में भारत स्काउट एवं गाइड के  स्थापना दिवस के अवसर पर भारत स्काउट गाइड की स्टेट चीफ कमीश्नर सुश्री सीमा जौनसारी के नेतृत्व में भारत स्काउट एवं गाइड के प्रतिनिधिमण्डल ने शिष्टाचार भेंट की। उन्होंने मुख्यमंत्री को स्टीकर (ध्वज) लगाया।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने अपना अंशदान देते हुए कहा कि अनुशासन, सेवा भाव और परोपकार को बढ़ावा देने में भारत स्काउट एवं गाइड की महत्वपूर्ण भूमिका रहती है। उन्होंने अधिक से अधिक छात्रों को स्काउट एवं गाइड से जोडे जाने की अपेक्षा करते हुए कहा कि इससे छात्रों में सेवाभाव एवं अनुशासन की भावना जागृत होगी।
इस अवसर पर श्री रविन्द्र मोहन काला, डॉ. दलजीत कौर, श्री बी.एस.रावत, सुश्री रेश्मा परवीन, श्री राहुल रतूड़ी आदि उपस्थित थे।


जिला जज/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पौड़ी गढ़वाल श्री सिकंद कुमार त्यागी के दिशा-निर्देशन में आज एमकेवीएन इंटरनेशनल स्कूल में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पौड़ी गढ़वाल के तत्वाधान में जिला प्रोबेशन विभाग, महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग के सहयोग से कोविड-19 संक्रमण काल में अपने माता-पिता को खो चुके बच्चों के लिए जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
जागरूकता कार्यक्रम में सिविल जज(सि.डि.)/सचिव जिला विकास प्राधिकरण पौड़ी गढ़वाल संदीप तिवारी द्वारा मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभाग कर उपस्थित जनसामान्य को वात्सल्य योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी। उन्होंने कहा कि इस योजना के अन्तर्गत राज्य सरकार द्वारा ऐसे बच्चों, जिनके माता या पिता अथवा दोनो की मृत्यु हो गयी है, ऐसे लाभर्थियों को 21 वर्ष आयु पूर्ण होने तक 3000 रूपये मासिक देने का प्रावधान किया गया है। जबकि पीएम केयरस् के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा आयुनुसार अधिकतम 10 लाख की धनराशि 23 वर्ष की मैच्यूरिटी पूर्ण करने पर प्रदान करने का प्रावधान किया गया है।
उपजिलाधिकारी कोटद्वार द्वारा एसडीआरएफ के अंतर्गत ऐसे लाभर्थियों को 50 हजार रूपये दिए जाने की जानकारी प्रदान की गई। सीओ कोटद्वार द्वारा अवगत करवाया गया कि पुलिस विभाग द्वारा भी ऐसे लाभार्थियों की सूची एकत्र कर स्कूलों के माध्यम से बढ़-चढ़ कर ऐसे लाभर्थियों को लाभ दिलवाने के प्रयास किये गए हैं। जिला कार्यक्रम अधिकारी तथा जिला प्रोबेशन अधिकारी द्वारा अवगत करवाया गया कि जनपद में 290 ऐसे लाभार्थियों को वात्सल्य योजनांतर्गत लाभ प्रदान किया जा रहा है तथा 66 बच्चों को वर्तमान माह में लाभ दिए जाने की प्रक्रिया गतिमान है। उनके द्वारा नंदा गौरा, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट योजना की भी विस्तार से जानकारी दी गयी।
इस अवसर पर उाअद स्कूल के प्रबंध निदेशक द्वारा भी अपने विचार रखते हुए आमजन को संबोधित किया। कार्यक्रम में लगभग 120 बच्चे एवं उनके अभिभावक उपस्थित रहे। 23 मौखिक शिकायतों का निस्तारण मौके पर किया गया, जबकि 09 लिखित शिकायतों का निस्तारण कल कार्यालय दिवस में करने का आश्वासन दिया गया।
जागरूकता कार्यक्रम में अतिरिक्त प्रभारी सीडीपीओ श्रीमती वसुंधरा नेगी, बाल विकास सुपरवाइजर श्रीमती शिवाली सिंह, लिपिक रामचरन जोशी, पोषण मिशन ब्लॉक समन्वयक सोमेश कुमार तथा अन्य आंगनबाड़ी कार्यकत्री भी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.