तमंचा दिखाकर लूट करने वाले दो अभियुक्त पुलिस की गिरफ्त में,एक फरार।@@@बिनक’ गाँव में 140 फलदार पौधौं का रोपण किया गया।पढिएJanswar.com में

तमंचा दिखाकर लूट करने वाले दो अभियुक्त पुलिस की गिरफ्त में,एक फरार।

पुलिस ने जनपद देहरादून के कोतवाली ऋषिकेश, थाना रायपुर, थाना बसंत विहार क्षेत्रों में तमंचे का भय दिखाकर चैन स्नैचिंग एवं थाना नेहरू कॉलोनी क्षेत्र में पर्स लूट करने वाले दिल्ली के प्रसिद्ध कोबरा गैंग के दो (2) शातिर लुटेरे, बिना नंबर की स्प्लेंडर मोटरसाइकिल व जूपिटर स्कूटी में गिरफ्तार व एक अभियुक्त फरार, अभियुक्तों के कब्जे से सोने की 6 चैन (अनुमानित कीमत लगभग ₹3,25,000/- ), एक लेडीस पर्स व दो तमचें मय दो कारतूस बरामद किया।

दिनांक 15 जुलाई 2019 को श्रीमती शैलजा चौहान पत्नी श्री संजीव चौहान ऋषिकेश ने कोतवाली ऋषिकेश में एक शिकायती प्रार्थना पत्र दिया गया कि मैं अपने बच्चों को ऋषिकेश पब्लिक स्कूल में लेने के लिए गई थी जैसे ही मैं बच्चों को लेकर गाड़ी में बैठी उसी समय दो बाइक सवार व्यक्ति मेरे पास आये तथा मुझे गाड़ी से बाहर खींचने लगे, उनमे से एक ने मेरी कनपटी पर बंदूक तान दी तथा मेरे गले से चैन खींच कर ले गए।
शिकायतकर्ता की शिकायत पर कोतवाली ऋषिकेश में तत्काल मुकदमा अपराध संख्या 284/19 धारा 392 आईपीसी पंजीकृत किया गया।
उसी दिन कोतवाली ऋषिकेश में शिकायतकर्ता नेहा उपाध्याय सुपुत्री श्री इंद्रेश उपाध्याय निवासी गली नंबर 20 अमित ग्राम, वीरभद्र रेलवे स्टेशन, ने रिपोर्ट दर्ज करायी कि ऋषिकेश एम.आई.टी स्कूल से अपने घर की ओर आशुतोष नगर के पास बालाजी बगीचे से गुजर रही थी, रास्ते मे मैं अपने भाई का फोन रिसीव करने हेतु रुकी तभी दो बाइक सवार युवकों में से एक युवक ने बंदूक दिखाकर मेरे गले की चेन छीन ली और स्कूटी की चाबी को फेंक दिया। जिस पर कोतवाली ऋषिकेश में तत्काल मुकदमा अपराध संख्या 283/19 धारा 392 आईपीसी पंजीकृत किया गया।
पुलिस ने टीमें बनाकर विवेचना की। पर उसके हाथ कुछ नहीं लगा तो मुखबिरों के सक्रिय किया गया। इन्हीं में से एक मुखबिर द्वारा सूचना दी गयी कि जिन व्यक्तियों के द्वारा ऋषिकेश एवं जनपद देहरादून के अलग-अलग स्थानों पर चैन स्नैचिंग की घटनाओं को अंजाम दिया गया है, उक्त व्यक्ति आज उस सामान को बेचने हेतु कलियर क्षेत्र (निकट रुड़की) में आ रहे हैं। जिस पर गठित पुलिस टीम ने मुखबिर द्वारा बताए गए स्थान से पहले मेवड़ पुल के पास जाकर चेकिंग अभियान चलाया गया, तो रुड़की की ओर से कलियर आने वाले रास्ते पर बिना नंबर के वाहनों को चेक करने पर *एक बिना नंबर की मोटर साइकिल व जूपिटर स्कूटी को चेक करने हेतु रोकने का प्रयास किया गया तो दोनों वाहन चालक गाड़ी मोड़ कर भागने लगे एवं हड़बड़ाहट में वहीं गिर गए। जिस पर पुलिस टीम द्वारा तत्काल दो अभियुक्तों मो० लिंटोन उर्फ हंसमुख पुत्र मोहम्मद शमीम निवासी ग्राम मकुवा, पोस्ट मोईरापुर, थाना मुरारोई, जिला बीरभम पश्चिम बंगाल
हाल निवासी- शमशाद का किराएदार, नेहरूल बस्ती, मिंटो रोड, थाना आई.पी एस्टेट नई दिल्ली उम्र- 22 वर्ष शिक्षा- कक्षा 4 पास व मो० अनवर उर्फ बिहारी पुत्र मोहम्मद कलीम निवासी महाराणा प्रताप चौक, जिला सहरसा, बिहार हाल निवासी- किराएदार समसुदीन निवासी गली नंबर जीरो, अली मस्जिद के बराबर में, वजीराबाद, थाना तिमारपुर, नई दिल्ली
उम्र- 24 वर्ष को मौके पर पकड़ लिया गया एवं एक अभियुक्त मोहम्मद अरशद पुत्र जाकिर अहमद निवासी- मकान नंबर 69, गली नंबर- 2 वजीराबाद, दिल्ली
मौके से फरार हो गया। पुलिस फरार अभियुक्त की तलाश कर रही हैं।

जनता ने अभियुक्तों की गिरफ्तारी करने के लिए पुलिस की सराहना की है

@@@@@@@@@@@@@@@@@@@@@

गढ़सलाण विकास समिति पँजी० द्वारा यमकेश्वर विकास खँड के ‘बिनक’ गाँव में वृक्षारोपण कार्यक्रम में 140 फलदार पौधौं का रोपण किया गया।

सुदीप कपरुवाण

यमकेश्वर – 21 जुलाई रविवार को गढ़सलाण विकास समिति पँजी० द्वारा यमकेश्वर विकास खँड के ‘बिनक’ गाँव में वृक्षारोपण कार्यक्रम में 140 फलदार पौधौं का रोपण किया गया।जिसमे पौध रोपण में गांव की महिलाओं ने आगे आकर गांव में इस तरह के कार्य की प्रशंसा की और यह संकल्प भी लिया कि वह इन पेड़ों की देखभाल भी करेंगी। ज्ञात हो कि यमकेश्वर का अधिकतर गाँव खाली हो चुके हैं। अब यहां गांव  लगातार खाली हो रहे हैं। वर्तमान स्थिति बहुत ही निराशाजनक और खराब हो चुकी है कि दूध ,फल ,सब्जी आदि रोज मर्रा की वस्तुओं के लिए भी ग्रामीणों को ऋषिकेष या कोटद्वार स्थित बाजारों के रुख करना पड़ता है। क्योकि ग्रामीण उत्पादन नही कर पा रहे हैं। पशु पालना कम कर दिया गया है,साग सब्जी,दाल या तिलहनी फसल, धान को जंगली जानवर सुवर, बन्दर बर्बाद कर देते हैं। ऐसे में यहां जीवन यापन करना कितना मुश्किल हो चुका है।
ऐसे में कई संगठन गांवो में इस तरह के आजीविका के कार्यक्रम भी चलाते रहते हैं।उत्तराखँड के जरूरतमँद परिवारों को आजीविका का कोई साधन मिले और पहाड़ के पलायन को कम करने में सँगठन की भूमिका सहायक हो । फलदार वृक्षों को थोड़ी मेहनत देने से परिवार को तीन वर्ष बाद एक अच्छा रोजगार मिल सकता है, और सरकार की योजना भी सफल होगी।
बिनक गांव से शुरू होकर यह कार्यक्रम अभी अन्य गांवों में भी किया जाएगा। संस्था ग्रामीण क्षेत्रों मे विभिन्न तरह के नि:शुल्क जनहित कार्यक्रमों का आयोजन करती रहती हैं।संस्था ने कोटद्वार उद्यान विभाग की चयनित नर्सरी ज्योति नर्सरी से बरसाती मौसम में लगने वाले मौसमी, नींबू, आम्रपाली आम, माल्टा, काला अमरूद आदि फलदार पौधों को लाकर चयनित गाँवों में वृक्षारोपण कार्यक्रम की शुरुआत बिनक गाँव से की । इसके लिये पहले ही उद्यान विभाग ने अपने अधिकारी को भेजकर सर्वेक्षण करवाया और फलदार पौधे लगाने के लिये अपनी सहमति प्रदान की।
वृक्षारोपण कार्यक्रम को सहयोग देने के लिए उद्यान विभाग के चीफ डा० नरेन्द्र कुमार, डा० एस०एन० मिश्रा, कृषि विभाग के देवेन्द्र सिंह जी का  संस्था ने आभार जताया।
कार्यक्रम में गढ़सलाण अध्यक्ष राजेश राणा, उपाध्यक्ष हरेन्द्र रौथाण, महासचिव वी०पी० भट्ट ‘सलाणी’ , सँगठन सचिव अर्जुन पयाल, स्थानीय सदस्य महिपाल रौथाण, बलवीर सिंह, डा० सत्यपाल गुलेरिया, सुदीप कपरुवाण तथा सँस्था की महिला मँडल नारीशक्ति ने भाग लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.