बहत्तर घंटे से अंधेरे में डूबे हैं ग्राम पंचायत सीला के गाँव। www.Janswar.com

बहत्तर घंटे से अंधेरे में डूबे हैं ग्राम पंचायत सीला के गाँव

-नागेन्द्र प्रसाद रतूड़ी
————————————————————

19 अगस्त की वर्षा ने यमकेश्वर विकासखण्ड में काफी तबाही मचाई है।यमकेश्वर घाटी में सतेड़ी गाड(रवासण नदी) ने तो अपना रौद्र रूप धारण कर फसल से भरे खेत बहा दिये हैं।किसी का मकान गिरा तो किसी के खेत बहे।किसी की गाड़ी बही, तो किसी की मवेशी ही बह गयी।
इसी नदी पर बनी रणचूला पेयजल योजना को फीड करने वाली 11 कि.वाट की लाईन के खम्बे व ट्रांस्फॉरमर के बह जाने से ग्राम सभा सीला के सीला,फेडुवा,ठींगाबांज,गली का बण,दालमीसेरा बनसारी गाँव पिछले 72 घंटों से अंधेरे में रहने को विवश हैं।यह गाँव व योजना दोहरी लाईन से से जुड़ा है पर दूसरी लाईन रख रखाव न होने से बेकार पड़ी है।जिसको ठीक किया जा रहा है।
यही नहीं कोढ में खाज यह हुआ कि पाईप लाईन में जलापूर्ति बंद होने से त्राही त्राही मची है पर प्रशासन ने अभी तक इन गांवों की सुध नहीं ली है शासन की बात तो बहुत दूर है।

राज्य तो बना पर कुछ गाँव आज भी उपेक्षा के शिकार हो रखे हैं।अधिकारियों,कर्मचारियों का रवैया आज भी आम आदमी के प्रति उपेक्षा का है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.