नोजल लांचिंग कार्यक्रम समारोह पूर्वक सम्पन्न### पर्यावरण संरक्षण परिषद के उपाध्यक्ष करेंगे विभागीय समीक्षा।पढिए Janswar.com में।

हल्द्वानी मेडिकल कालेज सभागार में नोजल लांचिंग कार्यक्रम समारोह पूर्वक सम्पन्न

समाचार प्रस्तुति -नागेन्द्र प्रसाद रतूड़ी

वरिष्ठ स्वतंत्र पत्रकार

मेडिकल कालेज सभागार में पानी की बचत करने के लिए जिला प्रशासन एवं नगर निगम की पहल पर मैक्स लाइफ कम्पनी द्वारा पानी की बचत सम्बन्धी नोजल की लाचिंग समारोह पूर्वक सम्पन्न हुई। कार्यक्रम का शुभारम्भ मेयर डा0 जोगेन्दर पाल सिह रौतेला, अपर सचिव मानव संसाधन विकास मंत्रालय भारत सरकार डा0 सुखवीर सिह संधु तथा सचिव पेयजल अरविन्द सिह हृयांकी ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर किया। कार्यक्रम मे मैक्सलाइफ के वाइस चेयरमैन संजीव दीक्षित तथा प्रमुख दीपक खत्री ने कार्यक्रम मे मौजूद लोगांे को मैैक्सलाइफ द्वारा लाॅन्च की गई पानी बचाने की नोजल (डिवाइस) वितरित की। इस डिवाइस की विशेषता है कि यह पानी की टोटी के आगे लगाने पर 60 प्रतिशत बचत करेंगी। टोटी से आने वाले बेहताशा पानी को रोकेगी तथा इससे पानी की बचत के साथ ही उसकी बरबादी भी रूकेगी।
इस अवसर पर उपस्थित लोगो को सम्बोधित करते हुये मेयर डा0 जोगेन्दर पाल सिह रौतेला ने कहा मौजूदा दौर में भविष्य के लिए पानी की बचत आवश्यक हो गई है, देश के प्रधानमंत्री द्वारा जल संरक्षण एवं सम्बर्द्धन के लिए अनेकों योजनायें देशभर मे लागू की गई है जिसमे से जलशक्ति अभियान महत्वपूर्ण है। उत्तराखण्ड के जनपद नैनीताल का चयन इस योजना मे किये जाने के लिए उन्होने भारत सरकार को बधाई दी। उन्होने कहा कि पानी बचत के लिए हम सब को जागरूक होना होगा तथा जन आन्दोलन के माध्यम से पानी की बचत के सार्थक प्रयास करने होंगे। उन्होने कहा कि जल के बिना जीवन असम्भव है, इसलिए जीवन को लम्बे समय तक सुरक्षित रखने के लिए पानी की बचत के लिए जन सैनिक अपने दायित्व का निर्वहन करना होगा।
अपर सचिव भारत सरकार डा0 एसएस संधु ने अपने सम्बोधन मे कहा कि जल है तो कल है। इस बात को ध्यान में रखकर हमें पानी का कम से कम प्रयोग अपने जीवन मे करना चाहिए, और पानी की बरबादी को भी रोकना चाहिए, इसके साथ प्राकृतिक तौर पर वर्षा से बरबाद होने वाले संग्रहण करना चाहिए ताकि संग्रहीत जल का प्रयोग सिचाई आदि कार्यो मे हो सके। उन्होने घरों मे पानी की बचत के लिए मैक्सलाइफ कम्पनी द्वारा नोजल के लिए बधाई दी।
अपर सचिव अरविन्द सिह हृयांकी ने कहा पेयजल की बचत ओर उसके दुरूपयोग को रोकने के लिए जनसहयोग से फ्लैस के सिस्टर्न 3.5 लाख बालू भरी बोतलें डलवाई गई। प्रदेश सरकार जनजागरण के माध्यम से पानी की दिशा मे कार्यरत है। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार की योजनाओं की सफलता हेतु जनता की सहभागिता अत्यावश्यक होती है,इसलिए उन्हें पानी के प्रति जागरूक करते हुए सहभागिता बढ़ायी जाये। उन्होने कहा घरों, स्कूलों, सरकारी कार्यालयों तथा होटलों एवं अन्य प्रतिष्ठानों मे पानी की बचत के लिए यह नोजल काफी उपयोगी साबित होगी। इसके लिए उन्होने मैक्स लाइफ को प्रदेश सरकार की ओर से बधाई दी।
कार्यक्रम मे मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार ने जनपद में 1 जुलाई से संचालित हो रहे जलशक्ति अभियान की जानकारी देते हुये बताया कि जल शक्ति अभियान के अन्तर्गत 14 लाख पौंधे लगाये गये हैं तथा जनपद में वाटर शैड एवं चाल-खाल निर्माण, चेक डैम आदि से सम्बंधित 14 हजार कार्यों के सापेक्ष 11 हजार से अधिक कार्य अभी तक पूर्ण किये जा चुकें है। उन्होंने बताया कि हिमालयन एवं केन्द्र शासित प्रदेशों की तुलना में जनपद जल शक्ति अभियान में छटे स्थान पर हैं। उन्होंनें बताया कि वर्तमान तक सम्पन्न हो चुके कार्यो को पोर्टल पर अपलोड करते ही जनपद चैथे स्थान पर पहुॅचने के साथ ही रैंक में सुधार की संभावना है। उन्होने कहा कि जनपद मे यह अभियान 15 सितम्बर तक जारी रहेगा।
कार्यक्रम में सिटी मजिस्टेट प्रत्युष सिह, अधिशासी अभियन्ता जलसंस्थान विशाल सक्सेना, संतोष कुमार उपाध्याय, मुख्य कृषि अधिकारी धनपत कुमार, जिला शिक्षा अधिकारी एचएल गौतम, मुख्य उद्यान अधिकारी भावना जोशी, जिला युवा कल्याण अधिकारी दीप्ति जोशी, अधि0अभि0 सिचाई तरूण बंसल के अलावा मेडिकल कालेज की छात्र-छात्रायें एवं आंगबाडी कार्यकत्री मौजूद थे।
————————————————-

———————————————-
पर्यावरण संरक्षण परिषद के उपाध्यक्ष आज लेंगे समीक्षा बैठक

उपाध्यक्ष पर्यावरण संरक्षण परिषद श्री प्रकाश हर्बोला निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार शुक्रवार (13 सितम्बर) को विभागीय अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करेंगे। निदेशक शहरी विकास उत्तराखण्ड शासन श्री विनोद कुमार सुमन की ओर से जारी कार्यक्रम के अनुसार श्री हर्बोला 13 सितम्बर को सर्किट हाउस काठगोदाम मे प्रातः 11 बजे से बैठक करेंगे, इस बैठक मे नगर आयुक्त नगर निगम, सभी स्थानीय निकायों के अधिशासी अधिकारी, अधिशासी अभियन्ता पेयजल निगम, मुख्य चिकित्साधिकारी, महाप्रबन्धक उद्योग, प्रभागीय वनाधिकारी, सम्भागीय परिवहन अधिकारी, उपनिदेशक मत्स्य तथा क्षेत्रीय प्रबन्धक प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को बैठक मे उपस्थित रहने के लिए निर्देशित किया गया है।


————————————————-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *