पहली बार आया सीला दयाकाटल में इतने अधिकारियों का काफिला।www.janswar.com

-नागेन्द्र प्रसाद रतूड़ी

 

पहली बार आया सीला दयाकाटल में इतने अधिकारियों का काफिला।

 

सन् 1958 में बने सीला पुल के सन् 2014 की आपदा मे बह जाने पर यमकेश्वर विकास खण्ड के पश्चिमी भाग का सीधा सड़क संपर्क ब्लॉक मुख्यालय यमकेश्वर व तहसील मुख्यालय बिथ्याणी से कट गया है। इस पुल के बह जाने के बाद इसे बनाने की सुध किसी ने नहीं ली। ग्रामीणों की लगातार मांग को देखकर कैबिनेट मंत्री श्री सतपाल महाराज के जनसंपर्क अधिकारी  के आग्रह पर  जिलाधिकारी गढवाल डा.जोगदण्डे के निर्देश पर विधायक यमकेश्वर श्रीमती रेनू बिष्ट के नेतृत्व में गाड़ियों का एक काफिला आज गंगाभोगपुर, किमसार,डेवराना,दयाकाटल होते हुए सीला पुल तक पहुँचा।

कौडिया(गंगाभोगपुर) किमसार धारकोट सीला मार्ग तिमल्याणी तक तो प्रधानमंत्र स.यो.के तहत पक्की बनी है पर वहां से दयाकाटल,सीला लगभग 6किमी.सड़क पुरानी सड़क को साफ कर उस पर वाहनों का आवागमन होता है।जिस पर केवल बड़े पहिए के वाहन ही चल पाते हैं।याने एक काम चलाऊ व्यवस्था पंचायत जन प्रतिनिधियों ने जन हित हेतु की हुई है।

सीला पुल व सीला पुल  से कांडई तक सड़क बनाने को प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री हरीश रावतद्वारा कांडी में की गयी घोषणा संख्या 443/2015 व मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की थलनदी गेंद मेले में की गयी घोषणा सं०155/2018 के बाद इसके लिए शासनादेश संख्या-5618/iii(2)/18-36 (एमएलए)/2017 दिनाँक-20 नव.2018के तहत रु.57.406 लाख की पहली किस्त भी जारी की गयी पर उसके बाद उस पर कागजी कार्यवाही हुई हो तो कहा नहीं जा सकता पर जमीनी कार्यवाही कुछ नहीं हुई।आज जब उक्त स्थल पर पुल पर चर्चा हो रही थी तो व क्षेत्रीय विधायक श्रीमती रेनू बिष्ट ने पूछा कि आठ साल से यह पुल नहीं बन पाया? तो अधिकारी उत्तर नहीं दे पाये।

इस काफिले में उप जिलाधिकारी यमकेश्वर श्री प्रमोद कुमार,अधिशासी अभियन्ता लोनिवि निर्माणखण्ड दुगड्डा श्री डी.पी.सिंह,अ.अ.जल संस्थान श्री उपाध्याय, अ.अ. सिंचाई विभाग श्री अजय जॉन, पीएमजीएसवाई अ.अ.श्री सुधीर ममगांई ,डीएचओ उद्यान विभाग कोटद्वार श्री प्रभाकर,विद्युत विभाग के उपखण्ड अधिकारी श्री रवि अरोड़ा व राजा जी पार्क के रेंज अधिकारी श्री अनिल पैन्यूली आदि अधिकारी अपने अधीनस्थों के साथ तथा जिला पंचायत सदस्य कु.आरती गौड़,ज्येष्ठ उप प्रमुख दिनेश भट्ट आदि जनप्रतिनिधि थे।उक्त स्थल पर स्थानीय जनता भी काफी संख्या में उपस्थित रही।

पीएमजीएसवाई के अधिशासी अभियन्ता ने बताया कि वे दस दिन बाद तल्ला बनास से तिमल्याणी तक  सड़क मरम्मत की निविदा प्रकाशित कर देंगे।
टूटे पुल के सामने पुल से कांडी जाने वाली सड़क का पुस्ता नीचे से टूट गया।ग्रामीणों के आग्रह पर विधायक ने सड़क को ऊपर से काट कर बनाने का निर्देश दिया। जिस पर लोनिवि के अधिकारी  ने पन्द्रह दिन में उसे बनाने का आश्वासन दिया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.