पूरा विश्व मानता है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नेतृत्व क्षमता का लोहाःकुम्भमेला कार्यों को समय पर पूर्ण किया जाय: मुख्यमंत्री# जिलाधिकारी पौड़ी गढवाल ने जिला चिकित्सालय का निरीक्षण किया।पढिएJanswar.com में।

पूरा विश्व मानता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नेतृत्व क्षमता का लोहा: मुख्यमंत्री
महाकुंभ की दिव्यता और भव्यता के लिए सरकार प्रतिबद्ध है
हरिद्वार में मुख्यमंत्री ने लगभग 120 करोड़ की विभिन्न योजनाओं का लोकार्पण किया

हरिद्वार महाकुंभ 2021 के तहत मीडिया सेंटर में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने लगभग 120 करोड़ की लागत की विभिन्न विकास योजनाओं का लोकार्पण किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि महाकुंभ की भव्यता और दिव्यता के लिए सरकार प्रतिबद्ध है।
मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने कहा की कुंभ पूरे विश्व की धरोहर है और यह 12 साल में एक बार आता है। ऐसे में कुंभ को लेकर लोगों में उत्साह तो जरूर था लेकिन कोविद -19 को लेकर असमंजस की स्थितियां बनी हुई थीं। इससे यहाँ का चरित्र वर्ग से लेकर आम जन में चिंताएँ थी। इसी चिंता को देखते हुए हमारी सरकार ने कुंभ में आने जाने की पीड़ा रोक टोक को खत्म कर दिया है। लेकिन भारत सरकार द्वारा जारी को विभाजित -19 की गाइडलाइन को हर हाल में पूरा करना होगा।
उन्होंने कहा कि गूंगा पर हमारा पूरा फोकस है। इसे भव्य और दिव्य बनाने के लिए पूरे प्रयास किए जा रहे हैं। यहां किसी भी तरह की कोई समस्या नहीं है। अखाड़ा परिषदों से लेकर श्रद्धालुओं को को विभाजित -19 की गाइडलाइन के अनुपालन के बारे में बताया गया है। कुम्भ मेले में भाषण को बेहतर करने के लिए यहां यात्री वाहनों की संख्या में 4 गुना तक का इजाफा किया गया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में बने विकास प्राधिकरण के अस्तित्व को हमारी सरकार ने खत्म कर दिया है। हमारी सरकार ने कोविड -19 के दौरान काम करने वालों पर लगे मुकदमों को वापस ले लिया है।
मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने पहाड़ में रेल का सपना पूरा कर दिया है। पहले लोग सड़क की मांग करते थे आज ट्रेन की बात हो रही है। उनके नेतृत्व में ही यह बदलाव संभव हो पाया है आने वाले दिनों में यहां रोजगार की भी कोई कमी नहीं होगी। कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज देश का नेतृत्व कर रहे हैं लेकिन पूरी दुनिया में उनकी नेतृत्व क्षमता का लोहा माना जाता है।
इस मौके पर केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ। रमेश पोखरियाल निशंक, विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रेमचंद्र अग्रवाल, प्रदेश अध्यक्ष भाजपा श्री मदन कौशिक राज्य मंत्री स्वामी यतिस्वरानंद, विधायक श्री आदेश चौहान, श्री सुरेश राठौर, आयुक्त गढ़वाल मंडल श्री रविनाथ राम सहित कई जनप्रतिनिधि व अधिकारी उपस्थित रहे।

————————————————————– –
कुम्भ के आगामी शाही स्नानों को सकुशल सम्पन्न कराना हम सभी की जिम्मेदारीः मुख्यमंत्री
  • कुम्भ मेले से जुड़े अधिकारियों की बैठक में मुख्यमंत्री ने दिये कार्यों को समय से पूरा कराने के निर्देश
  • शहर के आंतरिक मार्गो के निर्माण में लाई जाए और तेजी
  • आंतरिक सड़कों के आसपास एकत्र मलबे को भी हटाने के दिये निर्देश


मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने शनिवार को कुम्भ मेले के विभिन्न निर्माण कार्यों के लोकार्पण के पश्चात मेला नियंत्रण भवन में मेले से जुड़े उच्चाधिकारियों के साथ ही विभागीय नोडल अधिकारियों की बैठक ली।
मुख्यमंत्री ने कुम्भ मेले के कार्यों में तेजी लाये जाने के लिये पूर्व में दिये गये निर्देशों के क्रम में की गई व्यवस्थाओं के प्रति संतोष व्यक्त किया। उन्होंने निर्देश दिये कि आगामी कुम्भ मेले के शाही स्नान पर्वों को सकुशल सम्पन्न कराने में सभी अधिकारी अपनी जिम्मेदारी समझें। उन्होंने इसके लिए आपसी समन्वय एवं समयबद्धता के साथ व्यवस्थायें सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिये। उन्होंने निर्देश दिये कि जो कार्य अंतिम चरण में हैं उन्हें शीघ्र पूर्ण कराया जाये। मुख्यमंत्री ने शहर के आंतरिक मार्गों के निर्माण में भी और तेजी लाने के निर्देश दिये।
मुख्यमंत्री ने डामकोठी के निर्माण कार्य में भी और तेजी लाये जाने के साथ ही कुम्भ क्षेत्र की सफाई व्यवस्था पर विशेष ध्यान देने को कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि अधिकारियों द्वारा जिस तत्परता एवं जिम्मेदारी के साथ महाशिवरात्रि के शाही स्नान को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए जैसी व्यवस्थाएं की थी, ऐसे ही प्रयास आगामी स्नान पर्वो में भी होने चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास कुम्भ में आने वाले श्रद्धालुओं को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराना है। अतिथि देवों भवः हमारी परम्परा रही है। इसी परम्परा का हमें निर्वहन करना हैं।
इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने मेला नियंत्रण भवन स्थित कमांड एंड कंट्रोल रूम का भी निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि इस कंट्रोल रूम की व्यवस्थाओं को और अधिक प्रभावी बनाया जाए। इससे भीड़ नियंत्रण, यातायात प्रबंध आदि में भी मदद मिल सकेगी।
मेला नियंत्रण भवन में ही मुख्यमंत्री से किन्नर अखाड़े की आचार्य महामंडलेश्वर लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी ने अखाड़े के अन्य संतों के साथ भेंट की, तथा अपनी विभिन्न समस्याओं से मुख्यमंत्री को अवगत कराया। मुख्यमंत्री ने उनकी समस्याओं के समाधान का आश्वासन दिया।
बैठक में केन्द्रीय शिक्षा मंत्री डॉ0 रमेश पोखरियाल निशंक, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार स्वामी यतीश्वरानंद, ज्वालापुर विधायक सुरेश राठौर, रानीपुर विधायक आदेश चौहान, सचिव मुख्यमंत्री शैलेश बगोली, गढ़वाल मंडलायुक्त रविनाथ रमन, डीआईजी नीरू गर्ग, मेलाधिकारी दीपक रावत, जिलाधिकारी सी रविशंकर, आईजी कुम्भ संजय गुंज्याल, एसएसपी हरिद्वार सैंथिल अबुदई कृष्ण राज एस, एसएसपी कुम्भ जन्मेजय खंडूडी, अपर मेलाधिकारी डॉ0 ललित नारायण मिश्र, उप मेलाधिकारी अंशुल सिंह, दयानंद सरस्वती सहित बिजली, लोक निर्माण, सिंचाई, पेयजल, जल संस्थान से सम्बंधित अधिकारीगण मौजूद थे।

—————————————————-

जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे ने आज जिला अस्पताल पौड़ी का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने जिला अस्पताल में स्थित अलग अलग वार्डों का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया तथा जनरल वार्ड एवं महिला वार्ड भर्ती रोगियों व तीमारदारों से मुलाकात कर हालचाल जाना, उन्होने उपलब्ध सुविधा एवं व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी लिया। जिलाधिकारी ने पैथोलोजी, ब्लड बैंक, इमरजेंसी आदि विभिन्न वार्डों का निरीक्षण किया तथा अस्पताल परिसर में सफाई व्यवस्था दुरस्त रखने, गाइडेंस के लिए सूचीपट लगाने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि अस्पताल में आने वाले रोगियों को किसी प्रकार की असुविधा न हो इस बात को गम्भीरता से लेना सुनिश्चित करेंगे।
जिलाधिकारी डाॅ। जोगदण्डे ने पैथोलाजी अस्पताल का निरीक्षण के दौरान संबंधित चिकित्सक से टेस्ट के बारे में जानकारी ली, और जापानी में के बाहर टेस्टों की टैग लिस्ट डिसप्ले करने को कहा। देखने के दौरान कोविड -19 की टेस्टिंग की भी जानकारी ली। जिलाधिकारी ने इमरजेंसी वार्ड के निरीक्षण के दौरान एंट्री रजिस्टर चेक किया साथ ही वार्ड के एंट्री पॉइंट को सुगम सुविधाजनक को बताया। जिलाधिकारी ने ब्लड बैंक, रेयर ब्लड ग्रुप के बारे में ली और आपातकालीन स्थिति से निपटने के बारे में भी जानकारी ली। जिला अस्पताल के निकट कूडा बिखरे पाए जाने पर नाराजगी जाहिर की। उन्होने अस्पताल में बायो मेडिकल प्रेजेंस का निस्तारण के बारे में की जा रही कार्य की जानकारी ली।
इस अवसर पर सीएमएस डॉ। आर एस राणा, डॉ। गौरव रतुडी सहित अन्य संबंधित अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.