पौड़ी के रामलीला मैदान में आयोजित “विकास के साक्षी” कार्यक्रम में मुख्यमंत्री प्रतिभाग किया।#मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने बुधवार को सचिवालय में नैनीताल जनपद की समीक्षा की#हेमवती नंदन  केंद्रीय विश्वविद्यालय श्रीनगर गढ़वाल का नौंवा दीक्षांत समारोह आज संपन्न हुआ- Janswar.com

-अरुणाभ रतूड़ी

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने पौड़ी के रामलीला मैदान में आयोजित “विकास के साक्षी” कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने नवीन जिलाधिकारी कार्यालय का उद्घाटन समेत 100 करोड़ से अधिक की विभिन्न विकास योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने विभिन्न विभागों के लगे स्टॉल का भ्रमण किया। इस दौरान महालक्ष्मी किट का वितरण किया और विभिन्न स्वयं सहायता समूह से जुड़े सीएलएफ को 5 -5 लाख के चेक वितरित किए।
मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार द्वारा वर्तमान में विभिन्न क्षेत्रों में कल्याणकारी योजनाएं चलाई जा रही हैं। सरकार त्वरित गति से समाधान के फॉर्मूले पर काम कर रही है। बीते चार महीनों में प्रदेश सरकार ने 500 से ज्यादा घोषणाएं की है और अधिकतर के शासनादेश जारी हो गए हैं।  राज्य सरकार ने प्रदेश में नई खेल नीति को लागू किया है जिसके जरिये प्रदेश के युवा और होनहार खिलाड़ियों को सुविधा मिलेगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में सरकार द्वारा पंचायत प्रतिनिधियों को प्रोत्साहित करने के लिए उनके मानदेय में वृद्धि की गई है, इसके साथ ही विभिन्न विभागों में काम कर रहे हैं उपनल कर्मचारी, आशा, आंगनवाड़ी वर्कर का भी विशेष ध्यान रखा गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के कर्मचारियों की गोल्डन कार्ड को लेकर लंबे समय से मांग चल रही थी जिसका निस्तारण कर दिया गया है।
कार्यक्रम में सभा को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री धामी ने कहा कि प्रदेश के युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए वीर चंद्र सिंह गढ़वाली स्वरोजगार योजना में दी जाने वाली सब्सिडी को भी बढ़ा दिया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा प्रयास है कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में 2025 तक उत्तराखंड को शीर्ष तक पहुंचाया जाए जिसके लिए राज्य सरकार द्वारा हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत विश्व गुरु बनने की ओर अग्रसर है। आज प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में देश के सैनिकों का मान बढ़ा है। सैनिकों की सुविधाओं का विकास किया गया है और वन रैंक वन पेंशन योजना का लाभ भी सैनिकों को दिया गया है।
कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्री श्री धन सिंह रावत, विधायक श्री मुकेश कोहली, विधायक श्री दलीप रावत, नगर पंचायत अध्यक्ष यशपाल बेनाम समेत बड़ी तादात में स्थानीय जनता मौजूद रही।

मुख्यमंत्री  द्वारा  की गई घोषणा

रामलीला मैदान में संबोधन के दौरान मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने जनपद के कालागढ़ क्षेत्र के लिए एक एंबुलेंस देने तथा श्रीनगर में पानी के मीटर लगाने वाले लोगों को जल जीवन मिशन के तहत 20 हजार लीटर पानी फ्री में देने , कोटद्वार में डायलिसिस सेंटर का नाम स्वर्गीय श्रीमती सरोजिनी देवी के नाम पर रखने की घोषणा की।  उन्होंने पौड़ी नगर को हेली सेवा से जोड़ने के लिए काम करने की बात कही।

शिलान्यास एवं लोकार्पण

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने जनपद पौड़ी गढ़वाल के मुख्यालय में नवीन कलेक्ट्रेट भवन का निर्माण कार्य स्वीकृत लागत 691.81 लाख का विधिवत लोकार्पण किया। वहीं रामलीला मैदान में आयोजित कार्यक्रम में राजकीय चिकित्सालय पौड़ी में 12 चिकित्सा अधिकारियों हेतु ट्रोजिट हॉस्टल के भवन का निर्माण कार्य स्वीकृत धनराशि रूपये 328.59 लाख, कोला-पातल ग्राम समूह पंपिंग पेयजल योजना स्वीकृत धनराशि रूपये 2908.55 लाख तथा विकास भवन परिसर में जिला योजना के अंतर्गत रूपये 87.92 लाख की लागत से अर्थ एवं संख्या विभाग हेतु अतिरिक्त कक्ष का लोकार्पण किया।
मुख्यमंत्री श्री धामी ने केंद्रीय सड़क निधि के अंतर्गत रूपये 740 लाख की लागत से विकास खण्ड कोट में वडडा -चमना (अनुसूचित जाति ग्राम) बुरासी मोटर मार्ग के डामरीकरण एवं पक्कीकरण कार्य तथा रूपये 1161.32 लाख की लागत से मरचुला- सराईखेत -बैजरो- पोखरा -सतपुली- बाँघाट- घंडियाल – कांसखेत- पौड़ी मोटर मार्ग का सुधारीकरण कार्य एवं  रूपये 650 लाख की लागत से पौड़ी- देवप्रयाग -गजा -जाजल मोटर मार्ग के अंतर्गत सड़क सुरक्षा कार्य तथा रूपये 342.15 लाख लागत की राज्य योजना के अंतर्गत विकासखंड कोट में कार्यालय भवन के नव निर्माण कार्य एवं राज्य योजना के अंतर्गत रूपये 2229.47 लाख की लागत से महावीर चक्र विजेता शहीद राइफलमैन जसवंत सिंह रांसी स्टेडियम के विस्तारीकरण के कार्य तथा रूपये 1736.28 लाख की लागत से एनआरडीडब्ल्यू व जल जीवन मिशन कार्यक्रम के अंतर्गत सबदरखाल कादेखाल ग्राम समूह पंपिंग पेयजल योजना का शिलान्यास किया।

———————————————- मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने बुधवार को सचिवालय में नैनीताल जनपद की समीक्षा की। मुख्य सचिव ने जनपद से सम्बन्धित शासन स्तर पर लंबित विभिन्न समस्याओं के समाधान हेतु अधिकारियों को शीघ्र कार्रवाई के निर्देश दिए। जिलाधिकारी नैनीताल द्वारा विभिन्न स्थानों पर पार्किंग सुविधा विकसित किए जाने के प्रस्ताव पर शीघ्र कार्रवाई की मांग की।
मुख्य सचिव ने कहा कि पार्किंग स्थलों के लिए सैद्धांतिक स्वीकृति है, परंतु पार्किंग बनाते समय नैनीताल की खूबसूरती खराब न हो इसका ध्यान रखा जाए। शहर की वहन क्षमता का भी ध्यान रखा जाए। उन्होंने कहा कि ट्रैफिक से निजात दिलाने के लिए रोप-वे व्यवस्था पर भी विचार किया जाए ताकि पर्यटकों के वाहन शहर से बाहर ही रुके और जाम जैसी स्थिति से बचा जा सके।
मुख्य सचिव ने पर्यटन विभाग को ऐप एवं एफएम रेडियो आदि के माध्यम से पर्यटकों को ट्रैफिक आदि की जानकारी दिए जाने की व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने पर्यटन शहरों में फुटपाथ की व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने अधिकारियों को सभी जिलाधिकारियों द्वारा की गई अभिनव पहलों एवं अच्छे कार्यों को वेबसाइट पर अपलोड किए जाने की बात कही। उन्होंने कहा कि आपसी सामंजस्य की कमी से छोटी छोटी कमियों से फ़ाइल लंबे समय तक लंबित रहती है। शासन स्तर पर लम्बित विभिन्न समस्याओं के निराकरण के लिए सभी सम्बन्धित विभाग आपसी सामंजस्य से कार्य करें।
इस अवसर पर प्रमुख सचिव श्री आर के सुधांशु एवं सचिव श्री अरविंद सिंह ह्यांकी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी एवं जनपद नैनीताल के जिलाधिकारी धीरज सिंह गर्ब्याल भी उपस्थित थे।


हेमवती नंदन  केंद्रीय विश्वविद्यालय श्रीनगर गढ़वाल का नौंवा दीक्षांत समारोह आज संपन्न हुआ। स्वामी मनमथन प्रेक्षागृह में आयोजित दीक्षांत समारोह के मुख्य अतिथि संसदीय सत्र की व्यस्तता के कारण ऑनलाइन माध्यम से जुड़े जबकि विशिष्ट अतिथि चीफ ऑफ डिफेन्स स्टाफ, रक्षा-मंत्रालय, भारत सरकार जनरल बिपिन रावत तय कार्यक्रमानुसार श्रीनगर पहुँचे। आयोजित समारोह की अध्यक्षता विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ योगेंद्र नारायण ने ऑनलाइन माध्यम से की। इस अवसर पर प्रसिद्ध लोकगायक गढ़रत्न नरेन्द्र सिंह नेगी जी को लोककला और संगीत में अतुलनीय योगदान के लिए डॉक्टर ऑफ लेटर्स की उपाधि प्रदान की गई।
नौवें दीक्षांत समारोह में 147 पीएचडी, 10 एमफिल तथा 3659 स्नातकोत्तर उपाधियां प्रदान की गई। इसके अलावा विभिन्न विषयों में सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को 59 स्वर्ण पदक और दस हजार रुपये नकद पुरुस्कार दिया गया। विशिष्ट अतिथियों के साथ दीपप्रज्वलन करते हुए विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफेसर अन्नपूर्णा नौटियाल ने स्वागत संबोधन में दीक्षांत समारोह के मुख्य अतिथि माननीय शिक्षामंत्री धर्मेंद्र प्रधान, विशिष्ट अतिथि चीफ ऑफ डिफेन्स स्टाफ, रक्षा-मंत्रालय जनरल बिपिन रावत, लोकगायक नरेंद्र सिंह नेगी, कुलाधिपति डॉ योगेंद्र नारायण समेत सभी अतिथियों एवं प्रतिभागियों का स्वागत किया।
इस अवसर पर समारोह को संबोधित करते हुए केन्द्रीय शिक्षामंत्री माननीय धर्मेंद्र प्रधान ने सभी पदक विजेताओं को बधाई दी और कहा कि हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय राष्ट्र निर्माण में प्रभावी रूप से योगदान दे रहा है। उन्होंने नई शिक्षा नीति पर अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि नई शिक्षा नीति भारतीय युवाओं के सपनों और आकांक्षाओं को पूरा करने का एक महत्वपूर्ण साधन बनने जा रही है।
समारोह में भारत सरकार के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल विपिन रावत ने छात्रों को बधाई दी ओर कहा कि जनरल रावत ने कहा, उनके लिए अपनी मातृभूमि में उपस्थित होना बहुत गर्व और सौभाग्य की बात है। विश्वविद्यालय में चेयर ऑफ एक्सिलेंस की स्थापना के संबंध में प्रोफेसर अन्नपूर्णा नौटियाल द्वारा किए गए अनुरोध के जवाब में, जनरल रावत ने कहा कि रक्षा मंत्रालय और भारतीय सेना के अधिकारी विश्वविद्यालय में चेयर स्थापित करने की संभावना को देखेंगे। जनरल रावत ने इस बात पर भी प्रसन्नता व्यक्त की कि यह विश्वविद्याल पहले से ही कई उत्कृष्ट पाठ्यक्रम चला रहा है जो भारतीय सेना और सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण उत्तराखंड राज्य की आवश्यकता को पूरा कर सकता है। उन्होंने दीक्षार्थियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि युवाओं को नौकरी चाहने के बजाय रोजगार सृजन पर ध्यान देना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.