बद्रीनाथ धाम की कपाट बंद होने के साथ चारधाम यात्रा का विधिवत समापन, मुख्यमंत्री ने दी श्रद्धालुओं को शुभकामनाएं #मुख्यमंत्री  आजीविका महोत्सव सांस्कृतिक सन्ध्या में दृष्टिबाधित नेहा को प्रोत्साहन राशि प्रदान की# सचिव नागरिक उड्डयन ने हेली सेवाओं के विस्तार व नागरिक सुविधा बढाने के लिए  बैठक की। -www.janswar.com

-नागेन्द्रप्रसाद रतूड़ी
बद्रीनाथ धाम की कपाट बंद होने के साथ चारधाम यात्रा का विधिवत समापन, मुख्यमंत्री ने दी श्रद्धालुओं को शुभकामनाएं

इस यात्रा वर्ष रिकॉर्ड यात्रियों ने किये चारधामों के दर्शन
भू-बैकुंठ श्री बदरीनाथ धाम की कपाट बंदी के साथ ही चारधाम यात्रा का भी विधिवत समापन हो गया है। मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने इस अवसर पर देश-विदेश के तमाम श्रद्धालुओं को शुभकामनाएं देते हुए यात्रा के सफल संचालन हेतु तमाम विभागों का भी आभार प्रकट किया है।
गौरतलब है कि इस बार रिकॉर्ड साढ़े छियालीस लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने चारधामों के दर्शन किये। अकेले 17 लाख 60 हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने भगवान बदरीविशाल के दर्शन कर पुण्य कमाया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने श्री चारधामों के कपाट बंद होने के अवसर पर तीर्थयात्रियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि इस बार रिकॉर्ड यात्रियों का चारधाम की यात्रा पर आना यह भी परिलक्षित करता है कि राज्य सरकार द्वारा की गई बेहतर व्यवस्थाओं के चलते संभव हो सका है। उन्होंने कहा कि देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में वर्तमान में श्री केदारनाथ धाम एवं श्री बदरीनाथ धाम में मास्टर प्लान का कार्य तेजी से आगे बढ़ रहा है जिससे आने वाले यात्राकाल में तीर्थयात्रियों एवं आम जनमानस को पर्याप्त सुविधाएं मिलेंगी।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने अपने हालिया दौरे के दौरान केदारनाथ धाम एवं हेमकुंड धाम के लिए रोपवे की आधारशिला रखी है जिससे आने वाले दिनों में यह दोनों यात्राएं न केवल सुगम बल्कि सुरक्षित हो सकेंगी। मुख्यमंत्री ने चारधाम यात्रा की व्यवस्थाओं में जुटे रहे तमाम विभागों के कार्मिकों का भी आभार प्रकट किया है। उन्होंने कहा कि सरकारी विभागों के बीच बेहतर सामंजस्य एवं स्थानीय लोगों की भागीदारी से ही कुशलता पूर्वक यात्रा संभव हो सकी

*******

मुख्यमंत्री  आजीविका महोत्सव सांस्कृतिक सन्ध्या में दृष्टिबाधित नेहा को प्रोत्साहन राशि प्रदान की

अल्मोड़ा (अशोक कुमार पाण्डेय)मुख्यमंत्री  आजीविका महोत्सव सांस्कृतिक सन्ध्या में दृष्टिबाधित नेहा को प्रोत्साहन राशि प्रदान की

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को मल्ला महल, अल्मोड़ा में आयोजित आजीविका महोत्सव सांस्कृतिक संध्या कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। इस अवसर पर उन्होंने दृष्टिबाधित बालिका नेहा के लोकगीत गाने पर प्रोत्साहन धनराशि भी प्रदान की।
मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उत्तराखण्ड राज्य की सांस्कृतिक नगरी अल्मोड़ा में लोक संस्कृति की विभिन्न झलक देखने से ही बनती है। अल्मोड़ा जिले में हमेशा से ही लोक संस्कृति को बचाने का कार्य हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में भारत की संस्कृति एवं सभ्यता को बचाने का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा केन्द्र सरकार के नेतृत्व में राज्य सरकार मानसखण्ड कारिडोर मिशन पर कार्य कर रही है जिसके अन्तर्गत पौराणिक मन्दिरों एवं धार्मिक स्थलों का संरक्षण कर इन्हें आपस में जोड़ने पर कार्य किया जा रहा है।
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि राज्य सरकार लोक संस्कृति के संरक्षण एवं लोक विधाओं को आगे बढ़ाने हेतु प्रतिबद्व है। उन्होंने कहा कि हमें संकल्प के तौर पर पलायान को रोकना होगा। उन्होंने कहा कि स्वयं सहायता समूहों एवं विभिन्न संस्थानों द्वारा बनाये जा रहे सभी स्थानीय उत्पादों को राज्य सरकार एक मंच उपलब्ध करायेगी जिससे इन उत्पादों को देश के साथ ही विदेशों में पहचान मिल सके। इस कार्यक्रम में राजस्थानी लोक कलाकारों, श्रीनगर से आयी पाण्डावास टीम द्वारा रंगारंग सुन्दर प्रस्तुत दी गयी।
इस दौरान कार्यक्रम में प्रभारी मंत्री डा0 धन सिंह रावत, केबिनेट मंत्री श्रीमती रेखा आर्या, सांसद अजय टम्टा, भाजपा जिलाध्यक्ष रमेश बहुगुणा, विधायक अल्मोड़ा मनोज तिवारी, विधायक कपकोट सुरेश गड़िया, जिलाधिकारी वन्दना, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रदीप कुमार राय, मुख्य विकास अधिकारी अंशुल सिंह सहित अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे।

*******

सचिव नागरिक उड्डयन ने हेली सेवाओं के विस्तार व नागरिक सुविधा बढाने के लिए  बैठक की।

शनिवार को सचिव नागरिक उड्डयन श्री दिलीप जावलकर की अध्यक्षता में नागरिक उड्डयन विकास प्राधिकरण में उत्तराखण्ड राज्य में हेली सेवा के विस्तार व आगामी यात्रा सीजन में यात्रियों को अच्छी सुविधा देने के उद्देश्य से महत्वपूर्ण बैठक आयोजित हुई। बैठक में यूकाडा के अधिकारियों एवं हैली कम्पनियों के प्रतिनिधियों द्वारा प्रतिभाग किया गया।
बैठक में हेलीकॉप्टर एवं यात्रियों की सुरक्षा के मध्यनजर विभिन्न सुझाव प्राप्त किये गये जिसमें मुख्यतः मौसम विभाग के द्वारा श्री केदारनाथ में सब स्टेशन लगाये जाने व केदार वैली में विभिन्न स्थानों पर कैमरे लगाते हुए उनको नेटवर्क के माध्यम से वास्तविक समय की सूचना देने के संबंध में सहमति प्राप्त की जानी है। इस हेतु डीजीसीए से तकनीकी सलाह लेते हुए उनका मूल्यांकन अगले यात्रा सीजन से पूर्व करने का निर्णय लिया गया।
हेलीपैड की सुरक्षा हेतु श्री केदारनाथ में प्राइवेट सुरक्षा एजेंसी को लाने का निर्णय लिया गया है। इसी तरह से अग्निशमन की व्यवस्था भी प्राइवेट सुरक्षा एजेंसी के माध्यम से किये जाने का निर्णय लिया गया। देहरादून – श्री केदारनाथ – श्री बद्रीनाथ के मध्य डायरेक्ट शटल सेवा चलाने का ऑफर उत्तराखण्ड नागरिक उड्डयन विकास प्राधिकरण द्वारा दिया जायेगा और ऑपरेटर जो उक्त सेवा चलाये जाने हेतु इच्छुक हो से आगे आने की अपील की गयी। डीजीसीए से यदि उक्त रुट स्वीकृत हो जाता है तो यात्रियों को सहस्त्रधारा हेलीपैड से श्री केदारनाथ एवं श्री बद्रीनाथ जाने की सुविधा उपलब्ध हो जायेगी।
बैठक में टिकट बुकिंग में आने वाली समस्याओं एवं ब्लैक मार्केटिंग की शिकायतों के मध्यनजर हेलीकॉप्टर कम्पनियों के प्रतिनिधियों द्वारा कस्टमर केयर सॉफ्टवेयर चलाने हेतु अनुरोध किया गया। जिसे स्वीकार करते हुए सचिव नागरिक उड्डयन द्वारा यूकाडा को इसके सम्बन्ध में ससमय आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये। ब्लैक मार्केटिंग को अगले यात्रा सीजन में सख्ती से रोका जायेगा इस हेतु बुकिंग पोर्टल में आवश्यक परिवर्तन करने के निर्देश दिये गये हैं।  बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि अगले सीजन में प्रत्येक हेलीपैड/हैलीपोर्ट पर कैमरे लगाये जायेंगे। यूकाडा एवं जीएमवीएन के स्टाफ द्वारा टिकट पर उल्लिखित पहचान पत्र का सत्यापन अनिवार्य रूप से किया जायेगा।
सचिव नागरिक उड्डयन द्वारा सहस्त्रधारा में निर्माणाधीन 500 सिटिंग क्षमता के अत्याधुनिक हैलीड्रोम का निरीक्षण किया गया एवं यह कार्य अगले यात्रा सीजन से पूर्व पूर्ण करने के निर्देश दिये गये अर्न्तराष्ट्रीय मानकों का यह हैलीड्रोम अत्याधुनिक एयरपोर्ट की तर्ज पर बनाने का कार्य त्वरित गति से किया जा रहा है।
बैठक के दौरान सभी ऑपरेटरों द्वारा अत्यधिक वीआईपी आवागमन के चलते टिकटिंग व संचालन में हो रही असुविधा से यूकाडा के अधिकारियों को अवगत कराया गया है। यूकाडा के स्तर इस वर्ष देहरादून से श्री बद्रीनाथ, देहरादून से श्री केदारनाथ, श्री केदारनाथ वैली से श्री बद्रीनाथ, गौचर से श्री केदारनाथ इत्यादि अतिरिक्त रूट यात्रा के दौरान संचालित करने का प्रस्ताव किया गया है। इस सम्बन्ध में यूकाडा अपने स्तर से प्रस्ताव का परीक्षण कर शासन को यथासमय उपलब्ध कराने के निर्देश दिये गये।
बैठक में बताया गया कि इस बार लगभग 136646 लोगों द्वारा हेली सेवा के माध्यम से यात्रा सम्पन्न की गयी। यात्रियों की सुविधाओं के दृष्टिगत सभी हैली ऑपरेटरों को अपने-अपने हेलीपैड पर इंफ्रास्ट्रक्चर को अपग्रेड करने के भी निर्देश सचिव नागरिक उड्डयन द्वारा दिये गये।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.