पुलिस उपनिरीक्षक (दूरसंचार) का परीक्षाफल घोषित।टिहरी के कपिल नैथानी ने 77.25अंक प्राप्त कर पहला स्थान प्राप्त किया।##अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधारतूड़ी ने प्रदेश के सभी बैंकर्स व जिलाधिकारियों से वीडियो कांफ्रेंस की।##वीर चन्द्रसिंह गढवाली रा.आयु.शोधसंस्थान प्रत्येक मंगलवार को मानसिक दिव्यांग जनों को प्रमाण पत्र देगा।##उत्तराखंड के आगामी 4 दिन का मौसम की भविष्यवाणी।पढिए Janswar.Com में।

पुलिस उपनिरीक्षक (दूरसंचार) का परीक्षाफल घोषित।टिहरी के कपिल नैथानी ने 77.25अंक प्राप्त कर पहला स्थान प्राप्त किया

उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के सचिव श्री संतोष बडोनी ने बताया कि उप निरीक्षक पुलिस (दूरसंचार) के पद पर लिखित परीक्षा का परिणाम जारी कर दिया गया है।
सचिव बडोनी ने आगे बताया कि आयोग द्वारा दिनांक 23 फरवरी 2020 को पादुकेड- 118 रेडियो अनुरक्षण अधिकारी के -11 पद तथा पद कोड-119 रेडियो केंद्र अधिकारी -17 विज्ञापित पदों के लिए लिखित परीक्षा कराई गई थी। गृह विभाग द्वारा दूरसंचार विभाग के ढांचे का पुनर्गठन किया गया जिसमें इन पदों को उप निरीक्षक पुलिस (दूरसंचार) पदनाम दिया गया व कुल रिक्तियों की संख्या 28 से 25 कर दी गई। इस संशोधन को स्वीकार करते हुए आयोग द्वारा अब उप निरीक्षक पुलिस (दूरसंचार) पदनाम से 25 अभ्यर्थियों के लिए परिणाम तैयार किया गया है ।अनसूचित जनजाति में एक तथा भूतपूर्व सैनिक श्रेणी में एक कुल 2 पात्र अभ्यर्थी न मिलने के कारण इन पदों का परिणाम शून्य है व कुल 23 पदों का परिणाम जारी कर आयोग की वेबसाइट www.sssc.uk.nic.in पर प्रकाशित कर दिया गया है।
इस परीक्षा में भौतिक विज्ञान व गणित से संबंधित पाठ्यक्रम था परीक्षा में श्री कपिल नैथानी पुत्र श्री दिगंबर प्रसाद ग्राम डूंगरी थापली चौरारा जिला टिहरी गढ़वाल द्वारा 100 में से 77.25 अंक प्राप्त कर प्रथम रैंक प्राप्त की गई सामान्य श्रेणी में कट ऑफ 57.50 अंक ओबीसी श्रेणी में 45.75 अंक तथा अनुसूचित जाति श्रेणी में कट ऑफ 44.25 अंक रही ।
इन अभ्यर्थियों का चयन अभिलेख सत्यापन के बाद अंतिम होगा।आयोग द्वारा अभी सार्वजनिक परिवहन आदि की उपयुक्त व्यवस्था न होने के कारण अभिलेख सत्यापन की तिथि निर्धारित नहीं की गई है यथा संभव सितंबर माह में अभिलेख सत्यापन की तिथि निर्धारित कर आयोग की वेबसाइट पर वह एस SMS के माध्यम से अभ्यर्थियों के को भी पृथक से सूचित किया जाएगा।


अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधारतूड़ी ने प्रदेश के सभी बैंकर्स व जिलाधिकारियों के वीडिये कांफ्रेंस की।

अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी ने मंगलवार को सचिवालय स्थित वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली सभागार में राज्य के सभी बैंकर्स एवं जिलाधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के प्रभावी क्रियान्वयन के सम्बन्ध में चर्चा की।
      अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी ने मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना की जानकारी देते हुए सभी बैंकर्स से  योजना में शामिल लाभार्थियों को तत्परता के साथ ऋण उपलब्ध कराने की अपेक्षा की। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री का स्पष्ट संदेश है कि मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना कोविड-19 से प्रभावित वापस लौटे प्रवासियों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के मध्यनजर शुरू की गई है। उन्होंने योजना में तेजी लाने के लिये 10 लाख तक के छोटे एवं लघु उद्योग के ऋण प्रकरणों में कोलेटरल की शर्त न लगाने के निर्देश दिये तथा बैंकों से अपेक्षा की है कि वे बिना किसी ठोस कारण किसी आवेदन को निरस्त न किया जाए एवं निरस्त करने के कारणों का स्पष्ट उल्लेख भी किया जाए। उन्होंने कहा कि मा. मुख्यमंत्री द्वारा यह भी निर्देश दिये गये हैं कि सभी बैंकर्स मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना में समय सारणी के तहत कार्य करें और जिलाधिकारी उसका निरंतर अनुश्रवण करें। उन्होंने कहा कि जो बैंक योजना में अच्छा कार्य करेगा उस बैंक में शासकीय धन जमा करने में प्राथमिकता दी जायेगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री का मानना है कि आत्मनिर्भर भारत के लिये स्वरोजगार की राह पर चलना आवश्यक है, जिसको देखते हुए योजना प्रारम्भ की गई है।
       अपर मुख्य सचिव श्रीमती मनीषा पंवार ने समस्त बैंकर्स को निर्देश दिये कि वे अपने अधीनस्थ समस्त शाखाओं में मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अंतर्गत ऋण की गति बढ़ाने हेतु स्पष्ट निर्देश जारी करना सुनिश्चित करें ताकि इस सम्बन्ध में संवादहीनता की स्थिति उत्पन्न न हो। उन्होंने यह भी उल्लेख किया कि बैंकों की जिन शाखाओं में इससे सम्बन्धित गाइड लाइन उपलब्ध नहीं है उन्हें यह शीघ्र उपलब्ध करायी जाए। उन्होंने जिलाधिकारियों द्वारा उठाई गई समस्याओं पर सम्बन्धित बैंकों को निर्देश दिये।
      बैठक में सचिव ऊर्जा श्रीमती राधिका झा ने बताया कि प्रदेश में सोलर व पिरूल प्रोजेक्टों को प्रोत्साहन दिया जा रहा है। सोलर में लगभग 283 परियोजनायें आवंटित की गई हैं, जिनमें लगभग 1000 करोड़ का निवेश सम्भावित है। उन्होंने बताया कि  प्रदेश सरकार द्वारा पिरूल के भी 38 प्रोजेक्ट आवंटित किये जा चुके हैं। इन योजनाओं का यूपीसीएल के साथ करार भी किया गया है। श्रीमती राधिका झा ने सभी बैंकर्स से इन  योजनाओं को सफल बनाने की अपेक्षा की। सचिव कृषि श्री हरबंस सिंह चुघ द्वारा बताया गया कि प्रधानमंत्री द्वारा आत्मनिर्भर भारत की घोषणा के तहत कृषि सेवा क्षेत्र को बढ़ाने के लिये अवसंरचना कोष बनाया गया है। तथा मध्यावधि ऋण में 3 वर्षों तक ब्याज स्वयं सरकार के स्तर पर वहन करने का फैसला लिया है जिससे इस क्षेत्र के समग्र विकास की रूप रेखा निश्चित हुई है। उन्होंने समस्त जिलाधिकारियों से अपेक्षा की कि वे बैंकर्स से समन्वय कर योजनाओं के चयन में तेजी लायें।
      वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कुमाऊँ मण्डल आयुक्त श्री अरविन्द सिंह ह्यांकी, जिलाधिकारी अल्मोड़ा श्री नितिन भदौरिया, जिलाधिकारी ऊधम सिंह नगर श्रीमती रंजना, जिलाधिकारी पिथौरागढ़ डॉ. विजय जोगदंडे, जिलाधिकारी टिहरी मंगेश घिल्डियाल, जिलाधिकारी उत्तरकाशी श्री मयूर दीक्षित, जिलाधिकारी देहरादून श्री आशीष श्रीवास्तव, जिलाधिकारी पौड़ी श्री धीराज सिंह गर्ब्याल ने अपने अपने जनपद की अध्यतन जानकारी प्रस्तुत की।
      इस अवसर पर सचिव श्री अमित नेगी, श्री दिलीप जावलकर, श्रीमती सौजन्या, आर मीनाक्षी सुंदरम, श्री एस. ए. मुरूगेशन के साथ ही विभागाध्यक्ष एवं बैंकों के अधिकारी आदि उपस्थित थे।
—————————————————————
वीर चन्द्रसिंह गढवाली रा.आयु.शोधसंस्थान प्रत्येक मंगलवार को मानसिक दिव्यांगजनों को प्रमाण पत्र देगा।
जिलाधिकारी पौड़ी गढवाल श्री धीराज सिंह गर्ब्याल ने जनपद में एक और बड़ी पहल का शुभारंभ किया है। वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली राजकीय आयुर्विज्ञान शोध संस्थान श्रीनगर में माह के प्रत्येक मंगलवार को जनपद के मानसिक रूप से दिव्यांगजनों कोे मनोचिकित्सक देगें दिव्यांग प्रमाण पत्र। प्रमाण पत्र के अभाव से बंचित मानसिक रूप से दिव्यांगजन को अब जल्द मिल सकेंगे, सरकार द्वारा जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ।  
  गौरतलब है कि जनपद में वर्षो से मानसिक रूप से दिव्यांग लोगों के स्वास्थ्य परीक्षण एवं प्रमाण पत्र को लेकर बैठक आहुत होती गई, जिसमें चर्चाऐं व पत्राचार आदि तमाम कार्यवाही चलती रही, किन्तु कोई उचित समाधान नहीं हो सका। गत दिवस को समाज कल्याण विभाग के समीक्षा बैठक में जनपद के मानसिक रूप से दिव्यांगजनों की दिव्यांग प्रमाण पत्र के अभाव से सरकारी जनकल्याणकारी योजनाओं से बंचित दिव्यांग व्यक्तियों की प्रमाण पत्र के विषय को गम्भीरता से लेते हुए जिलाधिकारी ने त्वरित कार्यवाही कर, जिला समाज कल्याण अधिकारी पौड़ी को जिलाधिकारी के ओर से वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली राजकीय आयुर्विज्ञान शोध संस्थान श्रीनगर के प्राचार्य को शासकीय पत्र जारी करने का निर्देश दिया गया। जिसमें उन्होने माह के प्रत्येक मंगलवार को जनपद के मानसिक रूप से दिव्यांग व्यक्तियों का स्वास्थ्य परीक्षण कर दिव्यांग प्रमाण पत्र जारी करने के निर्देश दिया। जिलाधिकारी के उक्त पत्र/निर्देश के अनुपालन में प्राचार्य वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली राजकीय आयुर्विज्ञान शोध संस्थान श्रीनगर ने कार्यवाही करते हुए विभागाध्यक्ष/इंचार्ज मनोरोग विभाग, वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली राजकीय आयुर्विज्ञान शोध संस्थान श्रीनगर को आदेशित किया है कि माह के प्रत्येक मंगलवार को जनपद के मानसिक रूप से दिव्यांगजनों के दिव्यांग प्रमाण पत्र जारी करेंगे। जिसके आधार पर दिव्यांगजन सरकार द्वारा संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ ले सकें।
#############################
उत्तराखंड के आगामी 4 दिन का मौसम की भविष्यवाणील
दिनांक 26-8- 2020 उत्तराखण्ड के देहरादून, पौड़ी, हरिद्वार,टिहरी,चमोली पिथौरागढ़ एवं बागेश्वर जनपदों में कहीं-कहीं तीव्र दौर के साथ भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है। उत्तराखंड में कहीं-कहीं आकाशीय बिजली गिरने की भी संभावना है।
दिनांक 27-8-2020 उत्तराखंड के जनपद देहरादून, पौड़ी,हरिद्वार, टिहरी,चमोली, पिथौरागढ़,नैनीताल एवं बागेश्वर जनपदों में कहीं-कहीं तीव्र दौर के साथ भारी बरसात होने की संभावना है उत्तराखंड में कहीं-कहीं आकाशीय बिजली गिरने की संभावना भी है 28-8- 2020 प्रदेश के देहरादून,पौड़ी, हरिद्वार,टिहरी,चमोली पिथौरागढ़,नैनीताल एवं बागेश्वर जनपदों में कहीं-कहीं तीव्र दौर के साथ भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है उत्तराखंड में कहीं-कहीं आकाशीय बिजली गिरने की संभावना भी है।
दिनांक 29 -8-2020 को उत्तराखंड के पिथौरागढ़, बागेश्वर एवं नैनीताल जनपदों में कहीं-कहीं तीव्र और के साथ भारी वर्षा होने की संभावना है साथ ही कहीं-कहीं आकाशीय बिजली गिरने की संभावना भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *