पौडी़ गढवाल के पैठाणी थाना क्षेत्र से अलगअलग दिन तीन महिला गायब# पेशी पर जाते हुए फरार कैदी चण्डीगढ के पास से गिरफ्तार#एम्स ऋषिकेश में “विश्व बधिरता दिवस” सप्ताह के उपलक्ष्य में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित-www.janswar.com

-नागेन्द्र प्रसाद रतूड़ी

जनपद पौड़ी गढ़वाल के थाना पैठाणी क्षेत्राअंर्गत 03 महिलाएं अचानक घर से लापता हो गई हैं। परिजनों द्वारा काफी खोजबीन के बावजूद भी महिलाओं का कोई पता नहीं चला। थानाध्यक्ष पैठाणी ने जानकारी देते हुए बताया कि अलग-अलग तिथियों पर तीनांे महिलाओं के अचानक घर से लापता होने पर परिजनों द्वारा थाना में रिपोर्ट प्रस्तुत की गई।
थाना अध्यक्ष पैठाणी ने कहा कि सौठी निवासी पट्टी ढाईज्यूली तहसील चाकीसैंण अंजू देवी पुत्री मदन सिंह, उम्र 27 वर्ष, 10 अगस्त,2022 को घर से घास लेने के बहाने निकली थी, जो मानसिक रूप से अस्वस्थ है तथा अभी तक घर वापस नहीं लौटी। जिसका हुलिया कद 4 फिट 10 इंच, रंग सांवला है।

वहीं 04 सितम्बर, 2022 को गडोली निवासी अन्नपूर्णा उर्फ रिया देवी पत्नी दिलबर सिंह, उम्र 22 वर्ष अचानक घर से कहीं लापता हो गई थी। जिसका कद 4 फिट 06 इंच, रंग गोरा, पहनावा नीला कुर्ता, सफेद पजामा व सैडल पहनी थी।

जबकि 23 सितम्बर को पैठाणी निवासी ललिता देवी पुत्री सुमा देवी बिना बताये घर से कहीं चली गई। जिसका हुलिया रंग गेहूंवा, गर्दन पर मस्सा, लंबाई 5 फीट है।

 

एक -डेढ के अन्दर तीन महिलाओं का गायब होना और उनका पता न लगना अत्यन्त चिन्ताजनक है। पुलिस को इस तथ्य पर भी ध्यान देना चाहिए कि उस क्षेत्र में कोई महिला तस्कर व्यक्ति या गिरोह  सक्रिय तो नहीं है।

********

एसओजी व जनपद पुलिस की संयुक्त टीम ने पेशी के दौरान फरार कैदी को चंडीगढ़ से किया गिरफ्तार
■■■■■■■■■■■■■

अल्मोड़ा(अशोक कुमार पांडेय) 15 सितम्बर को कमल सिंह बिष्ट पुत्र भुवन सिंह निवासी ग्राम पदमपुरी पल्ली, पोखरी थाना दन्या तहसील भनोली, जनपद अल्मोड़ा पेशी के दौरान अल्मोड़ा कोर्ट से पुलिस जवानों को धक्का देकर फरार हो गया था, जिसके विरुद्ध कोतवाली अल्मोड़ा में अभियोग पंजीकृत किया गया था।
एसएसपी अल्मोड़ा प्रदीप कुमार राय द्वारा फरार कैदी कमल सिंह बिष्ट की शीघ्र गिरफ्तारी के निर्देश सीओ अल्मोड़ा, प्रभारी निरीक्षक कोतवाली अल्मोड़ा, प्रभारी एसओजी को दिए गये ।
क्षेत्राधिकारी अल्मोड़ा विमल प्रसाद के नेतृत्व में तलाश हेतु टीमों का गठन किया गया । फरार कैदी की गिरफ्तारी हेतु 06 टीमें काम्बिंग एवं 08 टीमों द्वारा नाकाबन्दी कर आसपास के क्षेत्रों जंगलों के साथ-साथ विशेष वाहन चैकिंग अभियान चलाया गया।
एसएसपी अल्मोड़ा ने स्वंय मौके पर रहकर काँम्बिंग करवायी तथा सम्भावित क्षेत्रों में सघन काम्बिंग/ जनपद के बाँर्डरों पर सघन वाहन के साथ-साथ अन्य जनपदों में वाहन चैकिंग अभियान चलाया गया।
आसपास के क्षेत्रों व जंगलों में ड्रोन कैमरे की मदद से भी तलाश की गई।एसओजी प्रभारी सुनील धानिक के नेतृत्व में एएनटीएफ प्रभारी सौरभ भारती एव साईबर टीम के कानि0 बलवंत प्रसाद एवं कानि0 इन्द्र कुमार* द्वारा दिन-रात सुरागरसी पतारसी कर आरोपी के संभावित ठिकानों की छानबीन की गई।एसओजी व जनपद पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा फरार कैदी की गिरफ्तारी के प्रयास हेतु लगभग 350 सीसीटीवी कैमरों का गहनता से अवलोकन किया गया, जिसमें सर्विलास सैल की मदद ली गयी। पुलिस टीम द्वारा दबिश देकर पंजाब के कांछल, चंडीगढ़ के सेक्टर 11, सेक्टर 12 के रोज गार्डन, सेक्टर 22 व पीजीआई के लंगरों में तलाश किया गया।
एसओजी व जनपद पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा फरार कैदी की गिरफ्तारी के लिए किए गए दिन रात अथक प्रयास से दिनांक 25 सितंबर 2022 को दबिश देकर फरार कैदी कमल सिंह बिष्ट को खुडडावाला, अलीशेर चण्डीगढ़ के पास से गिरफ्तार किया गया।

एसएसपी अल्मोड़ा द्वारा फरार कैदी को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को 5,000 रु0 के नगद ईनाम से पुरुस्कृत किया गया।

गिरफ्तार अभियुक्त-
कमल सिंह बिष्ट पुत्र भुवन सिंह निवासी ग्राम पदमपुरी पल्ली, पोखरी थाना दन्या तहसील भनोली, जनपद अल्मोड़ा ।
इस पुलिस टीम में1- उ0नि0 भगवान सिंह महर थाना दन्या, जनपद अल्मोडा ।2- कानि0 सुरेन्द्र सिंह थाना दन्या, जनपद अल्मोड़ा। 3- कानि0 कुन्दन लाल थाना दन्या जनपद अल्मोड़ा।4- कानि0 भूपेन्द्र सिंह एसओजी अल्मोड़ा थे।ै

********

“विश्व बधिरता दिवस” सप्ताह के उपलक्ष्य में एम्स ऋषिकेश में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस दौरान विभाग द्वारा मूक बधिरों के कारण व लक्षण सहित उनके समुचित उपचार के लिए मूक बधिर रजिस्ट्री बेबसाईट भी लान्च की गई।

 

एम्स ऋषिकेश के ईएनटी (कर्ण, नासा एवं कंठ) शल्योपचार विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम के दौरान विशेषज्ञ चिकित्सकों ने मूक बधिरों की जन्मजात समस्याओं, कारण और उनके निराकरण के संबंध में विचार रखे। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य मूक एवं बधिर समुदाय के बारे में लोगों को जागरूक करना तथा उनके अधिकारों के संरक्षण के लिए सहयोग देना था। कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए एम्स ऋषिकेश की कार्यकारी निदेशक प्रोफेसर डॉ. मीनू सिंह ने कहा कि मूक बधिर लोगों को इलाज से पहले भावनात्मक केयर की जरूरत होती है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक चिकित्सक को ऐसे मरीजों के साथ मधुर व्यवहार अपनाना चाहिए। कार्यक्रम के दौरान मूक बधिर रजिस्ट्री (यूडीएमआर) वेबसाइट का भी प्रक्षेपण किया गया। संस्थान की कार्यकारी निदेशक डॉ.मीनू सिंह ने इस वेबसाइट को देश में अपनी तरह का पहला रजिस्ट्री का माध्यम बताया और कहा कि यह रजिस्ट्री मूक बधिरता के कारणों, लक्षणों को जानने और उनके उपचार के लिए विशेष लाभकारी सिद्ध होगी।

कार्यक्रम में डॉ. एम. के. तनेजा (एडिटर इन चीफ ऑफ़ इंडियन जर्नल ऑटोलॉजी एंड एसोसिएशन ऑफ़ ओटोरहिनोलारिंजोलॉजी इन इंडिया के पूर्व अध्यक्ष) एवं उत्तराखंड काउन्सिल ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी के डॉ. आशुतोष मिश्रा मुख्य अतिथि के रूप में शामिल थे। डीन एकेडेमिक प्रो. जया चतुर्वेदी ने कहा कि ईएनटी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. मनु मल्होत्रा के नेतृत्व में विभागीय टीम द्वारा रजिस्ट्री सिस्टम की इस योजना से मूक बधिरों का डाटा एकत्र करने में विशेष मदद मिलेगी। चिकित्सा अधीक्षक प्रो. संजीव कुमार मित्तल ने कहा कि विश्व बधिर संघ (डब्ल्यूएफडी) ने वर्ष 1958 से विश्व बधिर दिवस की शुरुआत की थी। उन्होंने कहा कि मूूक बधिरों के सामाजिक, आर्थिक एवं राजनैतिक अधिकारों के प्रति लोगों में जागरूकता उत्पन्न करने के साथ-साथ समाज और देश में उनकी उपयोगिता के बारे में भी बताए जाने की आवश्यकता है।

ईएनटी विभाग के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर मनु मल्होत्रा ने बेबसाइट के बारे में बताया कि वेबसाइट को भविष्य में राष्ट्रीय स्तर पर भी प्रक्षेपण करने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने कहा कि राज्य स्तर पर इस वेबसाइट के अंतर्गत उत्तराखंड के अन्य मेडिकल कॉलेजों को भी सम्मिलित किया गया है। इस दौरान मेडिकल और नर्सिंग कॉलेज के विद्यार्थियों को जागरूक करने के लिए पोस्टर एवं स्लोगन प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया। विजेता प्रतिभागियों को ईएनटी विभाग के सहायक आचार्य डॉ. अमित कुमार त्यागी एवं सह-आचार्य डॉ. भियांराम ने पुरस्कार वितरित किए।

विभाग की अपर आचार्य डॉ. मधु प्रिया के संचालन में आयोजित कार्यक्रम के दौरान विभाग के सहायक-आचार्य डॉ. अभिषेक भारद्वाज आदि उपस्थित थे।

**********

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.