निर्माणाधीन विद्युत परियोजनाओें के कार्यों में तेजी लाई जाय -मुख्यमंत्री# मुख्यसचिव ने आज लक्ष्मणझूला,मुनिकीरेती व ऋषिकेश में कुम्भ मेले की तैयारियों का निरीक्षण किया#सूचना सचिव ने किया कुंभ मेला मीडिया सेंटर का निरीक्षण।पढिए Janswar.com में

       -अरुणाभ रतूड़ी
निर्माणाधीन विद्युत परियोजनाओें के कार्यों में तेजी लाई जाय -मुख्यमंत्री

  • बिजली चोरी रोकने के लिए सख्ती बरती जाय
  • विद्युत हानि को कम किये जाने के प्रयास किये जाए
  • वैकल्पिक ऊर्जा के क्षेत्र में रोजगार एवं स्वरोजगार पर भी विशेष ध्यान दिया जाय

   मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से ऊर्जा विभाग की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिये कि निर्माणाधीन विद्युत परियोजनाओं के कार्यों में तेजी लाई जाय। उन्होंने ऊर्जा विभाग के सभी निगमों को आपसी समन्वय के साथ कार्य करने एवं राज्य की विद्युत उत्पादन, पारेषण एवं वितरण व्यवस्था और सुदृढ़ करने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिजली चोरी से संबंधित गतिविधियों पर निरंतर निगरानी रखी जाय। इसमें संलिप्त पाये जाने वालों पर सख्त कारवाई भी की जाय। विद्युत चोरी रोकने के लिए स्मार्ट मीटरों की व्यवस्था की जाय।

मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि राज्य को बिजली खरीदनी न पड़े, इस दिशा में आगे बढ़ने की जरूरत है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वैकल्पिक ऊर्जा के क्षेत्र में रोजगार एवं स्वरोजगार पर भी विशेष ध्यान दिया जाय। ऊर्जा विभाग की विभिन्न योजनाओं के माध्यम से ग्रामीण आर्थिकी को बढ़ाने एवं महिला स्वयं सहायता समूहों की भागीदारी बढ़ाने पर विशेष ध्यान दिया जाय। विद्युत हानि को कम करने पर विशेष फोकस किया जाय। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड में हाइड्रो एवं सोलर प्रोजेक्ट की अपार संभावनाएं हैं, इस ओर आगे बढ़ने की जरूरत है।                                                            बैठक में सचिव ऊर्जा श्रीमती राधिका झा ने कहा कि रोजगार के क्षेत्र में ग्रामीण क्षेत्रों की भागीदारी बढ़़ाए जाने के दृष्टिगत सौर ऊर्जा, पिरूल एवं एल0ई0डी0 ग्राम लाईट योजना पर कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि विद्युत चोरी हतोत्साहित करने हेतु ऊर्जागिरी अभियान चलाया जा रहा है, साथ ही बिलिंग दक्षता में भी वृद्धि की जा रही है। इस अवसर पर उन्होंने राज्य की विभिन्न बहुद्देशीय परियोजनाओं पर प्रस्तुतीकरण दिया।

बैठक में सचिव मुख्यमंत्री श्री शैलेश बगोली, सचिव वित्त श्रीमती सौजन्या, अपर सचिव एवं प्रबन्ध निदेशक यूपीसीएल एवं पिटकुल डॉ. नीरज खेरवाल एवं संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।


मुख्य सचिव श्री ओम प्रकाश ने आज जनपद गढ़वाल के स्वर्गाश्रम तथा ऋषिकेश, लक्ष्मणझूला में कुम्भ मेले की तैयारी का जायजा लिया।
उन्होंने निरीक्षण के दौरान संबंधित अधिकारियों मेले की चाक-चौबंद व्यवस्था को लेकर कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने  लक्ष्मणझूला एवं स्वर्गाश्रम में स्नान घाटों का निरीक्षण किया। लक्ष्मी नारायण, स्वर्गाश्रम, गीता भवन, साधुसमाज,  परमार्थ निकेतन, वेद निकेतन सहित अन्य स्थलों का निरीक्षण कर अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। जबकि वेद निकेतन आश्रम के पास तटीय स्थल को सुव्यवस्थित बनाने के निर्देश भी दिए।
मुख्य सचिव श्री ओमप्रकाश जानकी सेतु से पैदल निरीक्षण करते हुए, जीएमवीएन के टीआरएच ऋषिकेश  पहुंचे।
निरीक्षण में मेलाधिकारी कुम्भ श्री दीपक रावत, जिलाधिकारी गढ़वाल डॉ0 विजय कुमार जोगदण्डे, जिलाधिकारी देहरादून डॉ अशीष कुमार श्रीवास्तव, जिलाधिकारी श्रीमती ईवा आशीष श्रीवास्तव सहित संबंधित अधिकारी मौजूद थे।


सूचना सचिव ने किया कुंभ मेला मीडिया सेंटर का निरीक्षण

 

  • मीडिया और सूचना विभाग के बेहतर तालमेल को कोऑर्डिनेशन कमेटी बनाने के दिए निर्देश
  • कोविड गाइडलाइन के आधार पर मीडिया सेंटर की व्यवस्था करने को कहा
  • पत्रकारों को सभी जरूरी सुविधाएं मुहैया कराने के निर्देश

सूचना एवं लोक सम्पर्क विभाग के सचिव श्री दिलीप जावलकर ने हरिद्वार में कुंभ मेला क्षेत्र में बनाए गए मीडिया सेंटर का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को सेंटर की साज सज्जा और सुविधाओं को और बेहतर करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मीडिया के साथ समन्वय के लिए सूचना विभाग और पत्रकारों की एक कोऑर्डिनेशन कमेटी बनाई जाए।
हरिद्वार आए सूचना सचिव श्री जावलकर ने बारीकी से मीडिया सेंटर के सभागार, वीआईपी लाउंज, कम्प्यूटर कक्ष, ऑफिसर्स रूम, योगा कक्ष, टेंट कॉलोनी आदि का निरीक्षण करते हुए कहा कि मीडिया सेंटर का निर्माण 25 मार्च तक करने के निर्देश दिए गए थे, जो काफी हद तक पूर्ण हो चुका है। सेंटर का पहुंच मार्ग और आंतरिक सुविधाएं पूर्ण कर ली गई हैं। साउंड सिस्टम के ट्रायल करने को कहा गया है। सचिव सूचना ने कहा कि मीडिया सेंटर में हर समय पत्रकारों के लिए मास्क और सेनेटाइजर की व्यवस्था रहेगी। सेंटर में बैठने और ठहरने में भी कोविड की एसओपी का पालन करवाया जायेगा। कुंभ मेला की कवरेज को आने के लिए पत्रकारों को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होगा। उन्होंने कहा कि आगामी 1 अप्रैल से पहले वह सूचना महानिदेशक के साथ फिर से मीडिया सेंटर का निरीक्षण करेंगे।
इस अवसर पर सूचना विभाग के संयुक्त निदेशक श्री राजेश कुमार, कुंभ मेला नोडल अधिकारी श्री मनोज श्रीवास्तव आदि अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.