प्रधानमंत्री ने स्व.विजयाराजे सिंधिया की सौवीं जयंती पर 100 रूपये का विशेष स्मारक सिक्का जारी किया।#रक्षामंत्री ने सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) द्वारा बनाए गए 44 पुलों को राष्ट्र को समर्पित किया।# पौड़ी समाचार-सांसद भ्रमण कार्यक्रम ,मुख्य विकास अधिकारी द्वारा होगी समीक्षा,स्पेशल ई लोक अदालत 07 नवम्बर को आयोजित। पढिए Janswar.Com में।

समाचार प्रस्तुति-अरुणाभ रतूड़ी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने राजमाता विजयाराजे सिंधिया की 100वीं जयंती पर 100 रूपये के विशेष स्मारक सिक्के का विमोचन किया। उन्होंने कहा कि विजयाराजे सिंधिया जी ने अपना जीवन गरीबों के लिए समर्पित किया। उनके लिए राजसत्ता नहीं बल्कि जन सेवा अहम थी। नारी शक्ति के बारे में वो कहती थी कि जो हाथ पालने का झुला सकते हैं, तो वे विश्व पर राज भी कर सकते हैं। आज नारी शक्ति हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं और देश का नाम रोशन कर रही हैं। विजयाराजे सिंधिया एक आध्यात्मिक व्यक्तित्व थी। साधना, उपासना , भक्ति उनके अन्तर्मन में रची बसी थी। जेल में रहते हुए उन्होंने कहा था कि अपनी भावी पीढ़ियों को सीना तान कर जीने की प्रेरणा मिले इस उद्देश्य से हमें आज की विपदा को धैर्य के साथ झेलना चाहिए।
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि कोई भी साधारण व्यक्ति जिसके अदंर योग्यता , प्रतिभा व देश की सेवा की भावना है, वह इस लोकतंत्र में भी सत्ता को सेवा का माध्यम बना सकता है। जन सेवा के लिए किसी खास परिवार में ही जन्म लेना जरूरी नहीं हैं। राष्ट्र के भविष्य के लिए राजमाता ने अपना वर्तमान समर्पित कर दिया था। उन्होंने पद एवं प्रतिष्ठा के लिए न जीवन जिया और न ही राजनीति की। स्वतंत्रता आन्दोलन से लेकर आजादी के कई दशकों तक भारतीय राजनीति के हर अहम पड़ाव की वे साक्षी रहीं।
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि विजया राजे जी ने एक पुस्तक में लिखा है कि एक दिन ये शरीर यहीं रह जायेगा। आत्मा जहां से आई है, वहीं चली जायेगी। शून्य से शून्य में, स्मृतियां रह जायेंगी। अपनी इन स्मृतियों को मैं उनके लिए छोड़ जाऊँगी। जिनसे मेरा सरोकार रहा है, जिनकी मैं सरोकार रही हूं। मैं सौभाग्यशाली हूं कि उनकी स्मृति में मुझे विशेष स्मारक सिक्के के अनावरण का अवसर मिला।

इस अवसर पर वर्चुअल माध्यम से राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य, मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, अन्य राज्यों के राज्यपाल, मुख्यमंत्री एवं अन्य जन प्रतिनिधिगण जुड़े थे।

केंद्रीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से 7 राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) द्वारा बनाए गए 44 पुलों को राष्ट्र को समर्पित किया। रक्षा मंत्री ने अरूणाचल प्रदेश के तवांग मार्ग में नेचीफु सुरंग की आधारशिला भी रखी। राष्ट्र को समर्पित किए गए पुलों में उत्तराखण्ड में 08, अरूणाचल प्रदेश में 08, हिमाचल प्रदेश में 02, जम्मू कश्मीर में 10, लद्दाख में 08, पंजाब में 04 और सिक्किम में 04 पुल शामिल हैं। इन 44 पुलों का कुल स्पान 3506 मीटर है। उत्तराखण्ड के 08 पुलों का कुल स्पान 390 मीटर है।

रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने कहा कि एक साथ इतने पुलों का उद्घाटन और सुरंग की आधारशिला रखना बहुत बड़ा रिकार्ड है। इससे सीमावर्ती क्षेत्रों में कनेक्टीवीटी और विकास का नया युग प्रारम्भ होगा। देश में कोविड-19 में सभी क्षेत्र प्रभावित हुए हैं। पाकिस्तान व चीन के साथ हमारी बड़ी सीमा मिलती है, जहां तनाव बना रहता है। हम प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में इन सभी समस्याओं का सफलतापूर्वक सामना कर रहे हैं। हाल ही में अटल टनल का उद्घाटन किया गया था। सीमावर्ती क्षेत्रों में रक्षा के साथ ही विकास में बीआरओ की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। इन पुलों के बनने से स्थानीय आकांक्षाओं की पूर्ति होगी और सेना तक आवश्यक सामग्री पहुंचानें में मदद मिलेगी।

पौड़ी समाचार-सांसद भ्रमण कार्यक्रम ,मुख्यतविकास अधिकारी द्वारा होगी समीक्षा,स्पेशल ई लोक अदालत 07 नवम्बर को आयोजित।

गढ़वाल सांसद श्री तीरथ सिंह रावत दिनांक 23 अक्टूबर, 2020 को प्रातः 08ः00 बजे रूद्रप्रयाग से प्रस्थान कर 10ः00 बजे सर्किट हाउस पौड़ी पहंुचंेगे तथा 11ः00 बजे विकास भवन सभागार में जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति ‘‘दिशा‘‘ की बैठक लेंगे। तत्पश्चात् अपराह्न 01ः30 बजे सर्किट हाउस पौड़ी में पत्रकार मिलों से बातचीत, 03ः00 बजे कण्डोलिया पौड़ी में नव निर्मित व्यायामशाला का लोकार्पण करेंगे।
मा. सांसद जी दिनांक 24 अक्टूबर, 2020 को प्रातः 09ः30 बजे पौड़ी से विकास खण्ड सभागार कोट के लिए प्रस्थान करेंगे, जहां पर 10ः00 महिला मंगल दल को सामग्री वितरण एवं पंचायत जनप्रतिनिधियों से भेंटवार्ता कर हंसूड़ी के लिए प्रस्थान कर 11ः30 बजे वहां पर बांजखेत से ग्राम हंसूडी तक मोटर मार्ग का शिलान्यास करेंगे। तत्पश्चात हंसूडी से प्रस्थान कर 12ः30 बजे विकास खण्ड सभागार कल्जीखाल पहंुचकर महिला मंगल दल को सामग्री वितरण एवं पंचायत जनप्रतिनिधियों से भेंटवार्ता कर 03ः00 बजे सतपुली के लिए प्रस्थान करेंगे।


जिला सेक्टर, राज्य सेक्टर, केन्द्र पोषित, वाह्य सहायतित योजना, 20 सूत्री कार्यक्रम, टास्क फोर्स योजना के अन्तर्गत विभागीय कार्यों की प्रगति समीक्षा बैठक दिनांक 15 अक्टूबर, 2020 को पूर्वाह्न 11ः00 बजे विकास भवन सभागार पौड़ी में मुख्य विकास अधिकारी पौड़ी की अध्यक्षता में आयोजित की जायेगी। मुख्य विकास अधिकारी पौड़ी आशीष भटगांई ने सभी संबंधित अधिकारियों को अद्यतन विभागीय सूचनाओं के साथ ससमय बैठक में प्रतिभाग करने के निर्देश दिये हैं।

————————————————————-

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, पौड़ी गढ़वाल द्वारा 07 नवम्बर, 2020 को जनपद के समस्त न्यायालयों (मुख्यालय पौड़ी, कोटद्वार, श्रीनगर तथा लैंसडोन) में स्पेशल ई-लोक अदालत का आयोजन किया जाना प्रस्तावित है। इस स्पेशल ई-लोक अदालत में पराक्रम्य विलेख अधिनियम की धारा 138 के अन्तर्गत शमनीय प्रकृति के अपराधिक वादों का निस्तारण हेतु सन्दर्भित किया जायेगा।
सिविल जज (व.ख.)/सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, पौड़ी गढ़वाल इन्दु शर्मा ने कहा कि कोई भी व्यक्ति जिनका उपरोक्त प्रकार का वाद न्यायालय में लम्बित है, अथवा प्री-लिटिगेशन का मामला, संबंधित न्यायालय मंे ड्राप बाॅक्स के माध्यम से अथवा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पौड़ी गढ़वाल की ई-मेल कसेंचंनतप/हउंपसण्बवउ पर अथवा जिला न्यायालय पौड़ी गढ़वाल की ई-मेल कर.चंन.नं/दपबण्पद पर सुलह समझौता प्रार्थना पत्र प्रस्तुत कर नियत कराया जा सकता है।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने उत्तराखण्ड शासन में प्रभारी सचिव श्री अशोक कुमार के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। उन्होंने ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति व शोक संतप्त परिवार जनों को धैर्य प्रदान करने की प्रार्थना की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.